NDTV Khabar

Bjp defeat


'Bjp defeat' - 26 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • दिल्ली के चुनाव में बीजेपी की करारी शिकस्त से एनडीए के दल चौकन्ने, रामविलास पासवान ने दी यह सलाह

    दिल्ली के चुनाव में बीजेपी की करारी शिकस्त से एनडीए के दल चौकन्ने, रामविलास पासवान ने दी यह सलाह

    दिल्ली के विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की करारी शिकस्त से उसके नेतृत्व वाले एनडीए (NDA) के घटक दल अब चिंतित हो उठे हैं. खास तौर पर बिहार (Bihar) में आने वाले दिनों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर अब एनडीए बेफिक्र नहीं है. दिल्ली के चुनाव में प्रचार के दौरान बीजेपी नेताओं के विवादित बयान पार्टी के लिए भारी नुकसान देने वाले साबित हुए. अब बिहार के एनडीए के दलों को चिंता है कि बीजेपी नेताओं का यदि यही रवैया बिहार के चुनाव में भी रहा तो उन्हें कहीं वहां भी सत्ता न गंवानी पड़ जाए. केंद्रीय मंत्री एवं लोकतांत्रिक जनशक्ति पार्टी (LJP) के नेता रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने कहा है कि इस साल के अंत में होने वाला बिहार विधानसभा चुनाव स्थानीय विकास के मुद्दों पर लड़ा जाएगा. उन्होंने साथ में यह भी जोड़ा है कि चुनाव में भाषा पर संयम बनाए रखना चाहिए.

  • दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी की हार से मुस्तफा भाई परेशान!

    दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी की हार से मुस्तफा भाई परेशान!

    बीजेपी की हार से मुस्तफा भाई परेशान हैं.आंखें नम हैं, हाथ बंधे हैं, और सामने पड़े अखबार की एक-एक खबर पुरानी हो चुकी है. शाम होने को है और उनकी आंखें बड़ी देर से नई खबर को खोज रही हैं. मुस्तफा पंत मार्ग के दिल्ली बीजेपी आफिस के बाहर करीब 20-25 साल से कुर्ता-पायजामा का कपड़ा बेचने का व्यवसाय कर रहे हैं.

  • दिल्ली बीजेपी कर रही समीक्षा, विधानसभा चुनाव में हार के पीछे कांग्रेस को भी जिम्मेदार ठहराया!

    दिल्ली बीजेपी कर रही समीक्षा, विधानसभा चुनाव में हार के पीछे कांग्रेस को भी जिम्मेदार ठहराया!

    दिल्ली बीजेपी ने हार की समीक्षा के लिए मैराथन बैठक शुरू कर दी है. बीजेपी को अब ये भी महसूस हो रहा है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में उसकी हार के पीछे कांग्रेस का अति खराब प्रदर्शन भी जिम्मेदार रहा है. बीजेपी प्रदेश कार्यालय में लगे दो दर्जन पोस्टरों में से एक पोस्टर पर लिखा है- ''जीत से हम अहंकारी नहीं होते, पराजय से हम निराश नहीं हैं.'' यही एक पोस्टर है जो पार्टी कार्यकर्ताओं में उम्मीद पैदा कर रहा है. शुक्रवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और महासचिव अरुण सिंह ने 140 से ज्यादा पदाधिकारियों से बंद कमरे में हार के कारणों की जानकारी ली.

  • Jharkhand Election: नागरिकता कानून और NRC पर छिड़ी बहस के बीच झारखंड में BJP की हार के 5 कारण

    Jharkhand Election: नागरिकता कानून और NRC पर छिड़ी बहस के बीच झारखंड में BJP की हार के 5 कारण

    Jharkhand Election Results: देश में छिड़ी नागरिकता कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) पर बहस के बीच बीजेपी के लिए झारखंड (Jharkhand Election Results) के लिए अच्छी खबर नहीं है. राज्य में 5 सालों से सत्ता में काबिज बीजेपी की करारी हार हुई है. पार्टी सिर्फ 21 सीटों में सिमटती दिखाई दे रही है.

  • एक चुनाव से सूपड़ा साफ नहीं होता, जीत का रास्ता दिखाती है हार : तेजस्वी यादव

    एक चुनाव से सूपड़ा साफ नहीं होता, जीत का रास्ता दिखाती है हार : तेजस्वी यादव

    बिहार (Bihar) में करारी हार के बाद बुधवार को आरजेडी और उनके सहयोगी दलों के बीच दो दिवसीय समीक्षा इस बात पर समाप्त हुई कि जो पराजय हुई उसकी कल्पना या अनुमान किसी को नहीं था और हार से ही जीत का रास्ता खुलता है. तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) ने कहा कि एक चुनाव से सूपड़ा साफ नहीं होता.

  • दिल्ली में शर्मनाक हार पर आत्ममंथन में जुटी कांग्रेस, पराजय के कारणों का पता लगाएगी

    दिल्ली में शर्मनाक हार पर आत्ममंथन में जुटी कांग्रेस, पराजय के कारणों का पता लगाएगी

    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Polls 2019) में दिल्ली (Delhi) में कांग्रेस (Congress) को शर्मनाक पराजय का सामना करना पड़ा. दिल्ली की सातों सीटों पर बीजेपी (BJP) ने जीत हासिल की और कांग्रेस व आम आदमी पार्टी (AAP) को करारी हार मिली. इन परिणामों को लेकर अब कांग्रेस आत्ममंथन में जुट गई है. दिल्ली में हुई हार के कारण जानने के लिए कांग्रेस ने एक कमेटी गठित कर दी है जो कि 10 दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी.

  • जयपुर के पूर्व राजघराने की दूसरी महिला, जो चुनी गईं सांसद; पांच लाख से अधिक वोटों के अंतर से जीतीं

    जयपुर के पूर्व राजघराने की दूसरी महिला, जो चुनी गईं सांसद; पांच लाख से अधिक वोटों के अंतर से जीतीं

    बीजेपी की दीया कुमारी (Diya Kumari) जयपुर (Jaipur) के पूर्व राजघराने की दूसरी सदस्य हैं जो लोकसभा सांसद निर्वाचित हुई हैं. उनसे पहले जयपुर राजघराने से गायत्री देवी चुनाव लड़ीं थीं. वे तीन बार सांसद रहीं. गायत्री देवी दीयाकुमारी की दादी थीं. राजसमंद सीट से लोकसभा चुनाव (Loksabha Elections 2019) लड़ीं दीया कुमारी ने कांग्रेस के देवकीनंदन गुर्जर को पांच लाख से अधिक वोटों से हरा दिया.

  • Election Results 2019 : वाराणसी में 21 प्रत्याशियों को हराया 'नोटा' ने, चार हजार से अधिक वोट पड़े

    Election Results 2019 : वाराणसी में 21 प्रत्याशियों को हराया 'नोटा' ने, चार हजार से अधिक वोट पड़े

    वाराणसी (Vranasi) में इस बार लोकसभा चुनाव (Loksabha Elections 2019) में नोटा के वोट लगभग दोगुने हुए. साल 2014 के लोकसभा चुनाव के 2051 की अपेक्षा 2019 लोकसभा मे 4037 मत नोटा (किसी प्रत्याशी को वोट नहीं) को पड़े. नोटा 26 प्रत्याशियों के बीच पांचवे स्थान पर रहा. यानी 21 उम्मीदवारों को नोटा को मिले मतों से कम मत मिले. पहले स्थान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) रहे तो दूसरे नंबर पर गठबंधन की उम्मीदवार शालिनी यादव रहीं. तीसरे नंबर पर कांग्रेस के अजय राय रहे. चौथे नंबर पर एसबीएसपी पार्टी के सुरेंद्र राजभर रहे. उन्हें तकरीबन आठ हजार वोट मिले.

  • Election Results 2019: मध्यप्रदेश लोकसभा चुनाव में UPA का सूपड़ा साफ, ये रहे हार के 5 मुख्य कारण

    Election Results 2019: मध्यप्रदेश लोकसभा चुनाव में UPA का सूपड़ा साफ, ये रहे हार के 5 मुख्य कारण

    Lok Sabha Election Results 2019: लोकसभा चुनाव (Election Result 2019) परिणामों के रुझान आते ही एनडीए और भाजपा के खेमे में खुशी की लहर है और पीएम मोदी (PM Narendra Modi) को देश की जनता ने पूर्ण बहुमत के साथ विजय बनाने का फैसला कर लिया है.

  • तीन राज्यों में हार के बाद नितिन गडकरी के निशाने पर 'कौन'? बोले- सफलता के कई पिता, लेकिन विफलता अनाथ है

    तीन राज्यों में हार के बाद नितिन गडकरी के निशाने पर 'कौन'? बोले- सफलता के कई पिता, लेकिन विफलता अनाथ है

    सफलता के कई पिता हैं, लेकिन विफलता अनाथ है. जब भी सफलता मिलती है को उसका श्रेय लूटने की होड़ मच जाती है, लेकिन जब विफलता होती है तो हर कोई एक दूसरे पर उंगली उठाना शुरू कर देता है- गडकरी

  • तीन राज्यों में बीजेपी की हार पर बोले पार्टी नेता- कुछ लोग पार्टी में तानाशाह हो गए थे, प्रभु सद्‌बुद्धि दें

    तीन राज्यों में बीजेपी की हार पर बोले पार्टी नेता- कुछ लोग पार्टी में तानाशाह हो गए थे, प्रभु सद्‌बुद्धि दें

    राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में बीजेपी की हार पर यूपी के वरिष्ठ नेता आईपी सिंह ने कुछ पार्टी नेताओं को तानाशाह बताते हुए कहा- प्रभु उन्हें सद्बुद्धि दें.

  • यशवंत सिन्हा ने चुनावों में करारी हार पर बीजेपी को सिखाए यह सबक

    यशवंत सिन्हा ने चुनावों में करारी हार पर बीजेपी को सिखाए यह सबक

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी को विधानसभा चुनावों में राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बड़ा झटका लगा है. 2019 लोकसभा चुनाव से पहले तीन राज्यों की सत्ता से बेदखल हो जाना बीजेपी के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है. इन चुनाव परिणामों पर बीजेपी में लंबे समय तक रहे दिग्गज नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने टिप्पणी की है. उन्होंने NDTV.com पर लिखे ब्लॉग में बीजेपी को चुनावों में हार को लेकर सबक सिखाए हैं.

  • यह हार बीजेपी के साथ-साथ मीडिया की भी है, लेकिन जीत कांग्रेस की नहीं किसानों की हुई है

    यह हार बीजेपी के साथ-साथ मीडिया की भी है, लेकिन जीत कांग्रेस की नहीं किसानों की हुई है

    जिन किसानों ने बीजेपी को वोट दिया था आज वो परेशान है .अनाज का सही MSP नहीं मिल रहा है. किसान आज सड़क पर प्रदर्शन कर रहा है. अपना हक मांग रहा है. पांच राज्यों के चुनाव परिणाम यह दर्शाती है कि लोग बीजेपी से खुश नहीं है. मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में बीजेपी की बड़ी हार है. तीनों राज्यों में बीजेपी की सरकार थी. यह हार सिर्फ बीजेपी की नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी है. 

  • यूपी के मंत्री ने फिर बोला हमला, 'पिछड़ों ने मौर्य के लिए वोट किया था, योगी के लिए नहीं'

    यूपी के मंत्री ने फिर बोला हमला, 'पिछड़ों ने मौर्य के लिए वोट किया था, योगी के लिए नहीं'

    उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को मुख्यमंत्री नहीं बनाये जाने के कारण पिछड़े वर्ग में नाराजगी बढ़ी है और यही कारण है कि भाजपा को उपचुनावों में हार का मुंह देखना पड़ रहा है. प्रदेश सरकार में सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष और राज्य दिव्यांग जन सशक्तिकरण मंत्री राजभर ने लोकसभा और विधानसभा के हालिया उपचुनावों में भाजपा की पराजय के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जिम्मेदार ठहराया.

  • 2019 लोकसभा चुनाव से पहले BJP के लिए खतरे की घंटी, 10 बातें

    2019 लोकसभा चुनाव से पहले BJP के लिए खतरे की घंटी, 10 बातें

    बीजेपी को 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले एक चौंका देने वाला झटका लगा क्योंकि लोकसभा की उन तीनों सीटों पर उसके उम्मीदवार हार गए जिनके लिए उपचुनाव हुआ था. इन तीन सीटों में उत्तर प्रदेश में उसका गढ़ रहा गोरखपुर और फूलपुर तथा बिहार में अररिया शामिल है. यूपी की दोनों लोकसभा सीट प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ और डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या की थी. बीजेपी के लिए यह चौंकाने वाला चुनाव परिणाम त्रिपुरा सहित पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में उसकी शानदार जीत के कुछ ही दिन बाद आया है. बीजेपी ने त्रिपुरा में वाम दल के किले को ढहा दिया था जहां वह पिछले 25 वर्ष सत्ता में था. बीजेपी ने अपने क्षेत्रीय सहयोगी दलों के साथ मिलकर नगालैंड और मेघालय में भी सरकार बना ली थी. वहीं बीजेपी के लिए यह हार 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए खतरे की घंटी है.

  • यूपी निकाय चुनाव में हार से साफ हो जाएगा बीजेपी की सत्ता से बेदखली का रास्ता : अखिलेश यादव

    यूपी निकाय चुनाव में हार से साफ हो जाएगा बीजेपी की सत्ता से बेदखली का रास्ता : अखिलेश यादव

    यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को कहा कि उत्तर प्रदेश के आगामी नगरीय निकाय चुनावों में भाजपा की पराजय से ही वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में इस पार्टी को केन्द्र की सत्ता से बाहर करने का रास्ता साफ होगा.

  • गुरदासपुर लोकसभा उपचुनाव: बीजेपी नेताओं ने खुद बताए हार के सबसे बड़े कारण...

    गुरदासपुर लोकसभा उपचुनाव: बीजेपी नेताओं ने खुद बताए हार के सबसे बड़े कारण...

    पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने जाखड़ की जीत को दिवाली का उपहार बताया है. उन्होंने कहा कि पंजाब की जनता ने इस जीत से कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी को दिवाली का गिफ्ट दिया है.

  • गुड़गांव नगर निगम चुनाव में निर्दलियों ने बीजेपी को दी पटखनी, 35 में से 21 सीटों पर विजयी

    गुड़गांव नगर निगम चुनाव में निर्दलियों ने बीजेपी को दी पटखनी, 35 में से 21 सीटों पर विजयी

    हरियाणा में स्थित दिल्ली एनसीआर क्षेत्र के गुड़गांव में नगर निगम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है. उसे यह शिकस्त किसी पार्टी ने नहीं बल्कि निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले नेताओं ने दी है. गुड़गांव नगर निगम के लिए रविवार को चुनाव हुआ जिसमें 35 में से 21 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार विजयी रहे. सत्तारूढ़ बीजेपी को सिर्फ 13 सीटों से ही संतोष करना पड़ा. जीत हासिल करने वाले 35 उम्मीदवारों में से 15 महिलाएं हैं.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com