NDTV Khabar

Delhi crime


'Delhi crime' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • गुड़िया गैंगरेप केस में दोनों आरोपी दोषी करार, एक ने की मीडिया पर हमले की कोशिश

    गुड़िया गैंगरेप केस में दोनों आरोपी दोषी करार, एक ने की मीडिया पर हमले की कोशिश

    दिल्ली के गुड़िया गैंग रेप केस में आरोपी मनोज शाह और प्रदीप को कड़कड़डूमा कोर्ट ने दोषी करार दिया है. पांच साल की बच्ची को अगवा करके 24 घंटों से ज्यादा तक बंधक बनाकर दुष्कर्म करने की यह वारदात साल 2013 में हुई थी. अदालत दोषियों की सजा का ऐलान 30 जनवरी को करेगी. दोनों आरोपियों को दोषी करार दिए जाने के बाद कोर्ट के बाहर दोषी प्रदीप ने मीडिया पर हमला करने की कोशिश की.

  • दिल्ली के गुड़िया गैंगरेप केस में फैसला आज आएगा, मामले में दो आरोपी

    दिल्ली के गुड़िया गैंगरेप केस में फैसला आज आएगा, मामले में दो आरोपी

    निर्भया केस के तुरंत बाद दिल्ली के दूसरे चर्चित गुड़िया केस में दिल्ली का कड़कड़डूमा कोर्ट शनिवार को फैसला सुनाएगा. इस केस में कुल 59 गवाहियां हुई हैं. मामले में दो आरोपी हैं प्रदीप और मनोज. दोनों के खिलाफ पुलिस ने जान से मारने की कोशिश, गैंगरेप, किडनेपिंग, सबूत मिटाने और पोक्सो के तहत मुकदमा दर्ज किया था. गुड़िया के साथ जिस समय दुष्कर्म हुआ था वो 5 साल की मासूम थी.

  • Nirbhaya Case : चारों दोषियों को तिहाड़ जेल नंबर तीन में शिफ्ट किया गया, यहीं है फांसी कोठी

    Nirbhaya Case : चारों दोषियों को तिहाड़ जेल नंबर तीन में शिफ्ट किया गया, यहीं है फांसी कोठी

    निर्भया के सभी दोषियों को दिल्ली की तिहाड़ जेल नंबर तीन में स्थानांतरित कर दिया गया है. उन्हें गुरुवार की शाम को जेल नंबर तीन में शिफ्ट किया गया. उन्हें जेल में अलग-अलग सेल में रखा गया है. दोषी अक्षय पहले मुकेश जेल नंबर 2 में था और पवन को मंडोली जेल से तिहाड़ की जेल नंबर 2 में शिफ्ट किया गया था. दोषी विनय जेल नंबर 4 में था. अब चारों दोषियों को जेल नंबर 3 में शिफ्ट कर दिया गया है. तिहड़ जेल नंबर तीन में ही फांसी कोठी भी है.

  • बॉलीवुड एक्ट्रेस ने पुलिस स्टेशन में बिताए दिन को लेकर किया खुलासा, बोलीं- वहां एक दिन रहना भी मेरे लिये...

    बॉलीवुड एक्ट्रेस ने पुलिस स्टेशन में बिताए दिन को लेकर किया खुलासा, बोलीं- वहां एक दिन रहना भी मेरे लिये...

    रसिका दुग्गल (Rasika Dugal) ने वेब सीरीज 'दिल्ली क्राइम' (Delhi Crime) के दो सीजन में अपने किरदार के लिए तैयारी करने के चलते चंडीगढ़ में कुछ दिनों के लिए एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के साथ अपना वक्त बिताया.

  • दिल्ली में बढ़ते अपराध पर नियंत्रण के मुद्दे संसद की स्थायी समिति की बैठक

    दिल्ली में बढ़ते अपराध पर नियंत्रण के मुद्दे संसद की स्थायी समिति की बैठक

    दिल्ली में बढ़ते अपराध पर नियंत्रण के मुद्दे पर संसद की स्थायी समिति की सोमवार को होने वाली बैठक में गृह मंत्रालय और दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी इस समस्या से निपटने के उपायों और कार्ययोजना पर विचार विमर्श करेंगे. राज्यसभा सचिवालय की ओर से प्राप्त जानकारी के मुताबिक उच्च सदन में कांग्रेस के उपनेता आनंद शर्मा की अध्यक्षता वाली समिति के समक्ष गृह मंत्रालय और दिल्ली पुलिस के अधिकारी पेश होंगे.

  • निर्भया केस के दोषियों के लिए दिल्ली की तिहाड़ जेल में डमी फांसी दी गई

    निर्भया केस के दोषियों के लिए दिल्ली की तिहाड़ जेल में डमी फांसी दी गई

    निर्भया गैंग रेप और हत्या के मामले में दोषी चारों आरोपियों को फांसी पर लटकाने के अभ्यास के रूप में रविवार को डमी फांसी दी गई. डमी फांसी की प्रक्रिया दिल्ली की तिहाड़ जेल में पूरी की गई. इस प्रक्रिया के तहत चार बोरों में चारों दोषियों के वजन के हिसाब से मिट्टी पत्थर भरा गया. इन बोरों को रस्सियों से लटकाया गया. निर्भया केस के दोषी मुकेश सिंह, विनय शर्मा, अक्षय ठाकुर और पवन गुप्ता को 22 जनवरी को फांसी पर लटकाया जाएगा.

  • दिल्ली में ISIS के तीन संदिग्ध गिरफ्तार, बड़ी साजिश के फिराक में थे आतंकी

    दिल्ली में ISIS के तीन संदिग्ध गिरफ्तार, बड़ी साजिश के फिराक में थे आतंकी

    स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि गिरफ्तार तीनों संदिग्ध दक्षिण भारत के ISIS मोड्यूल के सदस्य हैं. इन तीनो पर हिन्दू नेता केपी सुरेश कुमार की हत्या का भी आरोप है. इस मामले में तीनों जेल में बंद थे और इन्हें कुछ दिन पहले ही सशर्त जमानत मिली थी लेकिन ये तीनो अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर 12 और 13 दिसम्बर को तमिलनाडु से भाग निकले, इनमे से पकड़ में आये तीन सीधे नेपाल पहुंच गए.

  • निर्भया मामला: डेथ वारंट जारी होने के बाद दिल्ली के इस इलाके में फैल गया सन्नाटा

    निर्भया मामला: डेथ वारंट जारी होने के बाद दिल्ली के इस इलाके में फैल गया सन्नाटा

    दिल्ली की एक अदालत ने निर्भया बलात्कार मामले के दोषियों के खिलाफ मंगलवार को मौत का वारंट जारी किया जिसके बाद पूरे देश ने निर्भया को न्याय मिलने पर राहत की सांस ली, लेकिन इसी के बीच कुछ जगहें ऐसी भी हैं जहां इस फैसले के बाद से सन्नाटा पसरा है और यह वह स्थान है जहां दोषियों के परिजन रहते हैं.

  • जेएनयू में हुई हिंसा की जांच के लिए सोनिया गांधी ने गठित की जांच समिति

    जेएनयू में हुई हिंसा की जांच के लिए सोनिया गांधी ने गठित की जांच समिति

    जेएनयू में हुए हमले को लेकर उठा विवाद गहराता जा रहा है. विपक्ष ने छात्रों और शिक्षकों पर हुए हमले की स्वतंत्र न्यायिक जांच की मांग की है जबकि बीजेपी ने आरोप लगाया है कि विपक्ष घटना पर राजनीतिक कर रहा है. जेएनयू छात्रों पर हुए इस हमले को लेकर सोनिया गांधी ने अब चार सदस्यों की जांच टीम बना दी है. उन्होंने एक बयान जारी कर कहा कि सरकार विरोध की आवाज़ को कुचलने पर आमादा है.

  • सीमापुरी में CAA विरोधी हिंसा के मामले में गिरफ्तार 5 लोगों में 2 बांग्लादेशी भी शामिल

    सीमापुरी में CAA विरोधी हिंसा के मामले में गिरफ्तार 5 लोगों में 2 बांग्लादेशी भी शामिल

    अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि गिरफ्तार 5 लोगों में से 2 बांग्लादेशी हैं, जबकि दो अन्य उत्तर प्रदेश से और एक सीमापुरी का निवासी है. पुलिस ने बताया कि आरोपियों की पहचान गाजियाबाद निवासी मोहम्मद शोएब (19), पीलीभीत निवासी मोहम्मद आमिर (24), सीमापुरी निवासी यूसुफ (40) और बांग्लादेशी नागरिकों-मोहम्मद आजाद और मोहम्मद सुभान के रूप में हुई है.

  • JNU में योगेंद्र यादव पर हमला, कहा- यदि पुलिस डरी हुई है तो वह अपनी वर्दी उतार दे

    JNU में योगेंद्र यादव पर हमला, कहा- यदि पुलिस डरी हुई है तो वह अपनी वर्दी उतार दे

    स्वराज अभियान के प्रमुख योगेंद्र यादव पर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) परिसर के बाहर रविवार को कथित तौर पर हमला किया गया. साथ ही, विश्वविद्यालय परिसर में शाम को जेएनयू छात्र संघ और एबीवीपी के सदस्यों के बीच झड़प हुई. योगेंद्र यादव ने कहा कि वहां गुंडागर्दी को रोकने के लिए कोई नहीं था और उन्हें मीडिया से बात नहीं करने दिया गया. उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिसकर्मी वहां खड़े थे लेकिन कुछ नहीं कर रहे थे. उन्होंने कहा, ‘‘यदि पुलिस डरी हुई है तो वह अपनी वर्दी उतार सकती है.’’

  • JNU की प्रोफेसर ने कहा- हमलावरों को भेजा गया था, वे डंडे लेकर घूम रहे थे और लोगों को बेदर्दी से पीट रहे थे

    JNU की प्रोफेसर ने कहा- हमलावरों को भेजा गया था, वे डंडे लेकर घूम रहे थे और लोगों को बेदर्दी से पीट रहे थे

    जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) परिसर में हिंसा होने के कुछ घंटों बाद, शिक्षकों ने विश्वविद्यालय की सुरक्षा-व्यवस्था पर सवाल उठाए और आरोप लगाया कि प्रशासन हमलावरों से मिला हुआ है. शिक्षकों ने यह भी कहा कि हिंसा ने छात्रों को हक्का-बक्का कर दिया है. डंडों से लैस नकाबपोश व्यक्तियों के विश्वविद्यालय में प्रवेश करने और छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला करने के बाद परिसर के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. इस हमले में कई लोग जख्मी हुए हैं.

  • कैंपस में हुई हिंसा के बीच जेएनयू प्रशासन का आया बयान, कहा- सेमेस्टर रजिस्ट्रेशन का विरोध और समर्थन कर रहे छात्रों के बीच हुआ संघर्ष

    कैंपस में हुई हिंसा के बीच जेएनयू प्रशासन का आया बयान, कहा- सेमेस्टर रजिस्ट्रेशन का विरोध और समर्थन कर रहे छात्रों के बीच हुआ संघर्ष

    जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय ने रविवार को रात में कहा कि सेमेस्टर रजिस्ट्रेशन का विरोध कर रहे छात्र इसका समर्थन कर रहे छात्रों को रोकने के लिए उनकी तरफ गुस्से से आगे बढ़े जिससे दोनों के बीच संघर्ष हुआ. इस बीच रॉड और डंडे लिए ‘नकाबपोश' बदमाशों ने छात्रावास के कमरों में तोड़ फोड़ की. जेएनयू ने चेतावनी दी कि जो परिसर के शांतिपूर्ण शिक्षण के माहौल को बिगाड़ने की कोशिश करेगा उसे बख्शा नहीं जाएगा. दोषियों को न्याय के दायरे में लाने के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जा रही है.

  • दिल्ली : युवक को बीच-बचाव करना पड़ा महंगा, बदमाशों ने गोली मारकर हत्या की 

    दिल्ली : युवक को बीच-बचाव करना पड़ा महंगा, बदमाशों ने गोली मारकर हत्या की 

    बीती रात दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में करीब दर्जननभर से ज्यादा बदमाशों ने कई गाड़ियों और दुकानों में जमकर तोड़फोड़ की और 2 सगे भाइयों को चाकू और गोली मार दी.

  • दिल्ली : ट्रैफिक पुलिस ने चालान काटा तो नाराज युवक ने अपनी बाइक में लगा दी आग

    दिल्ली : ट्रैफिक पुलिस ने चालान काटा तो नाराज युवक ने अपनी बाइक में लगा दी आग

    अचानक आग की लपटों से घिरी हुई बाइक जब सड़क पर दिखी तो यह प्रश्न उठना स्वाभाविक ही थी कि आग कैसे लगी? लेकिन पता चला कि बाइक में आग किसी और ने नहीं बल्कि इस बाइक के मालिक ने खुद लगाई. चौंकाने वाला यह मामला सीआर पार्क इलाके में सावित्री सिनेमा के पास का सामने आया.

  • दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष का मोबाइल फोन चोरी, पुलिस ने शुरू की जांच

    दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष का मोबाइल फोन चोरी, पुलिस ने शुरू की जांच

    दिल्ली महिला आयोग  (Delhi Women Commission) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) का मोबाइल फोन मध्य दिल्ली के पहाड़गंज इलाके में चोरी हो गया लेकिन पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करते हुए उनका फोन बरामद कर लिया. आयोग की एक सदस्य के अनुसार यह चोरी सोमवार शाम को उस समय हुई जब मालीवाल एक बुजुर्ग महिला की मदद करने के लिए पहाड़गंज गयी थीं. इस घटना की जानकारी पुलिस को दी गयी और पुलिस ने मंगलवार सुबह उन्हें सूचित किया कि उसका फोन बरामद कर लिया गया है.

  • नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों की पहचान करने के लिए उच्च तकनीक का इस्तेमाल

    नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों की पहचान करने के लिए उच्च तकनीक का इस्तेमाल

    नागरिकता संशोधन कानून पर विरोध प्रदर्शन के दौरान जो हिंसा हुई, उसमें शामिल असामाजिक तत्वों और अपराधियों की पहचान फेस रिकग्नीशन यानी चेहरे की पहचान करने वाले सॉफ्टवेयर के जरिए की जा रही है. दिल्ली पुलिस ने हाल ही में इस तकनीक का प्रयोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में भी किया था. नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली के जामिया नगर, सीलमपुर और दरियागंज में वे कौन लोग थे जिन्होंने हिंसा की, गाड़ियां जलाईं और करोड़ों की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया? क्या इसमें अपराधी और असामाजिक तत्व भी शामिल थे? इस सवाल का जवाब खोजने के लिए दिल्ली पुलिस फेस रिकग्नीशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करने जा रही है.

  • दिल्ली पुलिस की वर्दी पहने 'गोली मारने की धमकी' देने वाला शख्स गिरफ्तार, वायरल VIDEO की सच्चाई आई सामने

    दिल्ली पुलिस की वर्दी पहने 'गोली मारने की धमकी' देने वाला शख्स गिरफ्तार, वायरल VIDEO की सच्चाई आई सामने

    एक वीडियो इन दिनों चर्चा में है, जहां एक शख्स दिल्ली पुलिस की वर्दी में यह कहते हुए नजर आ रहा है कि मुझे गृह मंत्रालय से आदेश मिला है कि जो मुझे पत्थर मारेगा मैं उसे गोली मार दूंगा. वीडियो में शख्स यह भी कहते हुए दिखाई दे रहा है कि जो पत्थर मुझे मारा जाएगा मैं उसे राम मंदिर में लगाउंगा. सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद जब इस शख्स के बारे में दिल्ली पुलिस से जानकारी एकत्र की गई तो कहानी कुछ और ही नजर आई.

Advertisement