NDTV Khabar

Congress jds


'Congress jds' - 145 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • कर्नाटक के 17 अयोग्य MLAs की याचिका: एक जज ने खुद को सुनवाई से किया अलग, मामला CJI के पास भेजा गया

    कर्नाटक के 17 अयोग्य MLAs की याचिका: एक जज ने खुद को सुनवाई से किया अलग, मामला CJI के पास भेजा गया

    विधायकों ने अयोग्य ठहराए जाने को सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का स्पष्ट उल्लंघन बताया क्योंकि शीर्ष अदालत ने स्पष्ट रूप से कहा था कि विश्वास मत के दौरान सदन में उपस्थित होने के लिए बाध्य करने के लिए स्पीकर द्वारा कोई कदम नहीं उठाया जा सकता. उन्होंने अध्यक्ष पर 10 वीं अनुसूची के प्रावधानों के तहत अयोग्य ठहराने के आरोपों को गलत बताया और कहा है कि अनिवार्य नोटिस अवधि के बिना निर्णय लिया गया.

  • जेडीएस पर 'वेश्या' वाले कमेंट पर सिद्धारमैया ने लिया यू-टर्न, कहा- मैं तो बीजेपी की बात कर रहा था

    जेडीएस पर 'वेश्या' वाले कमेंट पर सिद्धारमैया ने लिया यू-टर्न, कहा- मैं तो बीजेपी की बात कर रहा था

    कर्नाटक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धारमैया की एक आपत्तिजनक टिप्पणी से विवाद हो गया है जो कि परोक्ष रूप से पूर्ववर्ती गठबंधन सरकार में उनकी पार्टी के सहयोगी दल जदएस को निशाना बनाकर की गई थी. हालांकि सिद्धारमैया ने बाद में दावा किया कि उन्होंने एक आम कन्नड़ कहावत का इस्तेमाल किया था और वह भाजपा का उल्लेख कर रहे थे. मैसुरू के पेरियापाटना में शुक्रवार शाम में जब संवाददाताओं ने पूछा कि कांग्रेस..जदएस सरकार के गिरने के लिए जदएस के नेता उन पर आरोप क्यों लगा रहे हैं, सिद्धारमैया ने एक कन्नड़ कहावत का इस्तेमाल किया जिसका शाब्दिक अर्थ है कि ‘‘नृत्य करने में असमर्थ एक वेश्या ने फर्श को असमान बताया.’’

  • कर्नाटक: बीएस येदियुरप्पा ने किया कैबिनेट का विस्तार, 17 मंत्री हुए शामिल

    कर्नाटक: बीएस येदियुरप्पा ने किया कैबिनेट का विस्तार, 17 मंत्री हुए शामिल

    राज्यपाल वजूभाई वाला मंगलवार को सुबह करीब साढ़े दस बजे राजभवन में नये मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. इनमें गोविंद करजोल, अश्वथ नारायण सी. एन., लक्ष्मण सावदी, के. एस. ईश्वरप्पा, आर. अशोक, जगदीश शेट्टार, बी. श्रीरामुलु और एस. सुरेश कुमार, वी. सोमन्ना, सी. टी. रवि, बसवराज बोम्मई, कोटा श्रीनिवास पुजारी, जे. सी. मधु सीमी, सी. सी. पाटिल, एच. नागेश, प्रभु चौहान और शशिकला जोले अन्नासाहेब आदि शामिल हैं.

  • फोन टैपिंग मामले की सीबीआई जांच कराएगी कर्नाटक की बीजेपी सरकार, सिद्धारमैया बोले- 'ऑपरेशन लोटस' की भी...

    फोन टैपिंग मामले की सीबीआई जांच कराएगी कर्नाटक की बीजेपी सरकार, सिद्धारमैया बोले- 'ऑपरेशन लोटस' की भी...

    सिद्धारमैया ने ट्विटर पर लिखा कि कर्नाटक में 'ऑपरेशन कमल' के आरोप फोन टैपिंग मामले जितने ही गंभीर हैं, मैं मुख्यमंत्री येदियुरप्पा से ऑपरेशन कमल के लिए भी सीबीआई जांच की मांग करता हूं. उन्होंने लिखा कि मैंने सुना है कि उन्होंने मेरी सलाह को ध्यान में रखते हुए फोन टैपिंग मामले की जांच के आदेश दिए हैं. उम्मीद है कि इस मामले के लिए वह जांच के आदेश देंगे.

  • TOP 5 NEWS: कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी ने जीता विश्वास मत, आजम खान ने अभद्रता के लिए मांगी माफी

    TOP 5 NEWS: कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी ने जीता विश्वास मत, आजम खान ने अभद्रता के लिए मांगी माफी

    कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने ध्वनि मत के जरिए विश्वास प्रस्ताव जीत कर विधानसभा में सोमवार को अपना बहुमत साबित किया. सरकार के पक्ष में 105 वोट पड़े हैं जबकि कांग्रेस के पक्ष में 99 वोट पड़े.

  • अयोग्य घोषित होने पर जेडीएस विधायक विश्वनाथ बोले, जाऊंगा सुप्रीम कोर्ट

    अयोग्य घोषित होने पर जेडीएस विधायक विश्वनाथ बोले, जाऊंगा सुप्रीम कोर्ट

    अयोग्य घोषित हुए जेडीएस के बागी विधायक ए एच विश्वनाथ ने कहा कि यह फैसला कानून के विरुद्ध है और वह अन्य असंतुष्ट विधायकों के साथ सोमवार को उच्चतम न्यायालय से संपर्क करेंगे.

  • कर्नाटक में 'कांग्रेस-जेडीएस' सरकार गिरने के बाद बोले कुमारस्वामी- मैं सबसे ज्यादा खुश हूं क्योंकि...

    कर्नाटक में 'कांग्रेस-जेडीएस' सरकार गिरने के बाद बोले कुमारस्वामी- मैं सबसे ज्यादा खुश हूं क्योंकि...

    कर्नाटक में भले ही एचडी कुमारस्वामी की सरकार गिर गई हो लेकिन उनका दावा है कि वह फिर भी बहुत खुश हैं. उनकी खुशी की वजह यह है कि उन्हें एक साल तक जनता की सेवा करने का अवसर मिला. एनडीटीवी से बात करते हुए कुमारस्वामी ने कहा, मैं इस अवसर पर सबसे ज्यादा खुश हूं. ऐसा इसलिए क्योंकि बीते 14 महीनों में मैंने राज्य की उन्नति के लिए काम किया.

  • RSS नेताओं से मिलने के बाद बोले येदियुरप्पा, दिल्ली से निर्देशों का इंतजार कर रहा हूं

    RSS नेताओं से मिलने के बाद बोले येदियुरप्पा, दिल्ली से निर्देशों का इंतजार कर रहा हूं

    विधानसभा में विश्वासमत हारने के बाद मंगलवार को कांग्रेस-जद (एस) की 14 माह पुरानी सरकार गिर गई. इसके बाद मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने इस्तीफा दे दिया. येदियुरप्पा ने यहां अपने प्रदेश मुख्यालय 'केशव कृपा' में आरएसएस नेताओं से मुलाकात के बाद पत्रकारों से कहा, 'मैं दिल्ली से निर्देशों का इंतजार कर रहा हूं.

  • शशि थरूर का BJP पर निशाना- जिस पार्टी ने पशुओं की नीलामी पर रोक लगाई, उसी ने कर्नाटक में की खरीदफरोख्त

    शशि थरूर का BJP पर निशाना- जिस पार्टी ने पशुओं की नीलामी पर रोक लगाई, उसी ने कर्नाटक में की खरीदफरोख्त

    एचडी कुमारस्वामी नीत गठबंधन सरकार गिरने को 'लोकतंत्र, ईमानदारी और राज्य की जनता की हार' करार देते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा आखिरकार निहित स्वार्थ वाले लोगों के लालच की आज जीत हो गयी. राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, 'अपने पहले दिन से ही कांग्रेस-जद(एस) सरकार भीतर और बाहर के उन निहित स्वार्थ वाले लोगों के निशाने पर आ गयी थी जिन्होंने इस गठबंधन को सत्ता के अपने रास्ते के लिए खतरा और रुकावट के तौर पर देखा. उनके लालच की आज जीत हो गयी। लोकतंत्र, ईमानदारी और कर्नाटक की जनता हार गयी.'

  • चार दिन तक विश्वास मत पर वोटिंग में 'देरी' भी नहीं आई काम, कुमारस्वामी नहीं बचा पाए सरकार, अब BJP पेश करेगी दावा, 10 बड़ी बातें

    चार दिन तक विश्वास मत पर वोटिंग में 'देरी' भी नहीं आई काम, कुमारस्वामी नहीं बचा पाए सरकार, अब BJP पेश करेगी दावा, 10 बड़ी बातें

    कर्नाटक में कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन की सरकार मंगलवार को विधानसभा में विश्वासमत हासिल करने में विफल रहने के बाद गिर गयी. इसी के साथ राज्य में 14 महीने से अस्थिरता के दौर का सामना कर रहे मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी का कार्यकाल खत्म हो गया. कुमारस्वामी ने विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव हारने के तुरंत बाद राज्यपाल वजूभाई वाला को अपना इस्तीफा सौंप दिया. अधिकारियों ने बताया कि परिणाम के तुरंत बाद कुमारस्वामी, उपमुख्यमंत्री जी. परमेश्वर और अन्य वरिष्ठ सहयोगियों के साथ राजभवन गए और इस्तीफा सौंप दिया. त्यागपत्र में कहा गया, ‘अपनी कैबिनेट के साथ मैं कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे रहा हूं और मैं आपसे इसे स्वीकार करने का आग्रह करता हूं. मैं इस मौके पर कार्यकाल के दौरान मुझे और मेरे सहयोगियों को मिले सहयोग के लिए मैं आभारी हूं.’

  • विधायकों के इस्तीफों से लेकर सरकार गिरने तक 23 दिन ऐसे चला कर्नाटक का सियासी ड्रामा

    विधायकों के इस्तीफों से लेकर सरकार गिरने तक 23 दिन ऐसे चला कर्नाटक का सियासी ड्रामा

    राज्य में 14 महीने से अस्थिरता के दौर का सामना कर रहे मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी का कार्यकाल खत्म हो गया. कुमारस्वामी ने विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव हारने के तुरंत बाद राज्यपाल वजूभाई वाला को अपना इस्तीफा सौंप दिया. अधिकारियों ने बताया कि परिणाम के तुरंत बाद कुमारस्वामी, उपमुख्यमंत्री जी. परमेश्वर और अन्य वरिष्ठ सहयोगियों के साथ राजभवन गए और इस्तीफा सौंप दिया. त्यागपत्र में कहा गया, ‘अपनी कैबिनेट के साथ मैं कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे रहा हूं और मैं आपसे इसे स्वीकार करने का आग्रह करता हूं.’ साथ ही कहा गया है कि ‘मैं इस मौके पर कार्यकाल के दौरान मुझे और मेरे सहयोगियों को मिले सहयोग के लिए मैं आभारी हूं.’ कुमारस्वामी को अपने पत्र में राज्यपाल ने कहा, ‘मैंने तत्काल प्रभाव से आपका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. वैकल्पिक व्यवस्था होने तक कार्यवाहक मुख्यमंत्री के पद पर बने रहिए. यह कहने की जरूरत नहीं है कि इस दौरान कोई कार्यकारी फैसले नहीं लिए जाने चाहिए.’

  • ‘किंगमेकर’ माने जाने वाले कुमारस्वामी बने ‘किंग’, लेकिन राजगद्दी जल्द ही हाथ से निकली

    ‘किंगमेकर’ माने जाने वाले कुमारस्वामी बने ‘किंग’, लेकिन राजगद्दी जल्द ही हाथ से निकली

    कुमारस्वामी राजनीतिक माहौल में पले-बढ़े. उन्होंने 1996 में कनकपुरा लोकसभा सीट पर जीत दर्ज कर राजनीति में प्रवेश किया था. बाद में वह लोकसभा और विधानसभा चुनाव दोनों हार गए. साल 2004 में वह पहली बार विधानसभा में पहुंचे. तब त्रिशंकु विधानसभा होने के बाद कांग्रेस के साथ जनता दल (एस) गठबंधन सरकार में शामिल हो गया था. साल 2006 में कुमारस्वामी ने बगावत कर दी और अपने पिता एवं पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा की इच्छा के विपरीत 42 विधायकों के साथ गठबंधन से बाहर हो गए. उन्होंने भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाई और विधायक के रूप में अपने पहले कार्यकाल के दौरान ही वह मुख्यमंत्री बन गए.

  • कर्नाटक में गठबंधन सरकार गिरने के बाद अमित शाह ने पार्टी नेताओं से किया सलाह-मशविरा

    कर्नाटक में गठबंधन सरकार गिरने के बाद अमित शाह ने पार्टी नेताओं से किया सलाह-मशविरा

    अमित शाह ने इन संकेतों के बीच पार्टी नेताओं के साथ सलाह मशविरा किया कि कर्नाटक में एच डी कुमारस्वामी नीत गठबंधन सरकार के मंगलवार को गिरने के बाद बी एस येदियुरप्पा मुख्यमंत्री पद के लिए भाजपा की पसंद हो सकते हैं.

  • कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस सरकार गिरने के बाद राहुल ने किया ट्वीट, लिखा- यह निहित स्वार्थ वाले लोगों के लालच की जीत

    कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस सरकार गिरने के बाद राहुल ने किया ट्वीट, लिखा- यह निहित स्वार्थ वाले लोगों के लालच की जीत

    विश्वास प्रस्ताव पर चार दिनों की बहस के बाद मंगलवार को कर्नाटक में एच. डी. कुमारस्वामी की सरकार गिर गई है. विधानसभा में मंगलवार को मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के नेतृत्व में कांग्रेस व जनता दल सेक्युलर (जद-एस) की गठबंधन सरकार विश्वास मत हासिल नहीं कर सकी.

  • कर्नाटक संकट: JDS विधायक ने बागी विधायकों को दी चुनौती, कहा- हिम्मत है तो आगे चुनाव न लड़ने का ऐलान करें

    कर्नाटक संकट: JDS विधायक ने बागी विधायकों को दी चुनौती, कहा- हिम्मत है तो आगे चुनाव न लड़ने का ऐलान करें

    सत्ताधारी गठबंधन के 16 विधायकों द्वारा इस्तीफा दिये जाने के बाद उपजे संकट के बीच शुक्रवार को विश्वास प्रस्ताव लाया गया था. इस्तीफा देने वालों में 13 कांग्रेसी और तीन जद(एस) विधायक थे. एक कांग्रेसी विधायक ने हालांकि बाद में इस्तीफा वापस ले लिया था. रामास्वामी ने कहा, 'इस्तीफा देने वाले विधायक अगर कहते हैं कि उनका कोई निहित स्वार्थ और लालच नहीं है तो उन्हें यह घोषित करने दीजिए कि वे भविष्य में चुनाव नहीं लड़ेंगे.'

  • कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार रहेगी या जाएगी, फ्लोर टेस्ट के साथ आज हो सकता है फैसला

    कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार रहेगी या जाएगी, फ्लोर टेस्ट के साथ आज हो सकता है फैसला

    कर्नाटक में जनता दल सेक्यूलर और कांग्रेस की साझा सरकार रहेगी या जाएगी, इसका फैसला सोमवार को होने की उम्मीद है. 15 विधायकों के इस्तीफे के साथ इस गठबंधन की सरकार पर उठे सवालों का हल विधानसभा में विश्वास मत के साथ हो सकता है. 

  • कर्नाटक का सियासी ड्रामा जारी, अब तक नहीं हो पाया विश्वास मत, विधानसभा सोमवार तक के लिए स्‍थगित - 10 बातें

    कर्नाटक का सियासी ड्रामा जारी, अब तक नहीं हो पाया विश्वास मत, विधानसभा सोमवार तक के लिए स्‍थगित - 10 बातें

    राज्यपाल के दो-दो बार समय और तारीख़ तय कर देने के बावजूद कर्नाटक विधानसभा में अब तक विश्वास मत नहीं हो पाया है. दोनों पक्ष एक-दूसरे पर विधायकों की ख़रीद-फ़रोख़्त का आरोप लगा रहे हैं. अब जेडीएस कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट पहुंची हैं. मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के बड़े भाई किसी ज्योतिषी के कहने पर इन दिनों ख़ाली पांव विधानसभा आते हैं- इस उम्मीद में कि इससे उनके भाई की सरकार बच जाएगी. उधर सरकार बचाने में जुटे कुमारस्वामी ने राज्यपाल वजूभाई वाला की दी हुई दूसरी तारीख भी नाकाम कर दी. राजयपाल वजू भाई वाला ने पहले कहा था कि गुरुवार डेढ़ बजे तक विश्वास मत हो जाए, फिर शुक्रवार का समय दिया. ये भी बताया कि उनके पास विधायकों की ख़रीद-फ़रोख़्त की शिकायत पहुंच रही है. उधर जेडीएस ने सदन में बीजेपी पर 2 गंभीर आरोप लगाए. जेडीएस विधायक श्रीनिवास गौड़ा ने आरोप लगाया कि बीजेपी के 2 विधायकों ने उन्हें पाला बदलने के लिए 5 करोड़ रुपये उनके घर पहुंचाए. पर्यटन मंत्री सारा महेश ने कहा कि जेडीएस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विश्वनाथ ने उन्हें 30 करोड़ के ऑफर की बात कही. इस बीच प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष देश गुण्डु राव और मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की है. गुण्डु राव की अपील व्हिप पर लगी शर्तिया रोक पर है और कुमारस्वामी ने राज्यपाल के हस्तक्षेप पर सवाल उठाए हैं. कर्नाटक के राज्यपाल वाजु भाईवाला पर बीजेपी नेता फ्लोर टेस्ट के लिए दबाव बनाते रहे और राज्यपाल नई नई समय सीमा तय करते रहे. सवाल एक बार फिर नए सिरे से उठ खड़ा हुआ है कि राज्यपाल का ऐसे मामलों में हस्तछेप का अधिकार है या नहीं. कर्नाटक सरकार की तरफ से दलील दी गई कि 1999 में वाजपेयी जी सरकार को लेकर बहस और वोटिंग 10 दिन चली जबकि कर्नाटक समेत दूसरे कई राज्यों में 4 दिनों से ज्‍यादा. ऐसे में इस बार जल्दबाजी किस बात की. फिलहाल विधानसभा सोमवार 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है.

  • कर्नाटक में चल रहे 'नाटक' के सूत्रधार दिल्ली में, वही तय कर रहे अगला सीन

    कर्नाटक में चल रहे 'नाटक' के सूत्रधार दिल्ली में, वही तय कर रहे अगला सीन

    कर्नाटक का नाटक रचा जा रहा है दिल्ली में. वहां की विधानसभा में जो कुछ भी हो रहा है, या कहें कर्नाटक के नेता जो कुछ भी कर रहे हैं, वह उनसे करवाया जा रहा है जिसमें महामहिम राज्यपाल भी शामिल हैं. ये सभी उस नाटक के पात्र हैं जिसकी पटकथा दिल्ली में लिखी जा रही है. इसमें जेडीएस-कांग्रेस सरकार की तरफ से विधानसभा अध्यक्ष, या कहें वहां के स्पीकर अहम पात्र हैं, तो केन्द्र सरकार की तरफ से हैं राज्यपाल बजू भाई वाला. यह वही शख्स हैं जिन्होंने एक वक्त में विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए अपनी सीट छोड़ दी थी. अब यहां सब अपने-अपने आकाओं के हितों की रक्षा करते नजर आ रहे हैं. किसी को संविधान की रक्षा करने की फिक्र नहीं है.

Advertisement