NDTV Khabar

Chandrashekhar bhim army


'Chandrashekhar bhim army' - 19 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर 'रावण' का यू-टर्न, वाराणसी से PM मोदी के खिलाफ नहीं लड़ेंगे चुनाव, यह है कारण...

    भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर 'रावण' का यू-टर्न, वाराणसी से PM मोदी के खिलाफ नहीं लड़ेंगे चुनाव, यह है कारण...

    भीम आर्मी (Bhim Army) प्रमुख चंद्रशेखर आजाद 'रावण' (Chandrashekhar Ravan) ने अपने उस बयान से यू-टर्न ले लिया है, जिसमें उन्होंने वाराणसी से पीएम मोदी (PM Modi) के खिलाफ चुनाव लड़ने की बात कही थी. चंद्रशेखर 'रावण' (Chandrashekhar Ravan News) ने कहा कि भाजपा को हराने के लिए दलित वोट संगठित रहना चाहिए और उनका संगठन सपा-बसपा गठबंधन का समर्थन करेगा. बता दें कि चंद्रशेखर के इस यू-टर्न से कुछ ही दिन पहले बहुजन समाज पार्टी (BSP) की प्रमुख मायावती ने उन्हें भाजपा का एजेंट बताते हुए उन पर दलित वोट बांटने का आरोप लगाया था.

  • भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर 'रावण' का BSP सुप्रीमो मायावती पर बड़ा बयान, दलितों को लेकर कही यह बात...

    भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर 'रावण' का BSP सुप्रीमो मायावती पर बड़ा बयान, दलितों को लेकर कही यह बात...

    चुनाव (Lok Sabha Election) के मौसम में आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी लगातार जारी है. भीम आर्मी चीफ (Bhim Army) चंद्रशेखर आजाद 'रावण' ने बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) पर जोरदार हमला बोला. चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad Ravan) ने कहा कि मायावती (Mayawati News) दलितों की शुभचिंतक नहीं है और न ही वह दलितों के हितों की रक्षा करती हैं.

  • बनारस की राजनीति की गंगा में चंद्रशेखर आजाद भी पहुंचे डुबकी लगाने

    बनारस की राजनीति की गंगा में चंद्रशेखर आजाद भी पहुंचे डुबकी लगाने

    प्रशासन के साथ मीडिया हलकान होने लगा. सबसे बड़ी फ़जीहत तो खुफिया तंत्र की हुई. भीम आर्मी के चीफ चंद्रेशखर वाराणसी के खुफिया तंत्र पर भारी पड़ गए. चंद्रशेखर शहर की सीमा में कैसे दाखिल हुआ, इसे जानने के लिए खुफिया विभाग के अफसर रेलवे स्टेशन से लेकर बाबतपुर एयरपोर्ट तक हांफते रहे, लेकिन कोई खबर नहीं मिली.

  • लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के 'साथ' होने पर भीम आर्मी का बयान, कहा-साथ देने का कोई कारण नहीं

    लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के 'साथ' होने पर भीम आर्मी का बयान, कहा-साथ देने का कोई कारण नहीं

    प्रियंका गांधी ने बीते बुधवार को मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती आजाद से मुलाकात की थी. दोनों नेताओं की इस मुलाकात के बाद राजनीतिक हलकों में चर्चाओं का बाजार गर्मा गया था और इसे कांग्रेस की दलितों तक पहुंच बनाने के कदम के रूप में देखा जा रहा था.सिंह ने कहा, कांग्रेस ने इतने सालों तक देश पर राज किया लेकिन हम लोगों के लिए कुछ नहीं किया. उसके शासनकाल में दलितों पर अत्याचार किए गए.

  • चंद्रशेखर आजाद की रैली, कहा- ऐलान कर रहे हैं मोदी जी को दिल्ली की गद्दी छूने नहीं देंगे

    चंद्रशेखर आजाद की रैली, कहा- ऐलान कर रहे हैं मोदी जी को दिल्ली की गद्दी छूने नहीं देंगे

    भीम आर्मी (Bhim Army) के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने दिल्ली के जंतर-मंतर से बहुजन हुंकार रैली की.  इस दौरान उन्होंने न सिर्फ मोदी सरकार बल्कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि आज यहां कई जगह इंटरनेट बंद कर दिया गया है.12 तारीख को प्रशासन ने हमारा कार्यक्रम रोकने की कोशिश की लेकिन आज भारी संख्या में लोग यहां जुटे, यह सब कुछ बयां कर रहा है.

  • प्रियंका की चंद्रशेखर से मुलाकात के बाद SP-BSP गठबंधन में हलचल? अखिलेश ने मायावती से की मुलाकात

    प्रियंका की चंद्रशेखर से मुलाकात के बाद SP-BSP गठबंधन में हलचल? अखिलेश ने मायावती से की मुलाकात

    कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की भीम आर्मी के प्रमुख से मुलाकात को उत्तर प्रदेश के राजनीतिक हलके में बसपा सुप्रीमो मायावती पर ‘दबाव ’ बनाने के रूप में देखा जा रहा है क्योंकि एक दिन पहले ही मायावती ने चुनावी गठबंधन को लेकर कांग्रेस के लिए बसपा के दरवाजे बंद कर दिये थे. हालांकि, सपा प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने बताया कि यह मुलाकात आगामी लोकसभा चुनाव के लिए होने वाली रैलियों, सभाओं और बैठकों के सिलसिले में थी. उन्होंने बताया कि चुनाव करीब आ रहे हैं. होली के बाद चुनाव प्रचार की पूर्णतया शुरूआत कर दी जाएगी.

  • जब भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद से मिलने गईं प्रियंका गांधी को अस्पताल में करना पड़ा 15 मिनट इंतजार

    जब भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद से मिलने गईं प्रियंका गांधी को अस्पताल में करना पड़ा 15 मिनट इंतजार

    कांग्रेस महासचिव के साथ मुलाकात की सामने आई तस्वीरों में देखा जा सकता है कि प्रियंका गांधी उनके बेड के पास बैठी हुई हैं. वहीं पश्चिमी यूपी के महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) भी प्रियंका गांधी के साथ मौजूद थे. हालांकि, उन्होंने अपनी यात्रा को राजनीति से जोड़ देखने से मना किया. प्रियंका गांधी और सिंधिया जब अस्पताल पहुंचे तो चंद्रशेखर को समर्थकों ने उन्हें रास्ते में ही रोक लिया. 15 मिनट तक मनाने के बाद उन्हें जाने दिया गया.

  • भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद से प्रियंका गांधी की मुलाकात के क्या हैं मायने

    भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद से प्रियंका गांधी की मुलाकात के क्या हैं मायने

    मंगलवार को गांधीनगर में अपने पहले राजनीतिक भाषण के बाद अगले दिन प्रियंका गांधी मेरठ चली आईं. उनका मेरठ आना पहले राजनीतिक भाषण से कहीं ज़्यादा राजनीतिक था. उत्तर प्रदेश की राजनीति पर नज़र रखने वाले इस मुलाकात को नज़रअंदाज़ नहीं कर सकेंगे. भीम आर्मी के नेता चंशेखर आजाद से अभी तक बड़े नेता दूरी बना कर चल रहे थे. कारण यह था कि चंद्रशेखर की अपनी एक स्वतंत्र राजनीतिक विचारधारा है और संगठन है. लगातार जेल में रहने और भाषण देने से रोके जाने के कारण चंद्रशेखर का सियासी व्यक्तित्व भी स्वायत्त हो चुका है.

  • भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद PM मोदी के खिलाफ वाराणसी से लड़ेंगे चुनाव

    भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद PM मोदी के खिलाफ वाराणसी से लड़ेंगे चुनाव

    भीम आर्मी (Bhim Army) के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के खिलाफ वाराणसी (Varanasi) से लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) लड़ेंगे.

  • क्या भीम आर्मी-कांग्रेस का होगा गठबंधन? प्रियंका गांधी ने की चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात

    क्या भीम आर्मी-कांग्रेस का होगा गठबंधन? प्रियंका गांधी ने की चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात

    प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने मेरठ पहुंचकर भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आज़ाद (Chandrashekhar Azad) से मुलाक़ात की. प्रियंका गांधी के साथ पश्चमी यूपी के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) भी मौजूद थे. चंद्रशेखर (Chandrashekhar Azad) को कल बिना इजाज़त सहारनपुर में रैली निकालने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था.

  • भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद को पुलिस ने फिर लिया हिरासत में, ये है वजह

    भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद को पुलिस ने फिर लिया हिरासत में, ये है वजह

    भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर (Chandra Shekhar Azad) को एक बार फिर पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. जानकारी के मुताबिक उतर प्रदेश के सहारनपुर में आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में चंद्रशेखर और उनके समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया.

  • CPM का बड़ा आरोप: महाराष्ट्र सरकार ने भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर और अन्य को हिरासत में लिया

    CPM का बड़ा आरोप: महाराष्ट्र सरकार ने भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर और अन्य को हिरासत में लिया

    माकपा ने शनिवार को महाराष्ट्र सरकार पर दमन करने का आरोप लगाया और दावा किया कि पुलिस ने पिछले दो दिनों में भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद सहित कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है. पार्टी के एक बयान में कहा गया है कि चंद्रशेखर आजाद को शुक्रवार को हिरासत में लेने के बाद जाति अंत संघर्ष समिति की प्रदेश कमेटी के सदस्य सुबोध मोरे और भीम आर्मी के नेता अशोक कांबले, सुनिल थोराट, महादु पवार तथा अन्य को शनिवार को हिरासत में ले लिया गया. बयान में आरोप लगाया गया है कि इन कार्यकर्ताओं के मोबाइल फोन अधिकारियों ने जब्त कर लिए. 

  • 2019 के आम चुनाव में BJP और मायावती के नतीजों पर कैसे असर डाल सकता है चंद्रशेखर 'रावण'

    2019 के आम चुनाव में BJP और मायावती के नतीजों पर कैसे असर डाल सकता है चंद्रशेखर 'रावण'

    उत्तर प्रदेश की एक जेल से रिहा होने के ठीक 24 घंटे बाद चंद्रशेखर रावण ने सहारनपुर जिले में स्थित अपने घर से फोन पर बात करते हुए NDTV को बताया, "मैं देश के हर दलित से कहना चाहता हूं कि 2019 में BJP सरकार को उखाड़ फेंके... जो भी ऐसा करने का इच्छुक दिखाई देगा, हम उसे समर्थन देंगे..."

  • मायावती से बहुत प्यार, पर अपने समाज का शोषण नहीं होने दूंगा : चंद्रशेखर रावण

    मायावती से बहुत प्यार, पर अपने समाज का शोषण नहीं होने दूंगा : चंद्रशेखर रावण

    यूपी में हिंसा के मामलों में रासुका की वजह से पिछले एक साल से जेल में बंद भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण को यूपी पुलिस ने रिहा कर दिया है. बाहर आने के बाद चंद्रशेखर ने NDTV से कहा मायावती मेरी बुआ हैं, हमारा खून एक है. मायावती से बहुत प्यार है, पर अपने समाज का शोषण नहीं होने दूंगा.

  • ... तो इस वजह से भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण समय से पहले हुए जेल से 'आजाद'

    ... तो इस वजह से भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण समय से पहले हुए जेल से  'आजाद'

    उत्तर प्रदेश में हिंसा के मामलों में रासुका की वजह से पिछले एक साल से जेल में बंद भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण को यूपी पुलिस ने रिहा कर दिया है. हालांकि, अभी तक यह बात स्पष्ट नहीं हो पाई है कि भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर रावण पर से रासुका हटाया गया है या नहीं. मगर पुलिस की ओर से जो बयान जारी हुआ है, उसके मुताबिक, चंद्रशेखर को उनकी मां की वजह से रिहा किया गया है. बता दें कि भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर को शुक्रवार तड़के करीब पौने तीन बजे रिहा किया गया. वह बीते साल भर से साहरनपुर की जेल में बंद थे.

  • जेल से रिहा होते ही भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर रावण बोले- अपने लोगों से कहूंगा 2019 में BJP को उखाड़ फेंकें

    जेल से रिहा होते ही भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर रावण बोले- अपने लोगों से कहूंगा 2019 में BJP को उखाड़ फेंकें

    पिछले साल जून महीने से रासुका के मामले में जेल में बंद भीम आर्मी के संस्थापक को उत्तर प्रदेश पुलिस ने अब रिहा कर दिया है. भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर को शुक्रवार तड़के करीब पौने तीन बजे रिहा किया गया. वह बीते साल भर से साहरनपुर की जेल में बंद थे. मगर जेल से बाहर आते ही चंद्रशेखर ने भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ हल्ला बोल दिया है. उन्होंने अपने लोगों से बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकने की अपील की है. साथ ही चंद्रशेखर ने कहा है कि सरकार फिर से उनके खिलाफ कोई आरोप दायर कर जेल भिजवा देगी. 

  • जेल में बंद भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर को यूपी पुलिस ने किया रिहा

    जेल में बंद भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर को यूपी पुलिस ने  किया रिहा

    भीम आर्मी का गठन करीब तीन साल पहले किया गया था और यह पिछड़ी जातियों में खासा प्रचलित है. स्थानीय लोगों के अनुसार भीम आर्मी काफी आक्रमक रूप से पिछड़ी जातियों से जुड़े युवा और अन्य को जागरूक करने में लगा है. यही वजह है कि आज भीम आर्मी के 300 के करीब स्कूल चल रहे हैं.

  • सहारनपुर : भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर के खिलाफ रासुका की कार्रवाई

    सहारनपुर : भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर के खिलाफ रासुका की कार्रवाई

    भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर उर्फ रावण की रिहाई से पहले ही ज़िला प्रशासन ने उस पर रासुका लगा दिया. सहारनपुर हिंसा में चंद्रशेखर उर्फ रावण मुख्य आरोपी है.