NDTV Khabar

Election 2017


'Election 2017' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • सुनील जाखड़ ने लोकसभा चुनाव में हार के बाद पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, राहुल गांधी को पत्र लिखकर बताई वजह

    सुनील जाखड़ ने लोकसभा चुनाव में हार के बाद पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, राहुल गांधी को पत्र लिखकर बताई वजह

    सुनील जाखड़ ने गुरदासपुर से बीजेपी के सांसद विनोद खन्ना के निधन के बाद इस सीट पर 2017 में हुए उपचुनाव में जीत दर्ज की थी. सुनील जाखड़ के एक सहयोगी ने सोमवार को कहा कि उन्होंने परिणाम घोषित होने के एक दिन बाद राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया था .

  • Gujarat Election Results 2019: गुजरात में बीजेपी ने किया क्लीन स्वीप, कांग्रेस को एक भी सीट नहीं हुई नसीब

    Gujarat Election Results 2019: गुजरात में बीजेपी ने किया क्लीन स्वीप, कांग्रेस को एक भी सीट नहीं हुई नसीब

    Gujarat Election Results 2019 Updates, News: पिछली बार बीजेपी ने गुजरात की सभी 26 सीटों (Gujarat Lok Sabha Seats) पर जीत दर्ज की थी और पार्टी को 60 फीसद वोट मिले थे, लेकिन इस बार स्थिति बदली नजर आ रही है. खासकर 2017 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस गुजरात में मजबूती के साथ सामने आई है. वोटों की गिनती कुछ देर में

  • प्रज्ञा ठाकुर की बढ़ सकती है मुश्किल, मध्य प्रदेश सरकार RSS प्रचारक सुनील जोशी हत्याकांड की फाइल फिर खोलेगी

    प्रज्ञा ठाकुर की बढ़ सकती है मुश्किल, मध्य प्रदेश सरकार RSS प्रचारक सुनील जोशी हत्याकांड की फाइल फिर खोलेगी

    मध्य प्रदेश की भोपाल की लोकसभा सीट से प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. मध्य प्रदेश सरकार ने फैसला किया है कि आरएसएस प्रचारक सुनील जोशी हत्याकांड की फाइल फिर से खोली जाएगी. इस मामले में प्रज्ञा ठाकुर भी आरोपी है. सुनील जोशी की हत्या 29 दिसंबर 2007 को गोली मारकर कर दी गई थी. यह घटना देवास थाना इलाके में हुई थी. शुरुआती जांच में इस घटना के बारे में कोई सुराग नहीं मिल पाया लेकिन राजस्थान से गिरफ्तार किए गए एक शख्स  के बयानों के बाद  प्रज्ञा ठाकुर और 7 अन्य लोगों को भी इस मामले में आरोपी बना लिया गया. हालांकि 1 फरवरी को 2017 को इन सभी के खिलाफ सबूत न मिलने पर आरोप मुक्त कर दिया गया.

  • CM योगी की सिफारिश पर राज्यपाल ने ओपी राजभर को UP कैबिनेट से किया बर्खास्त तो बोले- हक मांगना बगावत तो समझो हम बागी हैं

    CM योगी की सिफारिश पर राज्यपाल ने ओपी राजभर को UP कैबिनेट से किया बर्खास्त तो बोले- हक मांगना बगावत तो समझो हम बागी हैं

    सुभासपा उत्तरप्रदेश में भाजपा की सहयोगी पार्टी है और 2017 के विधानसभा चुनाव में उसने चार सीटें जीती थीं. लेकिन लोकसभा चुनाव राजभर की पार्टी ने भाजपा के साथ मिलकर नहीं लड़ा. राजभर की पार्टी ने खुद 39 उम्मीदवार चुनाव में उतारे थें. वहीं कुछ सीटों पर उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों के खिलाफ प्रचार भी किया था. हालही राजभर के पुत्र सुभासपा महासचिव अरूण राजभर ने स्पष्ट किया था कि भाजपा के साथ विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन था ना कि लोकसभा चुनाव के लिए.

  • लोकसभा चुनाव 2019 : सुखबीर बादल का दावा- पंजाब में BJP-SAD को मिलेंगी इतनी सीटें

    लोकसभा चुनाव 2019 : सुखबीर बादल का दावा- पंजाब में BJP-SAD को मिलेंगी इतनी सीटें

    Lok Sabha Polls : शिरोमणि अकाली दल (SAD) के मुखिया और पंजाब के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) इस बार खुद पंजाब (Punjab) की फिरोजपुर लोकसभा सीट से चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) लड़ रहे हैं. सन 2007 से लेकर 2017 तक लगातार 10 साल तक सत्ता में रहने के बाद शिरोमणि अकाली दल पंजाब में तीसरे नंबर की पार्टी बन गई.

  • चुनाव 2019: मणिशंकर अय्यर ने 'नीच' वाली टिप्पणी को ठहराया सही तो PM मोदी बोले- ये गालियां मेरे लिए गिफ्ट, मैं नहीं जनता देगी जवाब

    चुनाव 2019: मणिशंकर अय्यर ने 'नीच' वाली टिप्पणी को ठहराया सही तो PM मोदी बोले- ये गालियां मेरे लिए गिफ्ट, मैं नहीं जनता देगी जवाब

    कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर पीएम मोदी पर निशाना साधा है. इस बार अय्यर ने एक लेख के जरिए पीएम के खिलाफ की गई पुरानी टिप्पणी को सही ठहराया है. अय्यर ने 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव के समय पीएम मोदी को 'नीच किस्म का आदमी' कहा था. वहीं अब उन्होंने पीएम मोदी को अब तक का सबसे बदजुबान पीएम कहा है.

  • राहुल गांधी : कांग्रेस के पुनरुद्धार और यूपीए की एकजुटता का दारोमदार

    राहुल गांधी : कांग्रेस के पुनरुद्धार और यूपीए की एकजुटता का दारोमदार

    कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) उत्तर प्रदेश के अमेठी (Amethi) लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं. वे सन 2004 से गांधी परिवार की इस पारंपरिक सीट से निरंतर चुनाव जीतते आ रहे हैं. इस लोकसभा चुनाव (Loksabha Elections 2019) में राहुल गांधी का मुकाबला बीजेपी की नेत्री केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) से है. पिछले लोकसभा चुनाव में भी उनका मुकबला स्मृति से हुआ था जिसमें राहुल विजयी हुए थे.

  • गिरिराज सिंह: विवादित बयानों से चर्चा में रहने वाले इस नेता का कैसा है सियासी सफर, यहां जानिए

    गिरिराज सिंह: विवादित बयानों से चर्चा में रहने वाले इस नेता का कैसा है सियासी सफर, यहां जानिए

    2019 के लोकसभा चुनावों में वह बिहार के बेगूसराय से चुनावी ताल ठोंक रहे हैं. उनका मुकाबला जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार से है. वह इस समय बिहार के नवादा से सांसद हैं.

  • नीतीश जी किस नाम की मज़दूरी मांग रहे है : तेजस्वी कुमार

    नीतीश जी किस नाम की मज़दूरी मांग रहे है : तेजस्वी कुमार

    चुनाव प्रचार के दौरान जनता से काम की मजदूरी मांगने के नीतीश कुमार के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राजद के नेता एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री से सवाल किया कि क्या वे मुज़फ्फरपुर बालिका गृह, सृजन घोटाले या जनादेश का अपमान करने के नाम पर मजदूरी मांग रहे हैं? तेजस्वी ने ट्वीट किया, ‘‘नीतीश जी किस बात की मज़दूरी माँग रहे है?’’ उन्होंने कहा कि मुज़फ्फरपुर बालिका गृह में 34 बच्चियों के साथ हुए बलात्कार एवं उन दरिदों को बचाने या 2013 में भाजपा को छोड़ने या 2017 में 11 करोड़ लोगों के जनादेश का चीरहरण करने या सृजन घोटाला समेत 40 अन्य कथित घोटाले करने के नाम पर मज़दूरी मांग रहे है? मुख्यमंत्री यह बताएं. 

  • कांग्रेस ने अल्पेश ठाकोर की विधायक के तौर पर सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू की

    कांग्रेस ने अल्पेश ठाकोर की विधायक के तौर पर सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू की

    गुजरात कांग्रेस इकाई प्रमुख अमित चावड़ा ने कहा कि कांग्रेस ने अल्पेश ठाकोर (Alpesh Thakor) की एक विधायक के तौर पर सदस्यता समाप्त कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के नेता 2017 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर राधनपुर सीट से निर्वाचित हुए थे. उन्होंने गत 10 अप्रैल को यह दावा करते हुए पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था कि वह और उनके ठाकोर समुदाय को कांग्रेस की ओर से अपमान और धोखा मिला है.

  • लोकसभा चुनाव : क्या गढ़वाघाट आश्रम बीजेपी की नई 'प्रयोगशाला' है?

    लोकसभा चुनाव : क्या गढ़वाघाट आश्रम बीजेपी की नई 'प्रयोगशाला' है?

    गढ़वाघाट आश्रम वाराणसी में है. इस आश्रम के अनुयायियों की संख्या करोड़ों में है, जिनमें ज्यादातर दलित और पिछड़े समाज, खासकर यादवों की हैं. इसकी बड़ी वजह ये है कि इस आश्रम को भगवान कृष्ण के वंशजों का माना जाता है. लिहाजा यहां पर समय-समय पर लगभग सभी पार्टियों के नेताओं का आना जाना लगा रहा. यही नहीं इस पीठ से कई बड़े राजनेताओं की आस्था भी जुड़ी हुई है. राहुल गांधी से लेकर राजनाथ सिंह जैसे नेता यहां आ चुके हैं. सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव अक्सर यहां आते रहे हैं तो 2017 में विधानसभा चुनाव के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी पहली बार गढ़वाघाट आश्रम पहुंचे थे और यहीं से अपने चुनाव प्रचार के अभियान की शुरुआत भी की थी. 

  • BJP के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे बेटे के लिए छुपकर प्रचार कर रहे हैं कांग्रेस के बड़े नेता?

    BJP के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे बेटे के लिए छुपकर प्रचार कर रहे हैं कांग्रेस के बड़े नेता?

    सूत्रों के मुताबिक, सुजय के करीबी माने जाने वाले कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ता तो उन्हें एक राजनीतिक रणनीतिकार मानते हैं जिन्होंने 2014 में विधानसभा चुनावों में पिता की जीत सुनिश्चित करने के लिए काम किया था. सुजय ने 2017 में हुए जिला परिषद चुनावों में भी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

  • ओम प्रकाश राजभर के बागी तेवर : बीजेपी की हालत सांप-छछूंदर जैसी, न निगलते बन रहा और न उगलते

    ओम प्रकाश राजभर के बागी तेवर : बीजेपी की हालत सांप-छछूंदर जैसी, न निगलते बन रहा और न उगलते

    लोकसभा चुनाव के बीच में ही उत्तर प्रदेश में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर के  एक बार फिर बगावती  तेवर सामने आये हैं.  इस बार तो इन्होने गठबंधन से अलग पूर्वांचल की 25 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का ऐलान कर दिया है.  उनकी इस घोषणा के बाद बीजेपी सकते में हैं वह अपने नफ़ा नुकसान का भी आकलन कर रही है. एक यह भी कयास लगाया जा रहा है कि नाराज़ ओम प्रकाश को बीजेपी आखिरी तक मना लेगी क्योंकि पूर्वांचल में बीजेपी के लिये अपना दल के बाद भासपा यानी ओम प्रकाश राजभर की पार्टी बड़े मायने रखती है. इन्ही दो पार्टियों की कश्ती पर सवार होकर बीजेपी न सिर्फ 2014 में उत्तर प्रदेश में 73 सीट के रिकार्ड आंकड़े तक पहुंची थी बल्कि  2017 के विधानसभा में सूबे की सत्ता तक पहुंचने में भी कामयाब हुई थी.

  • सुखराम: घोटाले में नाम आने पर कांग्रेस ने निकाला, खुद की पार्टी बनाई, BJP में भी रहे, अब फिर थामा 'हाथ'

    सुखराम: घोटाले में नाम आने पर कांग्रेस ने निकाला, खुद की पार्टी बनाई, BJP में भी रहे, अब फिर थामा 'हाथ'

    टेलीकॉम घोटाले में नाम आने के बाद सुखराम को कांग्रेस पार्टी से निकाल दिया गया था. इसके बाद उन्होंने हिमाचल विकास कांग्रेस का गठन किया और उन्होंने चुनाव के बाद भाजपा से गठबंधन कर कर सरकार में शामिल हो गए थे. 2004 लोकसभा चुनाव से पहले उन्होंने फिर कांग्रेस का हाथ थाम लिया, लेकिन साल 2017 में फिर छोड़ दिया और भाजपा ज्वाइन कर ली. हिमाचल प्रदेश के मंडी से साल 1962 से 1984 तक सांसद रहे सुखराम का मंडी संसदीय क्षेत्र में काफी प्रभाव है जहां से वह तीन बार सांसद निर्वाचित हुए थे.

  • कौन हैं बीजेपी में शामिल होने वाली पूर्व आईपीएस भारती घोष?

    कौन हैं बीजेपी में शामिल होने वाली पूर्व आईपीएस भारती घोष?

    पूर्व आईपीएस भारती घोष (Ex-IPS Bharati Ghosh) हाल ही में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं. एक समय था जब पूर्व आईपीएस भारती घोष (Bharati Ghosh) ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की करीबी मानी जाती थी. हाल ही में उन्होंने बंगाल पुलिस द्वारा दर्ज भ्रष्टाचार के नए मामलों में दंडात्मक कार्रवाई से संरक्षण दिलाने का अनुरोध करते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. भारती घोष (Bharati Ghosh) ने आईपीएस के पद से 29 दिसंबर 2017 को इस्तीफा दे दिया था. जिसके बाद से भारती बीजेपी में शामिल होने की बात को लेकर चर्चा में आ गईं.

  • NDTV से बोले चंद्रशेखर 'रावण'- मैंने मायावती को पांच बार किया फोन पर नहीं मिला जवाब

    NDTV से बोले चंद्रशेखर 'रावण'- मैंने मायावती को पांच बार किया फोन पर नहीं मिला जवाब

    मायावती के समर्थक मुख्य रूप से जाटव दिलत मतदाता है, जो राज्य में रहने वाले कुल दलितों की आबादी की आधी है. 2017 में साहरनपुर के एक गांव में ऊपरी जाति और दलितों के बीच दिल दहलाने वाली घटना हुई़. जिसकी वजह से कुछ समय बाद इलाके में दंगे भी भड़के. यह पूरा इलाका अगले कई सप्ताह तक इन दंगों की आंच में झुलसता रहा. इन दंगों में दो लोगों की मौत हुई. मरने वालों में एक दलित और दूसरा ठाकुर था.

  • गुजरात कांग्रेस की वेबसाइट हुई हैक, लगाई कथित सेक्स टेप से हार्दिक पटेल की तस्वीर

    गुजरात कांग्रेस की वेबसाइट हुई हैक, लगाई कथित सेक्स टेप से हार्दिक पटेल की तस्वीर

    यह तस्वीर 2017 चुनावों से पहले सामने आए उनके कथित सेक्स वीडियो में से एक का स्क्रीनशॉट लग रहा है. तस्वीर में पटेल से मिलते-जुलते एक व्यक्ति को बिस्तर पर एक लड़की के साथ बैठा हुआ दिखाया है और नीचे लिखा है - 'हमारे नये नेता का स्वागत.'

  • लोकसभा चुनाव 2019 : धार्मिक और प्रकृतिक पर्यटन वाले उत्तराखंड में बीजेपी और कांग्रेस के बीच मुकाबला

    लोकसभा चुनाव 2019 : धार्मिक और प्रकृतिक पर्यटन वाले उत्तराखंड में बीजेपी और कांग्रेस के बीच मुकाबला

    उत्तराखंड में पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने पांचों लोकसभा सीटें जीती थीं और 2017 के विधानसभा चुनाव में भी पार्टी ने जोरदार जीत हासिल की. इस बार बीजेपी को कांग्रेस के अलावा सपा और बसपा मिलकर चुनौती दे रहे हैं. यहां सभी सीटों के लिए 11 अप्रैल को मतदान होगा.

Advertisement