NDTV Khabar

Budget date


'Budget date' - 38 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • मिशन 2019 का बजट: पीयूष गोयल के बजट में मिडिल क्लास, किसान और मजदूर, हर वर्ग पर मोदी सरकार की नजर, 12 बातें

    मिशन 2019 का बजट: पीयूष गोयल के बजट में मिडिल क्लास, किसान और मजदूर, हर वर्ग पर मोदी सरकार की नजर, 12 बातें

    Budget 2019 Highlights In Hindi : लोकसभा चुनाव 2019 से ठीक पहले ज्यादा से ज्यादा वर्गों को खुश करने की जोरदार कोशिश के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने शुक्रवार को पेश अंतरिम बजट (Budget 2019) में मध्यम वर्ग, किसानों और मजदूरों के लिये लोक लुभावन घोषणायें कीं. अंतरिम बजट (interim budget 2019) पेश करने के दौरान प्रस्तावों में मोदी सरकार ने मध्यम वर्ग और आम नौकरी पेशा तबके की पांच लाख रुपये तक की आय को कर मुक्त करने तथा दो हेक्टेयर तक की जोत वाले किसानों को साल में 6,000 रुपये का नकद समर्थन देने की पेशकश की है. इसके अलावा असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिये तीन हजार रुपये मासिक पेंशन योजना की भी घोषणा की गई है. अंतरिम बजट भाषण को कमोबेश पूर्ण बजट में बदलते हुए वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने उन वर्गों का खास खयाल रखा है जिनके चलते माना जा रहा था कि भाजपा को हाल में हुए विधानसभा चुनावों में, खासकर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ व राजस्थान में नुकसान हुआ. यही वजह है कि अंतरिम बजट में किसानों व मध्यम वर्ग को राहत देने के साथ ही असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए मेगा पेंशन योजना की घोषणा की है. इन तीन क्षेत्रों के लिए कुल मिला कर करीब सवा लाख करोड़ रूपये के बजट प्रावधान किये गये हैं जिसके जरिए लगभग 25 करोड़ लोगों को सीधा लाभ पहुंचाने का लक्ष्य है. 

  • गोल गोल गोयल बजट - डेडलाइन का पता नहीं, केवल हेडलाइन है...

    गोल गोल गोयल बजट - डेडलाइन का पता नहीं, केवल हेडलाइन है...

    फरवरी 2019 में 29 साल का एक मज़दूर असंगठित क्षेत्र में प्रवेश करता है. 31 साल तक हर महीने 100 रुपये जमा कराता है. सरकार भी 100 रुपये जमा कराती है. 2050 में वह साठ साल का हो जाता है. तब उसे पीयूष गोयल की स्कीम के अनुसार हर महीने 3000 की पेंशन मिलेगी.

  • सरकारी आमदनी के मोर्चे पर क्या हुआ?

    सरकारी आमदनी के मोर्चे पर क्या हुआ?

    बजट को समझने के लिए देश का होशियार तबका अपना सिर खुजाने में लग गया है. इस बजट से जिन्हें तोहफे बंटने का ऐलान हुआ वे भी हिसाब लगा रहे हैं कि उन्हें आखिर मिलेगा क्या? अब क्योंकि बजट के जरिए किसी को हाल के हाल तो कुछ मिलता नहीं.

  • Budget 2019: PM मोदी की पहली प्रतिक्रिया- यह गरीब को शक्ति, किसान को मज़बूती और अर्थव्यवस्था को नया बल देगा

    Budget 2019: PM मोदी की पहली प्रतिक्रिया- यह गरीब को शक्ति, किसान को मज़बूती और अर्थव्यवस्था को नया बल देगा

    पीएम मोदी ने साथ ही कहा, 'देश का एक बहुत बड़ा वर्ग आज अपने सपनें साकार करने में और देश के विकास को गति देने में लगा हुआ है. उनके लिए सरकार ने अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है. इस बजट से 3 करोड़ से ज्यादा मध्यम वर्ग के टैक्स देने वालों को और 30-40 करोड़ श्रमिकों को सीधा लाभ मिलना तय हुआ है. सरकार के प्रयासों से आज देश में गरीबी रिकॉर्ड गति से कम हो रही है. देश का एक बहुत बड़ा वर्ग आज अपने सपनें साकार करने में और देश के विकास को गति देने में लगा हुआ है. उनके लिए सरकार ने अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है. देश में बढ़ते मीडिल क्लास की आशा-आक्षांका को कुछ हौसला मिले, इसके लिए हमारी सरकार ने अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है. मैं मीडिल क्लास को इनकम टैक्स में मिली छूट के लिए बधाई देता हूं.

  • Budget 2019: चुनाव से पहले मिड्ल क्लास को तोहफा, किसानों को सालाना मदद, हिंदी में पढ़ें पीयूष गोयल का पूरा भाषण

    Budget 2019: चुनाव से पहले मिड्ल क्लास को तोहफा, किसानों को सालाना मदद, हिंदी में पढ़ें पीयूष गोयल का पूरा भाषण

    मोदी सरकार ने आम चुनाव से पहले शुक्रवार को पेश अपने आखरी बजट (budget 2019) प्रस्तावों में किसानों, मजदूरों और मध्यम वर्ग को लुभाने के लिये कई बड़ी घोषणायें की हैं.

  • Budget 2019: किसानों, सैलरी क्लास, टैक्सपेयर्स को मोदी सरकार के आखिरी बजट में क्या मिला, देखें पूरी लिस्ट

    Budget 2019: किसानों, सैलरी क्लास, टैक्सपेयर्स को मोदी सरकार के आखिरी बजट में क्या मिला, देखें पूरी लिस्ट

    interim budget 2019: सरकार ने आम चुनाव से पहले बृहस्पतिवार को पेश अपने आखरी बजट प्रस्तावों में किसानों, मजदूरों और मध्यम वर्ग को लुभाने के लिये कई बड़ी घोषणायें की हैं.

  • Budget 2019: सैलरी क्लास को मोदी सरकार का बंपर तोहफा, जानें बजट पर क्या बोले अमित शाह

    Budget 2019: सैलरी क्लास को मोदी सरकार का बंपर तोहफा, जानें बजट पर क्या बोले अमित शाह

    Budget 2019 Live: पीयूष गोयल ( Piyush Goyal) ने मोदी सरकार का Interim Budget पेश कर करदाताओं को बड़ी राहत दी. पीयूष गोयल ने इनकम टैक्स (Income Tax) की सीमा को 5 लाख करने का ऐलान किया.

  • बजट के बाद शेयर बाजार में उछाल, 370.21 प्वाइंट्स का देखा गया इजाफा

    बजट के बाद शेयर बाजार में उछाल, 370.21 प्वाइंट्स का देखा गया इजाफा

    वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने वर्ष 2019-20 का अंतरिम बजट भाषण पढ़ना शुरू किया और शेयर बाजारों में आरंभिक कारोबार में बढ़त देखी गई, हालांकि, चालू वित्त वर्ष के लिए राजकोषीय घाटा लक्ष्य के पार निकल गया है, लेकिन इसके बावजूद शुरुआती कारोबार में बाजार लाभ में रहे. बीएसई का 30 शेयरों का सेंसेक्स 157.10 अंक यानी 0.43 प्रतिशत की बढ़त के साथ 36,413.79 अंक पर चल रहा था. वहीं एनएसई निफ्टी 43.25 अंक यानी 0.40 प्रतिशत की तेजी के साथ 10,874.20 अंक पर चल रहा था. बजट भाषण में गोयल ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा जीडीपी के 3.4 प्रतिशत रहेगा. जबकि इसके लिए पूर्वानुमान 3.3 प्रतिशत तय किया गया था. बजट के बाद सेंसेक्स 370.21 प्वाइंट्स की बढ़त के साथ 36,626.90 पर पहुंच गया.

  • Budget 2019: मोदी सरकार ने दिया मिडिल क्लास को टैक्स छूट का तोहफा, ट्विटर पर लोगों ने ऐसे मनाया जश्न

    Budget 2019: मोदी सरकार ने दिया मिडिल क्लास को टैक्स छूट का तोहफा, ट्विटर पर लोगों ने ऐसे मनाया जश्न

    अंतरिम बजट (Budget 2019) पेश कर दिया है. इस बार के बजट में मोदी सरकार ने मिडिल क्लास को टैक्स छूट (No tax on income up to Rs 5 lakh) का तोहफा दिया है.

  • चुनाव से पहले मोदी सरकार ने चल दिया बड़ा सियासी दांव, प्वाइंटर्स में देखें बजट की अहम बातें

    चुनाव से पहले मोदी सरकार ने चल दिया बड़ा सियासी दांव, प्वाइंटर्स में देखें बजट की अहम बातें

    लोकसभा चुनाव से ठीक पहले अंतरिम बजट में मोदी सरकार ने अपना बड़ा सियासी दांव खेल दिया है. मोदी सरकार ने आयकर की सीमा 5 लाख तक बढ़ाकर मध्यमवर्ग और नौकरी-पेशा वाले युवा को साधने की कोशिश की है.

  • बड़ा तोहफा: 5 लाख रुपए तक सालाना आय वालों को नहीं देना होगा कोई टैक्स

    बड़ा तोहफा: 5 लाख रुपए तक सालाना आय वालों को नहीं देना होगा कोई टैक्स

    वित्त मंत्री ने कहा कि अब पांच लाख रुपए तक की आय वालों को किसी तरह का कोई टैक्स नहीं देना पड़ेगा. इसके साथ ही निवेश करने पर 6.5 लाख रुपए तक कोई टैक्स नहीं देना होगा. तीन करोड़ मध्य वर्ग के लोगों को इससे फायदा मिलेगा. बता दें, आयकर छूट की सीमा बढ़ाने की मांग कई बार से की जा रही थी. लेकिन इस साल लोकसभा चुनाव होने की वजह से आयकर सीमा में छूट बढ़ाने की उम्मीद की जा रही थी. इसके अलावा 40 हजार तक के बैंक ब्याज पर टीडीएस नहीं कटेगा. पहले यह सीमा 10 हजार रुपए तक की थी. आयकर छूट की सीमा बढ़ाने के ऐलान के बाद सेंसेक्स में उछाला आया है.

  • कर्मचारियों को तोहफा: बजट में मोदी सरकार ने ग्रेच्युटी की सीमा 10 लाख से बढ़ाकर की 20 लाख रुपए

    कर्मचारियों को तोहफा: बजट में  मोदी सरकार ने ग्रेच्युटी की सीमा 10 लाख से बढ़ाकर की 20 लाख रुपए

    Budget 2019: 'ग्रेच्युटी का भुगतान (संशोधन) अधिनियम, 2018' के लागू होने से पहले ग्रेच्युटी के भुगतान की अधिकतम सीमा 10 लाख रुपये थी. केंद्रीय कर्मचारियों के लिये केंद्रीय कर्मचारी सिविल सेवा (पेंशन) विनियम 1972 के तहत ग्रेच्युटी भुगतान के नियम भी इससे मिलते जुलते हैं. सातवें वेतन आयोग के तहत सीसीएस (पेंशन) विनियम, 1972 के तहत अधिकतम भुगतान सीमा 10 लाख रुपये थी. लेकिन सातवें वेतन आयोग के लागू होने के बाद सरकारी कर्मचारियों के मामले में इसे बढ़ाकर 20 लाख रुपये कर दिया गया था.

  • मोदी सरकार का बड़ा ऐलान: किसानों को प्रति वर्ष दिए जाएंगे 6000 रुपये, तीन किस्तों में मिलेंगे पैसे

    मोदी सरकार का बड़ा ऐलान: किसानों को प्रति वर्ष दिए जाएंगे 6000 रुपये, तीन किस्तों में मिलेंगे पैसे

    Budget 2019: वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने साल 2019-20 का अंतरिम बजट पेश करने से पहले अपने बजट भाषण में कहा कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी. बजट पेश करते हुए गोयल ने ऐलान किया कि प्रधानमंत्री किसान योजना में 2 हेक्टेयर तक की जमीन वाले छोटे किसानों को 6,000 रुपये प्रति वर्ष मिलेंगे. तीन किस्तों में पैसे मिलेंगे. पहली किस्त जल्द मिलेगी. यह पैसा 2 हेक्टेयर जमीन वाले किसानों को दिया जाएगा. यह योजना दिसंबर 2018 से ही लागू हो जाएगी. इसका पूरा खर्च केंद्र सरकार उठाएगी. इससे 12 करोड़ किसानों को फायदा होगा. इसके साथ ही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को मंजूरी दे गई. इस वर्ष किसान निधि के लिए 75 हजार करोड़ रुपए दिए गए हैं.

  • Budget 2019: मोदी सरकार के बजट से पहले ही बोले मल्लिकार्जुन खड़गे- आज केवल जुमला सामने आएगा

    Budget 2019: मोदी सरकार के बजट से पहले ही बोले मल्लिकार्जुन खड़गे- आज केवल जुमला सामने आएगा

    कांग्रेस के दिग्गज नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने इस बजट को पहले ही मोदी सरकार का जुमला बताया है. 

  • मोदी सरकार के पास चुनाव से पहले 'चौका-छक्का' मारने का आखिरी मौका, पीयूष गोयल के पिटारे में क्या होगा खास, 10 बातें

    मोदी सरकार के पास चुनाव से पहले 'चौका-छक्का' मारने का आखिरी मौका, पीयूष गोयल के पिटारे में क्या होगा खास, 10 बातें

    लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) से पहले केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरका (PM Narendra Modi Govt) पहले से चली आ रही परंपराओं का पालन करते हुए आज अंतरिम बजट (Budget2019) पेश करेगी. मोदी सरकार में कार्यकारी वित्त मंत्री पीयूष गोयल आज सरकार का आखिरी बजट पेश करेंगे. माना जा रहा है कि इस बजट (Budget 2019) में किसानों और मध्यम वर्ग को ध्यान में रखते हुये कुछ घोषणाएं की जा सकती हैं. जानकार सूत्रों के अनुसार इसमें (Budget 2019) आयकर छूट सीमा बढ़ाने, गरीबों के लिये न्यूनतम आय योजना और किसानों के लिये सहायता पैकेज सहित कई तरह की लोक लुभावन घोषणायें की जा सकती हैं. हालांकि, आगामी बजट सत्र (Interim budget 2019) के दौरान नई सरकार के सत्ता संभालने तक चार माह के खर्च के लिये लेखानुदान को ही मंजूरी दी जायेगी. उम्मीद की जा रही है कि लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार लोगों को लुभाने की पूरी कोशिश करेगी. 

  • Budget 2019: आयकर छूट सीमा बढ़ाकर 3.5 लाख रुपये करने, कंपनी कर घटाकर 25 प्रतिशत पर लाने की मांग

    Budget 2019: आयकर छूट सीमा बढ़ाकर 3.5 लाख रुपये करने, कंपनी कर घटाकर 25 प्रतिशत पर लाने की मांग

    सरकार ने पिछले साल के बजट में सालाना 250 करोड़ तक का कारोबार करने वाली कंपनियों के लिये कारपोरेट कर की दर को 30 प्रतिशत से घटाकर 25 प्रतिशत कर दिया था. इस कदम से कर रिटर्न भरने वाली 99 प्रतिशत कंपनियों के लिये कर की दर कम हो गई. पीएचडी वाणिज्य एवं उद्योग मंडल के अध्यक्ष राजीव तलवार ने कहा है, ‘‘यह समय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिये नये ठोस कदम उठाने का है. मांग बढ़ाकर वृद्धि को नये स्तर पर पहुंचाने का है.’’ प्रत्यक्ष कर क्षेत्र में सुधारों को आगे बढ़ाया जाना चाहिये.

  • Budget 2019: गोयल के बजट में बढ़ सकती है आयकर छूट सीमा, किसानों के लिये हो सकती है राहत पैकेज की घोषणा

    Budget 2019: गोयल के बजट में बढ़ सकती है आयकर छूट सीमा, किसानों के लिये हो सकती है राहत पैकेज की घोषणा

    ह अंतरिम बजट (Interim budget 2019) होगा लेकिन उद्योग सूत्रों और विशेषज्ञों का कहना है कि वित्त मंत्री पीयूष गोयल (piyush goyal) इससे आगे बढ़कर कुछ नई घोषणायें कर सकते हैं. अंतरिम बजट (Interim budget 2019) में अगले वित्त वर्ष के चार महीने के खर्च के लिये संसद की अनुमति ली जायेगी. पूर्ण बजट आम चुनाव के बाद बनने वाली नई सरकार जुलाई में पेश करेगी. कांग्रेस के उभार को देखते हुये गोयल किसानों को राहत पहुंचाने के लिये प्रत्यक्ष नकद हस्तांतरण जैसे किसी योजना की घोषणा कर सकते हैं.

  • Budget 2019-20 Live Updates: मोदी सरकार का दूसरा सबसे बड़ा दांव, 5 लाख रुपये तक सालाना सैलरी पर कोई टैक्स नहीं

    Budget 2019-20 Live Updates: मोदी सरकार का दूसरा सबसे बड़ा दांव, 5 लाख रुपये तक सालाना सैलरी पर कोई टैक्स नहीं

    आम चुनाव से पहले केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पहले से चली आ रही परंपराओं का पालन करते हुए आज अंतरिम बजट (Budget 2019) पेश कर दिया है. केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि उनकी सरकार ने कमरतोड़ महंगाई की कमर तोड़कर रख दी. करेगी. उन्होंने ​​बजट (Budget  2019) को पढ़़ते हुए कहा कि किसानों आय में बढ़ी है. वित्तीय घाटे पर लगाम लगाई है. राज्यों को ज्यादा पैसे गए.

Advertisement