NDTV Khabar

Farmers protest


'Farmers protest' - 122 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • महाराष्ट्र सरकार को मांगें पूरी करने के लिए किसानों ने दो माह का वक्त दिया, आंदोलन खत्म

    महाराष्ट्र सरकार को मांगें पूरी करने के लिए किसानों ने दो माह का वक्त दिया, आंदोलन खत्म

    महाराष्ट्र में जमीन के हक के साथ ही दूसरी मांगों को पूरा करने के लिए लॉन्ग मार्च कर रहे किसानों ने आंदोलन खत्म कर दिया है. यानी अब मुंबई के लिए लॉन्ग मार्च नहीं होगा. सरकार से बातचीत के बाद आंदोलन खत्म करने की घोषणा हुई. मांगें पूरी करने के लिए किसानों ने सरकार को दो महीने का वक्त दिया है.

  • महाराष्ट्र में एक बार फिर लांग मार्च के लिए तैयार हजारों किसान, सरकार नहीं दे रही इजाजत

    महाराष्ट्र में एक बार फिर लांग मार्च के लिए तैयार हजारों किसान, सरकार नहीं दे रही इजाजत

    महाराष्ट्र के किसान एक बार फिर लांग मार्च निकालने को तैयार हैं और उन्हें इसकी इजाजत नहीं दी जा रही है. अखिल भारतीय किसान सभा के बैनर तले यह लांग मार्च नासिक से मुंबई तक होना है. फिलहाल किसान नासिक के मुंबई नाका बस स्टाप पर एकत्रित हैं. आयोजकों का दावा है कि 50 हजार से ज्यादा किसान इस मार्च में हिस्सा ले रहे हैं.

  • दिल्ली से नोएडा जोड़ने वाले रास्ते DND पर जाने पर लग सकता है जाम, किसानों का प्रदर्शन जारी

    दिल्ली से नोएडा जोड़ने वाले रास्ते DND पर जाने पर लग सकता है जाम, किसानों का प्रदर्शन जारी

    मोदी सरकार ने बजट में किसानों को सौगातें देखकर रिझाने की कोशिश की लेकिन किसानों का गुस्सा अभी भी शांत नहीं हुआ है. जमीन अधिग्रहण में उचित मुआवजे की मांग को लेकर नाराज किसान दिल्ली स्थित प्रधानमंत्री आवास को घेरने की चेतावनी दे रहे हैं.

  • राहुल गांधी के खिलाफ अमेठी में किसानों ने किया प्रदर्शन, लगाए 'इटली वापस जाओ' के नारे 

    राहुल गांधी के खिलाफ अमेठी में किसानों ने किया प्रदर्शन, लगाए 'इटली वापस जाओ' के नारे 

     कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) अपनी संसदीय सीट अमेठी के दो दिनों के दौरे पर हैं. राहुल के अमेठी दौरे के दौरान क्षेत्र में  'अमेठी का MP, 2019 का PM' के पोस्टर लगाकर उनका स्वागत किया गया था. इन पोस्टर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तस्वीर लगी गई थी.

  • Flashback 2018: इन 5 बड़े आंदोलनों ने खींचा पूरे देश का ध्यान...

    Flashback 2018: इन 5 बड़े आंदोलनों ने खींचा पूरे देश का ध्यान...

    Flashback2018: साल 2018 का समापन होने वाला है. बीते साल देश में कुछ बड़े आंदोलन हुए, जिससे कुछ बदलाव की भी झलक देखने को मिली. साल 2018 में देश के अन्नदाता कई बार सड़कों पर उतरे. कभी दिल्ली तो कभी महाराष्ट्र में किसानों ने अपनी आवाज बुलंद की. तो वहीं, SC/ST Act पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में दलित संगठनों ने भारत बंद बुलाया, जिस दौरान 9 लोगों की मौत हो गई, वहीं कई अन्य घायल हो गए.

  • अपनी ज़मीन वापस पाने के लिए नहीं थी रिश्वत की रकम, जुटाने को भीख मांग रहा किसान का परिवार

    अपनी ज़मीन वापस पाने के लिए नहीं थी रिश्वत की रकम, जुटाने को भीख मांग रहा किसान का परिवार

    आंध्र प्रदेश में एक किसान परिवार को अपनी ही जमीन वापस पाने के लिए सड़कों पर भीख मांगनी पड़ रही है. दरअसल, आंध्र प्रदेश में एक किसान और उसका परिवार ने अपने रिश्तेदारों से अपनी जमीन वापस लेने के लिए सड़कों पर भीख मांगना शुरू कर दिया है. किसान का दावा है कि वह स्थानीय राजस्व अधिकारी को रिश्वत देने के लिए धन इकट्ठा कर रहा है, जिसने कथित रूप से उसकी जमीन के 'स्वामित्व पत्र' को जारी करने से रोक रखा है. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार का पर्दाफाश करने के लिए परिवार ने विरोध के रूप में भीख मांगना ही चुना.

  • PMO ने प्याज की कम कीमत पाने वाले किसान का मनी ऑर्डर लौटाया, 750 kg प्याज के मिले थे 1064 रुपए

    PMO ने प्याज की कम कीमत पाने वाले किसान का मनी ऑर्डर लौटाया, 750 kg प्याज के मिले थे 1064 रुपए

    इस किसान को 750 किलोग्राम प्याज बेचने के एवज में मात्र 1,064 रुपए मिले थे. नासिक जिले के निपहद तहसील के किसान संजय साठे ने थोक बाजार में प्याज बेचकर मिले मात्र 1,064 रुपए को लेकर विरोध जताने के लिए यह राशि 29 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेज दी थी.

  • 4 महीने की कठिन मेहनत और 750 किलो प्याज के मिले महज 1064 रुपये, नाराज किसान ने पैसा पीएम राहत कोष को दान किया

    4 महीने की कठिन मेहनत और 750 किलो प्याज के मिले महज 1064 रुपये, नाराज किसान ने पैसा पीएम राहत कोष को दान किया

    आप जिस प्याज के लिए इन दिनों 15-20 रुपये प्रति किलो मूल्य चुका रहे हैं, उसी प्याज की एक किसान को महज 1.40 रुपये प्रति किलो कीमत मिली. नाराज किसान ने अनूठे तरीके से अपना विरोध दर्ज कराया. उसने प्याज बेचने के बाद मिले पैसे को प्रधानमंत्री को भेज दिया. 

  • किसानों की रैली में विपक्षी एकता का हुआ प्रदर्शन, नेताओं ने मोदी सरकार पर जमकर निकाली भड़ास

    किसानों की रैली में विपक्षी एकता का हुआ प्रदर्शन, नेताओं ने मोदी सरकार पर जमकर निकाली भड़ास

    दिल्ली में किसानों की रैली में विपक्षी एकता का प्रदर्शन हुआ. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल सहित कई नेता किसानों को समर्थन देने पहुंचे.

  • ट्रैफिक अलर्ट: दिल्ली की सड़कों पर उतरे देश के अन्नदाता, इन रास्तों से बचकर रहें दिल्लीवाले

    ट्रैफिक अलर्ट: दिल्ली की सड़कों पर उतरे देश के अन्नदाता, इन रास्तों से बचकर रहें दिल्लीवाले

    बड़ी तादाद में जुटे किसानों के मार्च को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने पुख़्ता इंतज़ाम किए हैं. 3500 पुलिस के जवानों की ड्यूटी लगाई गई है... इस बात की आशंका है कि रामलीला मैदान के आसपास के इलाकों में ट्रैफिक पर असर पड़ सकता है.

  • Kisan March LIVE Updates: किसान रैली में पहुंचे राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल, PM मोदी पर बोला हमला

    Kisan March LIVE Updates: किसान रैली में पहुंचे राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल, PM मोदी पर बोला हमला

    Kisan March in Delhi LIVE Updates: मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद करने के लिए एक बार फिर से देशभर के किसान संसद मार्च करेंगे. किसानों की कर्जमाफी और फसलों की लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य दिए जाने समेत कई मांगों को लेकर विभिन्न राज्यों के किसान (Kisan Mukti March) दिल्ली में इकट्ठा हुए हैं.

  • आखिर क्यों दिल्ली की सड़कों पर उतरा देश का अन्नदाता, हजारों किसानों का आज संसद मार्च, 10 बड़ी बातें

    आखिर क्यों दिल्ली की सड़कों पर उतरा देश का अन्नदाता, हजारों किसानों का आज संसद मार्च, 10 बड़ी बातें

    किसानों को लेकर केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद करने के लिए एक बार फिर से देशभर के किसान देश की राजधानी दिल्ली की सड़कों पर जमा हुए हैं. किसानों की कर्जमाफी और फसलों की लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य दिए जाने समेत कई मांगों को लेकर विभिन्न राज्यों के किसान (Kisan Mukti March) दिल्ली के रामलीला मैदान पहुंच गए हैं. दो दिवसीय किसान मुक्ति मार्च का आज यानी शुक्रवार को दूसरा और आखिरी दिन है और किसान आज अपनी मांगों को लेकर संसद मार्च करेंगे. किसानों ने सरकार और प्रशासन को चेताया है कि अगर उन्हें संसद की ओर जाने से रोका गया तो फिर वे न्यूड प्रदर्शन करेंगे. किसान (Kisan Mukti March) इस बार सिर्फ दो मांगों को लेकर यह आंदोलन कर रहे हैं. उनकी पहली मांग है कि उन्हें कर्ज से पूरी तरह मुक्ति दी जाए और दूसरी अपनी दूसरी मांग में फसलों की लागत का डेढ़ गुना मुआवजा चाहते हैं. ऐतिहासिक रामलीला मैदान पर लाल टोपी पहने और लाल झंडा लिए किसानों ने 'अयोध्या नहीं, कर्ज माफी चाहिए' जैसे नारे लगाते दिखे.

  • किसान मुक्ति मार्च में महिलाएं भी शामिल, कर्ज माफी की मांग बुलंद की

    किसान मुक्ति मार्च में महिलाएं भी शामिल, कर्ज माफी की मांग बुलंद की

    बढ़ते बैंक कर्ज, फसल की बर्बादी, कर्ज चुकाने के तरीकों का अभाव और आश्रित बड़े परिवारों जैसे कुछ साझे मुद्दों को लेकर गुरुवार को महिला किसान सड़कों पर उतरीं. सत्ता के केंद्र तक अपनी आवाज पहुंचाने की उम्मीद लेकर देश के कोने-कोने से आए हजारों किसानों ने अपनी मांगें मनवाने के लिए दो दिवसीय विरोध प्रदर्शन शुरू किया.

  • बड़े मुद्दों के पीछे-पीछे अपनी तक़लीफों को ढोता हुआ दिल्ली आ गया है किसान...

    बड़े मुद्दों के पीछे-पीछे अपनी तक़लीफों को ढोता हुआ दिल्ली आ गया है किसान...

    देश भर में घूम-घूमकर किसानों को संगठित करने और उन्हें मार्च के लिए तैयार करने में किसान नेताओं का बड़ा रोल होता है. किसानों की नेतागीरी करना ही कौन चाहेगा. मुद्दों की लड़ाई इतनी लंबी हो जाती है कि नेता की ज़िंदगी गुज़र जाती है. किसानों के मुद्दे बदलते भी नहीं. अमूमन एक ही मुद्दे के लिए बार-बार सरकार के सामने खड़ा होना पड़ता है. कुछ समय बाद मीडिया को हर किसान नेता घिसा-पिटा लगने लगता है. उन्हें तवज्जो देना बंद कर देता है. हर चुनाव के साथ किसान नेता पुराना हो जाता है और दो क़दम पीछे की ओर धकेल दिया जाता है. सरकारों ने बड़ी चालाकी से ऐसे कितने ही किसान नेता ख़त्म कर दिए. कमाल यह है कि इसके बाद भी नए किसान नेता खड़े हो गए हैं. 

  • रामलीला मैदान में जुटे देश भर के हजारों किसान, कहा - 'अयोध्या नहीं, कर्ज माफी चाहिए', संसद कूच आज

    रामलीला मैदान में जुटे देश भर के हजारों किसान, कहा - 'अयोध्या नहीं, कर्ज माफी चाहिए', संसद कूच आज

    अपनी मांगों को लेकर विभिन्न राज्यों के किसान (Kisan Mukti March) दिल्ली के रामलीला मैदान पहुंच गए हैं. वह एक बार फिर केंद्र सरकार की घेराबंदी करेंगे. किसान (Kisan Mukti March) इस बार सिर्फ दो मांगों को लेकर यह आंदोलन कर रहे हैं. उनकी पहली मांग है कि उन्हें कर्ज से पूरी तरह मुक्ति दी जाए और दूसरी अपनी दूसरी मांग में फसलों की लागत का डेढ़ गुना मुआवजा चाहते हैं.

  • दिल्ली में जुटे हजारों किसान, आज 26 किलोमीटर पदयात्रा; कल संसद मार्च

    दिल्ली में जुटे हजारों किसान, आज 26 किलोमीटर पदयात्रा; कल संसद मार्च

    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक बार फिर हजारों किसान आंदोलन करने जा रहे हैं. यह आंदोलन दो दिन 29 और 30 नवंबर को होगा. सिर्फ दो मांगों को लेकर किए जा रहे इस आंदोलन में देश भर के किसान शामिल हो रहे हैं. किसानों की मांग है कि उन्हें कर्ज से पूरी तरह मुक्ति दी जाए और फसलों की लागत का डेढ़ गुना मुआवजा दिया जाए.

  • प्राइम टाइम : किसानों की दुर्दशा के लिए कौन है ज़िम्मेदार?

    प्राइम टाइम : किसानों की दुर्दशा के लिए कौन है ज़िम्मेदार?

    14 मई को राजस्थान के एक किसान भागीरथ शर्मा ने मुझे व्हाट्सऐप किया कि फसल बीमा के नाम पर किसानों को ठगा जा रहा है. बैंक ने उनसे 2301 रुपये प्रीमियम की राशि काट ली है मगर बीमा कंपनी कहती है कि 216 रुपया ही प्रीमियम का जमा हुआ है.

  • किसान मार्च: खत्म हुआ किसान आंदोलन, सरकार ने सभी मांगें पूरी करने का भरोसा दिलाया

    किसान मार्च: खत्म हुआ किसान आंदोलन, सरकार ने सभी मांगें पूरी करने का भरोसा दिलाया

    सरकार द्वारा मांगें मानने का भरोसा दिए जाने के बाद मुंबई में किसानों ने अपना आंदोलन (Maharashtra farmers' protest) वापस ले लिया है. गुरुवार शाम को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विधानभवन में किसान नेताओं से मुलाकात की और उनकी सभी मांगे मानने का भरोसा दिलाया.