NDTV Khabar

Assembly elections 2018


'Assembly elections 2018' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • हरियाणा में BJP और JJP के बीच क्या समझौता हुआ, जानें अंदर की 10 बड़ी बातें

    हरियाणा में BJP और JJP के बीच क्या समझौता हुआ, जानें अंदर की 10 बड़ी बातें

    हरियाणा में दुष्यंत चौटाला नए नेता के तौर पर उभरे हैं. सवाल है कि देवीलाल की विरासत का असली वारिस कौन है? मौजूदा चुनाव में INLD का जो हाल हुआ है और जननायक जनता पार्टी (JJP) जिस तरह नई ताक़त बन कर उभरी है, उसे देखते हुए माना जा रहा है कि देवीलाल की विरासत उन्हीं के हाथ में है. इस पूरी राजनीति में जेजेपी एक नई ताक़त और दुष्यंत चौटाला एक नए नेता के तौर पर उभरे हैं। ये साफ हो गया कि अब देवीलाल की विरासत उनके हाथ में है. शुक्रवार सुबह दुष्यंत चौटाला को विधायकों ने अपना नेता चुना. इसके बाद दुष्यंत तिहाड़ में बंद अपने पिता अजय चौटाला से मिले. दुष्यंत इसके पहले आइएनएलडी के टिकट पर ही हिसार से सांसद रह चुके हैं. लेकिन 2018 की टूट के बाद उन्होंने जननायक जनता पार्टी का गठन किया. वो जमीनी नेता माने जाते हैं जिनका लोगों और कार्यकर्ताओं से सीधा संपर्क है. दुष्यंत की पार्टी को 15 फ़ीसदी वोट मिले हैं, जिनमें बड़ी तादाद में युवाओं के वोट शामिल माने जा रहे हैं. हालांकि हरियाणा की मौजूदा राजनीति में 10 विधायकों के साथ अपना पहला क़दम तय करना दुष्यंत के लिए आसान नहीं है. जेजेपी के समर्थन के बाद हरियाणा की विधानसभा में बीजेपी गठबंधन के पास कुल 59 सीटें हो जाएंगी जो कि बहुमत से कहीं ज्यादा है.

  • लोकसभा चुनाव 2019 : छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के वोट प्रतिशत से कांग्रेस को बड़ी उम्मीद

    लोकसभा चुनाव 2019 : छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के वोट प्रतिशत से कांग्रेस को बड़ी उम्मीद

    लोकसभा चुनाव 2019 के मैदान में जहां प्रियंका गांधी वाड्रा  के उतरने से उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को थोड़ी ऊर्जा मिली है, वहीं राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने के बाद कांग्रेस के लिए थोड़ी राहत और थोड़ी चिंता की बात दोनों हो सकती है. राजस्थान में जहां गुर्जर आरक्षण आंदोलन से राज्य सरकार जूझ रही है वहीं किसानों के कर्ज माफी के मुद्दे पर मध्य प्रदेश में भी सरकार  को कई जगहों पर नाराजगी झेलनी पड़ रही है.

  • नीतीश के बदले रुख पर शिवानंद तिवारी ने कहा- चूहे जहाज छोड़ने लगें तो उसका डूबना तय

    नीतीश के बदले रुख पर शिवानंद तिवारी ने कहा- चूहे जहाज छोड़ने लगें तो उसका डूबना तय

    राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार के हालिया बदले हुए रुख को लेकर कहा है कि चूहे जब जहाज छोड़ने लगें तो उसके डूबने का अनुमान आप सहजता से लगा सकते हैं.

  • 'मन की बात' में पीएम मोदी ने नए साल की शुभकामनाएं दीं, बोले- 2018 में आयुष्मान भारत योजना शुरू हुई, हर गांव में बिजली पहुंची

    'मन की बात' में पीएम मोदी ने नए साल की शुभकामनाएं दीं, बोले- 2018 में आयुष्मान भारत योजना शुरू हुई, हर गांव में बिजली पहुंची

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यानी रविवार को अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 51वें अंक में देश को संबोधित किया. पीएम मोदी ने देशवासियों को नए साल की शुभकामनाएं दीं और कुंभ जाने के लिए एक-दूसरे को प्रेरित करने को कहा. साथ ही उन्होंने कहा कि कुंभ मेला जब जाएं तो उसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर करें ताकि दूसरों के अंदर भी कुंभ जाने की प्रेरना जागृत हो. 

  • राजनीति की भट्टी में पिघलाया जा रहा स्टील प्रेम...

    राजनीति की भट्टी में पिघलाया जा रहा स्टील प्रेम...

    पहले देश के तीन राज्य के लोगों ने सत्ता में बैठे राजनीतिक दलों में बदलाव किया. नई पार्टी सत्ता पर आसीन हुई, और गद्दी पर आने के बाद उसने जो दूसरा बड़ा काम किया, वह था - बड़ी संख्या में प्रशासनिक फेरबदल. मीडिया में इसे 'प्रशासनिक सर्जरी' कहा गया. 'सर्जरी' किसी खराबी को दुरुस्त करने के लिए की जाती है. ज़ाहिर है, इससे ऐसा लगता है कि इनके आने से पहले प्रशासन में जो लोग थे, वे सही नहीं थे. अब उन्हें ठिकाने (बेकार के पद) लगाया जा रहा है, जैसा व्यक्तिगत रूप से बातचीत के दौरान एक नेता ने थोड़ा शर्माते हुए कहा था, "पहले उनके लोगों ने मलाई खाई, अब हमारे लोगों की बारी है..."

  • BJP के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने की राहुल गांधी की तारीफ, कही यह बात...

    BJP के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने की राहुल गांधी की तारीफ, कही यह बात...

    भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने परोक्ष रूप से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तारीफ की. राम माधव का कहना है कि इसमें कोई शक नहीं कि राहुल गांधी ने हालिया चुनाव में अपनी चुनावी ताकत आज़माई, और कांग्रेस पार्टी को कुछ जीत दिलाई है." इसके अलावा जब उनसे पूछा गया कि राहुल गांधी ने नेतृत्व में कांग्रेस कैसा प्रदर्शन कर रही है? उन्होंने कहा, 'राहुल गांधी कांग्रेस के नेता हैं... यह वे (कांग्रेस सदस्य) तय करें कि उनके (राहुल गांधी के) नेतृत्व से लाभ हो रहा है या नहीं... उनके द्वारा कांग्रेस का नेतृत्व करने पर हम टिप्पणी कैसे कर सकते हैं...? 

  • मध्यप्रदेश: CM कमलनाथ ने किया कैबिनेट विस्तार, 28 मंत्रियों ने ली शपथ, जातिगत और श्रेत्रीय संतुलन का रखा गया ख्याल

    मध्यप्रदेश: CM कमलनाथ ने किया कैबिनेट विस्तार, 28 मंत्रियों ने ली शपथ, जातिगत और श्रेत्रीय संतुलन का रखा गया ख्याल

    मध्यप्रदेश में कमलनाथ (Kamal Nath) सरकार का आज विस्तार किया गया (Kamal Nath Cabinet Expands). आज 28 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई. 17 दिसंबर को अकेले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ ली थी. कांग्रेस हाईकमान से चर्चा के बाद मंत्रियों की लिस्ट फ़ाइनल हुई और आज राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उन्हें शपथ दिलाई. मंत्रिमंडल में क्षेत्रीय और जातिगत संतुलन का पूरा ख्याल रखा गया है. साथ ही तीनों बड़े नेता कमलनाथ, दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह दी गई है. मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री कमल नाथ के 11, दिग्विजय सिंह के 9, ज्योतिरादित्य सिंधिया के 7 और अरुण यादव के एक मंत्री शामिल किए गए हैं. मंत्रिमंडल में क्षेत्रीय संतुलन बनाने की कोशिश भी कई गई है. 

  • शिवराज सिंह चौहान के 'टाइगर अभी जिंदा है' पर दिग्विजय सिंह का तंज, कहा- हम संरक्षण करेंगे...

    शिवराज सिंह चौहान के 'टाइगर अभी जिंदा है' पर दिग्विजय सिंह का तंज, कहा- हम संरक्षण करेंगे...

    मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) के बयान पर तंज कसते हुए कहा है कि राज्य में 'टाइगर' का संरक्षण किया जाएगा. दिग्विजय ने कहा, 'टाइगर का संरक्षण किया जाएगा. यह दुर्लभ प्राणी होता जा रहा है.'

  • 3 राज्यों के बाद अब कांग्रेस ने झारखंड में भी लहराया जीत का परचम

    3 राज्यों के बाद अब कांग्रेस ने झारखंड में भी लहराया जीत का परचम

    हत्या के एक मामले में झारखंड पार्टी के विधायक एनोस एक्का के सजा पाने के बाद खाली हुई कोलेबीरा विधानसभा सीट पर यह उपचुनाव कराए गए थे.

  • मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में हार के बाद बीजेपी उम्मीदवार ने कहा 'गद्दारों की सिर्फ एक सजा है और वह है सजा-ए-मौत'

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में हार के बाद बीजेपी उम्मीदवार ने कहा 'गद्दारों की सिर्फ एक सजा है और वह है सजा-ए-मौत'

    मध्यप्रदेश में 15 साल के बाद बीजेपी को विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है. 11 दिसंबर को आए चुनाव परिणाम के बाद उस समय के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. बीजेपी को इस बार चुनाव में 109 सीटें मिली है जबकि कांग्रेस के खाते में 114 सीटें रहीं थी. कांग्रेस ने बीसपा और सपा के समर्थन से राज्य में सरकार बनाई है.

  • डीएमके प्रमुख स्टालिन ने बताया- उन्होंने राहुल गांधी का नाम PM के लिए क्यों प्रस्तावित किया था

    डीएमके प्रमुख स्टालिन ने बताया- उन्होंने राहुल गांधी का नाम PM के लिए क्यों प्रस्तावित किया था

    सोमवार को राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सीएम के शपथ ग्रहण समारोह में स्टालिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ ही रहे. साल 2019 लोकसभा चुनाव से पहले यह विपक्षी दलों की ताकत प्रदर्शन का एक मंच भी बना गया.

  • पांच सालों में तीन गुना बढ़ी छत्तीसगढ़ के नए CM भूपेश बघेल की संपत्ति

    पांच सालों में तीन गुना बढ़ी छत्तीसगढ़ के नए CM भूपेश बघेल की संपत्ति

    साल 2018 में उनके पास कुल 8 करोड़ की संपत्ति थी, लेकिन अब यह बढ़कर 23 करोड़ के पार पहुंच गई है. जानकारी के मुताबिक, बघेल के पास कुल 230,526,171 रुपये की संपत्ति है. इनके पास 14,667,061 रुपये की चल संपत्ति और 215,859,110 रुपये की अचल संपत्ति है.

  • तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बने अशोक गहलोत के पास है कुल इतनी संपत्ति

    तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बने अशोक गहलोत के पास है कुल इतनी संपत्ति

    पहली बार 1 दिसबंर 1998 में वो मुख्यमंत्री बने थे और पांच साल तक कांग्रेस सरकार चलाई थी. साल 2008 में कांग्रेस पार्टी राजस्थान में फिर से सत्ता में आई और गहलोत दूसरी बार मुख्यमंत्री बने थे.

  • मध्यप्रदेश के बाद छत्तीसगढ़ में भी किसानों का कर्ज माफ, CM भूपेश बघेल ने की घोषणा

    मध्यप्रदेश के बाद छत्तीसगढ़ में भी किसानों का कर्ज माफ, CM भूपेश बघेल ने की घोषणा

    मध्यप्रदेश के बाद छत्तीसगढ़ में भी किसानों का कर्ज माफ किया गया है. शपथ लेने के कुछ घंटों के भीतर ही छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने कर्जमाफी (Loan Waiver) की घोषणा कर दी. भूपेश बघेल ने पहली कैबिनेट बैठक में तीन अहम फैसले लिए. इनमें 16 लाख 65 हजार से अधिक किसानों का 6100 करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया गया. दूसरे फैसले में धान का समर्थन मूल्य 2500 रुपये प्रति क्विंटल करने की बात कही गई. वहीं झीरम हमले के शहीदों को न्याय दिलाने के लिए SIT का गठन किया गया.

  • दफ्तर संभालते ही कमलनाथ ने राहुल गांधी के कर्ज माफी के वायदे पर किया दस्तखत, 5 खास बातें... 

    दफ्तर संभालते ही कमलनाथ ने राहुल गांधी के कर्ज माफी के वायदे पर किया दस्तखत, 5 खास बातें... 

    कमलनाथ (Kamal Nath) मध्यप्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री बन गए हैं. पद और गोपनियता की शपथ (Kamal Nath Oath Ceremony) लेने के तुरंत बाद ही उन्होंने अपने वादे के मुताबिक किसानों के कर्ज़ माफ (Loan Waiver) करने वाली फाइल पर दस्तखत कर दिए. बता दें कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ लेने से पहले ही कहा कि था कि वे 10 दिनों से पहले ही किसानों का कर्ज माफ करेंगे. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दस्तखत के बाद किसानों के दो लाख रुपये तक के ऋण माफ हो गए. मध्यप्रदेश के किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. राजेश राजोरा ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा कर्जमाफी की फाइल पर हस्ताक्षर करने के बाद इस संबंध में आदेश जारी कर दिये गए हैं. उन्होंने कहा, 'सोमवार शाम जारी आदेश में कहा गया है कि मध्यप्रदेश शासन एतद् द्वारा निर्णय लिया जाता है कि मध्यप्रदेश राज्य में स्थित राष्ट्रीयकृत तथा सहकारी बैंकों में अल्पकालीन फसल ऋण के रूप में शासन द्वारा पात्रता अनुसार पात्र पाए गए किसानों के दो लाख रुपये की सीमा तक का 31 मार्च 2018 की स्थिति में बकाया फसल ऋण माफ किया जाता है.'

  • कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह में दिखा दिलचस्प नजारा, देखें VIDEO

    कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह में दिखा दिलचस्प नजारा, देखें VIDEO

    कमलनाथ (Kamal Nath) मध्यप्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री बन गए हैं. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कमलनाथ को पद और गोपनियता की शपथ (Kamal Nath Oath Ceremony) दिलाई. कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह के दौरान एक दिलचस्प तस्वीर भी देखने को मिली.

  • शपथग्रहण के बाद बोले कमलनाथ, 'किसानों का कर्ज माफ करने में सरकारी बैंकों को पेटदर्द क्यों'

    शपथग्रहण के बाद बोले कमलनाथ, 'किसानों का कर्ज माफ करने में सरकारी बैंकों को पेटदर्द क्यों'

    शपथग्रहण के बाद अपने पहले प्रेस कांफ्रेंस में कमलनाथ ने सरकारी बैंकों पर तंज कसते हुए कहा कि बैंकों को उद्योगपतियों का कर्ज माफ करने में कोई परेशानी नहीं होती, लेकिन किसानों का कर्ज माफ करने के समय उनके पेट में दर्द होने लगता है.

  • मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही कमलनाथ ने वादे के मुताबिक सबसे पहले किया यह काम...

    मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही कमलनाथ ने वादे के मुताबिक सबसे पहले किया यह काम...

    कमलनाथ (Kamal Nath) मध्यप्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री बन गए हैं. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कमलनाथ को पद और गोपनियता की शपथ (Kamal Nath Oath Ceremony) दिलाई. शपथ लेने के तुरंत बाद ही अपने वादे के मुताबिक मध्यप्रदेश के नवनियुक्त मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राजधानी भोपाल में किसानों के कर्ज़ माफ (Loan Waiver) करने वाली फाइल पर दस्तखत कर दिए. बता दें कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ लेने से पहले ही कहा कि था कि वे 10 दिनों से पहले ही किसानों का कर्ज माफ करेंगे.