NDTV Khabar

Assembly elections 2017


'Assembly elections 2017' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • चुनावी नतीजों के बाद संसद भवन में आमने-सामने हुए PM मोदी-राहुल गांधी, जानिये कैसा रहा रिएक्शन

    चुनावी नतीजों के बाद संसद भवन में आमने-सामने हुए PM मोदी-राहुल गांधी, जानिये कैसा रहा रिएक्शन

    पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद पीएम मोदी (PM Modi) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का आमना-सामना हुआ, लेकिन दोनों में कोई बात नहीं हुई. दोनों नेता 17 साल पहले संसद पर हुए आतंकी हमले के दौरान मारे गए लोगों के लिए आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में शामिल हुए थे.

  • भगोड़े विजय माल्या ने सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया को दी बधाई, तो लोगों ने किया ट्रोल

    भगोड़े विजय माल्या ने सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया को दी बधाई, तो लोगों ने किया ट्रोल

    भगोडे विजय माल्या ने कांग्रेस नेता सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया को ट्वीट कर दी बधाई तो ट्रोलर्स ने घेर लिया.

  • BJP की हार के बाद तेजस्वी का नीतीश पर तंज, 'क्या फिर पलटी मारने की सोच रहे हैं चाचाजी'...

    BJP की हार के बाद तेजस्वी का नीतीश पर तंज, 'क्या फिर पलटी मारने की सोच रहे हैं चाचाजी'...

    बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने एक बार फिर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर हमला बोला है. तेजस्वी ने तंज कसते हुए कहा कि क्या वह फिर से पलटी मारने की सोच रहे हैं. मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत के बाद तेजस्वी ने नीतीश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबंध में दिए उनके उस बयान की याद दिलाई, जिसमें उन्होंने कहा था कि 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी का मुकाबला करने की क्षमता इस देश में किसी में नहीं है. तेजस्वी ने नीतीश से पूछा कि उनकी इस बयान के बारे में अब क्या राय है.

  • विधानसभा चुनाव परिणाम: तीन राज्यों में हार के बाद बीजेपी का अखिलेश यादव ने उड़ाया मजाक, कहा - 'अबकी बार....'

    विधानसभा चुनाव परिणाम: तीन राज्यों में हार के बाद बीजेपी का अखिलेश यादव ने उड़ाया मजाक, कहा - 'अबकी बार....'

    बता दें कि 2017 में यूपी में हुए विधानसभा चुनाव (Assembly Elections Results) में बीजेपी (BJP)  ने समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी को हराते हुए राज्य में कुल 325 सीटें जीती थीं. यह हार इतनी बड़ी थी कि बाद में इन दोनों पार्टियों को बीजेपी के खिलाफ एक साथ आना पड़ा.

  • राजस्थान में बोले PM मोदी- अगस्ता-वेस्टलैंड के बिचौलिए को हम दुबई से ले आए, अब राजदार मिशेल खोलेगा सोनिया गांधी के राज

    राजस्थान में बोले PM मोदी- अगस्ता-वेस्टलैंड के बिचौलिए को हम दुबई से ले आए, अब राजदार मिशेल खोलेगा सोनिया गांधी के राज

    पीएम मोदी ने कहा कि इस देश में कांग्रेस ने शुरू से ही जहर फैलाने का काम किया है. चाहे बात जातिवाद का जहर फैलाने की हो या फिर ऊंच-नीच का या फिर गरीब-अमीर के बीच भेद फैलाने का कांग्रेस शुरू से ही यह करती रही है.

  • मंदसौर में राहुल गांधी की रैली, चुनावी सियासत के केंद्र में किसान

    मंदसौर में राहुल गांधी की रैली, चुनावी सियासत के केंद्र में किसान

    मध्यप्रदेश के मंदसौर में छह जून को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी किसानों की सभा को संबोधित करेंगे, सभा में उन परिवारों को भी बुलाया है जिनके परिजनों की पुलिस फ़ायरिंग में मौत हुई थी. सारे परिवार आने के लिए राज़ी भी हो गए हैं. राहुल गांधी बुधवार को दोपहर एक से तीन बजे तक श्रद्धांजलि सभा में भाग लेंगे और पीड़ित परिवारों से मुलाक़ात करेंगे.

  • जी. परमेश्वर- 2013 में कर्नाटक के CM बनने से चूके, अब डिप्टी सीएम की रेस में सबसे आगे, जानिये 10 अहम तथ्य

    जी. परमेश्वर- 2013 में कर्नाटक के CM बनने से चूके, अब डिप्टी सीएम की रेस में सबसे आगे, जानिये 10 अहम तथ्य

    कर्नाटक में बगैर फ्लोर टेस्ट बीएस येदियुरप्पा के इस्तीफा देने के बाद अब कांग्रेस और जेडीएस के सरकार गठन का रास्ता साफ हो चुका है. मुख्यमंत्री पद के लिए जेडीएस नेता एचडी कुमारस्‍वामी का नाम तय है.अब उप मुख्‍यमंत्री यानी डिप्टी सीएम पद को लेकर कयास लगना शुरू हो गया है. कहा जा रहा है कि उप मुख्यमंत्री कांग्रेस का होगा और पार्टी इसके लिए किसी दलित चेहरे का नाम आगे कर सकती है. कांग्रेस की लिस्ट में जो नाम सबसे ऊपर है वो है 'जी परमेश्वर' का. कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष जी परमेश्वर सन 1989 से 1992 तक वे कर्नाटक कांग्रेस के ज्वाइंट सेक्रेटरी रहे.सन 1992 से 1997 तक वे प्रदेश कांग्रेस के महासचिव पद रहे. वर्ष 1997 में उन्हें प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया और वर्ष 1999 तक इस पद पर काबिज रहे. साल 2010 में उन्हें कर्नाटक कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया. इसके अलावा 2010 से 2017 तक वे पार्टी की प्रदेश इकाई की प्रचार समिति के अध्यक्ष भी रह चुके हैं. परमेश्वर वर्ष 2013 में CM पद के प्रबल दावेदार थे, लेकिन हारने की वजह से उनका हाथ खाली रहा. जुलाई 2014 में परमेश्वर विधान परिषद के लिए एमएलसी चुने गए और 30 अक्टूबर 2015 को उन्हें कर्नाटक का गृह मंत्री नियुक्त कर दिया गया और 2017 तक वह इस पद पर काबिज रहे. अब उनका डिप्टी सीएम बनना लगभग तय माना जा रहा है.आपको आपको बताते हैं जी परमेश्वर से जुड़े 10 अहम तथ्य : 

  • कर्नाटक में राजनैतिक उठापटक के बीच अरुण जेटली के ट्वीट को 'हथियार' बना रहा है विपक्ष

    कर्नाटक में राजनैतिक उठापटक के बीच अरुण जेटली के ट्वीट को 'हथियार' बना रहा है विपक्ष

    विपक्षी दलों ने केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का वर्ष 2017 में किया गया एक ट्वीट भी सामने रखा, जिसमें उन्होंने तर्क दिया था कि सरकार बनाने का मौका सबसे पहले बड़े गठबंधन को दिया जाना चाहिए, सबसे बड़ी पार्टी को नहीं.

  • यादों में 2017 : देश में जमकर हुई राजनैतिक उठापटक, कितना याद है आपको...?

    यादों में 2017 : देश में जमकर हुई राजनैतिक उठापटक, कितना याद है आपको...?

    इसी साल देश के सर्वोच्च पद के लिए भी चुनाव हुए, और भारत को नया राष्ट्रपति मिला... इसी साल देश को नया उपराष्ट्रपति भी मिला, और इसी के साथ देश के इतिहास में पहली बार राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति पदों पर एक साथ गैर-कांग्रेसी नेता विराजमान हुए...

  • नाराज नितिन पटेल ने तोड़ी चुप्पी, बोले- बात विभागों की नहीं, मेरे आत्मसम्मान की है

    नाराज नितिन पटेल ने तोड़ी चुप्पी, बोले- बात विभागों की नहीं, मेरे आत्मसम्मान की है

    गुजरात में छठी बार जीत के बाद बनी नई सरकार में विभागों के आवंटन के बाद से नाराज चल रहे उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने शनिवार को चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि अब यह उनके आत्म सम्मान का मुद्दा है. बताया जा रहा है कि अहम विभागों की जिम्मेदारी नहीं मिलने की वजह से डिप्टी सीएम नितिन पटेल नाराज चल रहे हैं और इस कारण से उन्होंने अभी तक अपना कार्यभार नहीं संभाला है. जैसे ही नाराजगी की बात सामने आई, वैसे ही पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और लालजी पटेल ने पटेल को समर्थन देने की घोषणा कर दी.

  • गुजरात में मंत्रियों के विभाग बांटे गये, सीएम विजय रूपाणी के पास होगा गृह विभाग

    गुजरात में मंत्रियों के विभाग बांटे गये, सीएम विजय रूपाणी के पास होगा गृह विभाग

    गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गुरुवार रात अपनी पहली कैबिनेट बैठक की और मंत्रियों को विभाग आवंटित किए. रूपाणी ने सामान्य प्रशासन, गृह, योजना, बंदरगाह एवं खदान सहित कई अन्य विभाग अपने पास रखे हैं. वह शहरी विकास, पेट्रोलियम, जलवायु परिवर्तन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और सूचना एवं प्रसारण विभागों की भी जिम्मेदारी संभालेंगे. 

  • चुनाव में हार की समीक्षा के लिए आज हिमाचल जाएंगे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

    चुनाव में हार की समीक्षा के लिए आज हिमाचल जाएंगे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिली हार की समीक्षा करने के लिए आज हिमाचल प्रदेश जाएंगे.

  • चिंतन शिविर आयोजित कर गुजरात चुनाव के नतीजों पर समीक्षा करेगा हार्दिक पटेल का संगठन

    चिंतन शिविर आयोजित कर गुजरात चुनाव के नतीजों पर समीक्षा करेगा हार्दिक पटेल का संगठन

    गुजरात चुनाव में एड़ी चोटी का जोर लगाने के बाद भी बीजेपी को नहीं हरा पाने के सिलसिले में हार्दिक पटेल समीक्षा करने वाले हैं. पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल की अगुवाई वाली पाटीदार अमानत आंदोलन समिति (पास) गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे पर 30 दिसंबर को बोटाड में चिंतन शिविर आयोजित करेगी.

  • अपना पहला चुनाव हारने वाले जयराम ठाकुर बने हिमाचल के मुख्‍यमंत्री, 10 खास बातें

    अपना पहला चुनाव हारने वाले जयराम ठाकुर बने हिमाचल के मुख्‍यमंत्री, 10 खास बातें

    जयराम ठाकुर ने बुधवार को हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. इस शपथ समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित पार्टी के अन्य नेता भी मौजूद रहे. राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने ठाकुर को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.जयराम ठाकुर छह जनवरी को 53 वर्ष के हो रहे हैं। वह पहली बार मुख्यमंत्री बने हैं. शिमला के ऐतिहासिक रिज पर शहनाइयों और ड्रमों की धुनों के बीच शपथ ग्रहण समारोह हुआ, जिसमें कई केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने हिस्सा लिया. इस दौरान पार्टी के 30,000 से अधिक कार्यकर्ता भी मौजूद रहे. पांच बार के विधायक जयराम ठाकुर को जमीन से जुड़े हुए नेता के तौर पर पहचाना जाता है. ठाकुर के परिवार में 80 वर्ष की उनकी विधवा मां भी है, जो शपथ ग्रहण समारोह के दौरान मौजूद थीं.

  • जयराम ठाकुर ने ली हिमाचल के सीएम पद की शपथ, पीएम मोदी ने रचा इतिहास, इनको मिली मंत्रिमंडल में जगह

    जयराम ठाकुर ने ली हिमाचल के सीएम पद की शपथ, पीएम मोदी ने रचा इतिहास, इनको मिली मंत्रिमंडल में जगह

    ये पहली बार था जब कोई पीएम हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के शपथग्रहण में शिरकत की. गुजरात की तरह यहां भी बीजेपी की शक्ति प्रदर्शन किया. यहां पांच साल बाद बीजेपी ने 68 में से 44 सीटें जीतकर भारी बहुमत के साथ सरकार बनाई है.

  • शपथ लेने से पहले जयराम ठाकुर ने कहा, लोगों ने हम पर विश्‍वास दिखाया और हम उनकी उम्‍मीदों पर खरा उतरेंगे, 10 खास बातें

    शपथ लेने से पहले जयराम ठाकुर ने कहा, लोगों ने हम पर विश्‍वास दिखाया और हम उनकी उम्‍मीदों पर खरा उतरेंगे, 10 खास बातें

    जयराम ठाकुर आज हिमचाल प्रदेश में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद रहेंगे. पीएम मोदी और अमित शाह के अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंह, लालकृष्ण आडवाणी और कई केंद्रीय मंत्री तथा कई राज्यों के मुख्यमंत्री मौजूद रहेंगे. अधिकारियों ने बताया कि शपथ ग्रहण समारोह सुबह 11 बजे होगा.

  • कहीं ये 2019 लोकसभा चुनाव की तैयारी तो नहीं?

    कहीं ये 2019 लोकसभा चुनाव की तैयारी तो नहीं?

    गुजरात में विजय रूपाणी ने दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली और इस जीत के साथ ही बीजेपी ने 2019 के लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल भी जीत लिया. बीजेपी की गुजरात जीत ने पीएम मोदी की साख में बट्टा लगने से बचा लिया. मंगलवार को जब गुजरात में दूसरी बार विजय रूपाणी की ताजपोशी हुई तो मंच का नजारा भविष्य में होने वाले चुनावों का आईना दिखा रहा था. यानी कि बीजेपी ने एक तीर से दो निशाना लगाते हुए शपथ ग्रहण में ही लोकसभा चुनाव के मद्देनजर अपना शक्ति प्रदर्शन किया.

  • बर्मा में हुआ था गुजरात के सीएम विजय रुपाणी का जन्म, 1974 में हुए एक आंदोलन से की थी राजनीति की शुरुआत, 10 खास बातें

    बर्मा में हुआ था गुजरात के सीएम विजय रुपाणी का जन्म, 1974 में हुए एक आंदोलन से की थी राजनीति की शुरुआत, 10 खास बातें

    गुजरात में आज विजय भाई रुपाणी ने दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ही है. उनके साथ नितिन पटेल सहित 20 मंत्रियों ने शपथ ली है. शपथग्रहण के दौरान पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान सहित कई राज्यों के सीएम और बीजेपी के बड़े नेता और केंद्रीय मंत्री मौजूद थे. चुनाव के बाद माना जा रहा था कि कम सीटें आने की वजह से हो सकता है कि बीजेपी इस बार रुपाणी को मौका न दें लेकिन पाटीदार आंदोलन के बाद गुजरात में उपजे विपरीत हालात के बीच विजय रुपाणी ने बिना किसी खास दिक्कत के सरकार चलाई.

Advertisement