NDTV Khabar

Bihar mahagathbandhan


'Bihar mahagathbandhan' - 99 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • NDA से JDU के मनमुटाव की खबरों के बीच, तेजस्वी यादव ने कहा-नीतीश के लिये गठबंधन के दरवाजे...

    NDA से JDU के मनमुटाव की खबरों के बीच, तेजस्वी यादव ने कहा-नीतीश के लिये गठबंधन के दरवाजे...

    राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता ने पीटीआई भाषा को दिये एक साक्षात्कार में नीतीश पर प्रहार करते हुए कहा कि उन्होंने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) और भाजपा को अपना जनाधार बढ़ाने में मदद की और धर्मनिरपेक्ष एवं समाजवादी राजनीति को जोखिम में डाल दिया. 

  • क्या नीतीश कुमार के नए हनुमान हैं सुशील मोदी?

    क्या नीतीश कुमार के नए हनुमान हैं सुशील मोदी?

    लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष रामविलास पासवान ने अपने एक इंटरव्‍यू से एक नये विवाद को जन्म दिया कि नीतीश बिहार में एनडीए का चेहरा हैं लेकिन जब तक भाजपा चाहेगी. इस पर सुशील मोदी ने विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को निशाने पर रखते हुए ट्वीट में कहा कि 'जैसे संसदीय चुनाव से पहले विरोधी दलों के नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विकल्प नहीं दे पाये, उसी तरह महागठबंधन बिहार में नीतीश कुमार का विकल्प नहीं दे पाएगा

  • राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर 12 अक्टूबर को बिहार में महागठबंधन का कार्यक्रम, तेजस्वी के शामिल होने पर संशय

    राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर 12 अक्टूबर को बिहार में महागठबंधन का कार्यक्रम, तेजस्वी के शामिल होने पर संशय

    बिहार में विपक्षी महागठंधन में शामिल पांच दल आगामी 12 अक्टूबर को पटना स्थित बापू सभागार में समाजवादी नेता राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के अवसर पर एक कार्यक्रम का आयोजन करेंगे. कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में महागठबंधन (राजद, कांग्रेस, रालोसपा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर) और विकासशील इंसान पार्टी) की एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए रालोसपा प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा जो कि इस समारोह के संयोजक भी हैं, ने बताया कि पंद्रह दिन पहले हुई महागठबंधन की बैठक में सभी घटक दलों ने सर्वसम्मति से विपक्ष और मीडिया की आवाज दबाने का प्रयास कर रही भाजपा के तानाशाही शासन जो कि लोकतंत्र में शर्मनाक है,

  • जीतनराम मांझी ने जताई बिहार का मुख्यमंत्री बनने की ख्वाहिश, शिवानंद तिवारी ने कहा- हमारा उपहास न उड़ाएं

    जीतनराम मांझी ने जताई बिहार का मुख्यमंत्री बनने की ख्वाहिश, शिवानंद तिवारी ने कहा- हमारा उपहास न उड़ाएं

    बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी को राज्य की राजनीति में कोई गंभीरता से नहीं लेता. अपने बयान के कारण सुर्ख़ियां में बने रहने की आदत से वह अपने सहयोगियों के लिए परेशानी का कारण बने रहते है. ताज़ा घटनाक्रम में जीतन राम मांझी ने महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनने की इच्छा जतायी हैं क्योंकि तेजस्वी यादव को अनुभव की कमी है. मांझी ने ऐसा बयान कोई पहली बार नहीं दिया है और उनके सहयोगी भी उनके बड़बोलेपन के कारण हमेशा सफ़ाई देते रहते हैं. लेकिन मांझी ने यह बयान महागठबंधन की बैठक के दो दिन के अंदर दिया है जब उन्हें मीडिया को ब्रीफ़ करने का ज़िम्मा दिया गया था. हालांकि उस ब्रीफ़िंग में माँझी ने कोई ऐसा बायन नहीं दिया लेकिन गुरुवार को उन्होंने अपनी इच्छा मीडिया के सामने जाहिर कर दिया.  

  • क्या तेजस्वी यादव अब बिहार में महागठबंधन के नेता नहीं रहे?

    क्या तेजस्वी यादव अब बिहार में महागठबंधन के नेता नहीं रहे?

    बिहार में आने वाले दिनों में लोकसभा की एक और विधानसभा की चार सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव महागठबंधन मिलकर लड़ेगा. यह फैसला मंगलवार को पटना में हुई बैठक में लिया गया. लेकिन क्या तेजस्वी यादव बिहार में महगठबंधन का चेहरा हैं? इस पर अलग-अलग दलों की अलग-अलग राय है.

  • बिहार: तेजस्वी यादव ने महागठबंधन के नेताओं को आखिरकार अपना मोबाइल नंबर दिया

    बिहार: तेजस्वी यादव ने महागठबंधन के नेताओं को आखिरकार अपना मोबाइल नंबर दिया

    बिहार में महागठबंधन के नेताओं की मंगलवार को एक बैठक हुई. इस बैठक की ख़ास बात यह रही कि विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi yadav) ने अपना मोबाइल का नंबर अन्य दलों के नेताओं को दिया. यह बैठक भले राबड़ी देवी के घर पर हुई लेकिन इस बैठक के बारे में मीडिया को जानकारी देने के लिए तेजस्वी यादव अपने घर के बाहर अन्य नेताओं के साथ नहीं आए. इसके कारण अन्य दलों के नेताओं में नाराजगी भी दिखी. बैठक में उपेन्द्र कुशवाहा के सवाल कि आखिर महगठबंधन के अन्य नेता नीतीश कुमार की इतनी तारीफ़ क्यों करते हैं? पर तय हुआ कि भविष्य में नीतीश कुमार और उनकी सरकार को निशाने पर रखा जाएगा. साथ ही विधानसभा और लोकसभा के उपचुनाव में सभी दल अभी से तैयारी में लग जाएंगे.

  • मंत्री पद को लेकर BJP से 'नाराज' चल रहे नीतीश को मिला लालू का न्योता, कहा- फिर एकजुट होने का समय

    मंत्री पद को लेकर BJP से 'नाराज' चल रहे नीतीश को मिला लालू का न्योता, कहा- फिर एकजुट होने का समय

    लोकसभा चुनाव में बहुमत के साथ जीत के बाद भाजपा ने अपने सभी सहयोगी दलों को एक-एक मंत्री पद का ऑफर दिया है, लेकिन इसको लेकर नीतीश कुमार नाराज दिख रहे हैं. नीतीश कुमार ने यह प्रस्ताव ठुकरा दिया था कहा कि जदयू सरकार का हिस्सा नहीं बनेगी. नीतीश की पार्टी को साल 2017 में भी मोदी सरकार का हिस्सा नहीं बनाया गया था, जब उन्होंने कांग्रेस और लालू यादव का साथ छोड़कर भाजपा से हाथ मिलाया था. इस बार उम्मीद थी कि उन्हें इसका फल मिलेगा. विशेषकर तब जब लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने 17 में से 16 सीटों पर जीत हासिल की है.

  • लोकसभा चुनाव में हार के बाद महागठबंधन में रार, मांझी बोले तेजस्वी तो...

    लोकसभा चुनाव में हार के बाद महागठबंधन में रार, मांझी बोले तेजस्वी तो...

    महागठबंधन में शामिल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने गुरुवार को स्पष्ट कहा कि 2020 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन का नेता अभी तक तय नहीं हुआ है.

  • एक चुनाव से सूपड़ा साफ नहीं होता, जीत का रास्ता दिखाती है हार : तेजस्वी यादव

    एक चुनाव से सूपड़ा साफ नहीं होता, जीत का रास्ता दिखाती है हार : तेजस्वी यादव

    बिहार (Bihar) में करारी हार के बाद बुधवार को आरजेडी और उनके सहयोगी दलों के बीच दो दिवसीय समीक्षा इस बात पर समाप्त हुई कि जो पराजय हुई उसकी कल्पना या अनुमान किसी को नहीं था और हार से ही जीत का रास्ता खुलता है. तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) ने कहा कि एक चुनाव से सूपड़ा साफ नहीं होता.

  • 'बिहार में महागठबंधन की हार के लिए तेजस्वी यादव नहीं, षड्यंत्र जिम्मेदार'

    'बिहार में महागठबंधन की हार के लिए तेजस्वी यादव नहीं, षड्यंत्र जिम्मेदार'

    बिहार में भले महागठबंधन को करारी हार का मुंह देखना पड़ा हो लेकिन महागठबंधन के प्रचार की कमान संभाल रहे राजद के वरिष्ठ नेता और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को इसकी ज़िम्मेदारी लेने की कोई ज़रूरत नहीं है. राष्ट्रीय जनता दल के वरिष्ठ नेताओं ने सभी 19 पराजित उम्मीदवारों के साथ मंगलवार को एक समीक्षा बैठक में यह निर्णय लिया है.

  • करारी शिकस्त के बाद RJD में अंदरूनी कलह, पार्टी विधायक ने तेजस्वी से मांगा इस्तीफा, कहा- परिवारवाद के कारण....

    करारी शिकस्त के बाद RJD में अंदरूनी कलह, पार्टी विधायक ने तेजस्वी से मांगा इस्तीफा, कहा- परिवारवाद के कारण....

    लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद RJD में अंदरूनी कलह और बगावती तेवर भी दिखने शुरू हो गए हैं. पार्टी के एक विधायक ने पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) से बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष पद से इस्तीफा मांगा है.

  • चुनाव परिणाम के बाद तनाव में RJD प्रमुख लालू यादव, दोपहर का खाना तक छोड़ा

    चुनाव परिणाम के बाद तनाव में RJD प्रमुख लालू यादव, दोपहर का खाना तक छोड़ा

    Lalu Yadav News: लोकसभा चुनाव (Lok sabha Elections) में राजद (RJD) की करारी हार के बाद पार्टी प्रमुख लालू यादव (Lalu Prasad Yadav) तनाव में हैं.

  • लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद बिहार में राजनीतिक उठापटक शुरू, उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी के तीन विधायक जद (यू) में शामिल

    लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद बिहार में राजनीतिक उठापटक शुरू, उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी के तीन विधायक जद (यू) में शामिल

    विजय कुमार चौधरी और रशीद ने कहा, 'विधायकों ने जद (यू) से अनुमोदन के पत्र भी संलग्न किए थें. उन्हें औपचारिकताओं के लिए व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होने के लिए कहा गया था. इसलिए उन्हें जद (यू) विधायक माना जाएगा.'

  • लालू प्रसाद की अनुपस्‍थ‍िति या तेज प्रताप का विद्रोह, आखिर कैसे डूबी बिहार में महागठबंधन की नैया?

    लालू प्रसाद की अनुपस्‍थ‍िति या तेज प्रताप का विद्रोह, आखिर कैसे डूबी बिहार में महागठबंधन की नैया?

    लालू प्रसाद यादव जेल में सजा काट रहे हैं. यह पहला मौका है जब किसी चुनाव में लालू प्रसाद यादव रैली, सभा से दूर रहे. इसका नुकसान उनकी पार्टी राष्‍ट्रीय जनता दल समेत उनके सहयोगी दलों को भी उठाना पड़ा. चुनावी समर में नेतृत्‍व उनके बेटे तेजस्‍वी यादव के कंधों पर था. अभी तक चली आ रही जातिगत समीकरण पर आधारित राजनीति ने सभी दलों को उसके हिसाब से चुनावी मैदान में उम्‍मीदवार उतारने को विवश कर दिया. चाहे एनडीए हो या यूपीए, किसी ने उस फार्मूले से किनारा नहीं किया.

  • Results 2019: ...तो इस वजह से बिहार में हुई महागठबंधन की दुर्गति

    Results 2019: ...तो इस वजह से बिहार में हुई महागठबंधन की दुर्गति

    बिहार में शायद 1991 के बाद इस बार के लोकसभा चुनाव का परिणाम होगा जहां सत्तारूढ़ दल ने विपक्ष को मात्र एक सीट पर समेट दिया. 1991 के चुनाव में सामाजिक न्याय की हवा और लालू यादव के नेतृत्व के कारण कांग्रेस पार्टी एक मात्र बेगूसराय की सीट जीत पायी थी और भाजपा को चार सीटें अब के झारखंड में मिली थीं. लेकिन इस बार भी उसी कांग्रेस पार्टी को किशनगंज सीट से संतोष करना पड़ा. लेकिन इस बार के बाद सब इस पराजय का कारण जानने में लगे हैं लेकिन सरसरी नज़र से देखें तो इस परिणाम के कारण कुछ यूं हैं...

  • VIDEO: RLSP प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा का विवादित बयान, समर्थकों से बोले- EVM बचाने के लिए अगर हथियार...

    VIDEO: RLSP प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा का विवादित बयान, समर्थकों से बोले- EVM बचाने के लिए अगर हथियार...

    राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने कहा कि देश में पहले बूथ लूट की घटनाएं होती थी, लेकिन अब रिजल्ट लूटने का प्रयास किया जा रहा है. उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि जिस तरह से ईवीएम मशीन से लदी गाड़ी पकड़ी गई है, इससे जनता में आक्रोश है. RLSP प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने अपने समर्थकों से कहा कि कई जगह से खबरें आ रही हैं कि ईवीएम मशीन को अभी इधर से उधर किया जा रहा है. उन्होंने समर्थकों से कहा कि ईवीएम को बचाने के लिए हथियार भी उठाना पड़े तो उठाइए. 

  • Lok Sabha Election: शत्रुघ्न सिन्हा का दावा- बिहार में एनडीए को उड़ा देगा महागठबंधन

    Lok Sabha Election: शत्रुघ्न सिन्हा का दावा- बिहार में एनडीए को उड़ा देगा महागठबंधन

    उन्होंने पड़ोस के उत्तरप्रदेश में भी कहा कि कांग्रेस भले अलग लड़ रही है लेकिन भाजपा उसी तरह साफ हो जाएगी. उत्तरप्रदेश में एक सीट से उनकी पत्नी को सपा-बसपा गठबंधन ने उम्मीदवार बनाया है.

  • पटना साहिब सीट पर BJP के 'शत्रु' और रविशंकर प्रसाद के बीच कांटे की टक्कर, क्या कांग्रेस उम्मीदवार शत्रुघ्न तोड़ पाएंगे यह 'मिथक'

    पटना साहिब सीट पर BJP के 'शत्रु' और रविशंकर प्रसाद के बीच कांटे की टक्कर, क्या कांग्रेस उम्मीदवार शत्रुघ्न तोड़ पाएंगे यह 'मिथक'

    Patna Sahib Seat: लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के छह चरण पूरे हो चुके हैं. बिहार में सातवें चरण के लिए 8 सीटों पर काफी दिलचस्प मुकाबला है. इन सभी सीटों पर बीजेपी, जेडीयू (JDU) और महागठबंधन के बीच कांटे की टक्कर है. सातवें चरण में पटना साहिब (Patna Sahib) बिहार की सबसे वीआईपी सीट बनी हुई है. यहां से कांग्रेस के शत्रुध्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) का मुकाबला बीजेपी के केद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) से हैं.