NDTV Khabar

Amit


'Amit' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • कांग्रेस तुच्छ राजनीति कर रही, सोनिया गांधी का बयान कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने वाला : बीजेपी

    कांग्रेस तुच्छ राजनीति कर रही, सोनिया गांधी का बयान कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने वाला : बीजेपी

    भाजपा ने कोरोना वायरस से निटपने के केंद्र सरकार के प्रयासों की सोनिया गांधी की आलोचना को ‘‘तुच्छ राजनीति’’ करार देते हुए खारिज कर दिया और कहा कि देश में लॉकडाउन को बिना तैयारियों के लागू करने का कांग्रेस अध्यक्षा का बयान ‘सरासर झूठ’ और ‘तथ्य से परे’ है. भाजपा नेताओं ने गुरुवार को विपक्षी दल पर जिम्मेदार भूमिका निभाने और इस महामारी से एकजुट होकर निपटने को कहा. भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह, सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद सहित केंद्र में सत्तारूढ़ पार्टी के कई नेताओं ने कांग्रेस पर हमला बोला. 

  • तबलीगी जमात के 960 विदेशियों के नाम ब्लैक लिस्ट, सरकार ने कार्रवाई के दिए आदेश

    तबलीगी जमात के 960 विदेशियों के नाम ब्लैक लिस्ट, सरकार ने कार्रवाई के दिए आदेश

    सरकार ने वीजा शर्तों का उल्लंघन कर तबलीगी जमात की गतिविधियों में शामिल होने के कारण गुरुवार को 960 विदेशियों के नाम ब्लैक लिस्ट कर दिए और उनके वीजा को रद्द कर दिया. गृह मंत्रालय के कार्यालय ने दिल्ली पुलिस और अन्य राज्यों के पुलिस प्रमुखों को विदेशी कानून और आपदा प्रबंधन कानून के तहत कानूनी कार्रवाई करने को कहा है , जहां पर ये विदेशी फिलहाल रह रहे हैं. गृह मंत्री के कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘‘गृह मंत्रालय द्वारा पर्यटक वीजा पर तबलीगी जमात गतिविधियों में लिप्त पाए जाने के कारण 960 विदेशियों को ब्लैक लिस्ट किया गया है और साथ ही उनका भारतीय वीजा भी रद्द कर दिया गया है.’’ 

  • बॉलीवुड एक्टर ने PM Modi से की धार्मिक स्थलों को बंद करने की अपील, बोले- किसी को भी प्रवेश की अनुमति...

    बॉलीवुड एक्टर ने PM Modi से की धार्मिक स्थलों को बंद करने की अपील, बोले- किसी को भी प्रवेश की अनुमति...

    कमाल आर खान (Kamaal R Khan) ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से धार्मिक स्थलों को बंद करने की अपील की है.

  • लॉकडाउन के बाद भी निजामुद्दीन मरकज में भीड़ : 7 की मौत, इन 6 सवालों के जवाब कौन देगा?

    लॉकडाउन के बाद भी निजामुद्दीन मरकज में भीड़ : 7 की मौत, इन 6 सवालों के जवाब कौन देगा?

    कोरोनावायरस के प्रकोप के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात में आए लोगों में से 24 में कोरोनावायरस का संक्रमण पाया गया है. इसके अलावा तेलंगाना से आए 6 और एक श्रीनगर के मौलवी की मौत हो चुकी है. वहीं इस मामले में सरकार और प्रशासन की घोर लापरवाही को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं. जब दिल्ली में सबसे पहले (22 मार्च से )लॉकडाउन लागू हो गया था, तो इतने दिन तक यहां इकट्ठा हुए लोगों पर आखिर किसी की नजर क्यों नहीं गई. वहीं मामला बढ़ता देख दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि जमात का कार्यक्रम करने वालों ने घोर अपराध किया है. लेकिन तबलीगी जमात की ओर से भी इस पर एक बयान जारी किया गया है. जिसमें उसकी ओर से कहा गया है कि उन लोगों ने प्रशासन को पूरी जानकारी दी थी और यहां से लोगों को निकालने के लिए भी मदद मांगी गई थी. अब सच क्या है ये तो पूरी जांच के बाद ही पता चल पाएगा. लेकिन इस लापरवाही कितनी बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है इस बात की अब आशंका जताई जा रही है. वहीं कुछ सवाल भी जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों पर उठ रहे हैं.

  • कोरोनावायरस से 'महाभारत' : वायरस से जारी है दिन-रात लड़ाई, क्या भारत तोड़ पाएगा Covid19 का 'चक्रव्यूह'

    कोरोनावायरस से 'महाभारत' : वायरस से जारी है दिन-रात लड़ाई,  क्या भारत तोड़ पाएगा Covid19 का 'चक्रव्यूह'

    भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 1000 से पार चली गई है. अब तक 27 लोगों की मौत और 96 मरीज ठीक हुए हैं. इस संक्रमण की रोकथाम के लिए केंद्र और राज्य सरकार मिलकर हर संभव कोशिश कर रहे हैं. 21 दिन का लॉकडाउन जारी है. कोरोनावायरस के साथ जारी महाभारत में इस बात की चुनौती है कि इस बीमारी के चक्रव्यूह को जल्दी से जल्दी कैसे तोड़ा जाए. क्योंकि यह बीमारी एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलती है. अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कुछ दिन पहले तक हर रोज इससे बीमार होने का आंकड़ा 50 से 60 लोगों का आता था. लेकिन बीते हफ्ते हर रोज 100 से ज्यादा लोगों के इस बीमारी से संक्रमित होने की खबरें आने लगी हैं.

  • Coronavirus: गृह मंत्रालय ने राज्यों के मुख्य सचिव को SDRF फंड से गरीबों के लिए राहत शिविर लगाने का दिया आदेश

    Coronavirus: गृह मंत्रालय ने राज्यों के मुख्य सचिव को SDRF फंड से गरीबों के लिए राहत शिविर लगाने का दिया आदेश

    देश में कोरोनावायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. पिछले 24 घंटों में कोरोना के 149 नए मामले सामने आए हैं. इसी के साथ भारत में इस वायरस से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़कर 873 हो गई है. कोविड-19 की वजह से अब तक 19 लोगों की जान गई है.इधर सरकार की तरफ से लागू किये गए लॉकडाउन के बाद हजारों की संख्या में मजदूर पैदल ही अपने-अपने गांव की तरफ निकल पड़े थे

  • दिल्ली में कौन लोग सड़कों पर चल सकते हैं या बॉर्डर पार जा सकते हैं? पुलिस ने जारी की नई लिस्ट, यहां करें चेक

    दिल्ली में कौन लोग सड़कों पर चल सकते हैं या बॉर्डर पार जा सकते हैं? पुलिस ने जारी की नई लिस्ट, यहां करें चेक

    दिल्ली पुलिस आयुक्त ने लॉकडाउन को लेकर अपनी गाइडलाइन में कुछ बदलाव किए हैं. पुलिस ने सड़कों पर निकलने और दिल्ली बॉर्डर को पार करने की अनुमति किसे होगी इस बाबत एक नई सूची जारी की है. पुलिस आयुक्त द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि सूची में जो सेवाएं शामिल हैं उनसे संबंधित व्यक्ति को दस्तावेज दिखाने पर जाने दिया जाएगा. हालांकि आपातकालीन स्थिति को लेकर भी पुलिस आयुक्त द्वारा रियायत दी गई है. इससे पहले दिल्ली सरकार ने भी कहा था कि लॉकडाउन के दौरान जरूरी सामानों की सप्लाई में कोई कमी न आए इसलिए सरकार ई-पास का सिस्टम शुरू कर रही है. WhatsApp पर ही ई-पास मुहैया करा दिए जाएंगे. 

  • खुद की रिहाई के बाद उमर अब्दुल्ला ने PM मोदी और गृहमंत्री से लगाई ये गुहार, बोले- हिरासत में रखना क्रूर फैसला, मुझे उम्मीद है कि...

    खुद की रिहाई के बाद उमर अब्दुल्ला ने PM मोदी और गृहमंत्री से लगाई ये गुहार, बोले- हिरासत में रखना क्रूर फैसला, मुझे उम्मीद है कि...

    कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला को हिरासत में रखे जाने के 8 महीने बाद मंगलवार को रिहा किया गया. उन्होंने रिहाई के बाद कई ट्वीट किए, जिनमें कोरोनावायरस से लेकर पीएम मोदी और गृहमंत्री से अन्य नेताओं के हिरासत से रिहा करने की बात भी रखी.

  • NEWS FLASH: CoronaVirus के चलते दिल्ली में धारा 144, आज से 31 मार्च तक लॉकडाउन

    NEWS FLASH: CoronaVirus के चलते दिल्ली में धारा 144, आज से 31 मार्च तक लॉकडाउन

    Latest and Breaking News: देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें...

  • कौन होगा मध्यप्रदेश का नया मुख्यमंत्री? यह नाम दौड़ में सबसे आगे...

    कौन होगा मध्यप्रदेश का नया मुख्यमंत्री? यह नाम दौड़ में सबसे आगे...

    मध्य प्रदेश का नया मुख्यमंत्री कौन होगा ? कमलनाथ के इस्तीफे के बाद ये सवाल बेहद अहम हो गया है. बीजेपी सूत्रों के मुताबिक शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री पद के संभावित उम्मीदवारों की रेस में आगे चल रहे हैं. कमल नाथ के इस्तीफे के साथ ही बीजेपी के नेतृत्व में नई सरकार के गठन की कवायद तेज़ हो गयी है. बीजेपी सूत्रों के मुताबिक शिवराज सिंह मुख्यमंत्री की रेस में सबसे आगे हैं. बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व जल्द ही इस बारे में फैसला कर सकता है.

  • रंजन गोगोई को राज्यसभा भेजने के पीछे क्या है असली मकसद, आखिर क्यों जोखिम लिया मोदी सरकार ने

    रंजन गोगोई को राज्यसभा भेजने के पीछे क्या है असली मकसद, आखिर क्यों जोखिम लिया मोदी सरकार ने

    पूर्व प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई को राज्यसभा में नामित करने के फैसले पर सवाल उठ रहे हैं. इन सवालों के पीछे उनके अयोध्या और राफेल मामलों पर सुनाए गए फैसले हैं. आपको बता दें कि रंजन गोगोई सुप्रीम कोर्ट के उन चार जजों में शामिल रहे हैं जिन्होंने उस समय के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उनके पर पक्षपात के आरोप लगाए थे. इसके बाद रंजन गोगोई एक तरह से नायक बनकर सामने आए क्योंकि माना जा रहा था कि इसके बाद वह देश का प्रधान न्यायाधीश बनने का मौका खो सकते हैं. इन चार जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस एक तरह से मोदी सरकार को भी लपेट रही थी और यह पीएम मोदी के आलोचकों के लिए एक तरह से हथियार साबित हुई.

  • मध्यप्रदेश के सियासी संकट के बीच सीएम कमलनाथ ने गृह मंत्री शाह को लिखा पत्र, कही ये बात...

    मध्यप्रदेश के सियासी संकट के बीच सीएम कमलनाथ ने गृह मंत्री शाह को लिखा पत्र, कही ये बात...

    मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शनिवार को केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि वह कथित तौर पर बेंगलुरु एवं अन्य जगहों में बंधक बनाए गए कांग्रेस के 22 विधायकों की रिहाई सुनिश्चित करें ताकि ये विधायक विधानसभा के सत्र में शामिल हो सकें. मीडिया को जारी शाह को लिखे अपने चार पृष्ठ के पत्र में कमलनाथ ने कहा, ‘‘आप कृपया केन्द्रीय गृह मंत्री होने के नाते अपनी शक्तियों का प्रयोग करें जिससे कांग्रेस के 22 विधायक जो बंदी बनाए गए हैं वे वापस मध्यप्रदेश सुरक्षित पहुंच सकें तथा 16 मार्च से प्रारंभ होने वाले विधानसभा सत्र में विधायक के रुप में अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों को बिना भय अथवा लालच के निर्वाह कर सकें.’’ 

  • रवीश कुमार का ब्‍लॉग : फ़ेस आइडेंटिफिकेशन सॉफ़्टवेयर और सवाल

    रवीश कुमार का ब्‍लॉग : फ़ेस आइडेंटिफिकेशन सॉफ़्टवेयर और सवाल

    फ़ेस आइडेंटिफिकेशन सॉफ्टवेयर, लोकसभा में दिल्ली दंगों पर चर्चा का जवाब देते हुए जब गृहमंत्री अमित शाह ने इसका नाम लिया तो कुछ सदस्य सन्न रह गए. उनसे ज्यादा सन्न हो गए इस टेक्नॉलजी की जानकारी रखने वाले लोग. चीन को छोड़ कर दुनिया भर में इस टेक्नॉलजी को लेकर एक राय नहीं है.

  • पुलिस काम कर रही थी, पर्याप्त थी लेकिन पुलिस तो भाग रही थी छिप रही थी

    पुलिस काम कर रही थी, पर्याप्त थी लेकिन पुलिस तो भाग रही थी छिप रही थी

    गृहमंत्री पुलिस की लॉग बुक से बता सकते हैं कि उन 13000 कॉल के बाद कितनी जगहों पर पुलिस पहुँचा? कितने कॉल ऐसे थे जो एक ही जगह से बार बार किए गए और पुलिस नहीं पहुँची?

  • NPR के लिए दस्तावेज की जरूरत नहीं, किसी को नहीं बताया जाएगा संदिग्ध : अमित शाह

    NPR के लिए दस्तावेज की जरूरत नहीं, किसी को नहीं बताया जाएगा संदिग्ध : अमित शाह

    राज्यसभा में गुरुवार को दिल्ली दंगों पर चर्चा की गई. चर्चा के दौरान गृह मंत्री ने साफ किया कि नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर के लिए किसी नागरिक को दस्तावेज नहीं दिखाना होगा. साथ ही किसी नागरिक को संदिग्ध की श्रेणी में नहीं रखा जाएगा. चर्चा में गृह मंत्री शाह ने विपक्षियों के सवालों के जवाब दिए. दिल्ली पुलिस की सराहना करते हुए शाह ने कहा कि 36 घंटों में दंगों से निपटना काबिले तारीफ है. शाह ने कहा कि दंगे के किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. बीजेपी नेताओं पर दंगे भड़काने के आरोपों पर शाह ने विपक्ष को ही कठघरे में खड़ा कर दिया.

  • मध्य प्रदेश में सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त है BJP, एक राज्यसभा सीट मिलेगी बोनस में

    मध्य प्रदेश में सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त है BJP, एक राज्यसभा सीट मिलेगी बोनस में

    BJP के इन नेताओं का दावा है कि कांग्रेस के बागी विधायकों की संख्या 22 से बढ़कर जल्द ही 26 हो जाएगी.

  • MP Govt Crisis: मध्य प्रदेश में BJP ने राज्यपाल के अभिभाषण से पहले कांग्रेस सरकार के शक्ति परीक्षण की मांग की

    MP Govt Crisis: मध्य प्रदेश में BJP ने राज्यपाल के अभिभाषण से पहले कांग्रेस सरकार के शक्ति परीक्षण की मांग की

    विधानसभा का सत्र 16 मार्च से ही शुरू हो रहा है. कांग्रेस के 22 बागी विधायकों के त्यागपत्र देने से प्रदेश में 15 माह पुरानी कमलनाथ सरकार गहरे संकट में आ गई है. मंगलवार को पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस पार्टी छोड़ने के बाद उनके खेमे के इन विधायकों ने इस्तीफे भेज दिए थे. 

  • MP का सियासी घमासान: क्या गिरेगी या बचेगी कमलनाथ सरकार? ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के बाद अब आगे होगा क्या-क्या

    MP का सियासी घमासान: क्या गिरेगी या बचेगी कमलनाथ सरकार? ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के बाद अब आगे होगा क्या-क्या

    सत्तासीन कांग्रेस के कांग्रेस के 114 में से 22 विधायकों ने इस्तीफे दे दिए हैं, और अगर इन्हें स्वीकार कर लिया गया, तो कमलनाथ सरकार का गिर जाना तय है, क्योंकि उस स्थिति में 230-सदस्यीय मध्य प्रदेश विधानसभा की प्रभावी सदस्य संख्या 206 रह जाएगी (दो सदस्यों के देहावसान के चलते इस वक्त यह संख्या 228 है), और बहुमत के लिए आवश्यक संख्या 104 रह जाएगी.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com