NDTV Khabar

Bse


'Bse' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • आर्थिक सुस्ती की चिंता से सेंसेक्स 72 अंक टूटा, येस बैंक ने लगाया चार प्रतिशत का गोता

    आर्थिक सुस्ती की चिंता से सेंसेक्स 72 अंक टूटा, येस बैंक ने लगाया चार प्रतिशत का गोता

    आर्थिक नरमी को लेकर बढ़ती चिंता के बीच निजी बैंक, आईटी और ऊर्जा कंपनियों के शेयरों में गिरावट से सेंसेक्स में सोमवार को 72 अंक की गिरावट दर्ज की गई. सेंसेक्स सुबह में बढ़त के साथ खुला और आईटी, बैंकिंग और पेट्रोलियम एवं गैस कंपनियों की शेयरों में गिरावट से दोपहर बाद के कारोबार में इसमें गिरावट देखी गई.

  • सेंसेक्स में 70.21 अंकों की बढ़ोतरी के साथ बंद हुआ बाजार

    सेंसेक्स में 70.21 अंकों की बढ़ोतरी के साथ बंद हुआ बाजार

    सेंसेक्स की कंपनियों में भारती एयरटेल में सबसे ज्यादा 8.42 प्रतिशत की तेजी आई. समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के मद्देनजर 28,450 करोड़ रुपये का प्रावधान करने की वजह से भारती एयरटेल को चालू वित्त वर्ष की जुलाई - सितंबर तिमाही में 23,045 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है.

  • शेयर बाजार में तेजी, डॉलर के मुकाबले मजबूत हुआ रुपया

    शेयर बाजार में तेजी, डॉलर के मुकाबले मजबूत हुआ रुपया

    बीएसई का सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 279.66 अंक यानी 0.69 प्रतिशत बढ़कर 40,566.14 अंक जबकि निफ्टी 76.45 अंक यानी 0.64 प्रतिशत चढ़कर 11,948.55 अंक पर चल रहा है. कारोबारियों ने कहा कि विदेशी पूंजी कि निकासी और कच्चे तेल की कीमतों में तेजी से रुपये पर थोड़ा दबाव रहा.

  • विदेशी बाजार के सकारात्मक रूख से शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स में 200 और निफ्टी में 70 अंक का उछाल

    विदेशी बाजार के सकारात्मक रूख से शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स में 200 और निफ्टी में 70 अंक का उछाल

    बंबई स्टॉक एक्सचेंज के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह नौ बजे पिछले सत्र के मुकाबले तेजी के साथ 40,408.20 पर खुला और 40,540.02 तक उछला. पिछले सत्र में सेंसेक्स 40,286.48 पर बंद हुआ था

  • नीतिगत दर में कटौती की उम्मीद से सेंसेक्स 170 अंक मजबूत 

    नीतिगत दर में कटौती की उम्मीद से सेंसेक्स 170 अंक मजबूत 

    उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स गुरुवार को 170 अंक से अधिक की तेजी के साथ 40,286.48 अंक पर बंद हुआ. वृहद आर्थिक चुनौतियों के बीच नीतिगत दर रेपो में कटौती की उम्मीद में बाजार में तेजी आई.

  • डॉलर के मुकाबले रुपया 62 पैसे लुढ़का, दो महीने के न्यूनतम स्तर पर पहुंचा

    डॉलर के मुकाबले रुपया 62 पैसे लुढ़का, दो महीने के न्यूनतम स्तर पर पहुंचा

    अन्तरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 71.75 रुपये पर कमजोर रुख के साथ खुला था. दिन के कारोबार में यह 72 रुपये के स्तर से नीचे दिन के निम्न स्तर 72.10 रुपये तक टूट गया और अंत में रुपये की निविमय दर अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 62 पैसे औंधे मुंह लुढ़ककर 72.09 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुई. 

  • मजबूत वैश्विक रुख से चांदी का वायदा भाव एक प्रतिशत चढ़ा

    मजबूत वैश्विक रुख से चांदी का वायदा भाव एक प्रतिशत चढ़ा

    चांदी का अगले साल मार्च की आपूर्ति का अनुबंध 437 रुपये या 0.98 प्रतिशत की बढ़त के साथ 44,945 रुपये प्रति किलोग्राम रहा.

  • वैश्विक बाजार के सकारात्मक रूख का असर, सोने का वायदा भाव 155 रुपये चढ़ा

    वैश्विक बाजार के सकारात्मक रूख का असर, सोने का वायदा भाव 155 रुपये चढ़ा

    मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में सोने का दिसंबर आपूर्ति का अनुबंध 155 रुपये या 0.41 प्रतिशत की बढ़त के साथ 37,875 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया.इसमें 2,759 लॉट का कारोबार हुआ.इसी तरह सोने का फरवरी अनुबंध 137 रुपये या 0.36 प्रतिशत की बढ़त के साथ 37,860 रुपये प्रति दस ग्राम रहा. इसमें 252 लॉट का कारोबार हुआ.

  • रूपये में गिरावट का सोने पर असर,सोने में आई 118 रूपये की तेजी

    रूपये में गिरावट का सोने पर असर,सोने में आई 118 रूपये की तेजी

    एचडीएफसी सिक्युरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक तपन पटेल ने कहा कि वैश्विक बाजार में सोना मजबूत होने तथा डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर में तेज गिरावट की वजह से दिल्ली में 24 कैरेट सोने के भाव में 118 रुपये की तेजी आई. 

  • डालर के मुकाबले रुपया हुआ कमजोर,शुरूआती कारोबार में दर्ज की गई आठ पैसे की गिरावट

    डालर के मुकाबले रुपया हुआ कमजोर,शुरूआती कारोबार में दर्ज की गई आठ पैसे की गिरावट

    दुनिया की अन्य मुद्राओं के मुकाबले डालर की नरमी और कच्चे तेल के दाम नीचे रहने से रुपये को सहारा मिला और उसमें बड़ी गिरावट नहीं आई. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में डालर के मुकाबले रुपया 71.36 रुपये प्रति डालर पर खुला और उसके बाद आठ पैसे नीचे रहा

  • बाजार में उतार चढ़ाव के बीच सोमवार को कमजोर वैश्विक रुख से सेंसेक्स में मामूली बढ़त

    बाजार में उतार चढ़ाव के बीच सोमवार को कमजोर वैश्विक रुख से सेंसेक्स में मामूली बढ़त

    विश्लेषकों ने कहा कि मूडीज इन्वेस्टर सर्विसेज द्वारा भारत के रेटिंग के परिदृश्य को कम करने से निवेशक सतर्क हुए हैं. चीन का शंघाई, हांगकांग का हैंगसेंग, जापान का तोक्यो और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी 2.62 प्रतिशत नुकसान में रहें.

  • शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया हुआ कमजोर, दर्ज की गई 30 पैसे की गिरावट

    शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया हुआ कमजोर, दर्ज की गई 30 पैसे की गिरावट

    शुक्रवार को रुपया शुरुआती कारोबार में 30 पैसे गिरकर 71.27 रुपये प्रति डॉलर पर आ गई. मुद्रा कारोबारियों ने कहा कि घरेलू शेयर बाजार की शुरुआती गिरावट से भी रुपये पर दबाव रहा.

  • शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स 246 अंक ऊपर, निफ्टी 11,661.85 पर

    शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स 246 अंक ऊपर, निफ्टी 11,661.85 पर

    सेंसेक्स के 30 में से 23 शेयरों में तेजी रही. यस बैंक (8.44 फीसदी), मारुति (2.74 फीसदी), पॉवरग्रिड (2.45 फीसदी), एनटीपीसी (2.02 फीसदी) और एलटी (1.67 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही.

  • आर्थिक नरमी बने रहने की आशंकाओं के बीच सेंसेक्स 141 अंक गिरा

    आर्थिक नरमी बने रहने की आशंकाओं के बीच सेंसेक्स 141 अंक गिरा

    शेयर बाजारों में सोमवार को उतार चढ़ाव भरे कारोबार के बीच बीएसई सेंसेक्स 141 अंक गिरकर बंद हुआ. सूचना प्रौद्योगिकी, बैंकिंग, दवा और रोजमर्रा के उपभोक्ता उत्पाद कंपनियों के शेयर में मुनाफा वसूली से बाजार पर दबाव रहा. उतार चढ़ाव भरे कारोबार में सेंसेक्स 141.33 अंक यानी 0.38 प्रतिशत गिरकर 37,531.98 अंक पर बंद हुआ.

  • आर्थिक वृद्धि के रिजर्व बैंक के अनुमान में कटौती से 434 अंक गिरा सेंसेक्स

    आर्थिक वृद्धि के रिजर्व बैंक के अनुमान में कटौती से 434 अंक गिरा सेंसेक्स

    रिजर्व बैंक के चालू वित्त वर्ष के लिये देश की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाने की घोषणा के बीच शुक्रवार को शेयर बाजारों में बिकवाली का दबाव तेज होने से सेंसेक्स 434 अंक लुढ़क गया. रिजर्व बैंक ने कर्ज सस्ता कर वृद्ध दर प्रोत्साहित करने के उद्येश्य से लगातार पांचवीं बार अपनी नीतिगत ब्याज दर रेपो दर में कटौती की.

  • सेंसेक्स में 362 अंक की गिरावट, येस बैंक का शेयर 22 प्रतिशत गिरा

    सेंसेक्स में 362 अंक की गिरावट, येस बैंक का शेयर 22 प्रतिशत गिरा

    बीएसई सेंसेक्स मंगलवार को 362 अंक लुढ़क गया. आर्थिक आंकड़ों के कमजोर बने रहने के संकेत, बैंकिंग क्षेत्र की चिंताओं और वाहन बिक्री में गिरावट का सिलसिला बने रहने के बीच निवेशकों ने शेयरों में भारी बिकवाली रही.

  • अर्थव्यवस्था को मंदी से बचाने के लिए वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के ये 12 फैसले क्या काफी हैं?

    अर्थव्यवस्था को मंदी से बचाने के लिए वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के ये 12 फैसले क्या काफी हैं?

    देश की अर्थव्यवस्था को मंदी से बचाने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से कोशिशें जारी हैं. पिछले 2 महीने में वित्तमंत्री की ओर से देश को मंदी की ओर जाने से रोकने के लिए कई ऐलान किए गए हैं. आज हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कारपोरेट टैक्स घटाकर 30 फीसदी से 25.2 फीसदी कर दिया है. उनके इस ऐलान के बाद शेयर बाजार में तगड़ा उछाल आया और सेंसेक्स 1600 अंकों तक पहुंच गया है. गौरतलब है कि इस तिमाही में देश की विकास दर 5 फीसदी पर पहुंच गई है. इसके बाद से मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई. पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने इसे नोटबंदी और जल्दबाजी में लागू किए जीएसटी को वजह बताया. इसके साथ ही उन्होंने मोदी सरकार को कुछ कदम उठाने की सलाह दी. मंदी का सबसे कारण घरेलू बाजार में मांग की कमी है जिसमें ग्रामीण अर्थव्यवस्था सबसे ज्यादा प्रभावित है. इसका सबसे ज्यादा असर ऑटो सेक्टर पर दिखाई दे रहा है. वहीं मैन्यूफैक्चरिंग और कृषि के हालात भी ठीक नहीं है. सरकार इससे निपटने के लिए पिछले दो महीने में कई बड़े ऐलान कर चुकी है और कई फैसले भी वापस भी लिए हैं जो बजट के दौरान किए गए थे. हालांकि उसकी ओर से अंतरराष्ट्रीय बाजार में मंदी का असर भारत पर बताया जा रहा है. इससे पहले जो ऐलान किए गए थे उसका स्वागत भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की) ने भी किया है और उम्मीद जताई कि इससे अर्थव्यवस्था में तेजी आएगी.

  • कंपनियों के लिए Corporate Tax में कटौती की घोषणा के बाद Sensex में भारी उछाल

    कंपनियों के लिए Corporate Tax में कटौती की घोषणा के बाद Sensex में भारी उछाल

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक अध्यादेश लाकर घरेलू कंपनियों, नयी स्थानीय विनिर्माण कंपनियों के लिये Corporate Tax कम करने का प्रस्ताव दिया है. इस ऐलान के साथ ही बाजार में काफी तेजी देखी गई. सेसेंक्स में 1900 अंकों का उछाल देखा गया. वित्त मंत्री ने कहा कि यदि कोई घरेलू कंपनी किसी प्रोत्साहन का लाभ नहीं ले तो उसके पास 22 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प है. जो कंपनियां 22 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प चुन रही हैं, उन्हें न्यूनतम वैकल्पिक कर का भुगतान करने की जरूरत नहीं होगी.