NDTV Khabar

Elections 2019


'Elections 2019' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • झारखंड विधानसभा चुनाव : भाजपा और कांग्रेस ने अपने-अपने नारे लॉन्च किए

    झारखंड विधानसभा चुनाव : भाजपा और कांग्रेस ने अपने-अपने नारे लॉन्च किए

    झारखंड में पहले चरण के लिए प्रचार विधिवत रूप से रविवार से शुरू होगा. अब तक के राजनीतिक घटनाक्रम से जहां भाजपा चुनाव मैदान में पहली बार बिना किसी सहयोगी के जा रही है वहीं झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस और राजद गठबंधन के अलावा भाजपा को रोकने के लिए बाबूलाल मरांडी के अलावा सुदेश महतो की आजसू भी मैदान में है.

  • Jharkhand Assembly Election 2019: AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की एक और लिस्ट, ओवैसी ने कहा- अब बराबरी की बात...

    Jharkhand Assembly Election 2019: AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की एक और लिस्ट, ओवैसी ने कहा- अब बराबरी की बात...

    AIMIM की दूसरी लिस्ट में चार प्रत्याशियों के नामों का ऐलान किया गया है. इस लिस्ट में बोकारो से मश्कूर सिद्दकी, हजारीबाग से नदीम खान, मधेपुरा से इकबार अंसारी और सारथ से मुमताज अंसारी का नाम शामिल है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ओवैसी की पार्टी ने ऐलान किया था कि विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी 20 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. इससे पहले AIMIM ने तीन प्रत्याशियों के नामों का ऐलान किया था. 

  • NEWS FLASH: जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को श्रीनगर के एक सरकारी क्वार्टर में शिफ्ट किया गया

    NEWS FLASH: जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को श्रीनगर के एक सरकारी क्वार्टर में शिफ्ट किया गया

    देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें...

  • झारखंड में बीजेपी पहली बार आजसू से पूरी तरह जुदा होकर विधानसभा चुनाव लड़ेगी

    झारखंड में बीजेपी पहली बार आजसू से पूरी तरह जुदा होकर विधानसभा चुनाव लड़ेगी

    यह पहली बार होगा जब बीजेपी सुदेश महतो के आल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) के बिना झारखंड का विधानसभा चुनाव लड़ेगी. जहां तक आंकड़ों का सवाल है तो सन 2000 में झारखंड नया राज्य बना तब भारतीय जनता पार्टी और आजसू गठबंधन एक साथ आए थे. उस समय सुदेश महतो अपनी पार्टी के एकमात्र विधायक थे, लेकिन उन्हें एक साथ कई मंत्रालय मिले थे.

  • महाराष्ट्र को 20 दिन में मिल सकती है नई सरकार, एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना ने मिलकर किया मंथन

    महाराष्ट्र को 20 दिन में मिल सकती है नई सरकार, एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना ने मिलकर किया मंथन

    Maharashtra Government 2019: महाराष्ट्र में 20 दिन के भीतर नई सरकार अस्तित्व में आ सकती है. सरकार बनाने के लिए बनी एनसीपी की समन्वय समिति के एक सदस्य ने यह दावा किया है. महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस की सरकार के गठन की कोशिशें तेज हो गई हैं. मुंबई में पहली बार तीनो दलों की एक साथ बैठक हुई. महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार के गठन के लिए फार्मूलों पर चर्चा जारी है. बुधवार को कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं की बैठक हुई थी. इसके बाद गुरुवार को इन दोनों दलों के साथ शिवसेना की भी बैठक हुई. तीनों ही पार्टियों के नेताओं ने एक साथ बैठकर सरकार के गठन के फार्मूले पर चर्चा की.

  • Jharkhand Election: BJP-आजसू का गठबंधन टूटा, 80 सीटों पर अकेले लड़ेगी भारतीय जनता पार्टी

    Jharkhand Election: BJP-आजसू का गठबंधन टूटा, 80 सीटों पर अकेले लड़ेगी भारतीय जनता पार्टी

    Jharkhand Election 2019: झारखंड में विधानसभा चुनाव (Jharkhand Election) से पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP) और आजसू (AJSU) का गठबंधन टूट गया. भारतीय जनता पार्टी अब झारखंड की सभी 80 विधानसभा सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी. भारतीय जनता पार्टी और ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (All Jharkhand Students Union) के बीच सीटों के तालमेल नहीं होने की वजह से यह गठबंधन टूटा है. 

  • झारखंड : BJP ने कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखदेव भगत को लोहरदगा से मैदान में उतारा

    झारखंड : BJP ने कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखदेव भगत को लोहरदगा से मैदान में उतारा

    पहले चरण के चुनाव की सबसे चर्चित सीटों में से एक लोहरदगा से भाजपा ने कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखदेव भगत (Sukhdeo Bhagat) को उतारा है. 

  • महाराष्ट्र: भाजपा अपने विधायकों और पदाधिकारियों की बुलाएगी बैठक

    महाराष्ट्र: भाजपा अपने विधायकों और पदाधिकारियों की बुलाएगी बैठक

    भाजपा के एक नेता ने कहा कि बैठक में भाग लेने वाले लोग पार्टी के विधायक दल के नेता देवेन्द्र फड़णवीस और प्रदेश इकाई के प्रमुख चंद्रकांत पाटिल से संवाद करेंगे. उन्होंने कहा कि भाजपा की महाराष्ट्र प्रभारी सरोज पांडे भी बैठक में मौजूद रहेंगी. नव-निर्वाचित विधायकों की बैठक बृहस्पतिवार को होगी जबकि जिला स्तर के नेताओं और पदाधिकारियों की बैठक शुक्रवार को होगी.

  • गृहमंत्री अमित शाह बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगना इसलिए जरूरी था क्योंकि...

    गृहमंत्री अमित शाह बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगना इसलिए जरूरी था क्योंकि...

    न्यूज एजेंसी ANI के इंटरव्यू में अमित शाह ने बताया कि आखिर महाराष्ट्र (Maharashtra) में राष्ट्रपति शासन (President's Rule) लाना क्यों जरूरी था. इतना ही नहीं उन्होंने कहा, ''चुनावों से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और मैंने सार्वजनिक रूप से कई बार कहा था कि अगर गठबंधन जीतता है तो देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री होंगे. किसी ने भी आपत्ति नहीं जताई. अब वे नई मांगों के साथ आए हैं जो हमारे लिए स्वीकार्य नहीं हैं.''

  • शिवसेना पर हिंदुत्व का एजेंडा छोड़ने का दबाव, ऐसा होगा महाराष्ट्र की नई सरकार का स्वरूप

    शिवसेना पर हिंदुत्व का एजेंडा छोड़ने का दबाव, ऐसा होगा महाराष्ट्र की नई सरकार का स्वरूप

    महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी आखिरकार सत्ता का चक्रव्यूह भेदने में सफल रही है. इसकी वजह हैं चाणक्य शरद पवार. उनकी पार्टी को बीजेपी ने खत्म होने की कगार पर बता दिया था और कहा था कि एनसीपी को दस सीटें आएंगी. मगर 80 साल के पवार ने सारे समीकरण पलटकर रख दिए और अब शिवसेना के साथ सख्त मोल-भाव में जुट गए हैं. वैसे भी शिवसेना अब उस कगार पर पहुंच गई है जहां वह मोल भाव करने की हालत में है नहीं. सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने की जिम्मेदारी एक तरह से पवार को ही सौंप दी है. इतना जरूर है कि कहा जा रहा है कि कांग्रेस और एनसीपी के पांच-पांच नेताओं की एक कमेटी बनाई गई है.

  • महाराष्ट्र : कैसे टूटा सत्ता का चक्रव्यूह, शरद पवार कैसे बने राजनीति के चाणक्य?

    महाराष्ट्र : कैसे टूटा सत्ता का चक्रव्यूह, शरद पवार कैसे बने राजनीति के चाणक्य?

    महाराष्ट्र में जैसे-जैसे सरकार बनाने के दिन बीतते जा रहे थे और बीजेपी शिव सेना में तनातनी और बढ़ती जा रही थी भारतीय राजनीति के मौजूदा चाणक्य शरद पवार सत्ता के इस चक्रव्यूह को भेदने के लिए रणनीति बनाते जा रहे थे. शरद पवार इस पूरे संकट में लगातार सोनिया गांधी के संपर्क में थे. पवार ने इस चक्रव्यूह को भेदने के लिए सोमवार, यानी 11 नवंबर का दिन चुना. सोनिया गांधी भी अपनी रणनीति बनाने में जुटी थीं. वे सोमवार को सुबह से ही अपने पार्टी नेताओं के साथ सलाह-मशविरा में जुटी थीं.

  • झारखंड : BJP और आजसू के बीच गतिरोध बरकरार, भाजपा 10 सीटें देने को तैयार : सूत्र

    झारखंड : BJP और आजसू के बीच गतिरोध बरकरार, भाजपा 10 सीटें देने को तैयार : सूत्र

    झारखंड में बीजेपी और ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (आजसू) के बीच अब भी गतिरोध बरक़रार है. इस बीच सूत्रों का कहना है कि बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व गतिरोध सुलझाने के लिए कार्य कर रहा है और पार्टी आजसू को दस सीटें देने को तैयार है.

  • Jharkhand Assembly Election: झारखंड विकास मोर्चा ने जारी की 37 उम्मीदवारों की दूसरी सूची

    Jharkhand Assembly Election:  झारखंड विकास मोर्चा ने जारी की 37 उम्मीदवारों की दूसरी सूची

    झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) केंद्रीय कमेटी के सचिव अकील अख्तर ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से त्याग पत्र दे दिया. पार्टी प्रमुख शिबू सोरेन को सोमवार को लिखे पत्र में अख्तर ने कहा, ‘वह पार्टी की प्राथमिक सदस्यता तथा केंद्रीय सचिव का पद छोड़ रहे हैं.’

  • झारखंड में भी झमेला : NDA में फूट उभरी, BJP से जुदा हुईं जेडीयू और एलजेपी की राहें

    झारखंड में भी झमेला : NDA में फूट उभरी, BJP से जुदा हुईं जेडीयू और एलजेपी की राहें

    महाराष्ट्र के बाद अब झारखंड में भी एनडीए के घटक दलों में आपसी फूट खुलकर सामने आ गई है. लोक जनशक्ति पार्टी ने मंगलवार को ऐलान किया को वह झारखंड की 50 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी. उसने शाम होते-होते पांच उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी. पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने इसका औपचारिक ऐलान किया. लोक जनशक्ति पार्टी ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने के फैसले की आलोचना की है.

  • झारखंड में NDA से अलग होने के बाद महाराष्ट्र की स्थिति पर बोले चिराग पासवान, कहा- अपनी-अपनी महत्वकांक्षा के कारण...

    झारखंड में NDA से अलग होने के बाद महाराष्ट्र की स्थिति पर बोले चिराग पासवान, कहा- अपनी-अपनी महत्वकांक्षा के कारण...

    चिराग पासवान ने शिवसेना पर निशाना साधते हुए लिखा कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगना दुर्भाग्यपूर्ण. जनता ने NDA सरकार बनाने का जनादेश दिया था. अपनी अपनी महत्वकांक्षा के कारण प्रदेश में सरकार न बनने देना दुखद है.

  • TOP 5 NEWS: महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश और झारखंड NDA में दरार

    TOP 5 NEWS: महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश और झारखंड NDA में दरार

    TOP 5 NEWS: महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन के लिए राज्‍यपाल की सिफारिश को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है. अब इसे मंजूरी के लिए राष्‍ट्रपति के पास भेजी जा रही है. उधर राज्‍यपाल के इस सिफारिश के खिलाफ शिवसेना सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है. शिव सेना का कहना है कि राज्‍यपाल ये सब बीजेपी के इशारे पर कर रही है. शिवसेना का कहना है कि राज्‍यपाल ने पार्टी को सिर्फ 24 घंटे का समय दिया.

  • महाराष्‍ट्र में कैसे बनेगी सरकार, NCP-Congress के नेताओं की बैठक में आज होगा फैसला

    महाराष्‍ट्र में कैसे बनेगी सरकार, NCP-Congress के नेताओं की बैठक में आज होगा फैसला

    सरकार बनाए जाने के सवाल पर एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि मेरा स्‍पष्‍ट मानना है कि जब तक सरकार में तीनों दलों के नेता शामिल नहीं होंगे तब तक राज्‍य में स्‍थाई सरकार नहीं बन सकती. जब सवाल किया गया कि राज्‍य राष्‍ट्रपति शासन लगाए जाने की सिफारिश की गई है, इस सवाल के जवाब में एनसीपी नेता ने कहा कि राजभवन से इसपर खुलासा आ गया है कि ऐसी कोई सिफारिश नहीं की गई है. 

  • महाराष्‍ट्र में राज्‍यपाल ने की राष्‍ट्रपति शासन की सिफारिश, शिवसेना पहुंची सुप्रीम कोर्ट

    महाराष्‍ट्र में राज्‍यपाल ने की राष्‍ट्रपति शासन की सिफारिश, शिवसेना पहुंची सुप्रीम कोर्ट

    इससे पहले प्रसार भारती ने अपने सूत्रों के हवाले से इस खबर को दिया था कि महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश कर दी गई है. बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री के विदेश दौरे से पहले हुई कैबिनेट बैठक में महाराष्‍ट्र के मुद्दे पर चर्चा हुई और राज्‍यपाल की सिफारिश को मान लिया गया.