NDTV Khabar

Budget session


'Budget session' - 185 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • WhatsApp के साथ हुईं सरकार की कई बैठकें लेकिन नहीं दी हैकिंग की जानकारी, अब 4 दिन में देना होगा जवाब

    WhatsApp के साथ हुईं सरकार की कई बैठकें लेकिन नहीं दी हैकिंग की जानकारी, अब 4 दिन में देना होगा जवाब

    सरकार फेक न्यूज और अफ़वाहों पर लगाम कसने के लिए कड़े आईटी कानून की तैयारी में है. माना जा रहा है संसद के बजट सत्र में इससे जुड़ा बिल लाया जा सकता है. वाट्सएप पर भी शिकंजा कसा जाएगा.

  • बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह ने डार्विन को फिर कटघरे में खड़ा किया, कहा- हम बंदरों की नहीं, ऋषियों की संतान

    बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह ने डार्विन को फिर कटघरे में खड़ा किया, कहा- हम बंदरों की नहीं, ऋषियों की संतान

    पूर्व केंद्रीय मंत्री और बागपत से मौजूदा बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह ने एक बार फिर डार्विन के सिद्धांत को नकारा. उन्होंने कहा कि 'इंसानों की विकास यात्रा बंदरों से शुरू नहीं हुई है, हम ऋषियों की संतान हैं. उन्होंने यह भी कहा कि भारत की परंपरा में मानव अधिकार पर जोर नहीं था, संस्कार पर जोर था.'

  • संसद का बजट सत्र बढ़ने की संभावना, सोमवार को होगा अंतिम निर्णय

    संसद का बजट सत्र बढ़ने की संभावना, सोमवार को होगा अंतिम निर्णय

    संसद का बजट सत्र बढ़ाया जाएगा. बजट सत्र तीन से पांच दिन तक बढ़ाया जा सकता है. इस बारे में अंतिम निर्णय सोमवार को लिया जाएगा.

  • Budget 2019 Highlights: स्वास्थ्य क्षेत्र को मिले 62,398 करोड़ रूपये, बीते दो वित्तीय वर्षों के मुकाबले सर्वाधिक

    Budget 2019 Highlights: स्वास्थ्य क्षेत्र को मिले 62,398 करोड़ रूपये, बीते दो वित्तीय वर्षों के मुकाबले सर्वाधिक

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को आगामी वित्त वर्ष 2019-2020 के लिए स्वास्थ्य क्षेत्र को 62,659.12 करोड़ रूपये देने की घोषणा की है. यह धनराशि बीते दो वित्तीय वर्षों में दी गई धनराशि से कहीं अधिक है. साल 2018-2019 के लिए पेश बजट में इस क्षेत्र को 52,800 करोड़ रूपये दिये गए थे.

  • Budget 2019: रेलवे को आवंटित हुए 65,837 करोड़ रुपए, इसी साल शुरू होगा स्टेशनों को मॉडर्न बनाने का काम

    Budget 2019: रेलवे को आवंटित हुए 65,837 करोड़ रुपए, इसी साल शुरू होगा स्टेशनों को मॉडर्न बनाने का काम

    केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को पेश किए गए बजट में रेलवे के लिए 65,837 करोड़ रुपए आवंटित किए और उसे पूंजीगत खर्च के लिए अब तक की सर्वाधिक 1.60 लाख करोड़ रुपए की राशि वितरित की गई. रेलवे में पूंजीगत खर्च के लिए पिछले साल 1.48 लाख करोड़ रुपए तय किए गए थे, जबकि बजट आवंटन 55,088 करोड़ रुपए था.

  • Budget 2019 Highlights: सरकारी खजाने में प्रत्येक एक रुपये में 68 पैसे विभिन्न करों से आयेंगे 

    Budget 2019 Highlights: सरकारी खजाने में प्रत्येक एक रुपये में 68 पैसे विभिन्न करों से आयेंगे 

    वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को आम बजट पेश किया. बजट दस्तावेजों के मुताबिक इस वित्तीय वर्ष में सरकारी खजाने में आने वाले प्रत्येक एक रुपये में 68 पैसे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों से आयेगा जबकि खर्च के तौर पर करों और शुल्कों में राज्यों का हिस्से में सबसे ज्यादा 23 पैसे जायेंगे. 2019- 20 के बजट में केंद्र सरकार को मिलने वाले प्रत्येक एक रुपये में माल एवं सेवा कर की वसूली से 19 पैसे प्राप्त होंगे.

  • सैलरी क्‍लास बैठी थी आस लगाए, बजट हो गया गांव-गरीब, किसान और महिलाओं के नाम

    सैलरी क्‍लास बैठी थी आस लगाए, बजट हो गया गांव-गरीब, किसान और महिलाओं के नाम

    मिडिल क्‍लास बैठी रही आस लगाए और वित्तमंत्री गांव-गरीब, किसान, महिला के नाम कर गई बजट. पीएम मोदी अपनी प्रतिक्रिया देने आए तो वह भी कहकर चले गए कि गरीब, देश के विकास का पावर हाउस बनेंगे. इस बजट से गरीबों को बल मिलेगा और युवाओं को बेहतर कल मिलेगा.

  • BSP प्रमुख मायावती बोलीं, मोदी सरकार का बजट धन्नासेठों के लिए, इससे तो...

    BSP प्रमुख मायावती बोलीं, मोदी सरकार का बजट धन्नासेठों के लिए, इससे तो...

    Budget 2019 India: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को लोकसभा में वित्त वर्ष 2019-20 के लिए बजट पेश किया. बसपा अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने केंद्रीय बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह बजट बड़े पूंजीपतियों को राहत पहुंचाने वाला है. मायावती ने ट्वीट कर कहा, 'यह बजट प्राइवेट सेक्टर को बढ़ावा देकर कुछ बड़े-बड़े पूंजीपतियों व धन्नासेठों की ही हर प्रकार से मदद करने वाला है.

  • Budget 2019: बजट के बाद क्या सस्ता हुआ और किसके बढ़े दाम, यहां पढ़ें पूरी लिस्ट

    Budget 2019: बजट के बाद क्या सस्ता हुआ और किसके बढ़े दाम, यहां पढ़ें पूरी लिस्ट

    दूसरे कार्यकाल के पहले आम बजट में अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए मीडिया, विमानन, बीमा और एकल ब्रांड खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के नियमों को उदार करने का प्रस्ताव किया गया है. बजट में बुनियादी आर्थिक और सामाजिक ढांचा के विस्तार, पेंशन और बीमा योजनाओं को आम लोगों की पहुंच के दायरे में ले जाने के विभिन्न प्रस्ताव किए गए हैं.

  • जब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पलटकर पूछ लिया- 1 करोड़ रुपये कैश में निकाल कर कोई क्या करेगा

    जब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पलटकर पूछ लिया- 1 करोड़ रुपये कैश में निकाल कर कोई क्या करेगा

    बजट पेश करने के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया को सवालों के जवाब दिए. उनसे पूछा गया कि सरकार इतने बड़े बहुमत के साथ आई है लेकिन मीडिल क्लास के उम्मीदों को दरकिनार करते हुए 1 करोड़ रुपये बैंक से निकालने पर 2 फीसदी का टीडीएस लगा दिया साथ ही पेट्रोल-डीजल पर भी एक्साइज ड्यूटी को बढ़ा दिया है. इस पर वित्त मंत्री ने उल्टा सवाल पूछ लिया कि आप 1 करोड़ रुपये कैश निकालकर क्या करोगे मुझे समझ नहीं आ रहा है.

  • Budget 2019: अमीरों पर लगाम, मध्‍यम वर्ग को थोड़ी राहत और गांव-गरीब-महिला पर मेहरबान

    Budget 2019: अमीरों पर लगाम, मध्‍यम वर्ग को थोड़ी राहत और गांव-गरीब-महिला पर मेहरबान

    सरकार ने चालू वित्त वर्ष 2019-20 के लिए राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को घटाकर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 3.3 प्रतिशत कर दिया है. पहले इसके 3.4 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया गया था. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2019-20 का बजट पेश करते हुए कहा कि चालू वित्त वर्ष के लिए राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को 3.3 प्रतिशत किया जा रहा है. सरकार ने फरवरी में 2019-20 का अंतरिम बजट पेश करते हुए राजकोषीय घाटा 3.4 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था.

  • बजट 2019 : प्रचंड बहुमत पाने वाली मोदी सरकार ने आपको क्या दिया, 10 प्वाइंट्स में जानें

    बजट 2019 :  प्रचंड बहुमत पाने वाली मोदी सरकार ने आपको क्या दिया, 10 प्वाइंट्स में जानें

    'गांव, गरीब और किसान' तथा प्रत्येक नागरिक के जीवन को ‘‘अधिक सरल’’ बनाने के लक्ष्य के साथ पेश किए गये नरेन्द्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले आम बजट में अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए मीडिया, विमानन, बीमा और एकल ब्रांड खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के नियमों को उदार करने का प्रस्ताव किया गया है. बजट में बुनियादी आर्थिक और सामाजिक ढांच के विस्तार, पेंशन और वीमा योजाओं को आम लोगों की पहुंच के दायरे में ले जाने के विभिन्न प्रस्ताव किए गए है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुक्रवार को लोकसभा में पेश किए गए वित्त वर्ष 2019-20 के अपने बजट भाषण में कहा कि हालिया चुनाव में एक आकर्षक और मजबूत भारत की उम्मीदें लहरा रही थीं और लोगों ने एक ऐसी सरकार को चुना जिसने काम कर के दिखाया. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) ने अपने पहले कार्यकाल में ‘न्यू इंडिया’ के लिए काम शुरू कर दिया था. अब इन कार्यों की रफ्तार बढ़ाई जाएगी और आगे चलकर लालफीताशाही को और कम किया जाएगा. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने पहले कार्यकाल में काम को पूरा कर के दिखाया. आम चुनाव में मतदाताओं ने काम करने वाली सरकार के पक्ष में मत दिया.

  • बजट 2019: बैंक, स्वास्थ्य, किसान, शिक्षा से जुड़े हुए बड़े ऐलान, पढ़ें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के भाषण की 12 खास बातें

    बजट 2019: बैंक, स्वास्थ्य, किसान, शिक्षा से जुड़े हुए बड़े ऐलान, पढ़ें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के भाषण की 12 खास बातें

    सरकार के प्रत्येक कार्य एवं योजना के केन्द्र में ‘‘गांव, गरीब और किसान’’ होने का दावा करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा कि 2022 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार में बिजली का कनेक्शन और स्वच्छ ईधन आधारित रसोई सुविधा होगी. वित्त मंत्री ने लोकसभा में वित्त वर्ष 2019-20 का आम बजट पेश करते हुए यह बात कही. उन्होंने कहा, ‘‘हम जो भी करते हैं, सरकार के प्रत्येक कार्य एवं प्रत्येक योजना के केन्द्र में गांव, गरीब और किसान होता है.’’ उन्होंने कहा कि जो लोग कनेक्शन नहीं लेना चाहते, उन्हें छोड़कर 2022 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार में बिजली कनेक्शन और स्वच्छ ईधन आधारित रसोई सुविधा होगी. सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तीसरे चरण में 80,250 करोड़ रूपये की अनुमानित लागत से 1,25000 किलोमीटर सड़कें बनाई जाएंगी. वित्त मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत 2019-20 से 2021-22 तक पात्रता रखने वाले लाभार्थियों को 1.95 करोड़ मकान मुहैया कराये जाएंगे. इनमें रसोई गैस, बिजली एवं शौचालयों जैसी सुविधा होगी.

  • केंद्रीय बजट पेश करने वाली दूसरी महिला बनीं निर्मला सीतारमण

    केंद्रीय बजट पेश करने वाली दूसरी महिला बनीं निर्मला सीतारमण

    सीतारमण ने भूरे रंग के ब्रिफकेस की परंपरा से आगे बढ़ते हुए लाल रंग का पार्सलनुमा बैग लिया हुआ था, जिसके ऊपर राष्ट्रीय चिह्न है. सीतारमण से पहले, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी केंद्रीय बजट पेश करने वाली अब तक की और एकमात्र महिला थीं. 1970 में गांधी ने वित्त वर्ष 1970-71 का बजट पेश किया था. सीतारमण ने 1991 में आर्थिक उदारीकरण के बाद 29 वां (अंतरिम बजट को छोड़कर) बजट पेश किया है.

  • बजट 2019 : अमीरों पर नया सरचार्ज, सोना और पेट्रोल-डीजल पर बढ़ी एक्साइज ड्यूटी

    बजट 2019 : अमीरों पर नया सरचार्ज, सोना और पेट्रोल-डीजल पर बढ़ी एक्साइज ड्यूटी

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट भाषण पढ़ रही हैं. अब तक के अपने भाषण में उन्होंने सरकार की योजनाओं के बारे में बताते हुए कई बातों का ऐलान किया है. इससे पहले  उन्होंने एक परंपरा से अलग हटते हुए बजट दस्तावेज को ब्रीफकेस में न लेकर एक लाल रंग के कपड़े में रखा और उसके ऊपर अशोक चिन्ह लगा था. इस पर सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार के. सुब्रमण्यन का कहना है कि वित्त मंत्री ने लाल रंग के कपड़े में बजट दस्तावेज को रखा है. यह एक भारतीय परंपरा है. यह पश्चिमी विचारों की गुलामी से निकलने का प्रतीक है. यह बजट नहीं है, 'बही खाता' है.

  • Budget 2019 Highlights: बजट पेश करते वक्त वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- भारत का कर्ज GDP के 5% से भी कम

    Budget 2019 Highlights: बजट पेश करते वक्त वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- भारत का कर्ज GDP के 5% से भी कम

    बजट में राजकोषीय घाटे को काबू में रखने के साथ आर्थिक वृद्धि तथा रोजगार सृजन को गति देने पर सरकार का जोर रह सकता है. राजकोषीय स्थिति मजबूत करने के लिये कर दायरा बढ़ाने और अनुपालन बेहतर करने के इरादे से 10 करोड़ रुपये से ज्यादा कमाने वालों पर 40 प्रतिशत की एक नई दर से कर लगाया जा सकता है.

  • पीएम मोदी के भाषण से विपक्ष असंतुष्ट, टीएमसी ने कहा- धर्म के नाम पर जो हो रहा, वह संविधान में नहीं

    पीएम मोदी के भाषण से विपक्ष असंतुष्ट,  टीएमसी ने कहा- धर्म के नाम पर जो हो रहा, वह संविधान में नहीं

    संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के जवाब को लेकर तृणमूल कांग्रेस (TMC) और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने NDTV से बातचीत में तीखी प्रतिक्रिया जताई है, वहीं बीजेपी (BJP) ने बचाव किया है. टीएमसी की सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा कि धर्म के नाम पर जो कुछ हो रहा है वह संविधान में नहीं है. सपा के सांसद आजम खान ने कहा है कि चुटकी भर लोगों के सवाल को अल्पसंख्यकों का सवाल नहीं माना जाएगा. बीजेपी की सांसद लॉकेट चटर्जी ने विपक्ष पर बंगाल को पाकिस्तान बनाने का आरोप लगाया है.

  • मिमी चक्रवर्ती ने NDTV से बातचीत में खोला राज- क्यों अचानक राजनीति में आ गईं...

    मिमी चक्रवर्ती ने NDTV से बातचीत में खोला राज- क्यों अचानक राजनीति में आ गईं...

    पहली बार सांसद बनीं तृणमूल कांग्रेस (TMC) की मिमी चक्रवर्ती (Mimi Chakraborty) ने राजनीति में पदार्पण को लेकर NDTV से कहा कि 'दीदी (ममता बनर्जी) ने कहा तो ठीक लगा. मैंने फैमिली से विचार विमर्श किया. दीदी ने मम्मी को आश्वासन दिया कि जो भी होगा अच्छा होगा. हालांकि लोगों ने कहा कि करियर के पीक में यह अच्छा नहीं होगा. लेकिन सोचा यंग जनरेशन भी आगे आए और लोगों के लिए काम करे.'