NDTV Khabar

Economic growth


'Economic growth' - 160 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • ऊंची आर्थिक वृद्धि दर के बाद भी रोजगार सृजन में राष्ट्रीय औसत से पीछे रहे 12 बड़े राज्य: रिपोर्ट

    ऊंची आर्थिक वृद्धि दर के बाद भी रोजगार सृजन में राष्ट्रीय औसत से पीछे रहे 12 बड़े राज्य: रिपोर्ट

    एक रिपोर्ट के अनुसार इन राज्यों की जीडीपी में वृद्धि मुख्यत: ऐसे क्षेत्रों में हुई है जिनमें रोजगार के कम अवसर होते हैं. क्रिसिल की यह रिपोर्ट ऐसे समय में आयी है जब सेंटर फोर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी ने सिर्फ 2018 में ही 1.10 करोड़ नौकरियां समाप्त होने की बात कही है.

  • औद्योगिक उत्पादन वृद्धि दर 17 माह के निचले स्तर पर, नवंबर में सिर्फ 0.5 प्रतिशत रही

    औद्योगिक उत्पादन वृद्धि दर 17 माह के निचले स्तर पर, नवंबर में सिर्फ 0.5 प्रतिशत रही

    औद्योगिक क्षेत्र की गतिविधियों को आंकने वाले औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में नवंबर माह में 0.5 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई. केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार आईआईपी की वृद्धि दर का यह 17 महीने का निचला स्तर है. 

  • इस साल GDP ग्रोथ रेट 7.2 प्रतिशत रहने का अनुमान, पिछले साल 6.7 फीसदी की थी रफ्तार

    इस साल GDP ग्रोथ रेट 7.2 प्रतिशत रहने का अनुमान, पिछले साल 6.7 फीसदी की थी रफ्तार

    केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) ने सोमवार को यह कहा है. इससे पिछले वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर 6.7 प्रतिशत रही थी.

  • अब नए आंकड़े, एनडीए के पहले चार साल में विकास की रफ्तार यूपीए के दौर से ज़्यादा रहने का दावा

    अब नए आंकड़े, एनडीए के पहले चार साल में विकास की रफ्तार यूपीए के दौर से ज़्यादा रहने का दावा

    नोटबंदी के असर को लेकर कृषि मंत्रालय के यू टर्न के बाद भारत सरकार का एक और यू टर्न दिख रहा है. सरकार ने अगस्त में जारी आंकड़ों को ख़ारिज कर दिया और नए आंकड़े देकर बताया कि 2014 से 2018 के बीच एनडीए के पहले चार साल में विकास की रफ़्तार यूपीए के दौर से ज़्यादा रही है.

  • कच्चा तेल की अधिक कीमतें आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम: मूडीज

    कच्चा तेल की अधिक कीमतें आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम: मूडीज

    क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने कहा कि कच्चे तेल की ऊंची कीमतें देश की आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम हैं. हालांकि पेट्रोल एवं डीजल पर दी जाने वाली छूट में सुधार से जोखिम कम हुआ है. मूडीज और उसकी सहयोगी इकाई इक्रा द्वारा किये गये सर्वेक्षण में निवेशकों ने कच्चे तेल की अधिक कीमतों को आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम बताया और कहा कि 3.3 प्रतिशत राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को प्राप्त करना मुश्किल है. 

  • अनुमानित वैश्विक वृद्धि दर बरकरार, नकारात्मक जोखिम की आशंका : विश्व बैंक

    अनुमानित वैश्विक वृद्धि दर बरकरार, नकारात्मक जोखिम की आशंका : विश्व बैंक

    विश्व बैंक ने इस वर्ष और अगले वर्ष वैश्विक अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर के अपने अनुमान को अपरिवर्तित रखा है, लेकिन कई नकारात्मक जोखिम की चेतावनी भी दी है, जिसमें बढ़ता व्यापार संरक्षणवाद भी शामिल है.

  • चुनाव के बावजूद भारत में आर्थिक सुधार और ग्रोथ जारी रहनी चाहिए: IMF

    चुनाव के बावजूद भारत में आर्थिक सुधार और ग्रोथ जारी रहनी चाहिए: IMF

    गौरतलब है कि आगामी एक साल के दौरान कर्नाटक, मिजोरम, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में विधानसभा चुनाव और 2019 का आम चुनाव होने हैं.

  • आर्थिक सर्वेक्षण : विकास दर बढ़ने की उम्मीदों पर भारी पड़ सकते हैं तेल के दाम

    आर्थिक सर्वेक्षण : विकास दर बढ़ने की उम्मीदों पर भारी पड़ सकते हैं तेल के दाम

    इस साल आर्थिक विकास दर पिछले साल से बेहतर रहेगी. यह उम्मीद संसद में सोमवार को पेश किए गए आर्थिक सर्वे में जताई गई है. साल 2018-19 के लिए विकास दर 7 से 7.5% तक रहने की उम्मीद की जा रही है.

  • आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट : राहुल का मोदी सरकार पर निशाना, छोटे-मोटे झटकों को छोड़कर 'अच्छे दिन' यहीं हैं

    आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट : राहुल का मोदी सरकार पर निशाना, छोटे-मोटे झटकों को छोड़कर 'अच्छे दिन' यहीं हैं

    आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट आने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि जीडीपी में गिरावट, कृषि और रोजगार निर्माण में गिरावट जैसे छोटे-मोटे झटकों को छोड़ दें तो अच्छे दिन यहीं हैं.

  • शिक्षा, रोजगार की चुनौतियों से निपटने में नाकाम रही मोदी सरकार : चिदंबरम

    शिक्षा, रोजगार की चुनौतियों से निपटने में नाकाम रही मोदी सरकार : चिदंबरम

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि चार साल तक केंद्र की सत्ता में काबिज रहने के बाद भी भाजपा के नेतृत्व वाली राजग सरकार शिक्षा, रोजगार और कृषि क्षेत्र की चुनौतियों से निपटने में नाकाम रही है. संसद में पेश 2017-18 की आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट पर जारी प्रतिकिया में चिदंबरम ने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के 4 साल सत्ता में रहने के बावजूद कृषि क्षेत्र के हालात भी बदतर बने हुए हैं. 'वास्तविक कृषि क्षेत्र वृद्धि और वास्तविक कृषि राजस्व यथावत ही हैं.' इससे पता चलता है कि कृषि क्षेत्र पर ध्यान नहीं दिया गया.

  • वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पेश किया आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट, जानिये 10 खास बातें 

    वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पेश किया आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट, जानिये 10 खास बातें 

    वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट पेश कर दिया है. यह रिपोर्ट देश की आर्थिक स्थिति की वर्तमान स्थिति और सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से मिलने वाले परिणामों को दर्शाती है. वास्तव में यह वित्त मंत्रालय की ओर से पेश की जाने वाली आधिकारिक रिपोर्ट होती है. आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट में बताया जाता है कि साल के दौरान विकास की प्रवृत्ति क्या और कैसी रही. सर्वे के मुताबिक साल 2017-18 में GDP 6.75 फीसदी रहने की उम्‍मीद है. यह 2016-17 में 7.1 फीसदी और 2015-16 में 8 फीसदी थी. साल 2018-19 में 7 से 7.5 रहने का अनुमान है. इनडायरेक्‍ट टैक्‍स देने वालों में 50 फीसदी का इजाफा हुआ है. विदेशी मुद्रा भंडार बढ़कर वर्ष 2017-18 में 409.4 बिलियन यूएस डॉलर रहने का अनुमान है.

  • वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम की बैठक से पहले IMF से अच्छी ख़बर, '2018 में भारत की विकास दर 7.4% रहेगी'

    वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम की बैठक से पहले IMF से अच्छी ख़बर, '2018 में भारत की विकास दर 7.4% रहेगी'

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दावोस में हैं और दावोस में वर्ल्‍ड इकोनॉमिक फोरम (World Economic Forum) की बैठक शुरू होने से पहले अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की तरफ़ से अच्छी ख़बर आई है. IMF ने 2018 में भारत की विकास दर 7.4 फ़ीसदी रहने का अनुमान लगाया है जबकि 2018 में चीन की विकास दर 6.8 फ़ीसदी रहेगी.

  • जितनी ज़ुबान चलती है, उतनी ही अर्थव्यवस्था फ़िसलती है

    जितनी ज़ुबान चलती है, उतनी ही अर्थव्यवस्था फ़िसलती है

    सरकार का आर्थिक प्रबंधन फिसलन पर है. उसका वित्तीय घाटा बढ़ता जा रहा है. सालभर यही दावा होता है कि सब कुछ नियंत्रण में है बस आख़िर में पता चलने लगता है कि वित्तीय घाटा 3.4 प्रतिशत हो गया है. वित्त वर्ष 17-18 के लिए जितनी बजट ज़रूरत तय की गई थी, उसे पूरा करना मुश्किल होता जा रहा है.

  • कांग्रेस का सरकार पर हमला, कहा- मोदी के आर्थिक कुप्रबंधन से विकास दर घटी

    कांग्रेस का सरकार पर हमला, कहा- मोदी के आर्थिक कुप्रबंधन से विकास दर घटी

    जीडीपी ग्रोथ में गिरावट और देहरादून में आत्महत्या के मामले के मद्देनजर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला किया है. कांग्रेस ने बुधवार को सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में गिरावट के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की निंदा की और कहा कि सरकार के 'सकल आर्थिक कुप्रबंधन' के कारण ही भारत की विकास दर घटी है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, "सरकार का सकल आर्थिक कुप्रबंधन, जिसके कारण भारत की आर्थिक रफ्तार घट गई है, काफी कुछ कहता है."

  • आ गया आर्थिक समाचारों का झटकामार बुलेटिन

    आ गया आर्थिक समाचारों का झटकामार बुलेटिन

    शेयर मार्केट में निवेश करने वालों के लिए अच्छी खबर है. अभी एक साल से कम समय पर बेचने से टैक्स देना होता है. उसके बाद टैक्स फ्री माल हो जाता है. सरकार विचार कर रही है कि अब शेयर खरीदने के तीन साल के भीतर बेचने पर टैक्स लिया जाए ताकि आपको ज्यादा से ज्यादा टैक्स देने का मौका मिले. अभी तक सरकार एक साल के भीतर बेचने पर ही टैक्स लेकर आपको टैक्स देने के गौरव से वंचित कर रही थी.

  • सरकार ने जारी किया आंकड़ा, 2017-18 में जीडीपी ग्रोथ घटकर 6.5 फीसदी रहने की उम्मीद

    सरकार ने जारी किया आंकड़ा, 2017-18 में जीडीपी ग्रोथ घटकर 6.5 फीसदी रहने की उम्मीद

    वित्त वर्ष 2017-18 के लिए देश की जीडीपी यानी सकल घरेलू उत्पाद के ग्रोथ रेट का पूर्वानुमान सरकार ने जारी कर दिया है. केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय के मुताबिक, इस साल 6.5 फीसदी की दर से जीडीपी बढ़ने की उम्मीद है, जो पिछले साल से कम है. बता दें कि पिछले साल 2016-17 में जीडीपी की वृद्धि दर 7.1 फीसदी थी. वहीं, 2015-16 में जीडीपी की वृद्धि दर 8 प्रतिशत थी. कुल मिलाकर देखा जाए तो इस अनुमान से विकास दर में कमी की बात दिख रही है. यह पूर्वानुमान इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि वित्त मंत्रालय 2018 के बजट की तैयारी कर रही है और ये 1 फरवरी को प्रस्तुत होगा. 

  • अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर आई अच्छी खबर, नवंबर में 8 बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर में रही शानदार तेजी

    अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर आई अच्छी खबर, नवंबर में 8 बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर में रही शानदार तेजी

    रिफाइनरी, इस्पात तथा सीमेंट जैसे क्षेत्रों में मजबूत प्रदर्शन से बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर अच्छी रही.

  • अगले साल जीडीपी की विकास दर के बारे में एसोचैम ने लगाया यह अनुमान

    अगले साल जीडीपी की विकास दर के बारे में एसोचैम ने लगाया यह अनुमान

    एसोचैम के मुताबिक अगर राजनीतिक रूप से कोई बड़ा फेरबदल नहीं होता है तो कच्चे तेल की बढ़ी कीमतों को लेकर चिंता कम हो सकती है.