NDTV Khabar

Commonwealth games 2014


'Commonwealth games 2014' - 43 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • CWG 2018: कुल 66 पदकों के साथ खत्म हुआ भारत का अभियान, रचा इतिहास, मिला तीसरा स्थान

    CWG 2018: कुल 66 पदकों के साथ खत्म हुआ भारत का अभियान, रचा इतिहास, मिला तीसरा स्थान

    ऑस्ट्रेलिया में 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी दिन भारत ने इतिहास रच दिया है. खेलों के 10वें दिन भारत का अभियान बैडमिंडन में पुरुष डबल्स मेंं हार और जत के साथ 66 पदकों के साथ खत्म हुआ, जो भारत का खेलों के इतिहास में तीसरा सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा. रविवार को करोड़ों हिंदुस्तानी खेलप्रेमियों की नजरें इसी बात पर लगी थीं कि क्या भारत साल 2014 में ग्लास्गो के प्रदर्शन को पीछे छोड़ पाएगा या नहीं. और आखिरी दिन भारतीय धुरंधरों ने उम्मीदों पर खरा उतरते हुए ग्लास्गो के 64 पदकों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया. कुल मिलाकर भारत ने 66 पदक जीते. इनमें  26 स्वर्ण, 20 रजत और 20 कांस्य पदक शामिल हैं

  • CWG 2018: इस स्कोर के साथ श्रेयसी सिंह ने जीता गोल्ड, वर्षा रमन एक प्वाइंट से कांस्य से चूकीं

    CWG 2018: इस स्कोर के साथ श्रेयसी सिंह ने जीता गोल्ड, वर्षा रमन एक प्वाइंट से कांस्य से चूकीं

    भारत की दिग्गज महिला निशानेबाज श्रेयसी सिंह ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में बुधवार को सातवें दिन भारत की झोली में 12वां स्वर्ण पदक डाला. श्रेयसी ने महिलाओं की डबल ट्रैप स्पर्धा के फाइनल्स में पहला स्थान हासिल कर सोना जीता. वहीं इसी वर्ग में वर्षा वर्मन सिर्फ एक प्वाइंट से कांस्य पदक से चूक गईं. बता दें कि साल 2014 में ग्लोस्गो में आयोजित 20वें राष्ट्रमण्डल खेलों में श्रेयसी ने इसी स्पर्धा में रजत पदक जीता था. और इस बार वह अपने पदक के रंग को बदलने में सफल रहीं.

  • Commonwealth Games 2018: कॉमनवेल्थ में आखिरी बार दिखेगा भारतीय शूटर्स का दबदबा!

    Commonwealth Games 2018: कॉमनवेल्थ में आखिरी बार दिखेगा भारतीय शूटर्स का दबदबा!

    कॉमनवेल्थ गेम्‍स में भारतीय शूटर्स ख़ासकर बेहद कामयाब रहे हैं. कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में भारत की ओर से अब तक जीते 438 में से 118 मेडल (56 गोल्ड )शूटिंग से आए हैं यानी गोल्ड मेडल के लिहाज़ से भी ये भारत का नंबर 1 खेल बना हुआ है. हाल ही में खत्म हुए शूटिंग के मैक्सिको वर्ल्डकप में पहली बार भारत 9 पदक के साथ शिखर पर रहा. 2014 में ग्लासगो में हुए कॉमनवेल्थ खेलों में 64 में से 4 गोल्ड सहित 17 मैडल भारत ने शूटिंग में जीते थे.

  • Commonwealth Games 2018: पहले दिन भारत की पदक जीतने की उम्‍मीदें मीराबाई चानू पर टिकीं ...

    Commonwealth Games 2018: पहले दिन भारत की पदक जीतने की उम्‍मीदें मीराबाई चानू पर टिकीं ...

    कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स 2014 में रजत पदक जीत चुकीं चानू 48 किलो वर्ग में भारत के लिए पदक की उम्‍मीद हैं. उसका सर्वश्रेष्ठ निजी प्रदर्शन 194 किलो है जो इस स्पर्धा में उसकी निकटतम प्रतिद्वंद्वी से 10 किलो अधिक है. इन खेलों में भाग ले रहे किसी भारोत्तोलक ने 180 किलो पार नहीं किया है. चानू की निकटतम प्रतिद्वंद्वी कनाडा की अमांडा ब्राडोक है जिसका सर्वश्रेष्ठ निजी प्रदर्शन 173 किलो है.

  • Commonwealth Games 2018: इन खेलों और खिलाड़ि‍यों से है भारत को पदक की उम्‍मीद...

    Commonwealth Games 2018: इन खेलों और खिलाड़ि‍यों से है भारत को पदक की उम्‍मीद...

    इस बार भी पदक जीतने की सबसे ज्यादा उम्‍मीद शूटिंग, कुश्‍ती, बैडमिंटन और वेटलिफ्टिंग जैसे खेलों से है. पिछली बार 2014 के ग्लास्‍गो गेम्‍स में भारत ने 64 पदक जीते थे, लेकिन भारत का बेस्ट प्रदर्शन दिल्‍ली में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्‍स-2010 में रहा था. इन गेम्‍स में भारतीय दल ने 101 पदक हासिल किए थे.एक नज़र उन खिलाड़ियों पर, जिनसे अलग-अलग खेलों में गोल्ड की उम्मीद रहेगी..

  • Commonwealth Games 2018: मौजूदा चैंपियन बोलीं, ये खिलाड़ी देंगे भारतीयों को कड़ी टक्कर

    Commonwealth Games 2018: मौजूदा चैंपियन बोलीं, ये खिलाड़ी देंगे भारतीयों को कड़ी टक्कर

    कनाडा की बैडमिंटन खिलाड़ी और कॉमनवेल्थ गेम्स में महिला एकल वर्ग की मौजूदा विजेता मिशेल ली का कहना है कि वह इस बार अपना खिताब बचाने को लेकर आश्वस्त नहीं हैं लेकिन वह यह जरूर मानती हैं कि इस साल भारतीय महिला खिलाड़ियों की धूम रहेगी. ली ने 2014 में ग्लास्गो में आयोजित हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में स्कॉटलैंड की क्रिस्टी गिलमोर को हराकर खिताबी जीत हासिल की थी

  • बैडमिंटन: राष्‍ट्रमंडल खेलों के ठीक पहले चोटिल हुईं पीवी सिंधु, टखने में आई मोच

    बैडमिंटन: राष्‍ट्रमंडल खेलों के ठीक पहले चोटिल हुईं पीवी सिंधु, टखने में आई मोच

    सिंधु की यह चोट गंभीर नहीं है और सिंधु जल्द ही अभ्यास पर लौटेंगी. रियो ओलिंपिक-2016 में रजत पदक विजेता सिंधु अगले महीने से शुरू हो रहे राष्ट्रमंडल खेलों में पदक की बड़ी दावेदार मानी जा रही हैं. मंगलवार को हैदराबाद की गोपीचंद अकादमी में अभ्यास के दौरान सिंधु के पैर में मोच आ गई.

  • सीमा पूनिया रचना चाहती हैं राष्ट्रकुल खेलों में इतिहास, इस बात का आज तक है गम

    सीमा पूनिया रचना चाहती हैं राष्ट्रकुल खेलों में इतिहास, इस बात का आज तक है गम

    सीमा पूनिया भले ही पूर्व में डोपिंग के कारण चर्चा में रही हो लेकिन अगले महीने होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में वह भारतीय एथलीटों में पदक की सर्वश्रेष्ठ दावेदार हैं और चक्का फेंक की यह खिलाड़ी भी इन खेलों के अपने अभियान का शानदार अंत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. राष्ट्रमंडल खेलों के इतिहास में सीमा भारत की सबसे सफल एथलीट रही हैं. उन्होंने जब भी इन खेलों में हिस्सा लिया तब पदक जरूर जीता. सेकिन अब सीमा पूनिया डिस्कस-थ्रो में नया इतिहास लिखना चाहती हैं.

  • शूटर श्रेयसी सिंह को 11 लाख रुपये का पुरस्कार देगी बिहार सरकार

    शूटर श्रेयसी सिंह को 11 लाख रुपये का पुरस्कार देगी बिहार सरकार

    बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने घोषणा की कि राज्य सरकार राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने वाली निशानेबाज श्रेयसी सिंह को 11 लाख रुपये का पुरस्कार देगी।

  • भारतीय कुश्ती महासंघ ने यौग उत्पीड़न के आरोपी रेफरी वीरेंदर मलिक को निलंबित किया

    भारतीय कुश्ती महासंघ ने आज रेफरी वीरेंदर मलिक को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया है। मलिक को ग्लास्गो में कल संपन्न राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान कथित यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

  • ज्वाला गुट्टा ने कहा, भारत में युगल को नहीं मिलती तवज्जो

    ज्वाला गुट्टा ने कहा, भारत में युगल को नहीं मिलती तवज्जो

    राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने के कुछ देर बाद ज्वाला गुट्टा ने आज भारत में युगल मैचों के प्रति भेदभाव की कड़ी आलोचना की और कहा कि देश में एकल खिलाड़ियों को अधिक तवज्जो दी जाती है।

  • ऑस्ट्रेलिया में मिलने के वादे के साथ राष्ट्रमंडल खेलों का समापन

    ऑस्ट्रेलिया में मिलने के वादे के साथ राष्ट्रमंडल खेलों का समापन

    स्कॉटलैंड के हैंपडेन पार्क में रविवार को रंगारंग कार्यक्रम और आतिशबाजी के साथ 20वें राष्ट्रमंडल खेलों का समापन हो गया। इस दौरान समापन समारोह में स्कॉटलैंड की गायिका लूलू, पॉप बैंड ग्रुप डीकॉन ब्लू तथा ऑस्ट्रेलिया की गायिका किली मिनोग सहित करीब 2000 कलाकारों ने शानदार प्रस्तुति दी।

  • राष्ट्रमंडल खेल (भाला फेंक) : फाइनल खेलने नहीं उतरे भारतीय खिलाड़ी

    राष्ट्रमंडल खेलों-2014 में शनिवार को भाला फेंक स्पर्धा के पुरुष वर्ग के फाइनल मुकाबले में भारतीय एथलीट विपिन कासना और रविंदर सिहं खैरा ने हिस्सा ही नहीं लिया।

  • फाइनल में अयोग्य करार दी गई भारत की महिला रिले टीम

    नई दिल्ली में चार साल पहले स्वर्ण जीतने वाली भारत की चार गुणा 400 मीटर महिला रिले टीम शनिवार को 20वें राष्ट्रमंडल खेलों में फाइनल में अयोग्य करार दी गई।

  • उसेन बोल्ट ने राष्ट्रमंडल खेलों में जीता पहला स्वर्ण

    उसेन बोल्ट ने राष्ट्रमंडल खेलों में जीता पहला स्वर्ण

    छह बार के ओलिम्पिक चैम्पियन जमैका के उसेन बोल्ट ने शनिवार को राष्ट्रमंडल खेलों में पहला स्वर्ण जीता। ओलिम्पिक और विश्व चैम्पियन बोल्ट ने हालांकि राष्ट्रमंडल खेलों की 100 और 200 मीटर स्पर्धा में हिस्सा नहीं लिया, लेकिन उन्होंने अपनी टीम के साथ चार गुणा 100 मीटर रिले का स्वर्ण जीता।

  • राष्ट्रमंडल खेल पदक तालिका में भारत पांचवें स्थान पर

    भारत ने स्कॉटलैंड में चल रहे 20वें राष्ट्रमंडल खेलों की पदक तालिका में पांचवां स्थान कायम कर रखा है। भारत ने अब तक 14 स्वर्ण, 28 रजत और 19 कांस्य सहित कुल 61 पदक जीते हैं। शनिवार को भारत को एक स्वर्ण, सात रजत और चार कांस्य प्राप्त हुए।

  • राष्ट्रमंडल खेल : आईओए महासचिव, कुश्ती रैफरी ग्लास्गो में गिरफ्तार

    राष्ट्रमंडल खेल : आईओए महासचिव, कुश्ती रैफरी ग्लास्गो में गिरफ्तार

    भारतीय दल को ग्लासगो में चल रहे राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान शर्मसार होना पड़ा, जब भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के महासचिव राजीव मेहता और कुश्ती रैफरी वीरेंदर मलिक को विभिन्न आरोपों में गिरफ्तार किया गया।

  • राष्ट्रमंडल खेल : दीपिका, जोशना ने स्क्वॉश का स्वर्ण जीतकर रचा इतिहास

    राष्ट्रमंडल खेल : दीपिका, जोशना ने स्क्वॉश का स्वर्ण जीतकर रचा इतिहास

    दीपिका पल्लिकल और जोशना चिनप्पा की भारतीय जोड़ी ने शनिवार को 20वें राष्ट्रमंडल खेलों में स्क्वॉश स्पर्धा के महिला युगल वर्ग का स्वर्ण पदक हासिल कर लिया। शनिवार को भारत के नाम यह पहला स्वर्ण भी है।