NDTV Khabar

Encephalitis Death


'Encephalitis death' - 36 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • बिहार : भूखे नहीं सोएंगे बच्चे, चलेंगे सामुदायिक रसोईघर

    बिहार : भूखे नहीं सोएंगे बच्चे, चलेंगे सामुदायिक रसोईघर

    बिहार के मुजफ्फरपुर में बच्चों को एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के प्रकोप से बचाने के लिए तैयारी अभी से ही शुरू कर दी गई है. इस वर्ष इस क्षेत्र में सामुदायिक रसोईघर (कम्युनिटी किचन) चलाने का निर्णय लिया गया है, ताकि इस क्षेत्र के बच्चे भूखे न सोएं.

  • योगी सरकार का दावा, यूपी में इंसेफेलाइटिस से मौत की संख्‍या में आई है भारी गिरावट

    योगी सरकार का दावा, यूपी में इंसेफेलाइटिस से मौत की संख्‍या में आई है भारी गिरावट

    स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव देवेश चतुर्वेदी ने सोमवार को बताया कि इस साल 27 अगस्त तक AES के कारण 34 लोगों की मौत हुई है जबकि इसके 890 रोगी अस्पतालों में भर्ती किए गए हैं. इस अवधि में जापानी इंसेफेलाइटिस के कारण चार मौतें हुई हैं.

  • बिहार में 'चमकी बुखार' से हो रही बच्चों की मौत पर PM मोदी ने तोड़ी चुप्पी, कही यह बात...

    बिहार में 'चमकी बुखार' से हो रही बच्चों की मौत पर PM मोदी ने तोड़ी चुप्पी, कही यह बात...

    राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा का राज्यसभा में जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने बिहार में 'चमकी बुखार' से बच्चों की मौत की घटनाओं पर भी अपनी चुप्पी तोड़ी. बिहार में बच्चों की इंसेफेलाइटिस (Encephalitis) के कारण मौत की घटनाओं का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह हम सभी के लिए 'दुख और शर्म' की बात है.

  • क्या वाकई लीची खाने से होता है एईएस, जानें पूरा सच!

    क्या वाकई लीची खाने से होता है एईएस, जानें पूरा सच!

    हम बात कर रहे हैं एईएस यानी एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम की. कहा जा रहा है कि यह रोग लीची खाने से या खाली पेट लीची खाने से हो रहा है. कुछ डॉक्टर इसके पीछे वजह बता रहे हैं इन बीमार बच्चों का कुपोषित शरीर, तो कुछ अलग वजहें दे रहे हैं. पर असल बात क्या है, पूरा मामला क्या है, क्या वाकई लीची खाने से बच्चे एईएस या चमकी बुखार की पकड़ में आ रहे हैं. आईए जानते हैं.

  • बिहार में बच्चों की मौत का मामला: सुप्रीम कोर्ट ने जताई चिंता, केंद्र, बिहार और UP सरकार से सात दिनों में मांगा जवाब

    बिहार में बच्चों की मौत का मामला: सुप्रीम कोर्ट ने जताई चिंता, केंद्र, बिहार और UP सरकार से सात दिनों में मांगा जवाब

    एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम से हो रही बच्चों की मौत मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी. जनहित याचिका में राज्य और केन्द्र सरकार को इलाज के पुख्ता इंतजाम करने का निर्देश दिये जाने की मांग की गई थी. दाखिल जनहित याचिका मे कहा गया है कि बिहार सरकार बीमारी को फैलने से रोकने में नाकाम रही है इसलिए कोर्ट और केन्द्र सरकार मामले में दखल दे. साथ ही बिहार सरकार और केन्द्र सरकार को निर्देश दिया जाए कि वो प्रभावितों के इलाज के लिए बिहार में करीब 500 आईसीयू और मोबाइल आईसीयू की व्यवस्था करे.

  • मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर PM मोदी-अमित शाह की चुप्पी को लेकर कुशवाहा ने उठाए सवाल, कही यह बात

    मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर PM मोदी-अमित शाह की चुप्पी को लेकर कुशवाहा ने उठाए सवाल, कही यह बात

    RLSP प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से बड़ी संख्या में बच्चों की हुई मौत के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जिम्मेदार ठहराया. साथ ही आरएलएसपी प्रमुख ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की मामले पर चुप्पी को लेकर भी सवाल उठाए हैं.

  • मुजफ्फरपुर के अस्पताल में कन्हैया कुमार को नहीं मिली घुसने की इजाजत, तो बोले...

    मुजफ्फरपुर के अस्पताल में कन्हैया कुमार को नहीं मिली घुसने की इजाजत, तो बोले...

    जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और बेगूसराय से लोकसभा चुनाव लड़ने वाले कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) को मुजफ्फरपुर के श्री कृष्ण चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल (एसकेएमसीएच) में घुसने की इजाजत नहीं दी गई.

  • Blog: क्या बिहार में बच्चों की मौत के बहाने नीतीश कुमार की आलोचना की जगह अब न्यूज चैनल अपने राजनीतिक आकाओं का एजेंडा तो पूरा नहीं कर रहे हैं?

    Blog: क्या बिहार में बच्चों की मौत के बहाने नीतीश कुमार की आलोचना की जगह अब न्यूज चैनल अपने राजनीतिक आकाओं का एजेंडा तो पूरा नहीं कर रहे हैं?

    बिहार में चमकी बुखार (Acute Encephalitis Syndrome) से  अब तक 150 बच्चों की मौत हो गयी है. निश्चित रूप से इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार की सबसे अधिक आलोचना हो रही है. उसके बाद उप मुख्यमंत्री  सुशील मोदी जो विपक्ष के नेता के रूप में किसी भी घटना के बाद सबसे आक्रामक होके इस्तीफ़ा मांगते थे. इन सबके बाद राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय जो अपने संवेदनहीनता के कारण मज़ाक़ के पात्र बन बैठे हैं उनकी आलोचना हो रही है. ये तीनों नेता मीडिया से परेशान हैं क्योंकि मीडिया वाले इनका पीछा करते हैं और कुछ तो इनसे इन्हीं के पूर्व के बयानो का हवाला देते हुए पूछ देते हैं कि आख़िर इस्तीफ़ा कब देंगे. मीडिया ख़ासकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में कई दिन तक सुबह से शाम तक प्राइम टाइम में बच्चों की मौत, अस्पतालों की बदहाल स्थिति के बहाने सरकार की निश्चित रूप से जायज बिंदुओं  पर चैनल के पत्रकार से संपादक तक एक स्वर से आलोचना करते हैं.

  • मुजफ्फरपुर में जिस अस्पताल में चमकी बुखार से हुई 108 बच्चों की मौत, वहां मिले मानव कंकाल

    मुजफ्फरपुर में जिस अस्पताल में चमकी बुखार से हुई 108 बच्चों की मौत, वहां मिले मानव कंकाल

    भाजपा के एक सदस्य ने शुक्रवार को लोकसभा में सरकार से इस बात की जांच कराने की मांग की कि बिहार के मुजफ्फरपुर में एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम से बच्चों की मौत के मामले में लीची को जिम्मेदार ठहराना कहीं इस फल को बदनाम करने की साजिश तो नहीं है. बिहार के सारण से लोकसभा सदस्य राजीव प्रताप रूड़ी ने शून्यकाल में इस विषय को उठाया और कहा कि मुजफ्फरपुर में हालात बहुत चिंताजनक हैं.

  • क्या बिहार सरकार के पास 100 बेड का ICU बनाने के लिए भी पैसा नहीं है?

    क्या बिहार सरकार के पास 100 बेड का ICU बनाने के लिए भी पैसा नहीं है?

    सुशील मोदी ने यह मांग दिल्ली में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात के दौरान की. दिल्‍ली के विज्ञान भवन में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीमारमण की अध्यक्षता में हुई राज्यों के वित्त मंत्रियों के साथ बजट पूर्व बैठक में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने यह मांग रखी. उन्‍होंने नए एम्स के निर्माण की जगह राज्य के पुराने मेडिकल कॉलेज को ही एम्स में परिवर्तित करने की मांग भी की.

  • RJD नेता तेजस्वी यादव को लेकर मुजफ्फरपुर में लगे पोस्टर, लिखा- ढूंढकर लाने वाले को 5100 रुपये का नकद इनाम

    RJD नेता तेजस्वी यादव को लेकर मुजफ्फरपुर में लगे पोस्टर, लिखा- ढूंढकर लाने वाले को 5100 रुपये का नकद इनाम

    मुजफ्फरपुर में आरजेडी नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) को लेकर पोस्टर लगाए गए हैं. इन पोस्टर में लिखा है, 'लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद से ही तेजस्वी यादव लापता हैं'. पोस्टर में उन्हें ढूंढकर लाने वाले को इनाम देने की घोषणा भी की गई है. 

  • बिहार में बच्चों की मौत पर इस बॉलीवुड एक्टर ने किया ट्वीट तो मिला जवाब- यहां तो सभी लोग अपने हैं...

    बिहार में बच्चों की मौत पर इस बॉलीवुड एक्टर ने किया ट्वीट तो मिला जवाब- यहां तो सभी लोग अपने हैं...

    पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi) के ट्वीट को एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा (Richa Chadha) ने रीट्वीट करते हुए कैप्शन में लिखा, 'मैं बस इतना जानती हूं कि यदि किसी विदेशी ताकत ने हमारे देश में घुस कर मासूम बच्चों की जान ले ली होती, तो इस वक्त हम उनके साथ युद्ध कर रहे होते. पर यहां तो सभी लोग अपने हैं.'

  • कहानी दरभंगा मेडिकल कॉलेज की, कभी अपग्रेड तो कभी एम्स, दोनों का पता नहीं

    कहानी दरभंगा मेडिकल कॉलेज की, कभी अपग्रेड तो कभी एम्स, दोनों का पता नहीं

    नवंबर 2014 में केंद्र सरकार घोषणा करती है कि प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत देश के 39 मेडिकल कॉलेजों को अपग्रेड किया जाएगा. इसमें दरभंगा मेडिकल कॉलेज का भी नाम था. 2015 में भी बयान जारी होता है. सूची जारी होती है. उसमें भी दरभंगा मेडिकल कॉलेज का नाम है.

  • बच्चों की जान बचाने के लिए गंभीरता से सोचना होगा...

    बच्चों की जान बचाने के लिए गंभीरता से सोचना होगा...

    दोष केवल सरकार पर, डॉक्टरों पर और अस्पताल पर थोप देना भी अपने पर उठे सवालों से बचना होगा, व्यवस्था पर सवाल तो उतने गंभीर हैं ही, लेकिन उन्हें उठाने से पहले जरा एक बार खुद से पूछिएगा. जब आप एक मुल्क बनाने की बात करते हैं, तो उसमें बच्चे कहां होते हैं, उनके लिए कितना स्थान होता है, उनके लिए कितनी नीति-नियम और प्राथमिकताएं होती हैं, क्या आप बच्चों की दुनिया बेहतर बनाने के लिए वोट करते हैं...? इसलिए आश्चर्य मत कीजिएगा.

  • बिहार में दूसरे एम्स के निर्माण के लिए नीतीश सरकार ने नहीं दी जमीन

    बिहार में दूसरे एम्स के निर्माण के लिए नीतीश सरकार ने नहीं दी जमीन

    बिहार में दिमागी बुखार (एक्यूट एनसिफेलाइटिस सिंड्रोम) का कहर जारी है. इस बीच यह महत्वपूर्ण बात सामने आई है कि बिहार में दूसरा नया एम्स नहीं बन पाया क्योंकि नीतीश सरकार चार साल तक राज्य में दूसरे प्रस्तावित एम्स के लिए ज़मीन आवंटित नहीं कर पाई. इसके बाद भारत सरकार ने दरभंगा मेडिकल कालेज एंड हास्पिटल को ही एम्स की तर्ज़ पर अपग्रेड करके का फैसला किया. यह महत्वपूर्ण है कि 28 नवंबर 2014 को स्वास्थ्य मंत्रालय ने PMSSY के तीसरे चरण में जिन 39 अस्पतालों को अपग्रेड करने का फैसला किया था उसमें दरभंगा अस्पताल भी शामिल था.

  • 'चमकी बुखार' से बच्चों की मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट में एक और याचिका दाखिल

    'चमकी बुखार' से बच्चों की मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट में एक और याचिका दाखिल

    बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से बच्चों की मौत को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक और जनहित याचिका दाखिल हो गई है. वकील शिव कुमार त्रिपाठी ने यह याचिका दायर की है. इससे पहले मंगलवार को भी सुप्रीम कोर्ट में इसी मामले में एक जनहित याचिका दाखिल की गई थी.

  • VIDEO: बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर पूछे गए सवाल का जवाब देने से किया इनकार, कही यह बात.... 

    VIDEO: बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर पूछे गए सवाल का जवाब देने से किया इनकार, कही यह बात.... 

    बिहार के मुजफ्फरपुर (MuZaffarpur) में 'चमकी बुखार' से बच्चों की हो रही मौत को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी (Sushil Modi) से सवाल पूछा गया तो उन्होंने जवाब देने से इनकार कर दिया.

  • रवीश कुमार का ब्लॉग: बिहार में बच्चों की मौत पर रिपोर्टिंग करती टीवी पत्रकारिता को टेटेनस हो गया

    रवीश कुमार का ब्लॉग: बिहार में बच्चों की मौत पर रिपोर्टिंग करती टीवी पत्रकारिता को टेटेनस हो गया

    आम तौर पर तीन बेड पर एक डॉक्टर होना चाहिए. अगर 1500 बेड की बात कर रहे हैं तो करीब 200-300 डॉक्टर तो चाहिए ही नहीं. बेड बनाकर फोटो खींचाना है या मरीज़ों का उपचार भी करना है. जिस मेडिकल कालेज की बात कर गए हैं वहां मेडिकल की पढ़ाई की मात्र 100 सीट है. 2014 में हर्षवर्धन 250 सीट करने की बात कर गए थे. यहां सीट दे देंगे तो प्राइवेट मेडिकल कालेजों के लिए शिकार कहां से मिलेंगे. गेम समझिए. इसलिए नीतीश कुमार की घोषणा शर्मनाक और मज़ाक है. अस्पताल बनेगा उसकी घोषणा पर मत जाइये. देश में बहुत से अस्पताल बन कर तैयार हैं मगर चल नहीं रहे हैं. गली-गली में खुलने वाले एम्स की भी ऐसी ही हालत है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com