NDTV Khabar

Ayodhya case News in Hindi


'Ayodhya case' - 164 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- ईश्वर निराकार हो सकता है लेकिन देवता का एक रूप होना चाहिए

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- ईश्वर निराकार हो सकता है लेकिन देवता का एक रूप होना चाहिए

    अयोध्या मामले में 24 वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष की तरफ से वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने बहस की शुरुआत की. राजीव धवन ने संविधान पीठ के समक्ष फिर एक मुद्दा उठाया. राजीव धवन ने कहा कि सोशल मीडिया में एक व्यक्ति ये कह रहे हैं कि उन्होंने एक पत्र लिखा है CJI को, जिसमें उन्हींने कहा है कि कोर्ट को ये मामला नही सुनना चहिए. CJI ने कहा कि हमें इस मामले में कोई जानकारी नहीं. इसके बाद मुख्य मामले की सुनवाई शुरू हुई.

  • News Flash : पीएम नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर आज देश भर में आयोजन

    News Flash : पीएम नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर आज देश भर में आयोजन

    देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें...

  • अयोध्या जमीन विवाद मामले में फिर से मध्यस्थता की मांग, पैनल के तीन जजों को लिखी गई चिट्ठी

    अयोध्या जमीन विवाद मामले में फिर से मध्यस्थता की मांग, पैनल के तीन जजों को लिखी गई चिट्ठी

    बता दें कि इस मांग को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट इसपर सुनवाई कर सकता है. अयोध्या भूमि विवाद मामले की सुनवाई के दौरान कुछ दिन पहले ही मुस्लिम पक्षकारों की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने अपनी कानूनी टीम के क्लर्क को धमकी की जानकारी कोर्ट को दी थी.

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- चीन मानसरोवर जाने से रोक दे तो क्या पूजा का अधिकार होगा?

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- चीन मानसरोवर जाने से रोक दे तो क्या पूजा का अधिकार होगा?

    अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद (Ayodhya Case) मामले में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ में शुक्रवार को 23वें दिन की सुनवाई हुई. कोर्ट में मुस्लिम पक्षकारों ने कहा कि जन्मस्थान के लिए अदालत में याचिका दाखिल नहीं हो सकती. जन्मस्थान कोई कानूनी व्यक्ति नहीं है. नदियों, पहाड़ों, कुओं के लिए प्रार्थना की जाती है और यह एक वैदिक अभ्यास है. अगर कल को चीन मानसरोवर में जाने से मना कर देता है तो क्या कोई पूजा के अधिकार का दावा कर सकता है? मुस्लिम पक्ष की तरफ से सबसे पहले वरिष्ठ वकील जफरयाब जिलानी ने बहस की शुरुआत की. जिलानी ने कहा कि 1885 में निर्मोही अखाड़े ने जब कोर्ट में याचिका दायर की थी तो उन्होंने अपनी याचिका में विवादित जमीन की पश्चिमी सीमा पर मस्जिद होने की बात कही थी. यह हिस्सा अब विवादित जमीन के भीतरी आंगन के नाम से जाना जाता है.

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा-यूपी के मंत्री कह रहे अयोध्या हिंदुओं की, सुप्रीम कोर्ट भी उनका; CJI ने की निंदा

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा-यूपी के मंत्री कह रहे अयोध्या हिंदुओं की, सुप्रीम कोर्ट भी उनका; CJI ने की निंदा

    अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद के मामले (Ayodhya Case) में 22 वें दिन मुस्लिम पक्ष की तरफ से वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने पक्ष रखा. राजीव धवन ने मुख्य मामले की सुनवाई से पहले अपनी कानूनी टीम के क्लर्क को धमकी दिए जाने की जानकारी कोर्ट को दी और कहा कि ऐसे गैर-अनुकूल माहौल में बहस करना मुश्किल हो गया है. राजीव धवन ने कोर्ट को बताया कि यूपी में एक मंत्री ने कहा है कि अयोध्या हिंदुओं की है, मंदिर उनका है और सुप्रीम कोर्ट भी उनका है. उन्होंने कहा कि 'मैं अवमानना के बाद अवमानना दायर नहीं कर सकता.' उन्होंने पहले ही 88 साल के व्यक्ति के खिलाफ अवमानना दायर की है.

  • अयोध्या केस: मुस्लिम पक्षकारों के वकील ने कोर्ट से कहा- मेरी टीम को धमकाया गया, मारपीट की गई, CJI बोले- देश में ऐसा नहीं होना चाहिए

    अयोध्या केस: मुस्लिम पक्षकारों के वकील ने कोर्ट से कहा- मेरी टीम को धमकाया गया, मारपीट की गई, CJI बोले- देश में ऐसा नहीं होना चाहिए

    इस पर CJI रंजन गोगोई ने कहा कि कोर्ट के बाहर इस तरह के व्यवहार की निंदा करते हैं. देश में ऐसा नहीं होना चाहिए. हम इस तरह के बयानों को रद्द करते हैं. दोनों पक्ष बिना किसी डर के अपनी दलीलें अदालत के समक्ष रखने के लिए स्वतंत्र हैं.

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष का सवाल- क्या रामलला विराजमान कह सकते हैं कि जमीन पर मालिकाना हक उनका?

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष का सवाल- क्या रामलला विराजमान कह सकते हैं कि जमीन पर मालिकाना हक उनका?

    अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले में 21 वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष की तरफ से वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने पक्ष रखा. राजीव धवन ने कहा कि संविधान पीठ को दो मुख्य बिन्दुओं पर ही विचार करना है. पहला विवादित स्थल पर मालिकाना हक किसका है और दूसरा क्या गलत परम्परा को जारी रखा जा सकता है. राजीव धवन ने सन 1962 में दिए गए सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले का हवाला देते हुए हाईकोर्ट के फैसले पर सवाल उठाया और कहा कि जो गलती हुई उसे जारी नहीं रखा जा सकता, यही कानून के तहत होना चाहिए.

  • अयोध्या मामले की लाइव स्ट्रीमिंग की मांग वाली याचिका पर SC ने कहा- यह संवेदनशील मामला है

    अयोध्या मामले की लाइव स्ट्रीमिंग की मांग वाली याचिका पर SC ने कहा- यह संवेदनशील मामला है

    याचिकाकर्ता गोविंदाचार्य के वकील विकास सिंह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का ही लाइव स्ट्रीमिंग का आदेश है. अगर लाइव स्ट्रीमिंग नहीं है तो कम से कम ऑडियो रिकॉर्डिंग और तर्क की ट्रांसक्रिप्शन शुरू कर देना चाहिए. यह गंभीर सामाजिक और संवैधानिक महत्व का मामला है.

  • NEWS FLASH: इसरो के चेयरमैन के सिवन ने कहा, हम सॉफ्ट लैंडिंग को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं और हमें आज रात का इंतजार है

    NEWS FLASH:  इसरो के चेयरमैन के सिवन ने कहा, हम सॉफ्ट लैंडिंग को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं और हमें आज रात का इंतजार है

    देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें...

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- रामलला के अंतरंग सखा को सिर्फ पूजा का अधिकार, जमीन पर दावा नहीं

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- रामलला के अंतरंग सखा को सिर्फ पूजा का अधिकार, जमीन पर दावा नहीं

    Ayodhya Case : अयोध्या राम जन्मभूमि मामले में 20 वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने बहस की शुरुआत की. राजीव धवन ने कहा कि निर्मोही अखाड़ा 1734 से अस्तित्व का दावा कर रहा है. मैं कह सकता हूं कि निर्मोही अखाड़ा 1885 में बाहरी आंगन में था और वह वहां रहा है. धवन ने कहा कि राम चबूतरा बाहरी आंगन में है जिसे राम जन्म स्थल के रूप में जाना जाता है और मस्जिद को विवादित स्थल माना जाता है.

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- जिस ढांचे को तोड़ा गया, वहां पहले मन्दिर होने के कोई पुख्ता सबूत नहीं

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष ने कहा- जिस ढांचे को तोड़ा गया, वहां पहले मन्दिर होने के कोई पुख्ता सबूत नहीं

    अयोध्या (Ayodhya) के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद के मामले में बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में 19 वें दिन की सुनवाई हुई. कोर्ट में मुस्लिम पक्षकारों की ओर से कहा गया कि बाहरी अहाता तो शुरू से निर्मोही अखाड़े के कब्जे में रहा है. इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के आधार पर दलीलें दी जा रही हैं. झगड़ा तो आंतरिक अहाते को लेकर है जिस पर जबरन कब्ज़ा किया गया. जिस ढांचे को तोड़ा गया, वहां पहले मन्दिर होने के कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले. एडवर्स पोजिशन को लेकर भी विवाद खड़ा किया गया है. हाईकोर्ट के फैसले के हवाले से वकील राजीव धवन बोले- बीच वाले गुम्बद के नीचे जबरन रामलला की मूर्ति रखकर विवाद खड़ा किया गया. क्योंकि उन्होंने इस बारे में एक कहानी भी गढ़ ली.

  • TOP 5 NEWS: अयोध्या मामले की सुनवाई में मुस्लिम पक्ष के वकील बोले- मेहराब के अंदर पहले से लिखा है 'अल्लाह'

    TOP 5 NEWS: अयोध्या मामले की सुनवाई में मुस्लिम पक्ष के वकील बोले- मेहराब के अंदर पहले से लिखा है 'अल्लाह'

    अयोध्या मामले में 18वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष की तरफ से वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने कहा कि बाबरी मस्जिद में भगवान की मूर्ति स्थापित करना "छल से किया हुआ हमला है."

  • Ayodhya Case: SC में सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील ने कहा- मेहराब के अंदर 'अल्लाह' शब्द के शिलालेख हैं

    Ayodhya Case: SC में सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील ने कहा- मेहराब के अंदर 'अल्लाह' शब्द के शिलालेख हैं

    Ayodhya Case Supreme Court: अयोध्या मामले में 18वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष की तरफ से वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने कहा कि बाबरी मस्जिद में भगवान की मूर्ति स्थापित करना "छल से किया हुआ हमला है." राजीव धवन ने कहा कि हिन्दू महासभा ने कहा कि वो सरकार के पास इस मसले को लेकर जाएगी, इसका मतलब है कि कोर्ट का ये अधिकार क्षेत्र नहीं है, इस तरह के शो पर रोक लगनी चाहिये "नो मोर रथयात्रा". राजीव धवन ने कहा कि हिन्दू पक्ष की दलील है कि मुस्लिम पक्ष के पास विवादित जमीन के कब्ज़े के अधिकार नहीं हैं, न ही मुस्लिम पक्ष वहां नमाज अदा करते हैं.

  • अयोध्या मामला : मुस्लिम पक्ष ने कहा- भूमि विवाद का निपटारा कानून से हो, पुराण और वेद के जरिए नहीं

    अयोध्या मामला : मुस्लिम पक्ष ने कहा- भूमि विवाद का निपटारा कानून से हो, पुराण और वेद के जरिए नहीं

    अयोध्या के राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद जमीन विवाद के मामले में सुप्रीम कोर्ट में मुस्लिम पक्षकार की ओर से वकील राजीव धवन ने कहा मेरे मित्र वैद्यनाथन ने अयोध्या में लोगों द्वारा परिक्रमा करने संबंधी एक दलील दी, लेकिन कोर्ट को मैं बताना चाहता हूं कि पूजा के लिए की जाने वाली भगवान की परिक्रमा सबूत नहीं हो सकती. यहां इसे लेकर इतनी दलीलें दी गईं लेकिन इन्हें सुनने के बाद भी मैं यह नहीं दिखा सकता कि परिक्रमा कहां है. इसलिए यह सबूत नहीं है. हम सिर्फ इसलिए इस पक्ष को मजबूती से देख रहे हैं क्योंकि वहां की शिला पर एक मोर या कमल था. इसका मतलब यह नहीं है कि मस्जिद से पहले एक विशाल संरचना थी.

  • अयोध्या मामला: वकील ने लगाई याचिका- मुस्लिम पक्ष की पैरवी करने पर मिली धमकी, SC मंगलवार को करेगा सुनवाई

    अयोध्या मामला: वकील ने लगाई याचिका- मुस्लिम पक्ष की पैरवी करने पर मिली धमकी, SC मंगलवार को करेगा सुनवाई

    न्होंने कहा है कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद में एक मुस्लिम पक्षकार की पैरवी करने पर उन्हें इस अधिकारी ने धमकी दी है. मामले में धवन याचिकाकर्ता एम सिद्दीकी और अखिल भारतीय सुन्नी वक्फ बोर्ड की ओर से पेश हो रहे हैं. याचिकाकर्ता का कहना है कि 14 अगस्त 2019 को लिखे एक पत्र में सेवानिवृत्त शिक्षा अधिकारी एन षणमुगम ने उन्हें धमकी दी है. धवन के मुताबिक, यह पत्र उन्हें सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के कर्मचारी ने 22 अगस्त 2019 को सौंपा था.

  • अयोध्या केस : सुप्रीम कोर्ट में दलील, बाबर के वंशज किसी इमारत के मालिक हो सकते हैं लेकिन मस्जिद के नहीं

    अयोध्या केस : सुप्रीम कोर्ट में दलील, बाबर के वंशज किसी इमारत के मालिक हो सकते हैं लेकिन मस्जिद के नहीं

    अयोध्या विवाद मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में आज भी जारी रही. सुनवाई के दौरान श्रीरामजन्मभूमि पुनरोद्धार समिति के वकील पीएन मिश्रा ने हदीस के हवाले से इस्लामी कानून के ज़रिए ज़मीन के खरीद और इस्तेमाल के नियमों का जिक्र किया. उन्होंने हज़रत मोहम्मद साहब, उनके अनुयायियों हजरत उमर, सईद बुखारी और यहूदियों के बीच हुए वाकयों का बयान किया. उन्होंने कहा कि मस्जिद के लिए कई कायदे नियम और बुनियादी चीज़े होती हैं.

  • अयोध्या केस: SC ने कहा- 500 साल बाद बाबर के मस्जिद बनाने के विषय की जांच करना थोड़ी समस्या वाली बात

    अयोध्या केस: SC ने कहा- 500 साल बाद बाबर के मस्जिद बनाने के विषय की जांच करना थोड़ी समस्या वाली बात

    'अखिल भारतीय श्री राम जन्म भूमि पुनरुद्धार समितट के वकील ने प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ से कहा कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने यह कहकर गलती की कि वह इस मामले में नहीं जाएगा कि क्या बाबर ने बिना 'शरिया' 'हदीस' और अन्य इस्लामिक परंपराओं का पालन किये बिना मस्जिद का निर्माण कराया.    

  • अयोध्या केस : राम जन्मभूमि पुनरुद्धार समिति ने कहा- बाबर न तो जमीन का मालिक था, न ही उसने मस्जिद बनवाई

    अयोध्या केस : राम जन्मभूमि पुनरुद्धार समिति ने कहा- बाबर न तो जमीन का मालिक था, न ही उसने मस्जिद बनवाई

    सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद के मामले में 15 वें दिन की सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि पुनरुद्धार समिति की ओर से वकील पीएन मिश्रा ने इस बात पर जिरह की कि बाबरी मस्जिद बाबर ने नहीं औरंगजेब ने बनवाई थी. पीएन मिश्रा ने किताबों को सबूतों के तौर पर स्वीकार करने संबंधी इलाहाबाद हाई कोर्ट का फैसला पढ़ा. मिश्रा ने कहा कि हाईकोर्ट के फैसले में जस्टिस एसयू खान ने कहा था कि मुझे इस बात का सबूत नहीं मिला कि ढांचे का निर्माण बाबर ने कराया था, जबकि जस्टिस अग्रवाल ने कहा था कि औरंगजेब ने बनवाया था. पीएन मिश्रा ने कहा कि मुस्लिम पक्षकार ये साबित नहीं कर पाए थे कि मस्जिद का निर्माण बाबर ने करवाया था.

12345»

Advertisement

 

Ayodhya case वीडियो

Ayodhya case से जुड़े अन्य वीडियो »