NDTV Khabar

Ganga cleaness programme


'Ganga cleaness programme' - 6 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • सरकार की नमामि गंगे मुहिम कितनी कारगर?

    सरकार की नमामि गंगे मुहिम कितनी कारगर?

    गंगा उन सभी को बुला रही है जिन्हें वो साल में कई बार बुलाती रहती है. वो चाहती है कि वे सारे लोग उसका हाल देखें और बताएं कि उसका पानी साफ क्यों नहीं हुआ ? पानी कम क्यों होता जा रहा है और गाद से भरी गंगा कब साफ होगी. अगर आपको मां गंगा ने कभी बुलाया है तो प्लीज इस वक्त बनारस जाइये, क्योंकि वहां गंगा से जुड़ी दो योजनाएं आपसे कुछ पूछना चाहती हैं. नमामि गंगे के तहत साफ पानी नहीं दिख रहा है बल्कि पानी ही नहीं दिख रहा है और जलमार्ग बनाने के बड़े एलान का हाल ये है कि गंगा की गोदी में जब बालू और मिट्टी की गाद देखेंगे तो आपको सिर्फ गिल्ली डंडा खेलने का ख्याल आएगा, जहाज़ चलाने का नहीं. तीसरा सवाल है कि बनारस में जो पानी का अलर्ट जारी हुआ है उसकी नौबत क्यों आई. इन तीन सवालों के लिए गंगा सबको खोज रही है, बल्कि फिर से बुला रही है.

  • नमामि गंगे योजना : गंगा की सफाई के लिए बजट भारी भरकम, आधा पैसा भी नहीं हुआ खर्च

    नमामि गंगे योजना : गंगा की सफाई के लिए बजट भारी भरकम, आधा पैसा भी नहीं हुआ खर्च

    गंगा की सफाई की महात्वाकांक्षी योजना 'नमामि गंगे योजना' केंद्र सरकार चला रही है. इसके लिए पिछले तीन वर्षों में भारी-भरकम बजट का प्रावधान रखा गया लेकिन इसके मुकाबले व्यय आधी राशि भी नहीं की गई. इसका खुलासा सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत मांगी गई जानकारी से हुआ है. सरकार द्वारा बीते तीन सालों में 12 हजार करोड़ रुपये का बजट देने की बात कही गई, जिसमें से वास्तव में केवल 5378 करोड़ रुपये ही बजट में दिए गए. बजट में जारी 5378 रुपये में से केवल 3633 करोड़ रुपये खर्च के लिए निकाले गए और इसमें से केवल 1836 करोड़ 40 लाख रुपये ही वास्तव में खर्च किए गए.

  • गंगा की सफाई पिछली सरकार के 'पापों का प्रायश्चित' : उमा भारती

    गंगा की सफाई पिछली सरकार के 'पापों का प्रायश्चित' : उमा भारती

    गंगा नदी में प्रदूषण को लेकर कांग्रेस पर चुटकी लेते हुए केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने गुरुवार को कहा कि गंगा नदी को साफ करना पिछली सरकार द्वारा बीते 70 वर्षों के दौरान किए गए 'पापों' का प्रायश्चित है।

  • गंगा में 73 दिनों में 2350 किलोमीटर राफ्टिंग करेगी आईटीबीपी, सफाई अभियान में सहभागी

    गंगा में 73 दिनों में 2350 किलोमीटर राफ्टिंग करेगी आईटीबीपी, सफाई अभियान में सहभागी

    आईटीबीपी (भारत तिब्बत सीमा पुलिस) अब मोदी सरकार के महत्वाकांक्षी अभियान नमामि गंगे में भी कूद पड़ी है। गंगा नदी में आईटीबीपी के जवान देवप्रयाग से लेकर गंगा सागर तक राफ्टिंग करते हुए जाएंगे।

  • गंगा सफाई का काम चुनौतीपूर्ण, मिशन की तरह काम करना होगा : मोदी

    गंगा सफाई का काम चुनौतीपूर्ण, मिशन की तरह काम करना होगा : मोदी

    गंगा की सफाई के काम को 'चुनौतीपूर्ण' बताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नदी को और प्रदूषित होने से बचाने के लिए 'बिना समझौते के मिशन की तरह रुख अपनाने' की वकालत की और इसमें लोगों के सहयोग की भी जरूरत बताई है।

  • वाराणसी के अस्सी घाट पर सुबह-ए-बनारस के 111 दिन पूरे

    वाराणसी के अस्सी घाट पर सुबह-ए-बनारस के 111 दिन पूरे

    पर्यटन को बढ़ावा देने और काशी के सांस्कृतिक मंच में जान फूंकने के साथ ही गंगा सफ़ाई की जागरुकता के लिए चलाए जा कार्यक्रम 'सुबह-ए-बनारस' ने सफलतापूर्वक अपने 111 पूरे कर लिए हैं। इस मौके पर यहां कलाकारों ने अस्सी घाट पर महफ़िल जमाई।