NDTV Khabar

Bulandshahr mob violence News in Hindi


'Bulandshahr mob violence' - 48 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • बुलंदशहर हिंसा: समीक्षा बैठक में CM योगी का केवल गोकशी पर फोकस, इंस्पेक्टर की मौत पर एक शब्द भी नहीं

    बुलंदशहर हिंसा: समीक्षा बैठक में CM योगी का केवल गोकशी पर फोकस, इंस्पेक्टर की मौत पर एक शब्द भी नहीं

    सीएम योगी का समीक्षा बैठक में पूरा फोकस गोकशी पर रहा. इस दौरान उन्होंने हिंसा में मारे यूपी पुलिस के इस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर एक शब्द भी नहीं बोला. सीएम ने इस घटना पर मुख्य सचिव, डीजीपी, प्रमुख सचिव गृह, अपर पुलिस महानिदेशक इंटेलिजेंस के साथ बैठक की. बैठक के बाद एक प्रेस रिलीज जारी की गई, जिसमें इंस्पेक्टर का कहीं जिक्र नहीं था. न ही इसमें हिंसा और पुलिस सुरक्षा को लेकर किसी तरह की कोई बात कही गई है.

  • बुलंदशहर हिंसा: CM योगी को बड़ी साजिश का शक, गोकशी में शामिल सभी लोगों को अरेस्ट करने के दिए निर्देश

    बुलंदशहर हिंसा: CM योगी को बड़ी साजिश का शक, गोकशी में शामिल सभी लोगों को अरेस्ट करने के दिए निर्देश

    सीएम योगी ने मंगलवार को इस घटना पर मुख्य सचिव, डीजीपी, प्रमुख सचिव गृह, अपर पुलिस महानिदेशक इंटेलिजेंस के साथ बैठक की. बैठक में घटना की समीक्षा कर निर्देश दिए हैं कि इसकी गंभीरता से जांच की जाए और गोकशी में शामिल सभी लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी. साथ ही उन्होंने कहा कि घटना एक बड़ा साजिश का हिस्सा है, इसलिए गोकशी के मामले में प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से शामिल सभी लोगों को समय पर गिरफ्तार किया जाए.

  • बुलंदशहर हिंसा में जान गंवाने वाले इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की पत्नी ने कहा, अगर उन्हें छुट्टी मिल गई होती तो...

    बुलंदशहर हिंसा में जान गंवाने वाले इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की पत्नी ने कहा, अगर उन्हें छुट्टी मिल गई होती तो...

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोकशी के शक में भीड़ की हिंसा (Bulandshahr Violence) ने पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (Subodh Kumar Singh) की जान ले ली. जैसे ही इसकी खबर उनके बेटे को मिली, उसे लगा जैसे उसकी दुनिया ही उजड़ गई हो. सुबोध सिंह के दो बेटों में से एक अभिषेक जिसने हाल ही में 12वीं की परीक्षा दी है, ने कहा कि उसके पिता उसे अक्सर अच्छा नागरिक बनाना चाहते थे.

  • बुलंदशहर हिंसा: पूर्व प्रधान बोले- हम तो मान गए थे पर बजरंग दल वालों ने बरसाए पत्थर, सुनियोजित लगती है घटना

    बुलंदशहर हिंसा: पूर्व प्रधान बोले- हम तो मान गए थे पर बजरंग दल वालों ने बरसाए पत्थर, सुनियोजित लगती है घटना

    सिंह ने बताया, 'हमने ट्रैक्टर हटा लिया था. लेकिन जब हम ट्राली हटाने गए तो पथराव शुरू हो गया. पथराव करने वाले गांव के नहीं थे. मुझे नहीं पता कि इतने पत्थर कहां से आ गए. गांव में तो इतने पत्थर होते नहीं. मैं तो सुलह करवा रहा था. अचानक भीड़ ने पत्थर मारना शुरू कर दिया . ये सब बाहर के लोग थे. जब पत्थर चलने लगे तो हम जान बचा कर भागे. ये लड़का योगेश राज आगे था, इसका हमसे कुछ लेना देना नहीं है. मुझे नहीं पता कि जब पुलिस एफआईआर कर रही थी तो पत्थर क्यों चले? ये सुनियोजित लगता है.'

  • बुलंदशहर हिंसा: जिसके खेत में मिले थे गाय के अवेशष, उसने कहा- हम उन्हें गाड़ रहे थे पर भीड़ नहीं मानी

    बुलंदशहर हिंसा: जिसके खेत में मिले थे गाय के अवेशष, उसने कहा- हम उन्हें गाड़ रहे थे पर भीड़ नहीं मानी

    एनडीटीवी से खेत के मालिक राजकुमर की पत्नी रेनू ने बातचीत की. रेनू का कहना है, 'जब हम कल (तीन दिसंबर) खेत पहुंचे तो हमें वहां गाय के अवशेष मिले. हमने इसके बारे में पुलिस को सूचना दी. तब तक काफी संख्या में गांववाले और भीड़ हमारे खेत में पहुंच चुकी थी. इसके बाद हमने अवशेष खेत में गाड़ने का फैसला किया, लेकिन भीड़ नहीं मानी.'

  • बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर के बेटे ने कहा- हिंदू-मुस्लिम के झगड़े में आज मेरे पिता गए, कल किसके पिता?'

    बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर के बेटे ने कहा- हिंदू-मुस्लिम के झगड़े में आज मेरे पिता गए, कल किसके पिता?'

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोकशी के शक में भीड़ की हिंसा ने पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की जान ले ली. जैसे ही इसकी खबर उनके बेटे को मिली, उसे लगा जैसे उसकी सारी दुनिया ही उजड़ गई हो. सुबोध सिंह के दो बेटों में से एक अभिषेक जिसने हाल ही में 12वीं की परीक्षा दी है, ने कहा कि उसके पिता उसे अक्सर अच्छा नागरिक बनाना चाहते थे. बता दें कि इस मामले में अब तक चार लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. चार-पांच लोग हिरासत में हैं. मुख्य आरोपी योगेश राज अब भी फ़रार है. भीड़ की हिंसा के मामले में 27 लोगों को नामज़द किया गया है. इन पर 17 धाराओं में मुक़दमा दर्ज किया गया है. 50-60 अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ भी मामला दर्ज किया है.पुलिस की छह टीमें कई जगहों पर छापेमारी कर रही हैं. 

  • बुलंदशहर हिंसा इनसाइड स्टोरी: आखिर क्या हुआ था उस दिन कि हैवान भीड़ ने ले ली दो की जान

    बुलंदशहर हिंसा इनसाइड स्टोरी: आखिर क्या हुआ था उस दिन कि हैवान भीड़ ने ले ली दो की जान

    पुलिस ने 27 लोगों को नामजद किया है, जबकि 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है और करीब चार लोगों को अपनी हिरासत में लिया है. पुलिस ने अपनी एफआईआर में बताया कि गोकशी की सूचना मिलने पर पुलिस वहां गई थी, लेकिन वहां हिंसक भीड़ ने उन्हीं पर हमला कर दिया. पुलिस अपनी जान बचाने के लिए पीछे हटती रही, लेकिन भीड़ इतनी उग्र थी कि वह 'मारो-मारो' के नारे के साथ हम पर हमला करती रही. हम आपको बताते हैं कि आखिर उस दिन हुआ क्या था कि भीड़ इतनी उग्र हो गई.

  • बुलंदशहर भीड़ हिंसा: 'हम पीछे हटते रहे, भीड़ 'मारो-मारो' के नारे के साथ करती रही हमला, ऐसे ले ली जांबाज इंस्पेक्टर की जान'

    बुलंदशहर भीड़ हिंसा: 'हम पीछे हटते रहे, भीड़ 'मारो-मारो' के नारे के साथ करती रही हमला, ऐसे ले ली जांबाज इंस्पेक्टर की जान'

    इस मामले में पुलिस ने जिस योगेश राज को मुख्य आरोपी बनाया है, बताया जा रहा है कि उसका संबंध बजरंग दल से है. मामले में योगेश राज के साथ-साथ करीब 80 से 90 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. इनमें से 27 लोग नामजद हैं, वहीं 50 से 60 लोग अज्ञात हैं. भीड़ की हिंसा मामले में पुलिस ने अभी तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया है और 4 को हिरासत में लिया है. 

  • बुलंदशहर भीड़ हिंसा अपडेट: पुलिस ऑफिसर की हत्या मामले में गोकशी का शिकायतकर्ता ही है मुख्य आरोपी

    बुलंदशहर भीड़ हिंसा अपडेट: पुलिस ऑफिसर की हत्या मामले में गोकशी का शिकायतकर्ता ही है मुख्य आरोपी

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोकशी की ख़बर पर भीड़ की हिंसा के मामले में 27 लोगों को नामज़द किया गया है. इन पर 17 धाराओं में मुक़दमा दर्ज किया गया है. योगेशराज मुख्य आरोपी है जो कि गोकशी मामले में शिक़ायतकर्ता भी है. 50-60 अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ भी मामला दर्ज किया है. इस मामले में 4 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है. दरअसल, इस हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक आम नागरिक की मौत हो गई. इतना ही नहीं, उग्र भीड़ ने पुलिस चौकी फूंक दी, दर्जनों गाड़ियां जला दी. हिंसक भीड़ मृतक इंस्पेक्टर का सरकारी पिस्टल और मोबाइल भी लूट कर ले गई. 

  • बुलंदशहर भीड़ हिंसा: पुलिस की FIR में 27 नामजद, 50-60 अज्ञात पर भी मुकदमा दर्ज, अब तक 4 गिरफ्तार

    बुलंदशहर भीड़ हिंसा:  पुलिस की FIR में 27 नामजद, 50-60 अज्ञात पर भी मुकदमा दर्ज, अब तक 4 गिरफ्तार

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr) में गोकशी के शक में हिंसा ऐसी भड़की तीन गांवों की भीड़ जान लेने पर उतारू हो गई. गोकशी के शक के बाद भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (Subodh Kumar Singh) और एक आम नागरिक की मौत हो गई. इतना ही नहीं, उपद्रवियों ने पुलिस चौकी फूंक दी और दर्जनों वाहनों को आग के हवाले कर दिया. हालांकि, अब इस मामले में जो एफआईआर दर्ज कराई गई है, उसके मुताबिक, इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या यानी भीड़ की हिंसा के मामले में योगेश राज को मुख्य आरोपी बनाया गया है. बुलंदशहर हिंसा में योगेशराज मुख्य आरोपी है और यही गौकशी मामले का शिक़ायतकर्ता भी है. बताया जा रहा है कि योगेशराज का संबंध बजरंग दल से है. 

  • बुलंदशहर में गोकशी के नाम पर 'खूनी खेल', जांबाज इंस्पेक्टर का 'दादरी कनेक्शन', 10 प्वाइंट में जानें पूरी स्टोरी

    बुलंदशहर में गोकशी के नाम पर 'खूनी खेल', जांबाज इंस्पेक्टर का 'दादरी कनेक्शन', 10 प्वाइंट में जानें पूरी स्टोरी

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले (Bulandshahr) में गोकशी के संदेह में भड़की हिंसा की आग में दो जिंदगियां बर्बाद हो गईं. गोकशी के शक के बाद भड़की हिंसा में भीड़ ने ऐसा बवाल काटा कि इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (Subodh Kumar Singh) और एक आम नागरिक की मौत हो गई. इतना ही नहीं, उपद्रवियों ने पुलिस चौकी फूंक दी और दर्जनों वाहनों को आग के हवाले कर दिया. बुलंदशहर हिंसा में तनाव के मद्देनजर जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है. वहीं, शहीद इंस्पेक्टर को आज 10 बजे पुलिस लाइन में अंतिम सलामी दी जाएगी. श्रधांजलि के बाद पार्थिव शरीर को पैतृक घर एटा जिले के तरगवां गांव ले जाया जाएगा. प्रदेश सरकार ने इस मामले की जांच एडीजी इंटेलीजेंस को सौंपी है जो 48 घंटे के अंदर रिपोर्ट देंगे. इसके साथ ही मेरठ रेंज के महानिरीक्षक की अध्यक्षता में एक एसआईटी का भी गठन किया है. मुख्यमंत्री ने इस पूरे मामले पर दुख व्यक्त किया है. चलिए जानते हैं इस हिंसा मामले से जुड़ी अहम बातें....

  • अखलाक हत्याकांड में जांच अधिकारी रहे थे बुलंदशहर में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह, बीच में हो गया था ट्रांसफर

    अखलाक हत्याकांड में जांच अधिकारी रहे थे बुलंदशहर में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह, बीच में हो गया था ट्रांसफर

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr) में गोकशी के आरोपों के बाद भड़की हिंसा में जान गंवाने वाले इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (Subodh Kumar Singh)  दादरी के अखलाक हत्याकांड में जांच अधिकारी भी रहे थे. उन्होंने 28 सितम्बर 2015 से 9 नवम्बर 2015 तक मामले की जांच की थी. हालांकि जांच के दौरान ही उनका वाराणसी तबादला कर दिया गया था.

«123

Advertisement

 

Bulandshahr mob violence वीडियो

Bulandshahr mob violence से जुड़े अन्य वीडियो »