NDTV Khabar

Delhi ncr air quality


'Delhi ncr air quality' - 18 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • दिल्ली-NCR में आज भी AQI 'अत्यंत खराब' श्रेणी में रहने की संभावना

    दिल्ली-NCR में आज भी AQI 'अत्यंत खराब' श्रेणी में रहने की संभावना

    शहर में धुंध की एक पतली चादर छाई रही जिससे दृश्यता प्रभावित हुई. सर्द मौसम और शांत हवाओं के चलते प्रदूषकों के जमा हो जाने से सोमवार को भी वायु गुणवत्ता 'अत्यंत खराब' श्रेणी में रहने की आशंका है. सरकारी द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता व मौसम पूर्वानुमान एवं अनुसंधान प्रणाली (सफर) के अनुसार रविवार को शहर का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक 377 दर्ज किया गया. 

  • प्रदूषण की वजह से Delhi-NCR के सभी स्कूल बंद, आज भी धुंध की चादर में लिपटी है दिल्ली

    प्रदूषण की वजह से Delhi-NCR के सभी स्कूल बंद, आज भी धुंध की चादर में लिपटी है दिल्ली

    दिल्ली के कई इलाकों में AQI गंभीर श्रेणी से बेहद गंभीर श्रेणी में पहुंचता हुआ दिखाई दे रहा है. गुरुवार को AQI दिल्ली के आईटीओ (474) और लोधी रोड़ (500) में दर्ज किया गया. बता दें, सरकार के वायु गुणवत्ता निगरानी केंद्र ‘वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान एवं अनुसंधान प्रणाली (सफर) ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर गुरुवार को ‘गंभीर' या ‘बेहद गंभीर' श्रेणी में प्रवेश कर गया है.

  • दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर आया प्रियंका चोपड़ा का रिएक्शन, Photo पोस्ट कर बोलीं- यहां शूटिंग करना...

    दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर आया प्रियंका चोपड़ा का रिएक्शन, Photo पोस्ट कर बोलीं- यहां शूटिंग करना...

    दिल्ली-एनसीआर में इन दिनों प्रदूषण (Delhi Pollution) ने कहर बरपाया हुआ है. दिल्ली- एनसीआर (Delhi- NCR) में फैले धुआंसे यानी स्मॉग के कारण हालात ये हैं कि अब घरों से बाहर निकलने पर अधिकतर लोगों को आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कत हो रही है.

  • प्रदूषण की वजह से कितने प्रतिशत लोग दिल्ली-NCR छोड़कर बाहर बसना चाहते हैं, जानें यहां

    प्रदूषण की वजह से कितने प्रतिशत लोग दिल्ली-NCR छोड़कर बाहर बसना चाहते हैं, जानें यहां

    दिल्ली और एनसीआर के 17 हजार निवासियों पर किए गए सर्वेक्षण में यह सामने आया कि 13 प्रतिशत लोग यह मानते हैं कि उनके पास प्रदूषण को झेलने के अतिरिक्त और कोई चारा नहीं है. सर्वेक्षण में पाया गया कि 16 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे स्थायी तौर पर दिल्ली में ही निवास करेंगे लेकिन प्रदूषण अधिक होने के दौरान कहीं बाहर घूमना चाहेंगे.

  • केंद्र ने की दिल्‍ली में प्रदूषण की स्थिति की समीक्षा, NCR में स्‍कूल बंद, विमानों पर भी असर, 10 बातें

    केंद्र ने की दिल्‍ली में प्रदूषण की स्थिति की समीक्षा, NCR में स्‍कूल बंद, विमानों पर भी असर, 10 बातें

    दिल्ली-एनसीआर में रविवार का दिन भी हवा में फैले धुआंसे यानी स्मॉग के नाम रहा. हालत ये रही कि घरों से बाहर निकलने पर अधिकतर लोगों को आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कत होने लगी. दिल्ली के कई इलाकों में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स दिन में एक हज़ार और नोएडा, ग़ाज़ियाबाद में डेढ़ हज़ार तक पहुंच गया. हालांकि शाम होते होते थोड़ी हवा चलने से इसमें गिरावट आई लेकिन हवा का स्तर ख़तरनाक बना ही रहा. ये एक तरह की एयर इमरजेंसी है. हालात को देखते हुए दिल्ली के अलावा नोएडा, ग़ाज़ियाबाद, गुड़गांव और फरीदाबाद के स्कूलों को पांच नवंबर तक बंद करने का आदेश दिया गया. इस बीच दिल्ली में प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव पीके मिश्रा की अगुवाई में दिल्ली और एनसीआर से जुड़े राज्यों के मुख्य सचिवों की वीडियो कांफ्रेंसिंग से बैठक हुई जिसमें निर्देश दिया गया कि कैबिनेट सेक्रेटरी और इन राज्यों के मुख्य सचिव लगातार वायु प्रदूषण पर निगाह बनाए रखें और उसे कम करने के उपायों पर अमल करते रहें. इस बैठक में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के चेयरमैन और मौसम विभाग के निदेशक भी मौजूद रहे. जानकारी के मुताबिक दिल्ली में क़रीब 300 टीमों को प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए तैनात किया गया है. इन टीमों का मुख्य ध्यान सात औद्योगिक इलाकों, दिल्ली एनसीआर के मुख्य मार्गों, निर्माण से जुड़ी जगहों और कूड़ा-कचरा जलने से जुड़ी जगहों पर है. कई इलाकों में धूल को नीचे बैठाने के लिए पानी का भी छिड़काव किया जा रहा है लेकिन ये सब उपाय नाकाफ़ी ही लग रहे हैं.

  • Delhi-NCR में कई स्थानों पर वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में

    Delhi-NCR में कई स्थानों पर वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में

    पड़ोसी इलाकों गाजियाबाद (337), लोनी देहात (335), नोएडा (318) और ग्रेटर नोएडा (308) में भी प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी दर्ज की गई. एक्यूआई 0 से 50 के बीच होने पर ‘अच्छा’ होता है, जबकि 51 से 100 के बीच होने पर ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 के बीच होने पर उसे ‘गंभीर’ समझा जाता है.

  • दिल्ली की हवा हुई खतरनाक, बारिश से राहत मिलने की संभावना

    दिल्ली की हवा हुई खतरनाक, बारिश से राहत मिलने की संभावना

    दिल्ली की वायु गुणवत्ता शनिवार को हवा की धीमी रफ्तार के चलते ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई जबकि अधिकारियों ने अगले दो दिनों में बारिश होने का अनुमान जताया है. इससे प्रदूषण का स्तर घटने की संभावना है.केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक शहर का कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक 423 था जो ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

  • दिल्ली में हवा की गुणवत्ता गंभीर, ट्रकों के प्रवेश पर 24 घंटे की पाबंदी 

    दिल्ली में हवा की गुणवत्ता गंभीर, ट्रकों के प्रवेश पर 24 घंटे की पाबंदी 

    ईपीसीए का यह फैसला राष्ट्रीय राजधानी में गंभीर वायु गुणवत्ता के आलोक में किया गया है. इस सीजन में ऐसा दूसरी बार होगा कि ट्रकों के प्रवेश पर पाबंदी लगायी जाएगी.इससे पहले एक नवंबर से 12 नवंबर तक ऐसा किया गया था जब वायु गुणवत्ता काफी बिगड़ गयी थी. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़े के अनुसार शहर में संपूर्ण वायु गुणवत्ता सूचकांका 443 रहा जो गंभीर श्रेणी में आता है.

  • गंभीर स्थिति में पहुंची दिल्ली-एनसीआर की हवा, फरीदाबाद की हालत सबसे खराब, जानें- अपने शहर का हाल

    गंभीर स्थिति में पहुंची दिल्ली-एनसीआर की हवा, फरीदाबाद की हालत सबसे खराब, जानें- अपने शहर का हाल

    दिल्ली में प्रतिकूल मौसम परिस्थितियों के कारण प्रदूषकों (Air Pollution) का छितराव धीमा होने से रविवार को वायु गुणवत्ता (Air Quality) गिरकर ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 412 दर्ज किया गया जो ‘गंभीर श्रेणी’ में आता है.

  • दिल्ली में सुबह ठिठुरन बढ़ी, वायु की गुणवत्ता है 'बेहद खराब'

    दिल्ली में सुबह ठिठुरन बढ़ी, वायु की गुणवत्ता है 'बेहद खराब'

    सुबह 8.30 बजे वायुमंडल में आद्र्रता का स्तर 94 प्रतिशत रहा जो प्रदूषक तत्वों के तितर-बितर होने के लिए प्रतिकूल स्थित है. 

  • दिल्ली में प्रदूषण: दुनिया में सबसे प्रदूषित हुई राजधानी की हवा, NGT के जुर्माने का भी कोई असर नहीं 

    दिल्ली में प्रदूषण: दुनिया में सबसे प्रदूषित हुई राजधानी की हवा, NGT के जुर्माने का भी कोई असर नहीं 

    राज्य में बढ़ते प्रदूषण (Pollution in Delhi) को देखते हुए एनजीटी (NGT) ने बीते सोमवार को ही आदेश ना मानने और ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई न करने की वजह से दिल्ली सरकार (Delhi Government) पर 25 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. इतना ही नहीं दिल्ली सरकार (Delhi Government) को एनजीटी (NGT) का आदेश सही से लागू न करने की स्थिति में अतिरिक्त 25 करोड़ रुपये सिक्यूरिटी डिपोजिट के तौर पर भी जमा कराने को कहा गया है.

  • दिल्लीवालों सावधान! और खराब हो सकती है दिल्ली की हवा, अगले दो दिन घर से बाहर निकलने से बचें

    दिल्लीवालों सावधान! और खराब हो सकती है दिल्ली की हवा, अगले दो दिन घर से बाहर निकलने से बचें

    दिल्ली की वायु गुणवत्ता शुक्रवार को ‘बहुत खराब’ श्रेणी में रही. इसकी वजह मौसम के विपरित हालात रहे जिनकी वजह से प्रदूषक तत्व तितर-बितर नहीं हो सके. सप्ताह के आखिर में प्रदूषण का स्तर और भी बदतर होने की आशंका है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 358 रहा. 301 से 400 के बीच एक्यूआई को बहुत खराब और 401 से 500 के बीच एक्यूआई को बेहद गंभीर माना जाता है.

  • नहीं सुधरी दिल्ली एनसीआर की हवा, सुबह से छाई रही धुंध की चादर, सांस लेने में हो रही है दिक्कत

    नहीं सुधरी दिल्ली एनसीआर की हवा, सुबह से छाई रही धुंध की चादर, सांस लेने में हो रही है दिक्कत

    हवा की गुणवत्ता 0-50 को अच्छा माना जाता है, 51-100 को संतोषजनक, 101-200 को ठीक-ठाक, 201-300 खराब, 301-400 बहुत खराब और 401 से 500 को बहुत ही खऱाब माना जाता है. मंगलवार को राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता बहुत ही खरीब आंकी गई है. मंगलवार को भी दिल्ली में धूंध की चादर देखने को मिली थी. गौरतलब है कि  राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बढ़ते स्तर को देखते हुए अधिकारी इस सप्ताह कृत्रिम बारिश कराने की योजना बना रहे हैं.

  • बारिश ने दिल्लीवासियों को दी राहत: प्रदूषण का स्तर गिरा, हवा की गुणवत्ता सुधरी

    बारिश ने दिल्लीवासियों को दी राहत: प्रदूषण का स्तर गिरा, हवा की गुणवत्ता सुधरी

    गुरुवार को दिल्ली में पीएम 2.5 का स्तर 105 और पीएम 10 का स्तर 191 दर्ज किया गया. वायु गुणवत्ता सूचकांक में शून्य से 50 अंक तक हवा की गुणवत्ता को 'अच्छा', 51 से 100 तक 'संतोषजनक', 101 से 200 तक 'सामान्य', 201 से 300 के स्तर को 'खराब', 301 से 400 के स्तर को 'बहुत खराब' और 401 से 500 के स्तर को 'गंभीर' श्रेणी में रखा जाता है.

  • दिल्ली में बारिश की फुहारों ने दिलाई प्रदूषण से राहत, अगले दो दिनों में और सुधर सकते हैं हालात

    दिल्ली में बारिश की फुहारों ने दिलाई प्रदूषण से राहत, अगले दो दिनों में और सुधर सकते हैं हालात

    केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक 348 दर्ज किया गया जो 'बहुत खराब' की श्रेणी में आता है. इसमें बताया गया कि दिल्ली के 28 इलाकों में वायु गुणवत्ता 'बेहद खराब' दर्ज की गई जबकि तीन इलाकों में यह 'खराब' की श्रेणी में बनी रही.

  • Delhi के साथ सबसे ज्यादा प्रदूषित हैं ये शहर, प्रदूषण से बचने के लिए अपनाएं ये तरीके

    Delhi के साथ सबसे ज्यादा प्रदूषित हैं ये शहर, प्रदूषण से बचने के लिए अपनाएं ये तरीके

    दिवाली से पहले ही दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण (Delhi Air Pollution) का स्तर बढ़ गया है. बढ़ते प्रदूषण के चलते दिल्ली एनसीआर में रहने वाले लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही है. दिल्ली एनसीआर के कई इलाकों में हवा की क्वॉलिटी गिरती जा रही है. कई इलाकों में प्रदूषक तत्व पीएम 2.5 स्तर है. बता दें कि पीएम 2.5 बारिक कण होते हैं, पीएम 2.5 का स्तर बढ़ने पर ही धुंध बढ़ती है.

  • दिल्ली में छाई धुंध की चादर: इस मौसम की अब तक की सबसे खराब वायु गुणवत्ता दर्ज की गई

    दिल्ली में छाई धुंध की चादर: इस मौसम की अब तक की सबसे खराब वायु गुणवत्ता दर्ज की गई

    राष्ट्रीय राजधानी में हवा की गुणवत्ता लगातार खराब हो रही है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक 381 दर्ज किया गया जो बेहद खराब की श्रेणी में आता है.

  • मौसम विभाग का दावा : दिल्ली में हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी में बरकरार

    मौसम विभाग का दावा : दिल्ली में हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी में बरकरार

    केंद्र द्वारा संचालित सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (एसएएफएआर) के मुताबिक रविवार को सुबह 10 बजे दर्ज किया गया वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 208 रहा जो ‘‘खराब’’ श्रेणी में आता है. 

Advertisement