NDTV Khabar

Former pm atal bihari vajpayee


'Former pm atal bihari vajpayee' - 46 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • ये हैं The Accidental Prime Minister के अटल बिहारी वाजपेयी, असल जिंदगी में बेचते हैं 'चाय'

    ये हैं The Accidental Prime Minister के अटल बिहारी वाजपेयी, असल जिंदगी में बेचते हैं 'चाय'

    'द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर (The Accidental Prime Minister)' को लेकर खबर आई है कि एक चाय वाले से फिल्म में पूर्व प्रधानमत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) का किरदार करवाया गया है.

  • Atal Bihari Vajpayee: अटल इरादों की उड़ान था पोखरण परीक्षण, जानिए 10 बातें

    Atal Bihari Vajpayee: अटल इरादों की उड़ान था पोखरण परीक्षण, जानिए 10 बातें

    आज अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की जयंती के मौके पर पूरा देश उन्हें याद कर रहा है. अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म (Atal Bihari Vajpayee Birthday) 25 दिसंबर 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में हुआ था. भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी राजनेता के अलावा हिन्दी के कवि, पत्रकार, और प्रखर वक्ता थे. राजनीति में अटल बिहारी (Atal Bihari) वाजपेयी का प्रवेश 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में हिस्सा लेने के साथ हुआ. इस आंदोलन में हिस्सा लेने की वजह से उन्हें और उनके बड़े भाई प्रेम को 23 दिनों तक जेल में रहना पड़ा.

  • Atal Bihari Vajpayee Quotes: 'छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता, टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता'

    Atal Bihari Vajpayee Quotes: 'छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता, टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता'

    अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की आज जयंती है. आज अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती (Atal Bihari Vajpayee Jayanti) के मौके पर पूरा देश उन्हें याद कर रहा है. अटल बिहारी वाजपेयी पूर्व प्रधानमंत्री, प्रखर राजनेता और ओजस्‍वी वक्‍ता थे. उनका जन्म (Atal Bihari Birthday) 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में हुआ था. वे पहली बार साल 1996 में 16 मई से 1 जून तक, 19 मार्च 1998 से 26 अप्रैल 1999 तक और फिर 13 अक्टूबर 1999 से 22 मई 2004 तक देश के प्रधानमंत्री रहे हैं. भारतीय जनसंघ की स्थापना में भी उनकी अहम भूमिका रही.

  • पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को एक और श्रद्धांजलि, लखनऊ का 'हजरतगंज चौराहा' हुआ अब 'अटल चौक'

    पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को एक और श्रद्धांजलि, लखनऊ का 'हजरतगंज चौराहा' हुआ अब  'अटल चौक'

    उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का मशहूर 'हजरतगंज चौराहा' अब अपने इस नाम से नहीं जाना जाएगा. दरअसल, लखनऊ का जाना-पहचाना चौराहा 'हजरतगंज चौराहा' अब पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर अटल चौक के नाम से जाना जाएगा. लखनऊ शहर की मेयर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि अटल बिहारी वाजेपेयी के नाम से कई सड़कों और चौराहों के नाम बदलने को लेकर भारी संख्या में काउंसलर मांग कर रहे थे. यही वजह है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर हजरतगंज चौराहे का नामकरण करने के फैसला लिया गया है. 

  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वाजपेयी की पुत्री को लिखा भावुक खत, कहा...

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वाजपेयी की पुत्री को लिखा भावुक खत, कहा...

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर उनकी दत्तक पुत्री नमिता कौल भट्टाचार्य को पत्र लिखकर अपनी शोक संवेदना जाहिर की. राष्ट्रपति ने पत्र में कहा, 'अटलजी भारतीय राजनीति के नवचेतना पुरुष थे.' उन्होंने कहा, 'अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की इस दुखद घड़ी में मेरी संवदेनाएं और भावनाएं आपके और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ हैं. अटलजी का निधन स्वभाविक रूप से आपका और घर में अन्य लोगों का व्यक्तिगत नुकसान है, लेकिन यह मेरे लिए भी व्यक्तिगत क्षति है.'

  • दूसरों को छोटे होने का एहसास नहीं होने देते थे वाजपेयी...

    दूसरों को छोटे होने का एहसास नहीं होने देते थे वाजपेयी...

    आज वाजपेयी बहुत याद आते हैं. और बहुत सी यादें ऐसी हैं जिन्‍हें याद कर के यकीन नहीं होता कि क्‍या वाकई ये सब हुआ था? 2004 में लोकसभा चुनाव हो रहे थे. वाजपेयी लखनऊ से चुनाव जीत कर तीसरी बार पीएम थे. वो फिर यहां से लोकसभा उम्‍मीदवार थे. लखनऊ के राजभवन में उनकी प्रेस कॉन्‍फ्रेंस थी. इस बार उनकी प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के लिए सिक्‍योरिटी काफी सख्‍त थी.

  • जब वाजपेयी ने कहा, कश्मीर समस्या पर वार्ता 'इंसानियत के दायरे' में होगी..

    जब वाजपेयी ने कहा, कश्मीर समस्या पर वार्ता 'इंसानियत के दायरे' में होगी..

    भाजपा के सभी नेताओं में, वह सिर्फ अटल बिहारी वाजपेयी ही थे जो भारत का इसके विविध रूपों में प्रतिनिधित्व करते थे. यही कारण है कि वाजपेयी का निधन भारत के सभी लोगों के लिए एक क्षति है, भले ही वे किसी भी धर्म, जाति, क्षेत्र और भाषा के क्यों न हों.

  • चीनी विशेषज्ञों ने कहा, भारत की चीन नीति के वास्तुकार थे अटल बिहारी वाजपेयी

    चीनी विशेषज्ञों ने कहा,  भारत की चीन नीति के वास्तुकार थे अटल बिहारी वाजपेयी

    वर्ष 1998 में परमाणु परीक्षण से लेकर 2003 में नई सीमा वार्ता प्रक्रिया शुरू करने तक अटल बिहारी वाजपेयी को भारत की चीन नीति का वास्तुकार माना जाता है.

  • वाजपेयी सरकार में शत्रुघ्न सिन्हा को मिली थी बड़ी जिम्मेदारी, निधन पर बोले, 'मैं अनाथ महसूस कर रहा'

    वाजपेयी सरकार में शत्रुघ्न सिन्हा को मिली थी बड़ी जिम्मेदारी, निधन पर बोले, 'मैं अनाथ महसूस कर रहा'

    राजनीति के अजातशत्रु कहे जाने वाले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अब नहीं रहे. उनके निधन पर हर कोई उन्हें अपने-अपने तरीके से याद कर रहा है. इस मौके पर भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने भी उन्हें याद करते हुए श्रद्धांजलि दी. उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vaajpayee) के निधन की खबर सुनकर उन्हें लगा कि वह 'अनाथ' हो गए हैं, क्योंकि उन्होंने उनके अभिभावकत्व में 'अच्छी राजनीति की कला' सीखी थी. पटना साहिब से बीजेपी सांसद शत्रुघ्न ने वाजपेयी को 'पिता सरीखे' बताया. अटल बिहारी वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार शाम दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया था. 

  • वाजपेयी के सम्मान में मॉरीशस के सरकारी भवनों में राष्ट्र ध्वज आधा झुका रहेगा

    वाजपेयी के सम्मान में मॉरीशस के सरकारी भवनों में राष्ट्र ध्वज आधा झुका रहेगा

    मॉरीशस सरकार ने तय किया है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में देश के सभी सरकारी भवनों में मॉरीशस और भारत के राष्ट्र ध्वज आज आधे झुके रहेंगे.

  • यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह फोटो ट्वीट कर अटल जी को किया याद...

    यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह फोटो ट्वीट कर अटल जी को किया याद...

    देश के पूर्व प्रधानमंत्री और भारतीय राजनीति के अजातशत्रु कहे जाने वाले अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vaajpayee) पंचतत्व में विलीन हो गए. पूरे राजकीय सम्मान के साथ राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर उनका अंतिम संस्कार किया गया. वाजपेयी के निधन पर सत्ता पक्ष के साथ-साथ विपक्ष और देश की जनता में शोक की लहर है. हर कोई उन्हें अलग-अलग तरीकों से याद कर रहा है. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी. 

  • अटल की शक्ति अटल की सीमा...

    अटल की शक्ति अटल की सीमा...

    कुछ लोगों के व्यक्तित्व में अपनी तरह की एक ऊष्मा होती है. अटल बिहारी वाजपेयी का व्यक्तित्व कुछ ऐसा ही था. एक बड़प्पन उनकी शख्सियत में था. वे जवाहरलल नेहरू की तारीफ़ कर सकते थे, इंदिरा गांधी को बांग्लादेश युद्ध के बाद दुर्गा बता सकते थे और विपक्ष के बहुत सारे नेताओं से ऐसे दोस्ताना संबंध रख सकते थे जो दलगत राजनीति से ऊपर हों.

  • संघ प्रमुख मोहन भागवत बोले: अटल जैसे व्यक्ति बार-बार नहीं मिलते, युगों में एक होते हैं

    संघ प्रमुख मोहन भागवत बोले: अटल जैसे व्यक्ति बार-बार नहीं मिलते, युगों में एक होते हैं

    पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी आज पंचतत्व में विलीन हो जाएंगे. आज शाम चार बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. अटल जी का जाना राजनीति में एक युग के अंत के समान है. अटल जी की मौत से पूरा देश शोक की लहर में डूब गया है. देश भर से अटल जी को श्रद्धांजलि दी जा रही है. पीएम मोदी से लेकर संघ प्रमुख मोहन भागवत तक ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है. पीएम मोदी ने अटल जी की निधन पर कहा कि उनके माथे से पितातुल्य अटल जी का साया उठ गया है. 

  • अटल बिहारी वाजेपयी : अवसान एक युग का...

    अटल बिहारी वाजेपयी : अवसान एक युग का...

    जिन्हें नहीं देखा, नहीं देखा, परन्तु राजनीति की मुझे समझ आने के बाद राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय राजनीति में यही एकमात्र नाम है, जिसे आदर्श राजनेता मान पाया हूं... जिसे विजय पर घमंड नहीं, पराजय से खीझ नहीं... विपक्ष में रहो, तो सत्ता से लड़ते हुए भी उसे सम्मान दो... सत्ता में रहो, तो विपक्ष को पूरा मान दो...

  • 'पितातुल्य' अटल जी को याद कर पीएम नरेंद्र मोदी ने लिखा भावुक ब्लॉग- 'मेरे अटल जी'

    'पितातुल्य' अटल जी को याद कर पीएम नरेंद्र मोदी ने लिखा भावुक ब्लॉग- 'मेरे अटल जी'

    भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से देश में शोक की लहर है. आज पूर्व पीएम अटल जी पंचतत्व में विलीन हो जाएंगे. अटल बिहारी वाजपेयी भारतीय राजनीति के अजातशत्रु कहे जाते हैं, लिहाजा उनका निधन देश के लिए और राजनीति के लिए बड़े नुकसान से कम नहीं है. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जाना राजनीति के एक युग के अंत के समान है. यही वजह है कि इस मौके पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक लेख के जरिये पूर्व पीएम अटल जी को श्रद्धांजलि दी है. इस लेख में उन्होंने अटल जी के साथ के पल को याद किया है और साथ ही अटल जी ने देश के लिए जो किया है, उसका बखान किया है. 

  • अटल जी के अंतिम दर्शन को उमड़ी समर्थकों की भीड़, इतनी किमी लगी लंबी लाइन

    अटल जी के अंतिम दर्शन को उमड़ी समर्थकों की भीड़, इतनी किमी लगी लंबी लाइन

    पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी आज पंचतत्व में विलीन हो जाएंगे. दोपहर 1 बजे बीजेपी मुख्यालय से उनकी अंतिम यात्रा शुरू होगी और शाम 4 बजे राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. फिलहाल अटल जी के अंतिम दर्शन के लिए दिल्ली के कृष्णा मेनन मार्ग स्थित घर के बाहर लगी 1 किमी लंबी लाइन लगी है. सुरक्षा जांच के बाद अटल जी के समर्थकों को अंदर जाने दिया जा रहा है. लगभग 8:30 बजे तक आम जनता को अटल जी के अंतिम दर्शन कराए जाएंगे. लगभग 9 बजे अटल जी के पार्थिव शरीर को बीजेपी दफ़्तर ले जाया जाएगा. इस बीच अटल बिहारी वाजेपयी के घर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी पहुंच गये हैं. अटल जी की अंतिम यात्रा में क़रीब 5 लाख लोगों के जुटने की उम्मीद है. जिसके मद्देनज़र सुबह आठ बजे से देर शाम तक दिल्ली की 25 सड़कें बंद रहेंगी. 

  • प्रखर, दृढ़ और सर्व स्वीकृत नेता थे अटल बिहारी वाजपेयी : मोहन भागवत

    प्रखर, दृढ़ और सर्व स्वीकृत नेता थे अटल बिहारी वाजपेयी : मोहन भागवत

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को एक ऐसा ‘‘सर्व स्वीकृत नेता’’ करार दिया जिन्होंने सार्वजनिक जीवन में भारतीय मूल्य कायम किए.

  • जब लिखा हुआ भाषण नहीं देने वाले अटल जी ने टेलीप्रॉम्पटर से संदेश पढ़ा..

    जब लिखा हुआ भाषण नहीं देने वाले अटल जी ने टेलीप्रॉम्पटर से संदेश पढ़ा..

    पूर्व पीएम और बीजेपी के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर एनएनआई की एडिटर न्यूज स्मिता प्रकाश ने उनके रोचक संस्मरण साझा किए हैं. उन्होंने ट्वीटर पर उन दिनों को याद किया है जब वाजपेयी प्रधानमंत्री नहीं थे और दूरदर्शन पर विपक्ष को मौके नहीं मिलते थे.