NDTV Khabar

Ayodhya dispute


'Ayodhya dispute' - 81 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • अब सुशील मोदी ने अयोध्या मुद्दे पर दिया बयान, 'मुस्लिमों को मस्जिद कहीं और बनाने की दी सलाह...'

    अब सुशील मोदी ने अयोध्या मुद्दे पर दिया बयान, 'मुस्लिमों को मस्जिद कहीं और बनाने की दी सलाह...'

    बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट जल्द से जल्द अयोध्या मामले पर पर सुनवाई कर फैसला दे. सुशील मोदी ने पटना में सरदार पटेल जयंती और कृषक सम्मान समारोह में सुप्रीम कोर्ट पर यह कहते हुए हमला बोला कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण करोड़ों हिन्दुओं की अभिलाषा है. उन्होंने कहा कि जब सुप्रीम कोर्ट आधी रात में कर्नाटक सरकार से जुड़े फैसले कर सकती है, समलैंगिकों पर फैसला कर सकती है तो फिर राम मंदिर का मामला वर्षों से अदालत में क्यों लटका है.

  • अयोध्या में राम मंदिर पर बोले सीएम योगी- भगवान राम के लिए एक दीया जलाएं, अब काम जल्द शुरू हो जाएगा

    अयोध्या में राम मंदिर पर बोले सीएम योगी- भगवान राम के लिए एक दीया जलाएं, अब काम जल्द शुरू हो जाएगा

    अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर हलचल तेज दिख रही है. कभी अध्यादेश लाने की मांग हो रही है तो कभी पर्सनल मेंबर बिल लाने की बात की जा रही है. मगर इसी बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने संकेत दिया है कि दिवाली के बाद से राम मंदिर को लेकर काम शुरू हो जाएगा. बता दें कि शनिवार को सीएम योगी राजस्थान के बीकानेर में थे और इसी दौरान उन्होंने कहा कि दिवाली के बाद काम शुरू हो जाएगा. 

  • केंद्रीय मंत्री उमा भारती बोलीं- राम मंदिर का निर्माण मेरा सपना, जो भी हो करने के लिए तैयार हूं

    केंद्रीय मंत्री उमा भारती बोलीं- राम मंदिर का निर्माण मेरा सपना, जो भी हो करने के लिए तैयार हूं

    अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सियासत गर्म है. पिछले कुछ दिनों से राम मंदिर निर्माण को लेकर बयानबाजियों का दौर तेज हो गया है. इसी क्रम में इस बार केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने भी कहा है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए उनसे जो बन पड़ेगा वह करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि राम मंदिर का निर्माण उनका सपना है. बता दें कि बीते कुछ दिनों से यह मांग उठ रही है कि राम मंदिर बनाने के लिए सरकार को अध्यादेश लाना चाहिए. हालांकि, यह मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीना है और जनवरी में इस पर सुनवाई होगी. 

  • राम मंदिर निर्माण के लिए जमीन अधिग्रहण करने और कानून बनाए जाने की जरूरत: RSS

    राम मंदिर निर्माण के लिए जमीन अधिग्रहण करने और कानून बनाए जाने की जरूरत: RSS

    राम मंदिर (Ram Mandir) मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टलने के बाद सियासत गरमाई हुई है. RSS ने बुधवार को अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए अध्यादेश लाने या कानून बनाने की अपनी मांग को फिर दोहराया. राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) का कहना है कि देश की जनभावना का सम्मान करते हुए केंद्र सरकार को जमीन अधिग्रहण कर उसे राम मंदिर निर्माण के लिए सौंप देना चाहिए. साथ ही सरकार को इसके लिए कानून भी बनाना चाहिए. आरएसएस के सहसरकार्यवाह मनमोहन वैद्य ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण राष्ट्रीय गौरव का विषय है और अभी तक अयोध्या विवाद का हल अदालतों में नहीं निकला है. इस संबंध में कानून बनाने की जरूरत है. 

  • 'याकूब मेनन की फांसी टालने के लिए सुप्रीम कोर्ट रात में खुल सकता है, लेकिन अयोध्या मामले में तारीख पर तारीख...'

    'याकूब मेनन की फांसी टालने के लिए सुप्रीम कोर्ट रात में खुल सकता है, लेकिन अयोध्या मामले में तारीख पर तारीख...'

    अयोध्या मामले की सुनवाई अगले साल जनवरी तक टलने के बाद हरियाणा के मंत्री और बीजेपी (BJP) नेता अनिल विज (Anil Vij) ने सुप्रीम कोर्ट पर तंज कसा. उन्होंने कहा कि न्यायालय मुंबई आतंकी हमले के दोषी याकूब मेमन की फांसी को टालने के अनुरोध पर देर रात भी सुनवाई कर सकता है.

  • सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई टलने के बाद योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान, कही यह बात....

    सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई टलने के बाद योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान, कही यह बात....

    अयोध्या मामले की सुनवाई अगले साल जनवरी तक टलने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने बड़ा बयान दिया है. यूपी के सीएम ने कहा कि न्याय में देरी से लोगों को निराशा होती है, लेकिन कोई न कोई रास्ता अवश्य निकलेगा.

  • सुप्रीम कोर्ट में अयोध्‍या मामले की सुनवाई पर शुरू हुई सियासत

    सुप्रीम कोर्ट में अयोध्‍या मामले की सुनवाई पर शुरू हुई सियासत

    सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद कि अयोध्‍या मामले की सुनवाई के लिए जनवरी में बेंच बनेगी, बीजेपी नेताओं ने इसपर सियासत शुरू कर दी है.

  • अयोध्या जमीन विवाद : सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टली, अब जनवरी में तय होगी सुनवाई की तारीख

    अयोध्या जमीन विवाद : सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई टली, अब जनवरी में तय होगी सुनवाई की तारीख

    सुप्रीम कोर्ट में आज अयोध्या में ज़मीन विवाद (Ayodhya Dispute) मामले की सुनवाई टल गई है. अब जनवरी में तय होगा कि सुनवाई कब होगी. CJI रंजन गोगोई ने कहा कि जनवरी में उचित बेंच सुनवाई की तारीख तय करेगी. इस दौरान SG तुषार मेहता व अन्य पक्षकारों ने जल्द सुनवाई की मांग की, लेकिन पीठ ने कहा कि जनवरी में ही उचित बेंच तय करेगी कि कब से सुनवाई हो.

  • अयोध्या में राम जन्मभूमि मामला: अब सुप्रीम कोर्ट की नई बेंच करेगी सुनवाई, 29 अक्टूबर शुरुआती तारीख तय

    अयोध्या में राम जन्मभूमि मामला: अब सुप्रीम कोर्ट की नई बेंच करेगी सुनवाई, 29 अक्टूबर शुरुआती तारीख तय

    अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले में अब सुप्रीम कोर्ट की नई बेंच सुनवाई करेगी. इसके लिए सुप्रीम कोर्ट में शुरुआती सुनवाई 29 अक्टूबर को होगी और उस दिन ही नियमित सुनवाई की तारीख तय होगी. चीफ जस्टिर रंजन गोगोई, जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस के एम जोसेफ की बेंच इस मामले की सुनवाई करेगी. 

  • VHP का बयान, राम मंदिर के लिए अनंतकाल तक इंतजार नहीं, 31 जनवरी से पहले सारी बाधाएं दूर कर ली जाएंगी

    VHP का बयान, राम मंदिर के लिए अनंतकाल तक इंतजार नहीं, 31 जनवरी से पहले सारी बाधाएं दूर कर ली जाएंगी

    विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने आज कहा कि हिंदू समाज राम मंदिर (Ram Mandir) के लिए उच्चतम न्यायालय के फैसले का अनंतकाल तक इंतजार नहीं कर सकता. इसलिए विहिप ने गत पांच अक्टूबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से राजधानी दिल्ली में मिलकर उनसे सरकार से इस संबंध में कानून लाने के लिए कहने का अनुरोध किया.

  • 'राम मंदिर पर कानून लाए मोदी सरकार': पढ़ें सबरीमाला और अर्बन नक्सल पर मोहन भागवत की 7 बातें

    'राम मंदिर पर कानून लाए मोदी सरकार': पढ़ें सबरीमाला और अर्बन नक्सल पर मोहन भागवत की 7 बातें

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के विजयादशमी कार्यक्रम के मौके पर प्रमुख मोहन भागवत ने गुरूवार को सबरीमाला, एससी-एसटी समुदाय, शहरी माओवाद, पाकिस्तान और रक्षा मुद्दे से लेकर राम मंदिर पर अपनी बेबाक राय रखी. संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि देश के रक्षा बलों को सशक्त बनाने और पड़ोसियों के साथ शांति स्थापित करने के बीच संतुलन बनाए रखने की आवश्यकता है. उन्होंने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर यह भी कहा कि वहां नई सरकार आ जाने के बावजूद सीमा पर हमले बंद नहीं हुए हैं. वहीं संघ प्रमुख मोहन भागवत ने राम मंदिर को लेकर कहा कि राम मंदिर का बनना गौरव की दृष्टि से आवश्यक है, मंदिर बनने से देश में सद्भावना व एकात्मता का वातावरण बनेगा. गौरतलब है कि आज आरएसएस का स्थापना दिवस कार्यक्रम है, जिसमें नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी भी शामिल हुए. तो चलिए पढ़ते हैं कि किन-किन बड़े मुद्दों पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने अपनी बेबाक राय रखी है.

  • क्या इरादा है कांग्रेस के बयानवीरों का...

    क्या इरादा है कांग्रेस के बयानवीरों का...

    विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही कांग्रेस के भीतर से ही बयानवीरों ने पाटी्र की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. नेताओं में होड़ लगी है कि कैसे बयान देकर पार्टी को बचाव की मुद्रा में ला खड़ा करें. कांग्रेस यह तय नहीं कर पा रही है कि इन नेताओं के बयानों से हो रहे नुकसान की भरपाई कैसे करे और उनसे खुद को दूर कैसे करे.

  • अब मुगल खानदान के ‘वंशज’ ने भाजपा को याद दिलाया राम मंदिर निर्माण का वादा, कहा- मंदिर जल्द बने

    अब मुगल खानदान के ‘वंशज’ ने भाजपा को याद दिलाया राम मंदिर निर्माण का वादा, कहा- मंदिर जल्द बने

    2019 के चुनावों से पहले अयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर देशभर में छिड़ी चर्चा के बीच अब खुद मुगल खानदान के 'वंशज' ने इस मुद्दे को उठाया है. मुगल वंश के अंतिम बादशाह बहादुर शाह जफर का वंशज होने का दावा करने वाले याकूब हबीबउद्दीन तुसी ने भाजपा को राम मंदिर निर्माण का वादा याद दिलाते हुए कहा है कि वह इस मामले में भाजपा के सहयोगी दलों से मदद लेंगे.

  • अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का ताजा फैसला 2019 के मद्देनजर बेहद अहम

    अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का ताजा फैसला 2019 के मद्देनजर बेहद अहम

    दशकों से लटके राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद की सुप्रीम कोर्ट में जल्द सुनवाई का रास्ता साफ हो गया है. सुप्रीम कोर्ट में अब 29 अक्टूबर से इस मामले की सुनवाई शुरू हो जाएगी. आज एक महत्वपूर्ण फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मस्जिद में नमाज़ पढ़ना इस्लाम का अभिन्न अंग है या नहीं, इस सवाल को बड़ी पीठ को भेजने की जरूरत नहीं है.

  • बहुमत से अलग जस्टिस नजीर बोले- व्यापक परीक्षण के बिना लिया गया फैसला, धार्मिक आस्था को ध्यान में रखकर विचार की ज़रूरत

    बहुमत से अलग जस्टिस नजीर बोले- व्यापक परीक्षण के बिना लिया गया फैसला, धार्मिक आस्था को ध्यान में रखकर विचार की ज़रूरत

    सुप्रीम कोर्ट ने ‘मस्जिद इस्लाम का अभिन्न अंग है या नहीं’ के बारे में शीर्ष अदालत के 1994 के फैसले को फिर से विचार के लिए पांच सदस्यीय संविधान पीठ के पास भेजने से गुरुवार को इनकार कर दिया. सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की बेंच में से 2-1 की बहुमत से यह फैसला लिया गया कि इस मामले को बड़ी बेंच के पास नहीं भेजा जाएगा. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि यह मामला अयोध्या जमीन विवाद से अलग है. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर तीन जजों में से एक जस्टिस अब्दुल नजीर ने अन्य जजों की राय से अपनी असहमति जताई है. जस्टिस एस अब्दुल नजीर का कहना है कि बड़ी बेंच को भेजा जाना चाहिए था मामला.

  • Ayodhya case Supreme court Verdict: जानिए क्या है राम मंदिर का मुद्दा, यहां पढ़ें अयोध्या विवाद की पूरी कहानी

    Ayodhya case Supreme court Verdict: जानिए क्या है राम मंदिर का मुद्दा, यहां पढ़ें अयोध्या विवाद की पूरी कहानी

    अयोध्या विवाद से जुड़े मुद्दे में आज सुप्रीम कोर्ट से फैसला आने वाला है. हालांकि यह फैसला टाइटल सूट नहीं बल्कि सुप्रीम कोर्ट के 1994 के उस फैसले पर बड़ी पीठ द्वारा पुनर्विचार करने की मांग करने वाली मुस्लिम समूह की याचिकाओं पर आना है, जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि मस्जिद में नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा नहीं है.

  • अयोध्या मामला: क्या मस्जिद में नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है? सुप्रीम कोर्ट आज करेगा तय, 10 अहम बातें

    अयोध्या मामला: क्या मस्जिद में नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है? सुप्रीम कोर्ट आज करेगा तय, 10 अहम बातें

    आज राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद से संबंधित एक मामले पर सुप्रीम कोर्ट आज गुरुवार को अहम फैसला सुनाएगा. राम जन्म भूमि - बाबरी मस्जिद मालिकाना हक विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के 1994 के फैसले पर बड़ी पीठ द्वारा पुनर्विचार करने की मांग करने वाली मुस्लिम समूह की याचिकाओं पर आज सुप्रीम कोर्ट के अपना फैसला सुनाने की संभावना है. सुप्रीम कोर्ट आज तय करेगा कि 1994 के संविधान पीठ के फैसले पर पुनर्विचार की जरूरत है या नहीं? दरअसल 1994 के फैसले में उस वक्त कहा था कि मस्जिद में नमाज इस्लाम का अभिन्न हिस्सा नहीं है.

  • अयोध्या विवाद : मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं, सुप्रीम कोर्ट 28 को सुना सकता है फैसला

    अयोध्या विवाद : मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं, सुप्रीम कोर्ट 28 को सुना सकता है फैसला

    मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं, सुप्रीम कोर्ट इस पर 28 सितंबर को अपना फैसला सुना सकता है. कोर्ट की एडवांस लिस्ट के मुताबिक 28 सितंबर को फैसला सूचीबद्ध है. आपको बता दें कि यह मामला अयोध्या विवाद से जुड़ा है. 20 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने इस पर फैसला सुरक्षित रखा था कि संविधान पीठ के 1994 के फैसले पर फिर विचार करने की जरूरत है या नहीं.

Advertisement