NDTV Khabar

Assembly elections 2014


'Assembly elections 2014' - 375 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Lok Sabha Election 2019: एक महीने से ज्यादा चलेगा चुनावी समर, पहली बार लागू होंगे ये नियम, 10 बड़ी बातें

    Lok Sabha Election 2019: एक महीने से ज्यादा चलेगा चुनावी समर, पहली बार लागू होंगे ये नियम, 10 बड़ी बातें

    चुनाव आयोग (Election Commision) द्वारा रविवार को बहुप्रतीक्षित 17वीं लोकसभा के चुनाव (Lok Sabha Election) कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही देश में 11 अप्रैल से शुरु होने वाला चुनावी समर एक महीने से अधिक समय तक चलेगा. जिसमें एक ओर भाजपा फिर से सत्तारूढ़ होने का हरसंभव प्रयास करेगी, वहीं विपक्षी दल एकजुट होकर मोदी सरकार को सत्ता से बेदखल करने की भरसक कोशिश करेंगे. आयोग ने लोकसभा और चार राज्यों- आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा और सिक्किम में विधानसभा के चुनाव का कार्यक्रम घोषित दिया है. इसके तहत सात चरणों में 11 अप्रैल से 19 मई तक होने वाले मतदान के बाद 23 मई को मतगणना होगी. बता दें, साल 2014 में 16वीं लोकसभा का चुनाव नौ चरण में कराया गया था. 2019 के लोकसभा चुनाव में आपको कई नियम और प्रावधान पहली बार देखने को मिलेंगे. इस बार उम्मीदवारों को विज्ञापन देकर अपना आपराधिक रिकॉर्ड बताना होगा. इसके साथ ही उन्हें सोशल मीडिया अकांउट की जानकारी देना होगी.

  • Lok Sabha Election 2019: जानिए वाराणसी, अमेठी और रायबरेली समेत इन हाईप्रोफाइल सीटों पर कब डाले जाएंगे वोट

    Lok Sabha Election 2019: जानिए वाराणसी, अमेठी और रायबरेली समेत इन हाईप्रोफाइल सीटों पर कब डाले जाएंगे वोट

    चुनाव आयोग ने रविवार को लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी, जिसके मुताबिक वाराणसी में मतदान आखिरी चरण में 19 मई को होगा. वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी मां सोनिया गांधी सहित कई अन्य हाईप्रोफाइल सीटों पर छह मई को वोट डाले जाएंगे. वाराणसी सीट का प्रतिनिधित्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर रहे हैं. लखनऊ में भी मतदान छह मई को होगा, जहां से 2014 में गृह मंत्री राजनाथ सिंह निर्वाचित हुए थे. वैसे ही हाजीपुर लोकसभा सीट के लिए मतदान भी छह मई को होगा जिसका प्रतिनिधित्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान करते हैं.

  • 2019 में लोकसभा चुनाव जीतने के लिए अब कांग्रेस को संभाल कर रखने होंगे 65 'कदम'

    2019 में लोकसभा चुनाव जीतने के लिए अब कांग्रेस को संभाल कर रखने होंगे 65 'कदम'

    कई सालों के बाद कांग्रेस को खुशी नसीब हुई है. उसके आज तीन-तीन मुख्यमंत्रियों का शपथग्रहण है. छत्तीसगढ़ में रविवार को भूपेश बघेल को सीएम बनाने का ऐलान किया है. इस फैसले कांग्रेस ने एक तीर से दो शिकार किए हैं. बघेल ओबीस समुदाय से आते हैं.

  • बीजेपी नेता ने PM मोदी को 2014 के मेनिफेस्टो की दिलाई याद, कहा- ये 11 चीजें होतीं तो नहीं हारते चुनाव

    बीजेपी नेता ने PM मोदी को 2014 के मेनिफेस्टो की दिलाई याद, कहा- ये 11 चीजें होतीं तो नहीं हारते चुनाव

    बीजेपी नेता और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता अश्वनी उपाध्याय (Ashwini Upadhyay)  ने राज्यों में हार पर पीएम मोदी( PM Modi) को एक ट्वीट किया है. जिसमें उनसे बीजेपी के मूल एजेंडे पर चलने की मांग करते हुए हार के कारणों की ओर से संकेत किया है.

  • Telangana Vidhan Sabha Chunav Result 2018: अकेले दम पर PM मोदी, राहुल, सीएम नायडू और ओवैसी को धो डाला इस शख्स ने, 10 बातें

    Telangana Vidhan Sabha Chunav Result 2018: अकेले दम पर PM मोदी, राहुल, सीएम नायडू और ओवैसी को धो डाला इस शख्स ने, 10 बातें

    कांग्रेस के साधारण कार्यकर्ता के रूप में लगभग गुमनामी में सियासी सफर की शुरूआत से तेलंगाना गौरव का चेहरा बनने तक के. चंद्रशेखर राव ने राजनीति की तेज लहरों पर बड़े सधे अंदाज में अपनी चुनावी नैया पार की है. उन्होंने कांग्रेस को झुकने पर मजबूर करके अलग तेलंगाना राज्य के गठन में सफलता भी हासिल की. अलग तेलंगाना राज्य के दशकों पुराने एकमात्र स्वप्न को साकार करने के लिए बनी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की मंगलवार को घोषित परिणामों में जबरदस्त जीत के बाद केसीआर के नाम से लोकप्रिय के. चंद्रशेखर राव (64) ने देश के सबसे नये राज्य का सबसे ऊंचे कद वाला नेता होने का अपना दावा बरकरार रखा है. जून 2014 में तेलंगाना के गठन के बाद से हुए पहले विधानसभा चुनाव में मिली यह सफलता उनके लिए राष्ट्रीय राजनीति में बड़ी भूमिका निभाने की उनकी आकांक्षा को मूर्त रूप देने में अत्यंत महत्वपूर्ण साबित हो सकती है.

  • तेलंगाना: रुझानों में TRS बहुमत से आगे, KCR ने किया सूपड़ा साफ, बेटी बोलीं- जीत को लेकर कभी संदेह नहीं था

    तेलंगाना: रुझानों में TRS बहुमत से आगे, KCR ने किया सूपड़ा साफ, बेटी बोलीं- जीत को लेकर कभी संदेह नहीं था

    रुझानों से ऐसा लगता है कि लोगों ने कांग्रेस और तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के गठबंधन को ठुकरा दिया है. कांग्रेस के कई शीर्ष नेता अपने निर्वाचन क्षेत्रों में पीछे चल रहे हैं, जबकि टीडीपी, तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (सीपीआई) किसी भी सीट पर आगे नहीं हैं. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) तीन सीटों पर आगे है. टीआरएस की रुझानों में बढ़त से पार्टी में जश्न का माहौल है. इस पर टीआरएस प्रमुख और मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव की बेटी के. कविता ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि पार्टी बहुमत के साथ सत्ता में बनी रहेगी. लोकसभा सांसद कविता ने कहा कि राज्य में पिछले साढ़े चार सालों में टीआरएस सरकार ने सभी मोर्चो पर अच्छा काम किया है. बता दें, टीआरएस ने 2014 में 63 सीटें जीती थीं जबकि कांग्रेस 21 सीटें ही जीत पाई थी.

  • क्या राहुल को मिलेगा फायदा? अकेले गुजरात में पीएम मोदी ने की थीं 34 रैलियां और पांच राज्यों में महज 32

    क्या राहुल को मिलेगा फायदा? अकेले गुजरात में पीएम मोदी ने की थीं 34 रैलियां और पांच राज्यों में महज 32

    लोकसभा चुनाव 2019 से पहले सेमीफाइनल माने जा रहे पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव के परिणाम को जानने की बेसब्री न सिर्फ राजनीतिक पार्टियों को है, बल्कि आम लोगों में भी है. मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में वोटिंग का दौर खत्म है और वहां के उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम मशीनों में कैद है, हालांकि, अभी भी दो राज्यों मसलन, राज्सथान और तेलंगाना में वोटिंग होना है, जहां 7 दिसंबर को वोट जाले जाएंगे. 2019 से पहले सेमीफाइनल के तौर पर देखे जाने वाले इस चुनाव के लिए कांग्रेस और बीजेपी में कांटे की टक्कर है. 2014 के बाद मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से कमोबेश लगातार हार का मुंह देख रही कांग्रेस के लिए जीत की पटरी पर लौटने का वक्त है, तो वहीं बीजेपी जीत का लय कायम रखना चाहती है. इन पांच राज्यों के लिए राहुल गांधी और पीएम मोदी ने पूरी ताकत झोंकी और अपनी-अपनी पार्टियों के पक्ष में वोट जुटाने के लिए जमकर रैलियां कीं. पांचों राज्यों के विधानसभा चुनाव में हुई रैलियों पर नजर डालें तो पीएम मोदी ने करीब 32 रैलियां की हैं, वहीं राहुल गांधी ने 77 जनसभाओं को संबोधित किया है. 

  • मध्य प्रदेश चुनाव: आखिर क्यों पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को बताया झूठा?

    मध्य प्रदेश चुनाव: आखिर क्यों पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को बताया झूठा?

    रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि नेहरू-गांधी की चार पीढ़ियों ने इस देश पर राज किया है, लेकिन इस दौरान उन्होंने गरीबों को सिर्फ धोखा दिया है. पीएम ने कहा कि इंदिरा जी ने नारा दिया था गरीबी हटाएंगे लेकिन क्या आज तक गरीबी हटी. उन्होंने कहा कि बैंकों के राष्ट्रीयकरण के बाद भी 2014 तक देश के आधी जनसंख्या के पास उनका बैंक खाता नहीं था. क्या राष्ट्रीयकरण गरीबों के नाम पर एक फर्जीवाड़ा नहीं है? गौरतलब है कि मध्यप्रदेश चुनाव के दौरान पीएम मोदी ने कई बार कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा.

  • केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का दावा, 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिल सकती हैं 297 से 303 सीटें

    केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का दावा,  2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिल सकती हैं 297 से 303 सीटें

    केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने दावा किया है कि उनके एक सर्वेक्षण के मुताबिक 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा 297 से 303 सीटें जीतेगी. इस सर्वेक्षण के लिए देश भर में 5.4 लाख से अधिक लोगों की प्रतिक्रिया ली गई.

  • तेलंगाना: CM के. चंद्रशेखर राव की संपत्ति चार साल में 5.5 करोड़ रुपए बढ़ी, पर नहीं है खुद की कार

    तेलंगाना: CM के. चंद्रशेखर राव की संपत्ति चार साल में 5.5 करोड़ रुपए बढ़ी, पर नहीं है खुद की कार

    राव की कुल चल और अचल संपत्ति की कीमत अभी 22.61 करोड़ रुपए है, जबकि साल 2014 में उन्होंने अपनी संपत्ति 15.95 करोड़ रुपए की बताई थी. इस दौरान राव की देनदारी साल 2014 के 7.87 करोड़ रुपए से बढ़कर साल 2018 में 8.89 करोड़ रुपए हो गई है. इसके अलावा राव ने साल 2014 के आम चुनाव के दौरान हलफनामे में बताया था कि उनके पास 37.70 एकड़ कृषि भूमि है जो 2018 में बढ़कर 54.24 एकड़ हो गई है.

  • 2014 में भाजपा के टिकट पर हरीश मीणा ने अपने भाई को हराया था, अब बोले- कांग्रेस मेरा घर और मैं अपने घर लौटा हूं

    2014 में भाजपा के टिकट पर हरीश मीणा ने अपने भाई को हराया था, अब बोले- कांग्रेस मेरा घर और मैं अपने घर लौटा हूं

    राजस्थान विधानसभा चुनाव से कुछ हफ्ते पहले, बुधवार को भाजपा छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हुए दौसा के सांसद हरीश मीणा (Harish Meena) का कहना है कि कांग्रेस उनका घर है और वह अपने घर में वापस आये हैं.  कांग्रेस के संगठन महासचिव अशोक गहलोत, पार्टी के प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के बाद मीणा ने कहा ''मैं बिना किसी शर्त के कांग्रेस में शामिल हुआ हूं. कांग्रेस मेरा घर है और मैं अपने घर में वापस आया हूं''.

  • जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) ने कांग्रेस के दो निलंबित विधायकों को दिया टिकट

    जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) ने कांग्रेस के दो निलंबित विधायकों को दिया टिकट

    गठबंधन की तरफ से अजीत जोगी मुख्यमंत्री पद केउम्मीदवार हैं. राज्य में 2014 में हुए अंतागढ़ (विधानसभा सीट) उपचुनाव में पैसे के लेन देन की ​कथित ऑडियो सीडी आने के बाद कांग्रेस ने अजीत जोगी के पुत्र और मारवाही विधानसभा सीट से विधायक अमित जोगी को पार्टी से निकालदिया था. बाद में जोगी ने वर्ष 2016 में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ का गठन कर लिया था. कौशिक और राय, जोगी के करीबी माने जाते हैं.

  • छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी को रमन सिंह के खिलाफ उतारा

    छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी को रमन सिंह के खिलाफ उतारा

    छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के ख़िलाफ़ कांग्रेस पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला को मैदान में उतार रही है. वो राजनांदगांव से कांग्रेस उम्मीदवार बनाई गई हैं. करुणा शुक्ला पहली बार 1993 में बीजेपी से विधायक चुनी गईं और जांजगीर से सांसद रह चुकी हैं. बीते 4-5 साल से वे कई मौकों पर खुलेआम बीजेपी नेतृत्व, खास तौर से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह की आलोचना करती आईं हैं. बीजेपी में अनदेखी से नाराज करुणा ने साल 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस का हाथ थाम लिया. तब कांग्रेस ने उन्हें बिलासपुर से टिकट दिया लेकिन वे हार गईं. अब कांग्रेस ने उन्हें राजनांदगांव से सूबे के मुख्यमंत्री के खिलाफ उतारा है.

  • मुरैना में राहुल गांधी ने की मोदी सरकार से मांग, उद्योगपतियों की तरह किसानों के भी 3 लाख करोड़ रुपये कर्ज माफ हो

    मुरैना में राहुल गांधी ने की मोदी सरकार से मांग, उद्योगपतियों की तरह किसानों के भी 3 लाख करोड़ रुपये कर्ज माफ हो

    आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर तारीखों के औपचारिक ऐलान से पहले ही सभी पार्टियां बिगुल फूंक चुकी है. मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस भी वोटरों को लुभाने की पुरजोर कोशिश कर रही है. यही वजह है कि मध्य प्रदेश के मुरैना में संकल्प यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने एक जनसभा को संबोधित किया और मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते कहा कि देश में हरित क्रांति ने किसानों को मजबूत किया और अधिकार दिया. हम जमीन अधिग्रहण बिल लाये. अब जमीन ऐसे नहीं, किसानों से पूछकर पंचायत से पूछकर जमीन ली जायेगी और मार्केट रेट से चार गुना ज्यादा कीमत दी जायेगी. मगर 2014 में नरेन्द्र मोदी जी, भाजपा की सरकार बनी और कुछ ही दिनों में पता चलता है कि जमीन अधिग्रहण को भाजपा खत्म करना चाहती है. इसके अलावा, राहुल गांधी ने नोटबंदी, राफेल और नीरव मोदी समेत कई मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश की. तो चलिए जानते हैं उनके भाषण की अहम बातों को.

  • वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे जसवंत सिंह के बेटे और विधायक मानवेंद्र ने छोड़ी बीजेपी

    वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे जसवंत सिंह के बेटे और विधायक मानवेंद्र ने छोड़ी बीजेपी

    वाजपेयी सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे जसवंत सिंह के बेटे और बीजेपी विधायक मानवेंद्र सिंह ने बीजेपी छोड़ दी है. बाड़मेर में आज स्वाभिमान रैली को संबोधित करते हुये कहा मानवेंद्र सिंह ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में बाड़मेर चर्चा का विषय था और 2018 में भी हर कोई बाड़मेर की ओर देख रहा है.

  • बाबूलाल मरांडी ने किया दावा, 'बीजेपी ने हमारे विधायकों को दिए थे पैसे'

    बाबूलाल मरांडी ने किया दावा, 'बीजेपी ने हमारे विधायकों को दिए थे पैसे'

    झारखंड विकास मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को एक चिट्ठी सौंपी है. झारखंड विकास मोर्चा का कहना है कि यह चिट्ठी भाजपा के तत्कालीन झारखंड प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र राय ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को लिखी है.

  • जी. परमेश्वर- 2013 में कर्नाटक के CM बनने से चूके, अब डिप्टी सीएम की रेस में सबसे आगे, जानिये 10 अहम तथ्य

    जी. परमेश्वर- 2013 में कर्नाटक के CM बनने से चूके, अब डिप्टी सीएम की रेस में सबसे आगे, जानिये 10 अहम तथ्य

    कर्नाटक में बगैर फ्लोर टेस्ट बीएस येदियुरप्पा के इस्तीफा देने के बाद अब कांग्रेस और जेडीएस के सरकार गठन का रास्ता साफ हो चुका है. मुख्यमंत्री पद के लिए जेडीएस नेता एचडी कुमारस्‍वामी का नाम तय है.अब उप मुख्‍यमंत्री यानी डिप्टी सीएम पद को लेकर कयास लगना शुरू हो गया है. कहा जा रहा है कि उप मुख्यमंत्री कांग्रेस का होगा और पार्टी इसके लिए किसी दलित चेहरे का नाम आगे कर सकती है. कांग्रेस की लिस्ट में जो नाम सबसे ऊपर है वो है 'जी परमेश्वर' का. कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष जी परमेश्वर सन 1989 से 1992 तक वे कर्नाटक कांग्रेस के ज्वाइंट सेक्रेटरी रहे.सन 1992 से 1997 तक वे प्रदेश कांग्रेस के महासचिव पद रहे. वर्ष 1997 में उन्हें प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया और वर्ष 1999 तक इस पद पर काबिज रहे. साल 2010 में उन्हें कर्नाटक कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया. इसके अलावा 2010 से 2017 तक वे पार्टी की प्रदेश इकाई की प्रचार समिति के अध्यक्ष भी रह चुके हैं. परमेश्वर वर्ष 2013 में CM पद के प्रबल दावेदार थे, लेकिन हारने की वजह से उनका हाथ खाली रहा. जुलाई 2014 में परमेश्वर विधान परिषद के लिए एमएलसी चुने गए और 30 अक्टूबर 2015 को उन्हें कर्नाटक का गृह मंत्री नियुक्त कर दिया गया और 2017 तक वह इस पद पर काबिज रहे. अब उनका डिप्टी सीएम बनना लगभग तय माना जा रहा है.आपको आपको बताते हैं जी परमेश्वर से जुड़े 10 अहम तथ्य : 

  • कर्नाटक: पहले प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति पर होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, फिर शाम को 4 बजे बहुमत का परीक्षण

    कर्नाटक: पहले प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति पर होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, फिर शाम को 4 बजे बहुमत का परीक्षण

    कर्नाटक का सियासी ड्रामा दिन पर दिन और दिलचस्प होता जा रहा है. सुप्रीम कोर्ट ने एक अहम फैसले में मुख्यमंत्री येदियुरप्पा को शनिवार शाम 4 बजे अपना बहुमत साबित करने का आदेश दिया है. इस सब के बीच प्रोटेम स्पीकर बनाए गए बीजेपी के विधायक केजी बोपैया पर विवाद हो गया है. कांग्रेस जेडीएस का तर्क है कि वो वरिष्ठता के आधार पर खरे नहीं उतरते. कांग्रेस ने उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. कर्नाटक में केजी बोपैया को प्रोटेम स्पीकर बनाने के खिलाफ़ कांग्रेस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुबह साढ़े दस बजे सुनवाई होगी. इस मुद्दे पर फौरन सुनवाई की मांग को लेकर कांग्रेस शुक्रवार की रात अदालत गई, लेकिन सुनवाई आज सुबह साढ़े दस बजे होगी. सुनवाई स्पेशल बेंच करेगी जिसमें जस्टिस एके सीकरी, जस्टिस एसए बोबड़े और जस्टिस अशोक भूषण होंगे.