NDTV Khabar

Chandrashekhar azad ravan


'Chandrashekhar azad ravan' - 13 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर 'रावण' का यू-टर्न, वाराणसी से PM मोदी के खिलाफ नहीं लड़ेंगे चुनाव, यह है कारण...

    भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर 'रावण' का यू-टर्न, वाराणसी से PM मोदी के खिलाफ नहीं लड़ेंगे चुनाव, यह है कारण...

    भीम आर्मी (Bhim Army) प्रमुख चंद्रशेखर आजाद 'रावण' (Chandrashekhar Ravan) ने अपने उस बयान से यू-टर्न ले लिया है, जिसमें उन्होंने वाराणसी से पीएम मोदी (PM Modi) के खिलाफ चुनाव लड़ने की बात कही थी. चंद्रशेखर 'रावण' (Chandrashekhar Ravan News) ने कहा कि भाजपा को हराने के लिए दलित वोट संगठित रहना चाहिए और उनका संगठन सपा-बसपा गठबंधन का समर्थन करेगा. बता दें कि चंद्रशेखर के इस यू-टर्न से कुछ ही दिन पहले बहुजन समाज पार्टी (BSP) की प्रमुख मायावती ने उन्हें भाजपा का एजेंट बताते हुए उन पर दलित वोट बांटने का आरोप लगाया था.

  • भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर 'रावण' का BSP सुप्रीमो मायावती पर बड़ा बयान, दलितों को लेकर कही यह बात...

    भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर 'रावण' का BSP सुप्रीमो मायावती पर बड़ा बयान, दलितों को लेकर कही यह बात...

    चुनाव (Lok Sabha Election) के मौसम में आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी लगातार जारी है. भीम आर्मी चीफ (Bhim Army) चंद्रशेखर आजाद 'रावण' ने बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) पर जोरदार हमला बोला. चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad Ravan) ने कहा कि मायावती (Mayawati News) दलितों की शुभचिंतक नहीं है और न ही वह दलितों के हितों की रक्षा करती हैं.

  • NDTV से बोले चंद्रशेखर 'रावण'- मैंने मायावती को पांच बार किया फोन पर नहीं मिला जवाब

    NDTV से बोले चंद्रशेखर 'रावण'- मैंने मायावती को पांच बार किया फोन पर नहीं मिला जवाब

    मायावती के समर्थक मुख्य रूप से जाटव दिलत मतदाता है, जो राज्य में रहने वाले कुल दलितों की आबादी की आधी है. 2017 में साहरनपुर के एक गांव में ऊपरी जाति और दलितों के बीच दिल दहलाने वाली घटना हुई़. जिसकी वजह से कुछ समय बाद इलाके में दंगे भी भड़के. यह पूरा इलाका अगले कई सप्ताह तक इन दंगों की आंच में झुलसता रहा. इन दंगों में दो लोगों की मौत हुई. मरने वालों में एक दलित और दूसरा ठाकुर था.

  • चंद्रशेखर आजाद की रैली, कहा- ऐलान कर रहे हैं मोदी जी को दिल्ली की गद्दी छूने नहीं देंगे

    चंद्रशेखर आजाद की रैली, कहा- ऐलान कर रहे हैं मोदी जी को दिल्ली की गद्दी छूने नहीं देंगे

    भीम आर्मी (Bhim Army) के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने दिल्ली के जंतर-मंतर से बहुजन हुंकार रैली की.  इस दौरान उन्होंने न सिर्फ मोदी सरकार बल्कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि आज यहां कई जगह इंटरनेट बंद कर दिया गया है.12 तारीख को प्रशासन ने हमारा कार्यक्रम रोकने की कोशिश की लेकिन आज भारी संख्या में लोग यहां जुटे, यह सब कुछ बयां कर रहा है.

  • भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद से प्रियंका गांधी की मुलाकात के क्या हैं मायने

    भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद से प्रियंका गांधी की मुलाकात के क्या हैं मायने

    मंगलवार को गांधीनगर में अपने पहले राजनीतिक भाषण के बाद अगले दिन प्रियंका गांधी मेरठ चली आईं. उनका मेरठ आना पहले राजनीतिक भाषण से कहीं ज़्यादा राजनीतिक था. उत्तर प्रदेश की राजनीति पर नज़र रखने वाले इस मुलाकात को नज़रअंदाज़ नहीं कर सकेंगे. भीम आर्मी के नेता चंशेखर आजाद से अभी तक बड़े नेता दूरी बना कर चल रहे थे. कारण यह था कि चंद्रशेखर की अपनी एक स्वतंत्र राजनीतिक विचारधारा है और संगठन है. लगातार जेल में रहने और भाषण देने से रोके जाने के कारण चंद्रशेखर का सियासी व्यक्तित्व भी स्वायत्त हो चुका है.

  • भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद PM मोदी के खिलाफ वाराणसी से लड़ेंगे चुनाव

    भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद PM मोदी के खिलाफ वाराणसी से लड़ेंगे चुनाव

    भीम आर्मी (Bhim Army) के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के खिलाफ वाराणसी (Varanasi) से लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) लड़ेंगे.

  • क्या भीम आर्मी-कांग्रेस का होगा गठबंधन? प्रियंका गांधी ने की चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात

    क्या भीम आर्मी-कांग्रेस का होगा गठबंधन? प्रियंका गांधी ने की चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात

    प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने मेरठ पहुंचकर भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आज़ाद (Chandrashekhar Azad) से मुलाक़ात की. प्रियंका गांधी के साथ पश्चमी यूपी के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) भी मौजूद थे. चंद्रशेखर (Chandrashekhar Azad) को कल बिना इजाज़त सहारनपुर में रैली निकालने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था.

  • भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद को पुलिस ने फिर लिया हिरासत में, ये है वजह

    भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद को पुलिस ने फिर लिया हिरासत में, ये है वजह

    भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर (Chandra Shekhar Azad) को एक बार फिर पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. जानकारी के मुताबिक उतर प्रदेश के सहारनपुर में आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में चंद्रशेखर और उनके समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया.

  • यूपी CM योगी आदित्यनाथ ने बजरंगबली को बताया दलित, तो चंद्रशेखर रावण बोले- हनुमान मंदिरों की कमान दलितों को मिले

    यूपी CM योगी आदित्यनाथ ने बजरंगबली को बताया दलित, तो चंद्रशेखर रावण बोले- हनुमान मंदिरों की कमान दलितों को मिले

    भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर रावण ने रविवार को कहा कि हनुमान मंदिरों की कमान दलितों के हाथ में दिया जाना चाहिए. भीम आर्मी के प्रमुख ने बयान जारी कर कहा कि "दलित समुदाय के लोगों को देशभर के हनुमान मंदिरों की कमान अपने हाथ में लेकर वहां पुजारियों के तौर पर दलितों की नियुक्ति करनी चाहिए".

  • क्या मायावती को घेरने की तैयारी कर रही बीजेपी?

    क्या मायावती को घेरने की तैयारी कर रही बीजेपी?

    बीएसपी प्रमुख मायावती को उनके गढ़ में ही घेरा जा रहा है. एक तरफ मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान में कांग्रेस के साथ समझौते को लेकर तस्वीर साफ नहीं हो पा रही है तो अब उत्तर प्रदेश में नए समीकरण बनते दिख रहे हैं. पिछले साल सहारनपुर में हुई हिंसा के आरोपी और राष्ट्रीय सुरक्षा कानून एनएसए के तहत जेल में बंद भीम सेना के संस्थापक चंद्रशेखर उर्फ रावण की समय से पहले रिहाई इसी की ओर इशारा कर रही है.

  • Top 5 News: रिहाई के बाद भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर का BJP पर हमला, हरियाणा में गैंगरेप

    Top 5 News: रिहाई के बाद भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर का BJP पर हमला, हरियाणा में गैंगरेप

    मधेपुरा में एक महादलित परिवार को मृतक को दफनाने के लिए दो गज जमीन तक नहीं मिली और गांव के दबंग जमींदारों की दबंगई की वजह से महादलित परिवार को अपने ही छोटे से घर में मृतक को दफनाने पर मजबूर किया गया. वहीं, हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले 19 वर्षीय युवती का कथित रूप से अपहरण करके उसके साथ कथित गैंगरेप करने का मामला सामने आया है. इस मामले में 12 लोगों पर गैंगरेप का आरोप है. इसके अलावा, पिछले साल जून महीने से रासुका के मामले में जेल में बंद भीम आर्मी के संस्थापक को उत्तर प्रदेश पुलिस ने अब रिहा कर दिया है. उधर, यूपी के कुशीनगर जिले में एक हफ़्ते के अंदर एक मां और उसके दो बच्चों की भूख और कुपोषण से मौत हो गई है. ऐसा गांववालों का दावा है. वहीं, मनमर्जियां (Manmarziya) यानी अपने धुन में सवार बिना किसी परवाह के अपनी ही मन की करता जाए. फिल्म की कहानी की शुरुआत भी कुछ इसी अंदाज में होती है.​

  • ... तो इस वजह से भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण समय से पहले हुए जेल से 'आजाद'

    ... तो इस वजह से भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण समय से पहले हुए जेल से  'आजाद'

    उत्तर प्रदेश में हिंसा के मामलों में रासुका की वजह से पिछले एक साल से जेल में बंद भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण को यूपी पुलिस ने रिहा कर दिया है. हालांकि, अभी तक यह बात स्पष्ट नहीं हो पाई है कि भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर रावण पर से रासुका हटाया गया है या नहीं. मगर पुलिस की ओर से जो बयान जारी हुआ है, उसके मुताबिक, चंद्रशेखर को उनकी मां की वजह से रिहा किया गया है. बता दें कि भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर को शुक्रवार तड़के करीब पौने तीन बजे रिहा किया गया. वह बीते साल भर से साहरनपुर की जेल में बंद थे.

  • सहारनपुर : भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर के खिलाफ रासुका की कार्रवाई

    सहारनपुर : भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर के खिलाफ रासुका की कार्रवाई

    भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर उर्फ रावण की रिहाई से पहले ही ज़िला प्रशासन ने उस पर रासुका लगा दिया. सहारनपुर हिंसा में चंद्रशेखर उर्फ रावण मुख्य आरोपी है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com