NDTV Khabar

Cbi investigations News in Hindi


'Cbi investigations' - 80 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Congress Protest Live Updates: गिरफ्तारी देने पहुंचे राहुल गांधी लोधी रोड थाने से निकले, CBI दफ्तरों पर कांग्रेस का 'हल्ला-बोल'

    Congress Protest Live Updates: गिरफ्तारी देने पहुंचे राहुल गांधी लोधी रोड थाने से निकले, CBI दफ्तरों पर कांग्रेस का 'हल्ला-बोल'

    केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के निदेशक आलोक वर्मा  (Alok Verma) को छुट्टी पर भेजने के मोदी सरकार के आदेश के खिलाफ कांग्रेस का आज यानी शुक्रवार को पूरे देश भर में हल्ला बोल होगा. दरअसल, सीबीआई में छिड़ी जंग के बाद आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के बीच का विवाद खुलकर सामने आ गया, जिसके बाद केंद्र सरकार ने दोनों को छुट्टी पर भेज दिया, इसके खिलाफ में शुक्रवार को दिल्ली में सीबीआई मुख्यालय व राज्यों की राजधानियों में सीबीआई के कार्यालयों के सामने कांग्रेस धरना- प्रदर्शन करेगी.

  • CBI vs CBI: आलोक वर्मा की याचिका पर बोले CJI-सीबीआई के अंतरिम चीफ नहीं लेंगे कोई नीतिगत फैसला, 10 बातें

    CBI vs CBI: आलोक वर्मा की याचिका पर बोले CJI-सीबीआई के अंतरिम चीफ नहीं लेंगे कोई नीतिगत फैसला, 10 बातें

    सीबीआई (CBI vs CBI) में छिड़ी जंग के बीच आज यानी शुक्रवार को सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा (Alok Verma) की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई हुई. सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के बीच आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला जब सार्वजनिक हो गया, तब केंद्र सरकार ने दोनों को छुट्टी पर भेज दिया. मगर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो के निदेशक आलोक कुमार वर्मा को अधिकार वापस लेकर उन्हें छुट्टी पर भेजे जाने के खिलाफ उनकी याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की और सीवीसी जांच के लिए महज दो सप्ताह का वक्त दिया. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने आलोक वर्मा की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि दो सप्ताह के भीतर सीवीसी जांच पूरी हो जानी चाहिए. साथ ही इसकी रिपोर्ट सीलबंद लिफाफे में केंद्र को देना होगा. दरअसल, आलोक वर्मा ने अपनी याचिका में केंद्र की ओर से उन्हें छुट्टी पर भेजे जाने तथा अंतरिम प्रभार 1986 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के ओडिशा कैडर के अधिकारी तथा एजेंसी के संयुक्त निदेशक एम नागेश्वर राव को सौंपे जाने के फैसले पर रोक लगाने की मांग की है.

  • CBI चीफ आलोक वर्मा पर नजर रखने वाले IB के चारों अफसरों को दिल्ली पुलिस ने पूछताछ के बाद छोड़ा

    CBI चीफ आलोक वर्मा पर नजर रखने वाले IB के चारों अफसरों को दिल्ली पुलिस ने पूछताछ के बाद छोड़ा

    सीबीआई (CBI vs CBI) में छिड़ी जंग के बीच गुरुवार को सीबीआई डायरेक्टर अालोक वर्मा (Alok Verma) के घर के पास से दो संदिग्ध को गिरफ्तार किया गया है. इन दोनों को आलोक वर्मा के पीएसओ ने पकड़ा है और घर के अंदर ले गए हैं. शक है कि वे संदिग्ध हैं और ये दोनों आलोक वर्मा पर नजर बनाए हुए थे. फ़िलहाल पुलिस को बुलाया गया है अंदर पूछताछ जारी है.

  • CBI चीफ आलोक वर्मा पर IB की जासूसी? घर के बाहर अफसरों के साथ बर्ताव पर IB बेहद नाराज: सूत्र

    CBI चीफ आलोक वर्मा पर IB की जासूसी? घर के बाहर अफसरों के साथ बर्ताव पर IB बेहद नाराज: सूत्र

    सीबीआई डायरेक्टर अालोक वर्मा के घर के पास से चार लोगों को इनके पीएसओ ने पकड़ा है और घर के अंदर ले गए हैं. शक है कि वे संदिग्ध हैं और नजर बनाए हुए थे. फ़िलहाल पुलिस को बुलाया गया है अंदर पूछताछ जारी है.

  • यशवंत सिन्हा का फिर मोदी सरकार पर हमला: CBI ड्रामा के पीछे राफेल की जांच से बचने का सरकार का प्रयास

    यशवंत सिन्हा का फिर मोदी सरकार पर हमला: CBI ड्रामा के पीछे राफेल की जांच से बचने का सरकार का प्रयास

    सीबीआई में चल रही जंग को लेकर मोदी सरकार बैकफुट पर नजर आ रही है. विपक्षी पार्टियां लगातार मोदी सरकार पर हमला बोल रही है और सीबीआई के डायरेक्टर आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने को लेकर कई तरह के सवाल दाग रही हैं. इसी बीच सीबीआई बनाम सीबीआई मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा भी कूद पड़े हैं. यशवंत सिन्हा ने बुधवार को आरोप लगाया कि सीबीआई में चल रहे उथल-पुथल के पीछे राफेल सौदे की जांच से बचने के मोदी सरकार के प्रयास हैं. 

  • CBI में घूसकांड: पीएम नरेंद्र मोदी के पुराने ट्वीट को अरविंद केजरीवाल ने रीट्वीट कर यूं घेरा

    CBI में घूसकांड: पीएम नरेंद्र मोदी के पुराने ट्वीट को अरविंद केजरीवाल ने रीट्वीट कर यूं घेरा

    सीबीआई बनाम सीबीआई मामले में सरकार ने जैसे ही सीबीआई के डायरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेजा, वैसे ही विपक्षी पार्टियों ने सरकार पर हमला बोलना शुरू कर दिया. सीबीआई में जारी जंग का मामला आलोक वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा दिया है और केंद्र सरकार के फैसले को चुनौती दी है. वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सीबीआई की आंतरिक कलह के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को घेरने के वास्ते 2013 के उनके एक ट्वीट को रीट्वीट किया जिसमें मोदी ने तत्कालीन संप्रग सरकार पर देश के खुफिया तंत्र को कथित तौर पर कमजोर करने का आरोप लगाया था. बता दें कि सरकार ने सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने के चलते बुधवार को छुट्टी पर भेज दिया.

  • CBI में घूसकांड: CBI में रार से पक्ष-विपक्ष में तकरार, आलोक वर्मा की याचिका और विपक्षी हमले की 5-5 बातें

    CBI में घूसकांड: CBI में रार से पक्ष-विपक्ष में तकरार, आलोक वर्मा की याचिका और विपक्षी हमले की 5-5 बातें

    सीबीआई बनाम सीबीआई मामले में डायरेक्टर आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने को लेकर घमासान जारी है. सीबीआई के भीतर जारी जंग ने अब सियासी रूप भी अख्तियार कर लिया है और इस मामले को लेकर कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार पर हमलावर है. इतना ही नहीं, खुद आलोक वर्मा ने उन्हें छुट्टी पर भेजे जाने के केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. जिसकी सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार हो गया है और शुक्रवार को मामले की सुनवाई होगी.

  • जब संविधान की धज्जियां उड़ती हैं, तब रात को जूते की टाप सुनाई देती है

    जब संविधान की धज्जियां उड़ती हैं, तब रात को जूते की टाप सुनाई देती है

    जब भारत की जनता गहरी नींद में सो रही थी, तब दिल्ली पुलिस के जवान अपने जूते की लेस बांध रहे थे. बेख़बर जनता को होश ही नहीं रहा कि पुलिस के जवानों के जूते सीबीआई मुख्यालय के बाहर तैनात होते हुए शोर मचा रहे हैं. लोकतंत्र को कुचलने में जूतों का बहुत योगदान है. जब संविधान की धज्जियां उड़ती हैं, तब रात को जूते बांधे जाते हैं.

  • राफेल सौदा : यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और प्रशांत भूषण सुप्रीम कोर्ट पहुंचे

    राफेल सौदा : यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और प्रशांत भूषण सुप्रीम कोर्ट पहुंचे

    राफेल लड़ाकू विमान के सौदे के मामले में बीजेपी के नेता यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है. याचिका में राफेल सौदे की जांच की मांग की गई है.

  • CBI विवाद पर ममता बनर्जी का प्रहार: 'CBI=BBI' यानी सीबीआई अब 'बीजेपी ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन' बन गई है

    CBI विवाद पर ममता बनर्जी का प्रहार: 'CBI=BBI' यानी सीबीआई अब 'बीजेपी ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन' बन गई है

    केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी (CBI) में भ्रष्टाचार को लेकर चल रही कलह के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोला है. सीबीआई में छिड़ी जंग के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को केंद्रीय जांच एजेंसी को 'बीजेपी ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन' बताया. गौरतलब है कि मोदी सरकार ने बुधवार को सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेज दिया. सरकार ने वर्मा व विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच एक दूसरे पर रिश्वत से जुड़े आरोपों-प्रत्यारोपों के बीच यह फैसला लिया. 

  • CBI विवाद पर राहुल गांधी बोले- PM का मैसेज साफ है, राफेल के इर्द-गिर्द जो आएगा, उसे मिटा दिया जाएगा

    CBI विवाद पर राहुल गांधी बोले- PM का मैसेज साफ है, राफेल के इर्द-गिर्द जो आएगा, उसे मिटा दिया जाएगा

    सीबीआई में दो टॉप अफसर के बीच अंतर्कलह अब सार्वजनिक रूप ले चुका है. सीबीआई में घूसकांड को लेकर विवादों में उलझे सीबीआई चीफ आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को केंद्र सरकार ने छुट्टी पर भेज दिया है और उनके सारे अधिकार वापस ले लिए हैं. इस पर विपक्ष लगातार हमलावर है. सीबीआई विवाद पर सरकार की सफाई के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला और इस मामले को राफेल सौदे से जोड़कर देखा. राहुल गांधी ने कहा कि सीबीआई चीफ आलोक वर्मा राफेल से जुड़े कागजात इकट्ठा कर रहे थे, इसी वजह से प्रधानमंत्री ने उन्हें छुट्टी पर भेज दिया है. 

  • CBI विवाद पर सरकार का जवाब: जांच तय करना CVC का काम, विपक्ष के आरोप बकवास

    CBI विवाद पर सरकार का जवाब: जांच तय करना CVC का काम, विपक्ष के आरोप बकवास

    सीबीआई में जारी घमासान के बीच सरकार ने बुधवार को अपना पक्ष रखा. सरकार की ओर से वित्त मंत्री अरुण जेटली और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मीडिया से कहा कि सीबीआई में जो भी हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण है. साथ ही आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेजे जाने के फैसले की आलोचना के जवाब में सरकार ने कहा कि सीवीसी की सिफारिश के आधार पर ही उन्हें छुट्टी पर भेजा गयाय. अरुण जेटली ने कहा कि सीवीसी के पास इस सीबीआई मामले की जांच करने का अधिकार है और उसके पास सारे कागजात हैं. वहीं, कैबिनेट फैसले पर रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार ने एक अहम फैसला किया है, जिसके मुताबिक, अब आशा वर्करों के लिए विजिट चार्ज 250 रुपये से बढ़ाकर 300 रुपये किया गया है. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने यह भी कहा कि कि कैबिनेट ने हाई लेवल कमेटी बनाई है जो सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल की मॉनीटरिंग करेगी. उन्होंने यह भी कहा कि बेनामी संपत्ति के मामले में अपील अथॉरिटी को मंजूरी दी है. वहीं सरकार ने कहा कि आशा वर्करों के लिए विजिट चार्ज 250 रुपये से बढ़ाकर 300 रुपये किया गया है. 

  • अब केजरीवाल ने भी PM मोदी के फैसले पर उठाए सवाल, बोले- क्या राफेल की जांच से डर कर आलोक वर्मा को हटाया गया

    अब केजरीवाल ने भी PM मोदी के फैसले पर उठाए सवाल, बोले- क्या राफेल की जांच से डर कर आलोक वर्मा को हटाया गया

    सीबीआई में अंतर्कलह अपने चरम पर है और इसमें अब सरकार को दखल देना पड़ा है. सीबीआई में घूसकांड को लेकर विवादों में उलझे सीबीआई चीफ आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को केंद्र सरकार ने छुट्टी पर भेज दिया है और उनके सारे अधिकार वापस ले लिए हैं. मोदी सरकार के इस फैसले के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल को लगता है कि आलोक वर्मा को हटाए जाना और राफेल डील में कुछ तो संबंध है. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली नियुक्ति समिति ने एम नागेश्वर राव को तत्काल प्रभाव से सीबीआई का अंतरिम निदेशक बना दिया है. हालांकि, इस आदेश के खिलाफ सीबीआई के चीफ आलोक वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और केंद्र सरकार के आदेश को चुनौती दी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया है. 

  • CBI में घूसकांड: प्रशांत भूषण बोले- राफेल की आंच से बचने के लिए शायद आलोक वर्मा को सरकार ने हटाया

    CBI में घूसकांड: प्रशांत भूषण बोले- राफेल की आंच से बचने के लिए शायद आलोक वर्मा को सरकार ने हटाया

    आलोक वर्मी की ओर से सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार के आदेश को चुनौती देने वाले सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि 'सीबीआई डायरेक्टर को गलत तरीके से हटाया गया है. सुप्रीम कोर्ट ने तय किया था कि सीबीआई डायरेक्टर का टर्म दो साल का फिक्स होगा और सिर्फ सेलेक्शन कमेटी ही सीबीआई डायरेक्टर को हटा सकता है. मैं शुक्रवार को एक याचिका दायर करूंगा.' 

  • CBI vs CBI LIVE: सीबीआई की अखंडता को बनाए रखने और निष्पक्ष जांच के लिए दोनों टॉप अधिकारियों को छुट्टी पर भेजा गया- अरुण जेटली

    CBI vs CBI LIVE:  सीबीआई की अखंडता को बनाए रखने और निष्पक्ष जांच के लिए दोनों टॉप अधिकारियों को छुट्टी पर भेजा गया- अरुण जेटली

    सीबीआई यानी केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के नंबर 1 और नंबर 2 के बीच में घमासान जारी है. हालांकि, इस बीच सीबीआई चीफ आलोक वर्मा ( Alok Verma) और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना (Rakesh Asthana) दोनों को छुट्टी पर भेज दिया गया है.

  • CBI vs CBI: सीबीआई में 'महासंग्राम' के ये हैं बड़े किरदार, जानें इस मामले से जुड़े हर शख्स के बारे में

    CBI vs CBI: सीबीआई में 'महासंग्राम' के ये हैं बड़े किरदार, जानें इस मामले से जुड़े हर शख्स के बारे में

    देश के बड़े-बड़े मामलों की जांच कर झूठ का पर्दाफाश करने वाली देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई आज खुद जांच के दायरे में है. इतना ही नहीं, नंबर 1 और नंबर 2 के बीच लड़ाई के बाद अब खुद सीबीआई सवालों के घेरे में है. सीबीआई ने पहले तो अपने ही दफ्तर में छापा मारा और फिर बाद में एक अधिकारी को गिरफ्तार किया. छापेमारी के बाद सीबीआई ने कुरैशी मामले की जांच कर रहे डीएसपी को गिरफ्तार किया. बाद में मंगलवार को कोर्ट ने घूस लेने के आरोप में गिरफ्तार किये गए एजेंसी के डीएसपी देवेंद्र सिंह को सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया. दरअसल, इस मामले में राकेश अस्थाना पर घूस लेने के बाद तकरार तब शुरू हुआ, जब राकेश अस्थाना ने सीबीआई के चीफ आलोक वर्मा पर भी घूस लेने का आरोप लगाया. सीबीआई ने अपने ही स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना पर केस दर्ज किया. अस्थाना पर आरोप है कि उन्होंने मांस कारोबारी मोइन कुरैशी से 3 करोड़ रुपये की रिश्वत ली थी. तो चलिए जानते हैं कि सीबीआई बनाम सीबीआई के इस महासंग्राम में किन-किन लोगों का नाम सामने आया है और ये लोग क्यों हैं मीडिया की सुर्खियों में....

  • CBI vs CBI: देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई में 'अंतर्कलह', 10 प्वाइंट्स में जानें क्या-क्या हुआ

    CBI vs CBI: देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई में 'अंतर्कलह', 10 प्वाइंट्स में जानें क्या-क्या हुआ

    सीबीआई यानी केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के दो टॉप बॉस आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के बीच खींचतान ने अब एक नया रंग ले लिया है और यह विवाद कमने का नाम नहीं ले रहा. सीबीआई के दो बड़े अधिकारियों के बीच मचा घमासान अब अदालत की दहलीज पर पहुंच गया है. दरअसल, मंगलवार को दिल्ली हाई कोर्ट ने सीबीआई को निर्देश दिया कि वह एजेंसी के स्पेशल निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ शुरू की गई आपराधिक कार्यवाही में यथास्थिति बरकरार रखे, जबकि एक निचली अदालत ने घूस लेने के आरोप में गिरफ्तार किये गए एजेंसी के डीएसपी देवेंद्र सिंह को सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया. इसके अलावा, बताया यह भी जा रहा है कि सीबीआई मांस कारोबारी मोइन कुरैशी से जुड़े एक मामले में एक अन्य कारोबारी को राहत देने के लिए कथित तौर पर उससे रिश्वत लेने के आरोपों में अपने विशेष निदेशक राकेश अस्थाना से शीघ्र पूछताछ कर सकती है. गौरतलब है कि घुस लेने को लेकर अब अफसरों का मामला सार्वजनिक हो गया है और यह लगातार मीडिया की सुर्खियों में है.

  • अरुण शौरी व प्रशांत भूषण से CBI निदेशक की मुलाकात पर सरकार ‘खफा’, राफेल मामले को लेकर हुई थी मीटिंग

    अरुण शौरी व प्रशांत भूषण से CBI निदेशक की मुलाकात पर सरकार ‘खफा’, राफेल मामले को लेकर हुई थी मीटिंग

    शौरी और प्रशांत भूषण पिछले हफ्ते सीबीआई निदेशक से मिले थे. दोनों ने उन्हें दस्तावेज सौंपे और राफेल सौदे तथा ऑफसेट करार में कथित भ्रष्टाचार की जांच की मांग की.

«12345»

Advertisement

 

Cbi investigations वीडियो

Cbi investigations से जुड़े अन्य वीडियो »