NDTV Khabar

Bihar politics


'Bihar politics' - 755 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • गिरिराज सिंह ने राजनीति से संन्‍यास लेने को लेकर कह दी यह बड़ी बात...

    गिरिराज सिंह ने राजनीति से संन्‍यास लेने को लेकर कह दी यह बड़ी बात...

    केंद्रीय मंत्री गिरीराज सिंह (Giriraj Singh) का कहना है कि जिस दिन देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून (Population control Law) लागू हो गया वह उसी दिन संन्यास ले लेंगे. गिरिराज (Giriraj Singh) ने शनिवार को कहा कि जिस दिन हमारी अंतिम इच्छा पूरी हो जाएगी उसी दिन राजनीति से अलग हो जाउंगा.

  • केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बोले- राम मंदिर का मेरा काम पूरा, अब रिटायर होने का वक्त आ गया

    केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बोले- राम मंदिर का मेरा काम पूरा, अब रिटायर होने का वक्त आ गया

    केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'अयोध्या में राम मंदिर बनाने का मेरा काम पूरा हो गया है. मेरे जैसे लोगों के रिटायर होने का समय आ गया है. जनसंख्या नियंत्रण का कानून लागू होने के बाद मैं राजनीति से संन्यास ले लूंगा.'

  • महाराष्ट्र के सियासी हंगामे के सवाल पर नीतीश कुमार ने मुस्कराते हुए दिया अब ये जवाब...

    महाराष्ट्र के सियासी हंगामे के सवाल पर नीतीश कुमार ने मुस्कराते हुए दिया अब ये जवाब...

    नीतीश कुमार के बयान से साफ है कि महाराष्ट्र की राजनीति में जदयू का कुछ लेना-देना बेशक न हो, लेकिन महाराष्ट्र में भाजपा की सरकार नहीं बनने का उन्हें कोई गम नहीं है.

  • अब बिहार एनडीए में न कोई सवाल और न गलतफहमी की गुंजाइश : सुशील मोदी

    अब बिहार एनडीए में न कोई सवाल और न गलतफहमी की गुंजाइश : सुशील मोदी

    बिहार एनडीए के संकटमोचक और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने शुक्रवार को फिर दोहराया कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के उस बयान के बाद बिहार का गठबंधन अटल है. उन्होंने कहा कि यह गठबंधन ना केवल अटूट है बल्कि अब कोई गलतफहमी की भी गुंजाइश नहीं है. सुशील मोदी ने शुक्रवार को समस्तीपुर लोकसभा क्षेत्र के लोजपा प्रत्याशी प्रिंस राज के समर्थन में समस्तीपुर शहर के अनेक हिस्सों में लोजपा सांसद चिराग पासवान व जदयू सांसद रामनाथ ठाकुर के साथ करीब तीन घंटे तक रोड शो किया.

  • बिहार एनडीए के संकटमोचक सुशील मोदी ने कहा, विरोधियों का मास्टरप्लान फेल हो गया

    बिहार एनडीए के संकटमोचक सुशील मोदी ने कहा, विरोधियों का मास्टरप्लान फेल हो गया

    जब से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने यह कहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव उनकी पार्टी वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ही नेतृत्व में लड़ेगी तब से सभी नेता अपने-अपने तरीके से प्रतिक्रिया दे रहे हैं. अपनी पार्टी के अंदर पिछले तीन हफ्ते से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ आलोचना झेल रहे उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि विधानसभा की पांच और लोकसभा की एक सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान से चार दिन पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने फिर यह निश्चय दोहराया कि साल 2020 का विधानसभा चुनाव भी एनडीए नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही लड़ेगा. सुशील मोदी के अनुसार इस वक्तव्य से उन लोगों का मास्टरप्लान फेल हो गया, जो भाजपा-जदयू गठबंधन में फूट डालकर सत्ता पाने की फिराक में लगे थे.

  • नीतीश कुमार ने कहा- बिहार में एनडीए एकजुट, 'छपास प्रेमी बयानवीरों' के चक्कर में न पड़ें

    नीतीश कुमार ने कहा- बिहार में एनडीए एकजुट, 'छपास प्रेमी बयानवीरों' के चक्कर में न पड़ें

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार निश्चित रूप से भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के उस बयान के बाद कि अगला विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही लड़ेंगे, काफी खुश हैं. बहुत दिनों के बाद नीतीश कुमार जनसभा में खुश और उत्साह में दिखे. उन्होंने अपने ऊपर बयान देने वालों का नाम लिए बिना कहा कि अखबार में छपने के चक्कर में कुछ लोग बयान देते हैं लेकिन उनके चक्कर में मत पड़िए.

  • बिहार में उप चुनाव के लिए प्रचार ने जोर पकड़ा, सुशील मोदी ने किया जनसंपर्क

    बिहार में उप चुनाव के लिए प्रचार ने जोर पकड़ा, सुशील मोदी ने किया जनसंपर्क

    बिहार में पांच विधानसभा सीटों और एक लोकसभा सीट के उपचुनाव के लिए 21 अक्टूबर को वोट डाले जाने हैं. इन क्षेत्रों में चुनाव प्रचार तेज हो गया है. राजद-कांग्रेस गठबंधन के नेता इन इलाकों में कैम्प कर रहे हैं. दूसरी तरफ मंगलवार को उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने दो विधानसभा क्षेत्र बेलहर और नाथनगर में जनता दल यूनाइटेड के प्रत्याशियों के लिए वोट मांगे.

  • तेजस्वी यादव का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला, जल जमाव के मुद्दे पर उठाए कई सवाल

    तेजस्वी यादव का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला, जल जमाव के मुद्दे पर उठाए कई सवाल

    बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव इन दिनों विधानसभा की पांच सीटों और लोकसभा की एक सीट पर होने वाले उप चुनाव के प्रचार में व्यस्त हैं. हालांकि वे पटना में पिछले हफ़्ते कुछ दिन थे लेकिन जल जमाव से प्रभावित लोगों की सुध लेने में उन्होंने दिलचस्पी नहीं दिखाई. दूसरी तरफ सोशल मीडिया के माध्यम से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरने का उनका दैनिक कार्यक्रम जारी है. मंगलवार को उन्होंने ताज़ा बयान में कहा कि 'आदरणीय नीतीश कुमार जी आंख में धूल झोंकने के माहिर खिलाड़ी हैं. हर छोटी मोटी उपलब्धि का श्रेय स्वयं हड़पते हैं पर विकराल नाकामियों का ठीकरा छोटे-छोटे कर्मचारियों पर फोड़ते हैं.'

  • जल जमाव के बाद बिहार की राजनीति में सुशील मोदी को लेकर इतने सवाल क्यों?

    जल जमाव के बाद बिहार की राजनीति में सुशील मोदी को लेकर इतने सवाल क्यों?

    पटना शहर से जल जमाव की समस्या फ़िलहाल ख़त्म हो गई है. इस जल जमाव के यूं तो कई कारण रहे लेकिन वो चाहे भाजपा समर्थक हों या विरोधी, सब मानते हैं कि अगर एक व्यक्ति जिसकी लापरवाही का सबने ख़ामियाज़ा उठाया वो हैं सुशील मोदी. और राजधानी पटना की इस नरकीय स्थिति ने सबसे ज़्यादा नुक़सान किसी की व्यक्तिगत और राजनीतिक छवि को पहुंचाया है तो वो हैं बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी. सुशील मोदी ने पटना की हर समस्या में आम लोगों के साथ खड़े होकर अपनी व्यक्तिगत राजनीतिक छवि चमकाई और साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी को लगातार पिछली पांच विधानसभा चुनावों से हर सीट पर जीत दिलाई. उसी सुशील मोदी ने इस बार के पानी में, उनके समर्थकों के अनुसार सब कुछ खोया है.

  • पटना में जल जमाव : नेताओं के एक वर्ग ने लोगों की सेवा की, दूसरे वर्ग ने वोट पाने की रणनीति बनाई

    पटना में जल जमाव : नेताओं के एक वर्ग ने लोगों की सेवा की, दूसरे वर्ग ने वोट पाने की रणनीति बनाई

    बिहार की राजधानी पटना में जल जमाव से दो तरह के नेता जनता के सामने आए हैं. एक जिन्होंने इस जल जमाव के बहाने वोट मिले या नहीं, इसकी परवाह किए बिना जनता की ख़ूब सेवा की और वाहवाही भी बटोरी. इन नेताओं में पूर्व सांसद पप्पू यादव, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद रहे. दूसरे वे नेता जो पानी में तो जनता के बीच नहीं दिखे लेकिन पानी के बहाने सरकार, खासकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी. ऐसे नेताओं में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जयसवाल और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव प्रमुख थे.

  • सुशील मोदी ने दी सफाई, देशद्रोह के मुकदमे से कोई वास्ता नहीं; बीजेपी ने कभी भीड़ की हिंसा का समर्थन नहीं किया

    सुशील मोदी ने दी सफाई, देशद्रोह के मुकदमे से कोई वास्ता नहीं; बीजेपी ने कभी भीड़ की हिंसा का समर्थन नहीं किया

    बिहार के मुजफ्फरपुर में एक शिकायत के बाद स्थानीय कोर्ट के आदेश पर देश की जानी मानी 49 हस्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई और फिर पुलिस जांच में शिकायत झूठी पाई गई. एफआईआर दर्ज होने पर बिहार की एनडीए सरकार की जमकर आलोचना होती रही. पुलिस के शिकायत झूठी पाई जाने का खुलासा करने के पहले बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने इस पर सफाई दी कि राज्य सरकार का इससे कोई लेना देना नहीं है. सुशील मोदी ने दावा किया है कि उसी याचिकाकर्ता सुधीर ओझा ने कुछ वर्ष पूर्व उनके खिलाफ भी शिकायत दर्ज कराई थी.

  • नीतीश कुमार को निशाना बनाते रहे गिरिराज सिंह आखिर शांत क्यों हो गए? यह है कारण

    नीतीश कुमार को निशाना बनाते रहे गिरिराज सिंह आखिर शांत क्यों हो गए? यह है कारण

    केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) अपने पार्टी हाई कमान की फटकार के बाद पिछले दो दिनों से शांत हैं. भाजपा के सूत्रों के अनुसार पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने फिलहाल उन्हें कोई भी ऐसा बयान देने से मना किया है जिससे गठबंधन पर प्रतिकूल असर पड़े. गिरिराज और उनकी तरह के बिहार भाजपा के अन्य नेता जो जल जमाव के बहाने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को पानी-पानी करने में लगे थे, अब सब या तो मौन हैं, या शांत हैं. हालांकि बिहार भाजपा के कद्दावर नेता और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी के करीबियों का हमेशा दावा था कि गिरिराज की अपनी सरकार को घेरने की इस मुहिम को पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व का कोई समर्थन प्राप्त नहीं था.

  • राजद नेता जगदानंद सिंह ने अब नीतीश कुमार से सवाल पूछे

    राजद नेता जगदानंद सिंह ने अब नीतीश कुमार से सवाल पूछे

    राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह ने बाढ़ और जलजमाव से जूझते बिहार को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कई सवाल किए हैं. 'पटना और बिहार में आई बाढ़ की त्रासदी का सच' शीर्षकयुक्त एक बयान में कहा, 'नीतीश जी, पटना में जलजमाव या जलभराव पर पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों पर आपको आश्चर्यजनक जवाब देते सुना था, लेकिन इंतज़ार करना बेहतर समझा, ताकि आप कष्ट में पड़ी आबादी को समस्या से निजात दिलवा सकें... पटना के लोग अब भी कष्ट में हैं, हालांकि पानी अधिकांश इलाकों से निकाला जा चुका है या निकासी के अंतिम चरण में है... सो, मैं आपसे या आपके माध्यम से निम्न बातें जानना चाहता हूं, जिनके जवाब यदि आप दे सकें, तो लोगों को सच्चाई मालूम होगी...'

  • आखिरकार दिखे तेजस्वी यादव, लेकिन अपने जीजाजी के साथ रेवाड़ी में

    आखिरकार दिखे तेजस्वी यादव, लेकिन अपने जीजाजी के साथ रेवाड़ी में

    बिहार की राजधानी पटना में लाखों लोग जल जमाव से पिछले पांच दिन से परेशान हैं लेकिन विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव एक बार भी लोगों की सुध लेने नहीं पहुंचे. उनकी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता भी उनकी हर त्रासदी की स्थिति में गायब रहने की आदत से परेशान हैं. वे लोगों के सवालों पर किनारा करते दिखते हैं. तेजस्वी यादव के बारे में बृहस्पतिवार को उनके जीजाजी चिरंजीव राव ने एक ट्वीट में बताया कि वे उनके नामांकन में साथ हैं. उन्होंने साथ में नामांकन जमा करते हुए उनका फोटो भी ट्वीट किया.

  • नीतीश कुमार को कहना पड़ा, मीडिया वालों को हम प्रणाम करते हैं, क्या लैंग्वेज है भाई!

    नीतीश कुमार को कहना पड़ा, मीडिया वालों को हम प्रणाम करते हैं, क्या लैंग्वेज है भाई!

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गांधी जयंती पर कहा कि हम अपना प्रचार नहीं करते. जो काम नहीं करता वह केवल प्रचार करता है, लेकिन जितनी मेरी आलोचना है, कीजिए. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मीडिया की भूमिका से आहत हैं. नीतीश कुमार का बुधवार को गांधी जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम में गुस्सा झलका.उन्होंने मंगलवार की शाम को कुछ मीडिया चैनलों द्वारा उनके खिलाफ अभद्र भाषा के प्रयोग पर कहा कि उन्हें प्रचार पर भरोसा नहीं, बल्कि काम करते हैं. लेकिन जो लोग काम नहीं करते वे अपना प्रचार ख़ूब करते हैं.

  • आखिर नीतीश कुमार और सुशील मोदी चोरी-चोरी चुपके-चुपके पटना में क्यों घूम रहे?

    आखिर नीतीश कुमार और सुशील मोदी चोरी-चोरी चुपके-चुपके पटना में क्यों घूम रहे?

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आखिरकार मंगलवार की शाम को पटना शहर में भरे पानी की निकासी का खुद जाकर निरीक्षण किया. इससे पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने दिन में कई जगहों पर जल जमाव का जायजा लिया और शाम को नगर विकास विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. बैठक के बाद निष्कर्ष यही निकला कि अतिरिक्त पंपों की सहायता से दो दिन में दो फीट पानी की निकासी होगी. नीतीश कुमार ने इससे पूर्व रविवार को अलग-अलग जगहों पर पानी का जायजा लिया और सोमवार को हेलिकॉप्टर से सर्वे किया. इससे पूर्व राहत सामग्री जो पटना के श्री कृष्णा मेमोरियल हाल में बन रही थी, उसका भी निरीक्षण किया.

  • केंद्रीय मंत्री रविशंकर के बयान पर आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने चुटकी ली

    केंद्रीय मंत्री रविशंकर के बयान पर आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने चुटकी ली

    केंद्रीय विधि मंत्री और पटना साहिब से सांसद रविशंकर प्रसाद ने रविवार की शाम को एक बयान दिया. यह बयान पटना में जलजमाव के संदर्भ में था. उनका दावा था कि उन्होंने केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह चौहान से बात की जिसके बाद फरक्का बराज के 119 गेट खोले गए. लेकिन यह बयान देकर रविशंकर ने विपक्ष को अपनी आलोचना का एक मुद्दा बैठे बिठाए दे दिया. राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा कि कौन सही है! मुख्यमंत्री नीतीश कुमार या भारत सरकार के मंत्री रविशंकर प्रसाद.

  • बिहार विधानसभा चुनाव से पहले लोक जनशक्ति पार्टी में होंगे बड़े बदलाव, अध्यक्ष पद पर होगी नए नेता की ताजपोशी

    बिहार विधानसभा चुनाव से पहले लोक जनशक्ति पार्टी में होंगे बड़े बदलाव, अध्यक्ष पद पर होगी नए नेता की ताजपोशी

    बिहार विधानसभा चुनाव से पहले लोक जनशक्ति पार्टी में बड़े बदलाव किए जाएंगे. लोक जनशक्ति पार्टी की कमान अब राम विलास पासवान के बेटे चिराग पासवान संभालेंगे. पटना के गांधी मैदान पर 28 नवंबर को लोक जनशक्ति पार्टी के स्थापना दिवस के मौके पर चिराग को रामविलास पासवान की जगह राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया जाएगा.