NDTV Khabar

Gaganyan


'Gaganyan' - 4 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • गगनयान : पायलट भी बन सकेंगे अंतरिक्ष यात्री, इसरो ने दिया संकेत

    गगनयान : पायलट भी बन सकेंगे अंतरिक्ष यात्री, इसरो ने दिया संकेत

    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों ने शुक्रवार को संकेत दिया कि देश के पहले मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन ‘गगनयान’ से जाने वाले अंतरिक्ष यात्री पायलट हो सकते हैं.

  • इसरो प्रमुख ने कहा- भारत दिसंबर 2021 तक अंतरिक्ष में भेजेगा अंतरिक्ष यात्री, 10 बड़ी बातें

    इसरो प्रमुख ने कहा- भारत दिसंबर 2021 तक अंतरिक्ष में भेजेगा अंतरिक्ष यात्री, 10 बड़ी बातें

    इसरो प्रमुख ने शुक्रवार को कहा कि भारत का दिसंबर 2021 तक अंतरिक्ष में मनुष्य को भेजने का लक्ष्य है. उन्होंने कहा कि हम अपने गगनयान प्रोजेक्ट की मदद से ऐसा कर पाने में सफल होंगे. अगर हम निर्धारित समय के अंदर ऐसा कर पाते हैं तो हमारा देश विश्व का चौथा ऐसा देश होगा जो अपने बल पर अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में भेज सकेगा. इसरो प्रमुख के सिवन ने बताया कि भारत इस साल अप्रैल तक चंद्रयान-2 के भी लांचिंग की तैयारी में है. बता दें कि गगनयान प्रोजेक्ट की घोषणा पिछले साल पीएम मोदी ने की थी. 

  • Top 5 News : गगनयान प्रोजेक्ट को कैबिनेट की मंजूरी, इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह का हत्यारा गिरफ्तार

    Top 5 News : गगनयान प्रोजेक्ट को कैबिनेट की मंजूरी, इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह का हत्यारा गिरफ्तार

    केंद्र सरकार ने गगनयान प्रोग्राम को मंजूरी दे दी है. इसके तहत 3 मेंबर क्रू को कम से कम 7 दिन के लिए स्पेस में भेजा जाएगा. इससे भारत की अंतरिक्ष क्षमता में बढ़ोतरी होगी. गगनयान प्रोग्राम पर 10 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे. बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr Violence) के 25 दिन बाद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (Subodh Kumar Singh) की हत्या के मुख्य आरोपी प्रशांत नट को पुलिस ने गिरप्तार कर लिया है.

  • Gaganyaan Mission: मोदी सरकार ने दी गगनयान कार्यक्रम को मंजूरी, 3 भारतीय 7 दिन के लिए भेजे जाएंगे स्पेस में

    Gaganyaan Mission: मोदी सरकार ने दी गगनयान कार्यक्रम को मंजूरी, 3 भारतीय 7 दिन के लिए भेजे जाएंगे स्पेस में

    केंद्र सरकार ने शुक्रवार को कैबिनेट की मीटिंग में कई सारे अहम फैसले लिए. कैबिनेट ने गगनयान प्रोग्राम (Gaganyaan Mission) को मंजूरी दे दी है. इसके तहत 3 मेंबर क्रू को कम से कम 7 दिन के लिए स्पेस में भेजा जाएगा. इससे भारत की अंतरिक्ष क्षमता में बढ़ोतरी होगी. गगनयान प्रोग्राम पर 10 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे.