NDTV Khabar

Assembly polls 2015 News in Hindi


'Assembly polls 2015' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Delhi Election Results 2020: वोटों की गिनती चेक करने की तारीख और समय

    Delhi Election Results 2020: वोटों की गिनती चेक करने की तारीख और समय

    दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को हुए हुए मतदान का परिणाम 11 फरवरी यानी मंगलवार को आएगा. दिल्ली में इस बार 62.59 % फीसदी वोटिंग हुई है, वहीं 2015 के चुनाव में वोटिंग का परसेंट 67.5 फीसदी था.

  • Delhi Election 2020 : पिछली बार के मुकाबले अब तक करीब 10% कम हुआ मतदान, क्या ये आंकड़ा किसी एक पार्टी को कर देगा पूरी तरह साफ

    Delhi Election 2020 : पिछली बार के मुकाबले अब तक करीब 10% कम हुआ मतदान, क्या ये आंकड़ा किसी एक पार्टी को कर देगा पूरी तरह साफ

    दिल्ली में 3 बजे तक 41.5 फीसदी ही मतदान हो पाया है. साल 2015 में अब तक 51.2 फीसदी तक वोट पड़ चुके थे. मतलब इस बार करीब 10 फीसदी वोटों की गिरावट दर्ज की गई है. सवाल इस बात का है कि मतदान में इतनी बड़ी गिरावट क्या किसी एक पार्टी को बेहद नुकसान पहुंचाने वाला है. सुबह 11.30 बजे तक 16.36% लोगों ने वोट डाला है. आज वोटिंग के लिए सुरक्षा के भी पुख़्ता इंतज़ाम किए गए.आम आदमी पार्टी ने सभी 70 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं. कांग्रेस 66 और बीजेपी 67 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. बीजेपी ने तीन सीटें सहयोगी दलों के लिए छोड़ी हैं. दिल्ली के वोटरों की बात करें तो यहां 1 करोड़ 47 लाख से ज़्यादा कुल मतदाता हैं. आम आदमी पार्टी, बीजेपी, कांग्रेस के उम्मीदवारों के अलावा 148 निर्दलीय उम्मीदवार इस बार मैदान में हैं.

  • लालू यादव बोले- वह दो मुहां सांप है, कब किधर जाएगा, किसी को पता है?

    लालू यादव बोले- वह दो मुहां सांप है, कब किधर जाएगा, किसी को पता है?

    चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव ने क्या नीतीश कुमार पर ट्वीट के जरिए साधा निशाना?

  • लोकसभा चुनाव 2019: बेगूसराय में कन्हैया कुमार की राह में सबसे बड़ा रोड़ा क्या है?

    लोकसभा चुनाव 2019: बेगूसराय में कन्हैया कुमार की राह में सबसे बड़ा रोड़ा क्या है?

    बेगूसराय लोकसभा सीट पर महागठबंधन उम्मीदवार तनवीर हसन के मैदान में उतरने से भाजपा विरोधी वोट राजद और भाकपा के बीच बंट सकते हैं.  कन्हैया कुमार को सबसे ज्यादा इसी बात का नुकसान उठाना पड़ सकता है यानी बीजेपी विरोधी वोटों के विभाजन का. 

  • जी. परमेश्वर- 2013 में कर्नाटक के CM बनने से चूके, अब डिप्टी सीएम की रेस में सबसे आगे, जानिये 10 अहम तथ्य

    जी. परमेश्वर- 2013 में कर्नाटक के CM बनने से चूके, अब डिप्टी सीएम की रेस में सबसे आगे, जानिये 10 अहम तथ्य

    कर्नाटक में बगैर फ्लोर टेस्ट बीएस येदियुरप्पा के इस्तीफा देने के बाद अब कांग्रेस और जेडीएस के सरकार गठन का रास्ता साफ हो चुका है. मुख्यमंत्री पद के लिए जेडीएस नेता एचडी कुमारस्‍वामी का नाम तय है.अब उप मुख्‍यमंत्री यानी डिप्टी सीएम पद को लेकर कयास लगना शुरू हो गया है. कहा जा रहा है कि उप मुख्यमंत्री कांग्रेस का होगा और पार्टी इसके लिए किसी दलित चेहरे का नाम आगे कर सकती है. कांग्रेस की लिस्ट में जो नाम सबसे ऊपर है वो है 'जी परमेश्वर' का. कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष जी परमेश्वर सन 1989 से 1992 तक वे कर्नाटक कांग्रेस के ज्वाइंट सेक्रेटरी रहे.सन 1992 से 1997 तक वे प्रदेश कांग्रेस के महासचिव पद रहे. वर्ष 1997 में उन्हें प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया और वर्ष 1999 तक इस पद पर काबिज रहे. साल 2010 में उन्हें कर्नाटक कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया. इसके अलावा 2010 से 2017 तक वे पार्टी की प्रदेश इकाई की प्रचार समिति के अध्यक्ष भी रह चुके हैं. परमेश्वर वर्ष 2013 में CM पद के प्रबल दावेदार थे, लेकिन हारने की वजह से उनका हाथ खाली रहा. जुलाई 2014 में परमेश्वर विधान परिषद के लिए एमएलसी चुने गए और 30 अक्टूबर 2015 को उन्हें कर्नाटक का गृह मंत्री नियुक्त कर दिया गया और 2017 तक वह इस पद पर काबिज रहे. अब उनका डिप्टी सीएम बनना लगभग तय माना जा रहा है.आपको आपको बताते हैं जी परमेश्वर से जुड़े 10 अहम तथ्य : 

  • आधी रात को खुले सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे, 3 साल बाद दोहराया गया इतिहास

    आधी रात को खुले सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे, 3 साल बाद दोहराया गया इतिहास

    Karnataka-Verdict: सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में यह दूसरा मौका है जब आधी रात को अदालत खुला हो. इससे पहले 29 जुलाई 2015 को पहली बार आधी रात को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खुला था. 

  • कर्नाटक का जो शख्‍स बीजेपी की लिस्‍ट में 'शहीद', वो आज भी जिंदा

    कर्नाटक का जो शख्‍स बीजेपी की लिस्‍ट में 'शहीद', वो आज भी जिंदा

    बीजेपी की इस लिस्‍ट में सबसे पहला नाम अशोक पुजारी का आता है, जिसकी हत्‍या 20 सितंबर 2015 को कर दी गई थी. लेकिन पुजारी आज भी जिंदा है. एनडीटीवी ने पुजारी से उसके गांव जाकर मुलाकात की. पूजारी का गांव उडुपी में है जो मेंगलौर से दो किलोमीटर दूर है. 

  • बीजेपी रणनीतिकार हेमंत बिसवा सरमा ने कहा, अगर तीनों राज्यों में जीते तो होगा उत्तर पूर्व में विस्तार

    बीजेपी रणनीतिकार हेमंत बिसवा सरमा ने कहा, अगर तीनों राज्यों में जीते तो होगा उत्तर पूर्व में विस्तार

    पूर्व कांग्रेस नेता और 2015 में बीजेपी में जाने वाले सरमा को बीजेपी को इतनी बड़ी सफलता मिलने का श्रेय दिया जा रहा है, यह असम में 2016 में मिली जीत के बाद से शुरू हुआ था.

  • चुनाव आयोग ने भविष्य के सभी चुनावों में वीवीपीएटी मशीनें इस्तेमाल करने का दिय औपचारिक निर्देश

    चुनाव आयोग ने भविष्य के सभी चुनावों में वीवीपीएटी मशीनें इस्तेमाल करने का दिय औपचारिक निर्देश

    चुनाव आयोग ने कहा है कि भविष्य में लोकसभा और विधानसभा चुनावों में मतदान केंद्रों में मतदान की पर्ची देने वाली मशीनें (वीवीपीएटी) इस्तेमाल की जाएंगी.

  • आदित्य सचदेव हत्याकांड में आज आ सकता है फैसला- मां ने कहा- मां में बहुत ताकत होती है

    आदित्य सचदेव हत्याकांड में आज आ सकता है फैसला- मां ने कहा- मां में बहुत ताकत होती है

    बिहार स्थित गया के चर्चित रोडरेज केस आदित्य सचदेव हत्याकांड में आज फैसला आने वाला है. इस लेकर आदित्य सचदेव की मां ने कहा कि मां में बहुत ताकत होती है.

  • चुनाव आयोग को गलत सूचना देने पर 'आप' विधायक सोमदत्त को समन

    चुनाव आयोग को गलत सूचना देने पर 'आप' विधायक सोमदत्त को समन

    आम आदमी पार्टी (आप) विधायक सोम दत्त को 2015 में दिल्ली विधानसभा चुनावों के दौरान निर्वाचन आयोग को गलत जानकारी देने के मामले में दिल्ली की एक अदालत ने आरोपी के तौर पर समन भेजा है. 

  • मणिपुर चुनाव: बीजेपी के लिए कितने फायदेमंद साबित होंगे राधाबिनोद कोइजाम

    मणिपुर चुनाव: बीजेपी के लिए कितने फायदेमंद साबित होंगे राधाबिनोद कोइजाम

    मणिपुर के पूर्व मुख्यमंत्री राधाबिनोद कोईजाम इन विधानसभा चुनावों में बीजेपी के पाले में हैं. सितंबर, 2015 में बीजेपी ज्वॉइन करने से पहले वह अन्य कई पार्टियों में रह चुके हैं. वह राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की मणिपुर इकाई के अध्यक्ष भी रहे. 2007 में उन्होंने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के टिकट पर थंगमेबंद हिजम लेखई विधानसभा सीट से चुनाव जीता. 15 फरवरी, 2001 को उन्होंने मणिपुर के 15वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी. हालांकि उनकी सरकार बहुत छोटी अवधि (1 जून, 2001) के लिए रही. पीपुल्स डेमोक्रेटिक एलायंस की गठबंधन सरकार उसी वर्ष गिर गई. 

  • उत्तर प्रदेश चुनाव 2017: जानें विधानसभा क्षेत्र देवबंद को

    उत्तर प्रदेश चुनाव 2017:  जानें विधानसभा क्षेत्र देवबंद को

    देवबंद सीट सहारनपुर जिले में आती है. पिछले चुनावों में सपा के राजेंद्र सिंह राणा ने बसपा के मनोज चौधरी को 3050 मतों से हराकर यह सीट कब्जाई थी, लेकिन 2015 में उनकी मौत के बाद हुए चुनाव में यह सीट कांग्रेस के माविया अली की झोली में आ गई. राणा से पहले मनोज चौधरी यहां के विधायक थे. 14वीं विधान सभा यानी 2002 में राजेंद्र सिंह राणा हाथी पर सवार होकर चुनाव जीते थे.

  • बॉलीवुड अभिनेत्री रिमी सेन हुईं बीजेपी में शामिल, कहा - पीएम मोदी से हूं प्रभावित

    बॉलीवुड अभिनेत्री रिमी सेन हुईं बीजेपी में शामिल, कहा - पीएम मोदी से हूं प्रभावित

    पांच राज्‍यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों से ठीक पहले बॉलीवुड अभिनेत्री रि‍मी सेन ने मंगलवार को बीजेपी का दामन थाम लिया. साल 2003 में आई निर्देशक प्रियदर्शन की कॉमेडी फिल्‍म हंगामा से बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत करने वाली पिछली बार 2015 में टीवी रियलिटी शो बिग बॉस में नजर आई थी.

  • क्या बिहार की तरह यूपी में भी बीजेपी के लिए सिरदर्द तो साबित नहीं होगा आरक्षण पर संघ का बयान?

    क्या बिहार की तरह यूपी में भी बीजेपी के लिए सिरदर्द तो साबित नहीं होगा आरक्षण पर संघ का बयान?

    जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में आरएसएस के प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य के आरक्षण खत्म करने के बयान पर विवाद खड़ा हो गया है. मनमोहन वैद्य के बयान के बाद राजनीतिक माहौल गर्म हो गया. बयान के कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, जेडीयू, समाजवादी पार्टी, आरजेडी और बीएसपी सबने मोर्चा खोल दिया है.

  • पीके प्रोडक्शन के बैनर तले : प्रशांत किशोर का यूपी में दांव

    पीके प्रोडक्शन के बैनर तले : प्रशांत किशोर का यूपी में दांव

    प्रशांत किशोर के आलोचकों की मानें तो मतभेद से पहले बीजेपी नेताओं ने किशोर को प्रधानमंत्री की जीत का काफी हद तक श्रेय लेने दिया. वहीं कइयों ने उन्हें ऐसा स्वार्थी शख्स करार दिया, जो अपने पुराने बॉस से हिसाब-किताब बराबर करने के लिए 2015 में बीजेपी छोड़ नीतीश कुमार से जा मिला.

  • भाजपा केरल में नहीं जीत पाएगी : ओमन चांडी

    भाजपा केरल में नहीं जीत पाएगी : ओमन चांडी

    मुख्यमंत्री ओमन चांडी का कहना है कि भगवा पार्टी को राज्य में पैर जमाने के लिए कोई आधार नहीं मिलने वाला क्योंकि केरलवासियों की सोच भाजपा की विचारधाराओं के खिलाफ है।

  • तरुण गोगोई का पीएम पर हमला, बोले- क्या वह मुझसे कह रहे हैं कि मैं मर जाऊं या और क्या?

    तरुण गोगोई का पीएम पर हमला, बोले- क्या वह मुझसे कह रहे हैं कि मैं मर जाऊं या और क्या?

    तरुण गोगोई ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा उन्हें 90 वर्ष का बताने पर उनकी आलोचना की और सवाल किया कि क्या भाजपा नेता उनसे यह कहना चाहते हैं कि वह ‘मर जाएं।’

12345»

Advertisement

Assembly polls 2015 वीडियो

Assembly polls 2015 से जुड़े अन्य वीडियो »

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com