NDTV Khabar

Babri mosque


'Babri mosque' - 24 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • 10 दिन में 'अयोध्या' सहित 4 ऐतिहासिक फैसले सुनाकर CJI रंजन गोगोई बहुत कुछ बदल सकते हैं भारत में

    10 दिन में 'अयोध्या' सहित 4 ऐतिहासिक फैसले सुनाकर  CJI रंजन गोगोई बहुत कुछ बदल सकते हैं भारत में

    सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो जाएंगे और उनकी जगह पर 18 नवंबर को जस्टिस शरद  अरविंद बोबडे भारत के नए प्रधान न्यायाधीश बन जाएंगे. लेकिन इन 10 दिनों में जस्टिस गोगोई को कई ऐसे फैसले सुनाने हैं जिससे भारत में बहुत कुछ बदल जाएगा या इन फैसलों का असर काफी 'प्रभावकारी' हो सकता है. जब हम नवंबर महीने में आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसलों की बात करते हैं तो सबसे पहले दिमाग में अयोध्या विवाद आता है

  • अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने के मामले में यूपी के पूर्व CM कल्याण सिंह को जारी हुआ समन

    अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने के मामले में यूपी के पूर्व CM कल्याण सिंह को जारी हुआ समन

    अयोध्या के विवादित ढांचा को ढहाए जाने के आपराधिक मामले में सीबीआई की विशेष अदालत (अयोध्या प्रकरण) ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता कल्याण सिंह को समन जारी कर 27 सितंबर को तलब किया है.

  • Ayodhya Case: हिंदू संस्था ने SC में कहा- मस्जिद का निर्माण बाबर ने नहीं बल्कि औरंगजेब ने कराया था

    Ayodhya Case: हिंदू संस्था ने SC में कहा- मस्जिद का निर्माण बाबर ने नहीं बल्कि औरंगजेब ने कराया था

    एक मुस्लिम पार्टी द्वारा दायर मुकदमे में प्रतिवादी अखिल भारतीय श्री राम जन्म भूमि पुनरुद्धार समिति ने प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ के समक्ष बाबरनामा, हुमायूंनामा, अकबरनामा और तुजुक-ए-जहांगीरी जैसी ऐतिहासिक पुस्तकों का उल्लेख किया.

  • अयोध्या केस : श्रीराम जनमभूमि पुनरुत्थान समिति की दलील, अयोध्या में बाबरी मस्जिद बाबर के दौर में बनी ही नहीं

    अयोध्या केस : श्रीराम जनमभूमि पुनरुत्थान समिति की दलील, अयोध्या में बाबरी मस्जिद बाबर के दौर में बनी ही नहीं

    अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ में सुनवाई के 14 वें दिन श्रीराम जनमभूमि पुनरुत्थान समिति की दलीलें ही होती रहीं. समिति की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता पीएन मिश्रा ने कहा कि जिस इमारत को सुन्नी वक्फ बोर्ड बाबर के दौर में बनी बाबरी मस्जिद बता रहा है दरअसल वह तो औरंगजेब के दौर में बनाई गई. इससे पहले वहां विष्णु हरि के अवतार राम का मंदिर था. मिश्रा ने ब्रिटिश दौर से भी पहले 1770 में भारत भ्रमण पर आए लेखक पर्यटक ट्रैफन थेलर की डायरी वाली किताब का हवाला भी दिया जिसमें थेलर ने वहां बमुश्किल 30-40 वर्ष पहले बनी इमारत का उल्लेख किया है जिसे तब के अयोध्या वासी मस्जिद जन्मभूमि के नाम से जानते थे. उस वक्त का अयोध्या का नक्शा भी कोर्ट के सामने रखा गया जिसमें राम जन्मस्थान और जन्मस्थान मन्दिर का उल्लेख साफ-साफ है. याचिकाकर्ता ने कहा कि यह नक्शा दो सौ साल से भी पहले हेन्स बेकर नामक अंग्रेज ने स्कंद पुराण में दिए गए वर्णन और अयोध्या की मौजूदा स्थिति का मिलान और आकलन कर बनाया था. यानी उस समय बनाए गए नक्शे में मस्जिद का नाम तक नहीं है.

  • बाबरी मस्जिद गिराने की साजिश के मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

    बाबरी मस्जिद गिराने की साजिश के मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

    बाबरी मस्जिद गिराने की साजिश के मामले की सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को सुनवाई करेगा. पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार से कहा था कि CBI जज एसके यादव जब तक फैसला नहीं देते तब तक उन्हें रिटायर न किया जाए. इसके लिए क्या किया जा सकता है? सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार से पूछा था कि जज एसके यादव के कार्यकाल को कैसे बढ़ाया जा सकता है? साथ ही कानूनी प्रावधान क्या है?

  • सुप्रीम कोर्ट में अयोध्‍या मामले की सुनवाई पर शुरू हुई सियासत

    सुप्रीम कोर्ट में अयोध्‍या मामले की सुनवाई पर शुरू हुई सियासत

    सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद कि अयोध्‍या मामले की सुनवाई के लिए जनवरी में बेंच बनेगी, बीजेपी नेताओं ने इसपर सियासत शुरू कर दी है.

  • अयोध्या विवाद : मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं, सुप्रीम कोर्ट 28 को सुना सकता है फैसला

    अयोध्या विवाद : मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं, सुप्रीम कोर्ट 28 को सुना सकता है फैसला

    मस्जिद में नमाज पढ़ना इस्लाम का अभिन्न हिस्सा है या नहीं, सुप्रीम कोर्ट इस पर 28 सितंबर को अपना फैसला सुना सकता है. कोर्ट की एडवांस लिस्ट के मुताबिक 28 सितंबर को फैसला सूचीबद्ध है. आपको बता दें कि यह मामला अयोध्या विवाद से जुड़ा है. 20 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने इस पर फैसला सुरक्षित रखा था कि संविधान पीठ के 1994 के फैसले पर फिर विचार करने की जरूरत है या नहीं.

  • अयोध्‍या रामजन्मभूमि विवाद : 25 साल, एक सवाल...

    अयोध्‍या रामजन्मभूमि विवाद : 25 साल, एक सवाल...

    अयोध्‍या में मंदिर बनेगा या नहीं, अब भी मामला कोर्ट में है. पिछले 25 सालों से मंदिर के लिए पत्थर तराशे जा रहे हैं, और इन्हीं 25 वर्षों में BJP सत्‍ता में पूर्ण बहुमत के साथ काबिज हो चुकी है. राज्‍य में भी पूर्ण बहुमत के साथ उन्हीं की सरकार है.

  • कमाल की बात : सिब्बल साहब 2019 के बाद भी तो चुनाव होंगे ही

    कमाल की बात : सिब्बल साहब 2019 के बाद भी तो चुनाव होंगे ही

    अयोध्या मामले की रोजाना सुनवाई के पहले ही दिन सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के वकील कपिल सिब्बल की इस मांग पर एक नई बहस छिड़ गई कि इसकी सुनवाई 2019 के लोकसभा चुनावों के बाद हो.

  • अयोध्या में भव्य राममंदिर निर्माण कोई नहीं रोक सकता : साक्षी महाराज

    अयोध्या में भव्य राममंदिर निर्माण कोई नहीं रोक सकता : साक्षी महाराज

    वर्ष 1990 में 6 दिसंबर को कारसेवा के दौरान बाबरी मस्जिद - राम जन्मभूमि स्थल पर स्थित विवादास्पद ढांचे को ढहाए जाने के मामले में सीबीआई की विशेष अदालत में सुनवाई के लिए पहुंचे साक्षी महाराज ने कहा, "मैंने कोई अपराध नहीं किया है... मैंने कुछ गलत नहीं किया है... वस्तुत: मैं सौभाग्यशाली हूं... धरती की कोई ताकत अयोध्या में भव्य राममंदिर निर्माण को नहीं रोक पाएगी..."

  • बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के कंवीनर जफरयाब जिलानी ने कहा, कोर्ट हमें सीधे कहेगा तब बातचीत

    बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के कंवीनर जफरयाब जिलानी ने कहा, कोर्ट हमें सीधे कहेगा तब बातचीत

    सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी की याचिका पर कहा कि रामजन्म भूमि बाबरी मस्जिद विवाद मामले दोनों पक्षों को बातचीत के आधार पर हल निकालना चाहिए. कोर्ट ने कहा कि कोर्ट से बाहर बातचीत कर दोनों समुदाय के लोग मसले का हल ढूंढ लें. कोर्ट ने यह भी कहा कि यदि जरूरत होगी तो कोर्ट इस मामले में मध्यस्थता करने को तैयार है. वहीं इस मामले में जब एनडीटीवी ने बाबरी एक्शन कमेटी के संयोजक जफरयाब जिलानी से बात की तब उनका कहना है कि, अगर सुप्रीम कोर्ट कोई लिखित में कुछ कहता है, या हमें आदेश देता है कि आपको समझौते के लिए आना चाहिए तो हम जरूर जाएंगे. लेकिन सुब्रमण्यम स्वामी इस केस में कुछ भी नहीं है. कोर्ट हमें सीधे कहेगा तो जाएंगे.

  • अयोध्या में राम मंदिर बाबरी मस्जिद विवाद : जानें कब क्या हुआ

    अयोध्या में राम मंदिर बाबरी मस्जिद विवाद : जानें कब क्या हुआ

    सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को एक अहम फैसले में बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत 13 लोगों पर बाबरी मस्जिद विध्वंश मामले में आपराधिक साजिश का केस चलाने को मंजूरी दे दी है.

  • यूपी : किसान यात्रा के चौथे दिन राहुल गांधी अयोध्‍या में, प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा की

    यूपी : किसान यात्रा के चौथे दिन राहुल गांधी अयोध्‍या में, प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा की

    यूपी में अपनी यात्रा के चौथे दिन राहुल गांधी अयोध्‍या पहुंचे. यहां राहुल गांधी ने सबसे पहले प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा की. राहुल यहां 20 मिनट तक रहे. वर्ष 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद गांधी परिवार के किसी सदस्य का अयोध्या का यह पहला दौरा है.

  • 'मेरा नाम निसार है मगर मैं एक ज़िंदा लाश हूं'

    'मेरा नाम निसार है मगर मैं एक ज़िंदा लाश हूं'

    निसार की कहानी तन्मय की कहानी से हार गई। तन्मय ने भारत रत्नों का कथित रूप से अपमान कर दिया था जिसे लेकर तमाम चैनलों की प्राइम रातें बेचैन हो गईं थीं। आख़िर वे भारत रत्न के साथ हुए अपमान को कैसे बर्दाश्त कर सकते थे।

  • अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद सुलझाने के लिए मिले हिन्दू, मुस्लिम नेता

    अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद सुलझाने के लिए मिले हिन्दू, मुस्लिम नेता

    बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि विवाद को बातचीत के जरिए सुलझाने के लिए हिन्दू और मुस्लिम नेताओं ने अयोध्या में मुलाकात की और दोनों पक्षों का कहना है कि मुद्दे को सुलझाने के लिए शांतिपूर्ण रास्ता खोजा जाना चाहिए।

  • अयोध्या के हाशिम अंसारी की व्यथा : राम भी, मस्जिद भी...

    अयोध्या के हाशिम अंसारी की व्यथा : राम भी, मस्जिद भी...

    उनके तमाम पिछले बयान यह भी दिखाते हैं कि उनके मन में भगवान राम के लिए श्रद्धा में कमी नहीं है, और उन्हें इस मुद्दे पर धर्म और राजनीति के नेताओं के बयान कभी रास नहीं आए। उनके अनुसार, ऐसे बयान देने वाले लोग धर्म की राजनीति करते हैं, और मंदिर-मस्जिद मुद्दे का हल नहीं चाहते।

  • कौन हैं बाबरी मस्जिद-राम मंदिर विवाद के मुद्दई हाशिम अंसारी, जो इमरजेंसी में जेल भी गए थे...

    कौन हैं बाबरी मस्जिद-राम मंदिर विवाद के मुद्दई हाशिम अंसारी, जो इमरजेंसी में जेल भी गए थे...

    94 वर्षीय हाशिम अंसारी को शायद आज कोई नहीं जानता और पहचानता, लेकिन राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद के एक पैरोकार होने के नाते आज दुनिया उन्हें पहचानती है। यह मुद्दा सबसे ज्यादा 1992 में बाबरी मस्जिद के विध्वंश के बाद सुर्खियों में आया हो लेकिन, अंसारी पिछले साठ सालों से इस केस को लड़ रहे हैं।

  • बाबरी मस्जिद केस : आडवाणी, जोशी, उमा, कल्याण समेत 21 को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

    बाबरी मस्जिद केस : आडवाणी, जोशी, उमा, कल्याण समेत 21 को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

    1992 बाबरी मस्जिद के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी, कल्याण सिंह, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत 21 को नोटिस जारी किया है। इन सबों से कोर्ट ने चार हफ़्ते में जवाब मांगा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इन सभी नेताओं के ख़िलाफ़ आरोपों को निरस्त कर दिया था।