NDTV Khabar

Captain amarinder singh


'Captain amarinder singh' - 58 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Lok Sabha Election में टिकट नहीं दिए जाने के पत्नी के दावे पर सिद्धू ने कहा- मेरी पत्नी कभी झूठ नहीं बोलेंगी

    Lok Sabha Election में टिकट नहीं दिए जाने के पत्नी के दावे पर सिद्धू ने कहा- मेरी पत्नी कभी झूठ नहीं बोलेंगी

    Lok Sabha Election 2019: नवजोत कौर सिद्धू ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता आशा कुमारी पर अमृतसर से लोकसभा टिकट नहीं दिए जाने का आरोप लगा कर विवाद खड़ा कर दिया था. पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू से जब उनकी पत्नी के आरोपों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मेरी पत्नी नैतिक रूप से इतनी मजबूत हैं कि वह कभी झूठ नहीं बोलेंगी.

  • क्या अब भी नाराज हैं सिद्धू? पंजाब में कांग्रेस कितनी सीटें जीतेंगी के सवाल पर बोले- मुझसे क्यों पूछते हो कैप्टन से पूछो...

    क्या अब भी नाराज हैं सिद्धू? पंजाब में कांग्रेस कितनी सीटें जीतेंगी के सवाल पर बोले- मुझसे क्यों पूछते हो कैप्टन से पूछो...

    कांग्रेस के स्टार प्रचारक और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने वोकल कॉर्ड में ख़राबी की शिकायत करते हुए प्रचार से दूरी बना ली है. बाक़ी के राज्यों में पार्टी का प्रचार करने के बाद सिद्धू कल पंजाब में राहुल गांधी की रैली से दूर रहे. NDTV ने जब नवजोत सिंह सिद्धू से पूछा कि पंजाब में कांग्रेस कितनी सीटें जीतेंगी तो उनका जबाब था कि मुझसे क्यों पूछते हैं, कैप्टन से पूछिए. तो क्या सिद्धू नाराज चल रहे हैं.

  • सऊदी अरब में दो पंजाबियों का काटा सिर, खबर सुनकर भड़के सीएम अमरिंदर

    सऊदी अरब में दो पंजाबियों का काटा सिर, खबर सुनकर भड़के सीएम अमरिंदर

    पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सऊदी अरब में हाल ही में दो पंजाबियों का सिर काटे जाने की घटना को बुधवार को ‘‘बर्बर और अमानवीय’’ बताते हुए गहरी नाराजगी जाहिर की है. Two Punjabi men beheaded in Saudi Arabia Punjab CM Captain Amarinder Singh condemns

  • पंजाब के सीएम अमरिंदर ने करतारपुर गलियारे के लिए पासपोर्ट, वीजा-मुक्त यात्रा की मांग की

    पंजाब के सीएम अमरिंदर ने करतारपुर गलियारे के लिए पासपोर्ट, वीजा-मुक्त यात्रा की मांग की

    पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने रविवार को करतारपुर गलियारे के शीघ्र निर्माण के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय के फैसले का स्वागत किया. अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान के साथ अंतर्राष्ट्रीय सीमा पार कर ऐतिहासिक गुरुद्वारे के दर्शन के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट व वीजा-मुक्त 'खुले दर्शन' की भी मांग की. मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा, "श्री गुरुनानक देव जी की 550वीं जयंती के मौके पर सिख श्रद्धालुओं को पाकिस्तान में ऐतिहासिक गुरुद्वारे के दर्शन के लिए करतारपुर गलियारे के शीघ्र निर्माण के गृहमंत्रालय के फैसला का स्वागत है. मैं परियोजना के लिए अपनी सरकार की ओर से पूरा समर्थन देता हूं."

  • गुमनामी की जिंदगी जी रहा ये बॉलीवुड एक्टर, बुरे हालात से उबारने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री आगे आए

    गुमनामी की जिंदगी जी रहा ये बॉलीवुड एक्टर, बुरे हालात से उबारने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री आगे आए

    सतीश कौल (Satish Kaul) ने लुधियाना में एक्टिंग स्कूल खोला था, लेकिन वह चल नहीं सका और उनके आर्थिक हालात बिगड़ गए. इस बीच उनकी पत्नी ने तलाक दे दिया और बेटा अमेरिका चला गया. इसके साथ ही उन्होंने सबसे खुद को अलग कर लिया.

  • अमरिंदर सिंह ने करतारपुर कॉरिडोर को ISI और पाकिस्तानी सेना की साजिश बताया, सिद्धू के लिए कही यह बात...

    अमरिंदर सिंह ने करतारपुर कॉरिडोर को ISI और पाकिस्तानी सेना की साजिश बताया, सिद्धू के लिए कही यह बात...

    पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने करतारपुर गलियारे (Kartarpur corridor) को पाकिस्तानी सेना की साजिश करार दिया. अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने दावा किया कि पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा (General Qamar Javed Bajwa) ने इमरान खान (Imran Khan) के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने से पहले ही नवजोत सिंह सिद्धू के समक्ष करतारपुर गलियारा खोले जाने की खबरों का खुलासा कर दिया था. अमरिंदर ने इस पूरे मामले को पाकिस्तानी सेना द्वारा रची गई एक 'बड़ी साजिश' करार दिया. मुख्यमंत्री ने कहा, 'करतारपुर गलियारा स्पष्ट रूप से आईएसआई का एक गेम प्लान है.'

  • कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले, सिद्धू से कोई टकराव नहीं, लेकिन उनके साथ यह है दिक्कत...

    कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले, सिद्धू से कोई टकराव नहीं, लेकिन उनके साथ यह है दिक्कत...

    पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh ) नवजोत सिंह सिद्धू  (Navjot Singh Sidhu) से तनातनी की खबरों के बीच पहली बार इस मसले पर खुलकर बोले. उन्होंने कहा, ''मेरे और सिद्धू के बीच टकराव जैसी कोई बात नहीं है, जैसा कि मीडिया रिपोर्ट कर रहा है. साथ ही सिद्धू की वजह से मुझे सरकार चलाने में भी कोई दिक्कत नहीं है. सिद्धू हमेशा स्पष्ट बोलते हैं.

  • सिद्धू की पत्नी के खिलाफ बिहार में मामला दायर, रेलवे और पंजाब सरकार को NHRC का नोटिस

    सिद्धू की पत्नी के खिलाफ बिहार में मामला दायर, रेलवे और पंजाब सरकार को NHRC का नोटिस

    बिहार के मुजफ्फरपुर की एक अदालत में अमृतसर हादसे को लेकर कार्यक्रम की मुख्य अतिथि नवजोत कौर सिद्धू के खिलाफ मामला दायर किया गया है. वहीं, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने रेलवे और पंजाब सरकार को नोटिस जारी किया है. अमृतसर में दशहरा के दिन रावण दहन के दौरान करीब 60 लोगों की मौत ट्रेन की चपेट में आने से हो गई थी. मृतकों में बिहार के प्रवासी भी शामिल थे. सिद्धू के बचाव में कांग्रेस सांसद सुनील जाखड़ और पंजाब के मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा आगे आए और उन्होंने घटना के लिए रेल अधिकारियों को दोषी ठहराने का प्रयास किया.

  • अमृतसर ट्रेन हादसा: रावण दहन के आयोजक सौरभ मदान मिट्ठू का VIDEO आया सामने, कही यह बात...

    अमृतसर ट्रेन हादसा: रावण दहन के आयोजक सौरभ मदान मिट्ठू का VIDEO आया सामने, कही यह बात...

    पंजाब के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरा के दिन ट्रेन हादसे ने खुशी के पल को ऐसे मातम में बदल दिया कि पल भर में 61 जिंदगियां काल के गाल में समा गईं. दरअसल, रावण दहन को देखने के लिए लोग पटरियों पर खड़े थे, तभी ट्रेन गुजरी और उसकी चपेट में आने से 61 लोगों की मौत हो गई और 100 से अधिक लोग घायल हो गए. हादसे के बाद आरोप- प्रत्यारोप का दौर जारी है और पुलिस को रामलीला के आयोजक और कांग्रेस नेता के बेटे सौरभ मदान मिट्ठू की तलाश जारी है, जो घटना के बाद से फरार बताया जा रहा है. इस बीच सौरभ मदान मिट्ठू ने एक वीडियो जारी कर खुद को निर्दोष बताया है. वीडियो में सौरभ मदान ने कहा कि यह एक बेहद दुखद घटना है. मुझे इसके लिए दर्द है. मैं इस घटना से बेहद दुखी हूं. मैं यह बयान नहीं कर सकता कि मेरा क्या हाल है. मैंने सभी को एक साथ लाने के लिए दशहरा उत्सव का आयोजन किया था. मैंने आयोजन के लिए जरूरी सभी अनुमति ली थी. मेरी तरफ से कोई प्रयास नहीं बचा था. 

  • Exclusive: 'मैडम, 500 ट्रेन गुजर जाए, तब भी 5000 लोग ट्रैक पर खड़े रहेंगे', जानिये इसके बारे में क्या कहा नवजोत कौर ने...

    Exclusive: 'मैडम, 500 ट्रेन गुजर जाए, तब भी 5000 लोग ट्रैक पर खड़े रहेंगे', जानिये इसके बारे में क्या कहा नवजोत कौर ने...

    पंजाब के अमृतसर (Amritsar Train Accident) में दशहरा के दिन एक ट्रेन हादसे ने खुशी के पल को ऐसे मातम में बदला कि पल भर में 61 जिंदगियां काल के गाल में समा गईं. दरअसल, रावण दहन को देखने के लिए लोग पटरियों पर खड़े थे, तभी ट्रेन गुजरी और उसकी चपेट में आने से इतने सारे लोग मर गये. हालांकि, इस हादसे के बाद आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. दशहरा कार्यक्रम की मुख्य अतिथि और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर पर भी आरोप लगे कि उन्होंने हादसे के बाद लोगों की मदद करने के बजाय वहां से भाग गईं. नवजोत कौर से जब NDTV संवाददाता ने इस बारे में विस्तार से बात की. नवजोत कौर ने बताया कि मैं वहां से तुरंत इसलिए निकल गई थी, क्योंकि मुझे दूसरे प्रोग्राम में जाना था. लोग मेरे साथ सेल्फी ले रहे थे. मुझे हादसे का पता होता तो मैं सेल्फी नहीं देती. उन्होंने कहा कि मैं आयोजन में सिर्फ 10 मिनट की देरी से पहुंची थी. मुझे 6:30 बजे का समय दिया गया था, मैं सिर्फ 10 मिनट देरी से पहुंची थी.

  • अमृतसर ट्रेन हादसा: CCTV में देखें कैसे हादसे के बाद फरार हुआ रावण दहन का आयोजक सौरभ मदान

    अमृतसर ट्रेन हादसा: CCTV में देखें कैसे हादसे के बाद फरार हुआ रावण दहन का आयोजक सौरभ मदान

    पंजाब के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरा के दिन एक ट्रेन हादसे ने खुशी के पल को ऐसे मातम में बदला कि 61 जिंदगियां काल के गाल में समा गईं. दरअसल, रावण दहन को देखने के लिए लोग पटरियों की ट्रैक पर खड़े थे , तभी ट्रेन गुजरी और उसकी चपेट में आने से इतने सारे लोग मर गये. हालांकि, इस हादसे के बाद आरोप- प्रत्यारोप का दौर जारी है. पुलिस को रामलीला के आयोजक की तलाश अब भी जारी है, जो घटना के बाद से फरार बताया जा रहा है. पुलिस की मानें तो घटना के बाद से कांग्रेस नेता का बेटा अमृतसर के जोड़ा फाटक में रामलीला का आयोजक सौरभ मदान मिट्ठू फरार है. मगर अब एनडीटीवी को जो सीसीटीवी फुटेज मिला है, उसमें दिख रहा है कि अमृतसर हादसे के तुरंत बाद सौरभ मदान गाड़ी में बैठकर भाग जाता है. बता दें कि शुक्रवार को दशहरा के दिन अमृतसर में जोड़ा फाटक के पास रावण दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से 61 लोगों की मौत हो गई और 50 से अधिक घायल हो गये. 

  • अमृतसर ट्रेन हादसा: 'रावण दहन' के आयोजक के घर पर पथराव, प्रशासन पर फूटा लोगों का गुस्सा

    अमृतसर ट्रेन हादसा: 'रावण दहन' के आयोजक के घर पर पथराव, प्रशासन पर फूटा लोगों का गुस्सा

    पंजाब के अमृतसर में हुए रेल हादसे के बाद से स्थानीय लोगों का गुस्सा लगातार फूट रहा है. अमृसर ट्रेन हादसे में सुरक्षा व्यवस्थआ में पुलिस की खामियों को लेकर यहां के स्थानीय लोग आक्रोशित हैं और वे लोग घटना स्थल पर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. इतना ही नहीं, शनिवार की रात को भी इनका प्रदर्शन जारी रहा. बताया जा रहा है कि रविवार को भी ये लोग बड़ी संख्या में घटनास्थल यानी की रेलवे ट्रैक के पास जमा हैं. इनका कहना है कि सरकार लोगों की मौत के आंकड़े को कम बता रही है. साथ ही मामले में कार्रवाई करने में देरी की जी रही है. इसके अलावा रावण दहन के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में पुलिस की खामियों को लेकर भी लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है. बताया जा रहा है कि घटनास्थल और आसपास के इलाके में तनाव की स्थिति है. यही वजह है कि भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है.

  • अमृतसर ट्रेन हादसा: अब भी अपनों के इंतजार में है 10 माह का मासूम, अस्पताल ने हेल्पलाइन नंबर जारी कर मांगी मदद

    अमृतसर ट्रेन हादसा: अब भी अपनों के इंतजार में है 10 माह का मासूम, अस्पताल ने हेल्पलाइन नंबर जारी कर मांगी मदद

    पंजाब के अमृतसर में रावण दहन के दौरान हुए ट्रेन हादसे से अब भी लोग नहीं उबर पाए हैं. अमृतसर ट्रेन हादसे में 61 लोगों की जान चली गई और कुछ लोग अपनों से बिछड़ भी गए. एक ओर जहां, अभी भी ऐसे कई परिवार अथवा लोग हैं, जिन्हें अपनों का इंतजार है और वहीं, हादसे में घायल मिला एक बच्चा ऐसा भी है, जिसे अब तक उनके अपने लेने नहीं आए हैं. दरअसल, रावण दहन के दौरान अमृतसर ट्रेन हादसे में घायलों में एक ऐसा बच्चा भी है, जिसे लेने के लिए अभी तक उसका परिवार सामने नहीं आया है. बता दें कि दशहरा के दिन रावण दहन देखने के दौरान लोग ट्रैक पर खड़े थे और ट्रेन आई और उन्हें कुचलती हुई चली गई. इस घटना में अब तक 61 की मौत हुई है और 50 से अधिक घायल हैं.

  • Amritsar Train Accident: 61 लोगों की मौत का कोई जिम्मेदार नहीं? हर किसी ने झाड़ा पल्ला

    Amritsar Train Accident: 61 लोगों की मौत का कोई जिम्मेदार नहीं? हर किसी ने झाड़ा पल्ला

    पंजाब के अमृतसर शहर (Amritsar train accident) में दशहरा के दिन एक ट्रेन हादसे ने खुशी के पल को पूरी तरह से मातम में बदल दिया. अमृतसर के जोड़ा फाटक के पास दशहरे के दिन (Dussehra 2018) रावण दहन देखने के दौरान हुए अमृतसर ट्रेन हादसे (Train accident in Amritsar) में 61 लोगों की जान चली गई और 50 से अधिक लोग घायल हो गये, मगर आश्चर्य है कि इस बड़ी त्रासदी की जिम्मेवारी लेने वाला कोई नहीं है. राज्य सरकार से लेकर रेलवे तक हर कोई इस घटना से पल्ला झाड़ने में लगा है. पुलिस कभी आयोजकों को जिम्मेदार मान रही है तो कभी आयोजक पुलिस को. हालांकि, सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने न्यायिक जांज के आदेश दे दिए हैं, जिसकी रिपोर्ट चार हफ्ते में मिल जाएगी. तो चलिए जानते हैं कि कौन क्या कह कर इस  पूरे मामले से अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश में है.

  • अमृतसर ट्रेन हादसे में खुलासा: पुलिस ने दी थी 'रावण दहन' कार्यक्रम के लिए NOC, जानें घटना से जुड़ी 10 बातें

    अमृतसर ट्रेन हादसे में खुलासा: पुलिस ने दी थी 'रावण दहन' कार्यक्रम के लिए NOC, जानें घटना से जुड़ी 10 बातें

    पंजाब के अमृतसर शहर (Amritsar train accident) में एक ट्रेन हादसे ने खुशी के पल को पूरी तरह से मातम में बदल दिया. ट्रेन हादसा भले ही अमृतसर में हुआ, मगर इसके शोक पूरा देश डूब गया. दरअसल, अमृतसर शहर (Amritsar train accident) के जोड़ा फाटक इलाके में दशहरे (Dussehra 2018) के दौरान हुए अमृतसर ट्रेन हादसे (Train accident in Amritsar) में एक नया खुलासा सामने आया है. ट्रेन हादसे में आरोप-प्रत्यारोप के दौर के बीच पुलिस ने स्वीकार किया कि उसने आयोजकों को अनापत्ति प्रमाण पत्र दिया था लेकिन कहा कि कार्यक्रम के लिये नगर निगम की भी मंजूरी की जरूरत थी. इस बीच सामने आए एक खत से संकेत मिले हैं कि आयोजकों - स्थानीय कांग्रेस पार्षद के परिवार ने कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा इंतजाम की भी मांग की थी जहां पंजाब के मंत्री नवजोत सिद्धु और उनकी पूर्व विधायक पत्नी नवजोत कौर सिद्धु के आने की उम्मीद थी. प्रत्यक्षदर्शियों ने हालांकि शिकायत की कि जोड़ा फाटक के पास पटरियों के साथ लगे मैदान में लोगों की सुरक्षा के लिये इंतजाम पर्याप्त नहीं थे. दरअसल, दशहरा के दिन रावण देखने आए लोग ट्रैक पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे, तभी ट्रेन से कटकर करीब 61 लोगों की मौत हो गई और पचास से अधिक घायल हो गये. हालांकि, इस घटना की न्यायिक जांच के आदेश दे दिये गए हैं.

  • Amritsar Train Accident: पटरी पर रेलवे के इतिहास का सबसे बड़ा हादसा, जानिये कब और कहां कितने लोगों ने गंवाई जान...

    Amritsar Train Accident: पटरी पर रेलवे के इतिहास का सबसे बड़ा हादसा, जानिये कब और कहां कितने लोगों ने गंवाई जान...

    पंजाब के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरे के दिन रावण दहन देखने आए लोगों के लिए किसी खौफनाक दिन से कम नहीं रहा. शुक्रवार की शाम रावन दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से अब तक 61 लोगों की मौत हो गई है और 100 से अधिक लोग घायल हैं, जिनमें कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है. दरअसल, अमृतसर के जोड़ा फाटक के पास शुक्रवार की शाम दशहरा (dussehra 2018) के मौके पर रावण दहन देखने के लिए बड़ी संख्या में भीड़ उमड़ी थी. लोग रेल की पटरियों पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे, तभी अचानक तेज रफ्तार में ट्रेन आई और सैकड़ों लोगों को कुचलती हुई चली गई. ट्रेन जालंधर से अमृतसर आ रही थी तभी जोड़ा फाटक पर यह हादसा हुआ. बता दें कि रेल पटरी पर होने वाला यह हादसा रेलवे के इतिहास की सबसे भीषण दुर्घटनाओं में शामिल हो गई है.  

  • Amritsar train accident: 32 सेकेंड तक 'मौत का तांडव, VIDEO में देखें जब लोगों को कुचल कर निकल गई ट्रेन

    Amritsar train accident: 32 सेकेंड तक 'मौत का तांडव, VIDEO में देखें जब लोगों को कुचल कर निकल गई ट्रेन

    पंजाब के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरे के दिन रावण दहन देखने आए लोगों के लिए किसी खौफनाक दिन से कम नहीं रहा और अमृतसर ट्रेन हादसे ने देखते ही देखते पल भर में खुशियों के पल को मातम में बदल दिया. दरअसल, अमृतसर में जोड़ा फाटक के पास शुक्रवार की शाम रावन दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से 59 लोगों की मौत हो गई है और 50 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं, जिनमें कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है.

  • Amritsar train accident: हादसे की होगी न्यायिक जांच, CM अमरिंदर बोले- 4 हफ्ते में जांच रिपोर्ट मांगी

    Amritsar train accident: हादसे की होगी न्यायिक जांच, CM अमरिंदर बोले- 4 हफ्ते में जांच रिपोर्ट मांगी

    पंजाब (Punjab Train Mishap) के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरे के दिन रावण दहन के दौरान 59 लोगों की मौत के मामले पर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने दुख जताया है. घटना के एक दिन बाद शनिवार को अमृतसर पहुंच कर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और इस मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए. बता दें कि अमृतसर में शुक्रवार की शाम रावन दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से 59 लोगों की मौत हो गई है और 50 से ज़्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं, जिनमें कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है. 

Advertisement