NDTV Khabar

Anandiben patel


'Anandiben patel' - 77 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • मध्य प्रदेश में 15 साल बाद बना कोई मुस्लिम मंत्री, कमलनाथ कैबिनेट में मिली जगह

    मध्य प्रदेश में 15 साल बाद बना कोई मुस्लिम मंत्री, कमलनाथ कैबिनेट में मिली जगह

    मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार को अपने कैबिनेट का विस्तार किया और करीब 28 मंत्रियों को सरकार में शामिल किया. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने 28 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई. मंत्रियों में दो महिलाएं, एक मुस्लिम एवं एक निर्दलीय शामिल हैं. मध्य प्रदेश में पिछले 15 साल बाद किसी मुस्लिम चेहरे को मंत्रिमंडल में जगह मिली है. 15 साल बाद मुस्लिम समुदाय को आरिफ अकील के रूप में मंत्रिमंडल में जगह मिली है. जिन दो महिला विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है, वे विजयलक्ष्मी साधौ (महेश्वर विधानसभा सीट) एवं इमरती देवी (डबरा विधानसभा सीट) हैं, वहीं, कमलनाथ ने वारासिवनी के निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल को भी अपने मंत्रिमंडल में जगह दी है. 

  • छत्तीसगढ़: बघेल की टीम में बगावत के सुर! विधायक बोले- मंत्रियों की लिस्ट में नहीं है मेरा नाम, उम्मीद है न्याय मिलेगा

    छत्तीसगढ़: बघेल की टीम में बगावत के सुर! विधायक बोले- मंत्रियों की लिस्ट में नहीं है मेरा नाम, उम्मीद है न्याय मिलेगा

    मंगलवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मंगलवार को नौ विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई. राजधानी रायपुर के पुलिस परेड मैदान में मंगलवार को विधायक रविन्द्र चौबे, मोहम्मद अकबर, कवासी लखमा, जय सिंह अग्रवाल, शिव डहरिया, महिला विधायक अनिला भेड़िया, रुद्र गुरु, प्रेमसाय सिंह टेकाम और उमेश पटेल ने मंत्री पद की शपथ ली.

  • भूपेश बघेल ने ली छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद की शपथ, राहुल गांधी सहित कई बड़े नेता मौजूद

    भूपेश बघेल ने ली छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद की शपथ, राहुल गांधी सहित कई बड़े नेता मौजूद

    भूपेश बघेल (​Bhupesh Baghel) छत्तीसगढ़ के तीसरे मुख्यमंत्री बन गए हैं. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल (Anandiben Patel) ने उन्हें पद और गोपनियता की शपथ दिलाई. भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel Oath Ceremony) राज्य के तीसरे मुख्यमंत्री हैं. इससे पहले रविवार को छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस प्रमुख भूपेश बघेल ने विधायक दल का नेता चुने जाने पर राजभवन जाकर सरकार गठन का दावा पेश किया था. राज्यपाल के प्रतिनिधि के तौर पर राज्यपाल के सचिव सुरेंद्र कुमार जायसवाल ने बघेल का दावापत्र ग्रहण किया. उसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने 17 दिसंबर को भूपेश बघेल को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के लिए आमंत्रित किया था.

  • मध्यप्रदेश में कमलनाथ का पलड़ा भारी, लेकिन राहुल गांधी लेंगे अंतिम फैसला

    मध्यप्रदेश में कमलनाथ का पलड़ा भारी, लेकिन राहुल गांधी लेंगे अंतिम फैसला

    चुनावी नतीजों के बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस विधायक दल के नेता का चुनाव पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर छोड़ा गया है. बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक आरिफ अकील ने कहा कि परंपरा रही है आलाकमान तय करे. वहीं, दूसरे विधायक और वरिष्ठ नेता गोविंद सिंह ने इसका समर्थन किया. इसके बाद सभी विधायकों ने हामी भरी, यानि अब आलाकमान ही तय करेगा मुख्यमंत्री का चेहरा.

  • मायावती ने पहले कांग्रेस को फटकारा, फिर समर्थन देने का किया एलान, कहा- भाजपा को सत्ता से दूर रखना है

    मायावती ने पहले कांग्रेस को फटकारा, फिर समर्थन देने का किया एलान, कहा- भाजपा को सत्ता से दूर रखना है

    मायावती ने मध्य प्रदेश और राजस्थान में कांग्रेस को समर्थन देने का एलान किया. उन्होंने कहा, 'भाजपा को सत्ता से बाहर रखने के लिए हमारी पार्टी ने यह चुनाव लड़ा था. दुख की बात है कि हमारी पार्टी इसमें उस तरह से कामयाब नहीं हो पाई. भाजपा अभी भी सत्ता में आने के लिए जोर-तोड़ कर रही है. इसलिए हमने कांग्रेस पार्टी को सरकार बनाने के लिए समर्थन देने का फैसला किया है. भाजपा को सत्ता से दूर रखने का यही तरीका है. अगर राजस्थान में भी जरूरत हुई, तो वहां भी भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए बसपा समर्थन दे सकती है.'

  • मध्य प्रदेश में कांग्रेस का वनवास खत्म, राज्यपाल से मिल सरकार बनाने का दावा पेश किया

    मध्य प्रदेश में कांग्रेस का वनवास खत्म, राज्यपाल से मिल सरकार बनाने का दावा पेश किया

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में सभी 230 सीटों के परिणाम आने के बाद 114 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी कांग्रेस ने प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश किया है. वहीं 109 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर मौजूद भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि वह भी निर्दलीय तथा अन्य दलों के साथ मिलकर सरकार बनाने की मंशा रखती है. हालांकि, कांग्रेस ने राज्यपाल मिलने के लिए समय मांगा था, जिस पर अब राजभवन ने हामी भर दी है. गवर्नर से कांग्रेस को मिलने का समय मिल गया है और अब कांग्रेस 12 बजे राजभवन मं राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करेगी. 

  • वसुंधरा राजे, रमन सिंह ने दे दिया CM पद से इस्तीफा, पर शिवराज सिंह ने अब तक नहीं, जानें- क्या हो सकते हैं इसके मायने

    वसुंधरा राजे, रमन सिंह ने दे दिया CM पद से इस्तीफा, पर शिवराज सिंह ने अब तक नहीं, जानें- क्या हो सकते हैं इसके मायने

    इसके पीछे हो सकता है कि भाजपा की चाल हो. हो सकता है भाजपा मध्य प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश करे. ऐसी संभावना इसलिए जताई जा रही है क्योंकि मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने मंगलवार रात तो ट्वीट करके कहा था, 'कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है. निर्दलीय और कई अन्य उम्मीदवार भाजपा के संपर्क में हैं. हम कल राज्यपाल से मुलाकात करेंग.' हालांकि, कांग्रेस ने मंगलवार रात ही राज्यपाल को खत लिखकर मिलने का समय मांगा था और सरकार बनाने का दावा पेश किया था. लेकिन सूत्रों के मुताबिक राज्यपाल ने कांग्रेस को कहा था कि अभी मतगणना को पूरी होने दीजिए.

  • LIVE UPDATES: राजस्थान और मध्यप्रदेश में कौन बनेगा मुख्यमंत्री? आलाकमान के हाथों में फैसला

    LIVE UPDATES: राजस्थान और मध्यप्रदेश में कौन बनेगा मुख्यमंत्री? आलाकमान के हाथों में फैसला

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी को विधानसभा चुनावों में मसलन, राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बड़ा झटका लगा है. 2019 लोकसभा चुनाव से पहले तीन राज्यों की सत्ता से बेदखल हो जाना भारतीय जनता पार्टी के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है. कांग्रेस ने राजस्थान और छत्तीसगढ़ को जीत लिया है, वहीं मध्य प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी तो है, मगर बहुमत के आंकड़े से 2 सीट दूर रह गई है. राजस्थान में कांग्रेस को 99 सीटें मिली हैं मगर अजीत सिंह की पार्टी आरएलडी ने अपनी एक सीट से समर्थन देना का वादा किया है, जिससे यह तह है कि कांग्रेस बहुमत के लिए 100 का आंकड़ा छू लेगी और आसानी से सरकार बना लेगी. वहीं छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने बीजेपी को क्लीन स्वीप कर दिया है. मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला, मगर बीजेपी एंटी इनकंबेंसी के लहर को खत्म नहीं कर पाई और कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर आई. मध्य प्रदेश में कांग्रेस को 114 सीटें और बीजेपी को 109 सीटें मिली हैं. आज राजस्थान में कांग्रेस विधायक दलों की बैठक है और कांग्रेस सरकार बनाने का दावा कर सकती है और अपने मुख्यमंत्री का चेहरा भी चुन सकती है. 

  • MP में सियासी टि्वस्ट: कांग्रेस के बाद अब BJP करेगी सरकार बनाने का दावा, बोली- कई संपर्क में हैं

    MP में सियासी टि्वस्ट: कांग्रेस के बाद अब BJP करेगी सरकार बनाने का दावा, बोली- कई संपर्क में हैं

    मध्य प्रदेश की 230 सीटों में से 114 कांग्रेस को, 109 भाजपा को, दो बसपा को, एक सपा को और चार सीटें अन्य को मिली हैं. यहां सरकार बनाने के लिए 116 सीटों की जरूरत है.

  • शिवराज सिंह चौहान खुद तो बच गए, पर उनके 11 मंत्री नहीं बचा पाए अपनी सीट, जानें किस-किस ने दी शिकस्त

    शिवराज सिंह चौहान खुद तो बच गए, पर उनके 11 मंत्री नहीं बचा पाए अपनी सीट, जानें किस-किस ने दी शिकस्त

    कांग्रेस को 230 सीटों में से 114 पर जीत हासिल हुई है, वहीं दूसरे नंबर पर भाजपा रही जिसके खाते में 109 सीटें आई हैं. इसके अलावा बसपा ने दो, सपा ने एक और अन्य ने चार सीटों पर कब्जा किया है. कांग्रेस बहुमत के आंकड़े से दो सीट दूर रह गई. शिवराज सिंह चौहान ने बुधनी सीट पर कांग्रेस के अरुण सुभाष चंद्र को करीब 59 हजार वोटों से हराया है.

  • मध्य प्रदेश में बहुमत का आंकड़ा नहीं छू पाई कांग्रेस, सत्ता बचाने का अब बीजेपी के पास ये है आखिरी रास्ता!

    मध्य प्रदेश में बहुमत का आंकड़ा नहीं छू पाई कांग्रेस, सत्ता बचाने का अब बीजेपी के पास ये है आखिरी रास्ता!

    मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के आधिकारिक नतीजे घोषित होने के बाद अब असल सियासी उठा-पटक के आसार दिखने लगे हैं. वोटों की गिनती में काफी आगे-पीछे होने के बाद अब कांग्रेस राज्य में बड़ी पार्टी बनकर तो उभर गई है, मगर वह बहुमत का जादुई आंकड़ा नहीं छू पाई. कांग्रेस बहुमत के आंकड़े से दो सीटें दूर रह गई और 114 सीटों पर सिमट गई. वहीं, बीजेपी को 109 सीटों से संतोष करना पड़ा. हालांकि, चुनावी समीकरणों से ऐसा लग रहा है कि कांग्रेस आसानी से मध्य प्रदेश में सरकार बना लेगी, मगर ऐसा नहीं है कि बीजेपी के लिए सारे रास्ते बंद हो गए हों. राज्य की सत्ता में बकरार रहने का बीजेपी के लिए अभी भी उम्मीद की किरण है, बशर्ते उसे वह दांव चलना होगा, जिसके लिए अमित शाह जाने जाते हैं. 

  • मध्य प्रदेश में बहुमत के जादुई आंकड़े से दो कदम दूर रह गई कांग्रेस, जानें अब क्या होगा सियासी समीकरण

    मध्य प्रदेश में बहुमत के जादुई आंकड़े से दो कदम दूर रह गई कांग्रेस, जानें अब क्या होगा सियासी समीकरण

    मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के आधिकारिक नतीजे घोषित हो गए हैं. करीब 15 सालों से वनवास झेल रही कांग्रेस पार्टी ने बीजेपी को हरा दिया है और सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर चुकी है, मगर वह बहुमत के जादुई आंकड़े से दो कदम दूर रह गई. चुनाव आयोग द्वारा जारी नतीजों के मुताबिक, मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस को 114 सीटों पर जीत मिली है, जो बहुमत के आंकडे से दो कम है. वहीं बीजेपी को राज्य में 109 सीटों पर संतोष करना पड़ा है. दरअसल, कांग्रेस को राज्य में सरकार बनाने के लिए 116 सीटों की जरूरत है, मगर अब उसके पास 114 नंबर होने से मदद की जरूरत पड़ गई है. हालांकि, जिस तरह के सियासी समीकरण दिख रहे हैं उससे यह लग रहा है कि कांग्रेस सहयोगियों की मदद से आसानी से सरकार बना लेगी और अपना वनवास खत्म कर लेगी. 

  • एमपी में देर रात सियासी ड्रामा: कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा, राज्यपाल बोलीं- पूरे नतीजे तो आने दीजिए

    एमपी में देर रात सियासी ड्रामा: कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा, राज्यपाल बोलीं- पूरे नतीजे तो आने दीजिए

    बुधवार सुबह छह तक आए चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने 230 में से 112 सीटों पर जीत दर्ज कर ली है, जबकि तीन सीटों पर आगे चल रही है. अगर जिन सीटों पर कांग्रेस आगे चल रही है, उन पर भी वह जीत हासिल कर लेती है तो भी वह बहुमत से एक सीट पीछे रहेगी. ऐसे में कांग्रेस बसपा, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी और निर्दलीय उम्मदीवारों से संपर्क में है.

  • मध्य प्रदेश में 'पिक्चर अभी बाकी है', इनके पास होगी कांग्रेस की सत्ता की चाबी!

    मध्य प्रदेश में 'पिक्चर अभी बाकी है', इनके पास होगी कांग्रेस की सत्ता की चाबी!

    मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने अपना वनवास खत्म कर लिया है और बीजेपी को सत्ता से बेदखल कर दिया है. हालांकि, विधानसभा चुनाव के नतीजे अभी पूरी तरह से घोषित नहीं किए गये हैं, मगर कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है और बहुमत से महज दो-चार कदम ही दूर है. मध्य प्रदेश में अभी भी रिजल्ट आने बाकी ही हैं. अभी 4 सीटों पर रिजल्ट घोषित नहीं किए गए हैं.

  • आनंदीबेन ने लड़कियों को दी नसीहत, मत कटवाओ बाल और बनाना सीखो दाल, नहीं तो ससुराल में होगी सास से लड़ाई

    आनंदीबेन ने लड़कियों को दी नसीहत, मत कटवाओ बाल और बनाना सीखो दाल, नहीं तो ससुराल में होगी सास से लड़ाई

    आनंदीबेन पटेल ने बाल ना काटने की बात पर आगे कहा कि लंबे बाल लड़कियों का गौरव होते हैं, इन्हें किसी भी कीमत पर नहीं कटवाना चाहिए.

  • मध्यप्रदेश की गवर्नर आनंदीबेन पटेल को छत्तीसगढ़ का अतिरिक्त प्रभार

    मध्यप्रदेश की गवर्नर आनंदीबेन पटेल को छत्तीसगढ़ का अतिरिक्त प्रभार

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बलरामजी दास टंडन (Balramji Das Tandon) के निधन के बाद मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल (Anandiben Patel) को छत्तीसगढ़ का अतिरिक्त प्रभार सौंपा. राष्ट्रपति भवन के प्रवक्ता ने कहा कि छत्तीसगढ़ के राज्यपाल की नियुक्ति तक पटेल अतिरिक्त जिम्मेदारी का निर्वहन करेंगी. भाजपा के मातृ संगठन जनसंघ के संस्थापक सदस्यों में से एक टंडन का दिल का दौरा पड़ने के कारण रायपुर के एक सरकारी अस्पताल में निधन हो गया. वह 90 वर्ष के थे. आनंदीबेन पटेल बुधवार को रायपुर राजभवन में शपथ लेंगी. 

  • आनंदीबेन पटेल के बयान पर जशोदाबेन का पलटवार, 'मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी और वह मेरे राम'

    आनंदीबेन पटेल के बयान पर जशोदाबेन का पलटवार, 'मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी और वह मेरे राम'

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परित्यक्ता पत्नी जशोदाबेन ने बुधवार को मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के गुजरात के एक प्रमुख दैनिक में मोदी को अविवाहित बताने के बयान पर आश्चर्य जाहिर किया. जशोदाबेन ने अपने भाई के मोबाइल फोन से बनाए गए एक वीडियो में कहा है, 'मैं आनंदीबेन द्वारा प्रेस से नरेंद्र भाई का विवाह नहीं होने की बात कहने से हैरान हूं. उन्होंने खुद लोकसभा चुनाव के दौरान 2014 में अपने दस्तावेज दाखिल करते हुए इसे अपनी घोषणा में शामिल किया है कि वह विवाहित हैं और उसमें मेरे नाम का उल्लेख किया है.'

  • मध्‍यप्रदेश की राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल ने BJP नेताओं को बताया, कैसे मिलते हैं वोट

    मध्‍यप्रदेश की राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल ने BJP नेताओं को बताया, कैसे मिलते हैं वोट

    मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का सतना में बीजेपी नेताओं से बातचीत पर विवाद खड़ा हो गया है और उनका ये वीडियो वायरल हो गया है.