NDTV Khabar

Ghulam nabi azad


'Ghulam nabi azad' - 106 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • तिहाड़ जेल में पी. चिदंबरम से मिलने पहुंचे कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता, कार्ति चिदंबरम भी थे साथ

    तिहाड़ जेल में पी. चिदंबरम से मिलने पहुंचे कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता, कार्ति चिदंबरम भी थे साथ

    फिलहाल वह तिहाड़ जेल में हैं. उनकी जमानत याचिका दिल्ली उच्च न्यायालय में लंबित है जिस पर 23 सितंबर को सुनवाई होगी. चिदंबरम ने गत सोमवार को जेल में ही अपना 74वां जन्मदिन मनाया.

  • J&K जाने की इजाजत मिलने के बाद बोले गुलाम नबी आजाद- मुझे वहां के लोगों की चिंता, वापस आकर SC को सौंपूगा रिपोर्ट

    J&K जाने की इजाजत मिलने के बाद बोले गुलाम नबी आजाद- मुझे वहां के लोगों की चिंता, वापस आकर SC को सौंपूगा रिपोर्ट

    आजाद ने कहा, ‘मैंने जम्मू-कश्मीर जाने की कोशिश की थी लेकिन मुझे वापस भेज दिया गया. मैंने बिल्कुल नहीं कहा है कि अपने परिवार से मिलने जा रहा हूं. परिवार की भी चिंता है, लेकिन इससे ज्यादा मेरी लोगों के बारे में चिंता है कि वो क्या खा रहे हैं, क्या पी रहे हैं. मैं पूरे राज्य का दौरा करना चाहता था, लेकिन मुझे कुछ स्थानों पर जाने की अनुमति मिली है. मैं उच्चतम न्यायालय का धन्यवाद करता हूं. जो भी रिपोर्ट लाऊंगा वो न्यायालय के समक्ष रखूंगा.’

  • कश्मीर में गुलाम नबी आजाद किससे मिलने जा रहे हैं, फारुख अब्दुल्ला को फिर लिया गया हिरासत में, जम्मू-कश्मीर से जुड़ी आज की 15 बड़ी बातें

    कश्मीर में गुलाम नबी आजाद किससे मिलने जा रहे हैं, फारुख अब्दुल्ला को फिर लिया गया हिरासत में, जम्मू-कश्मीर से जुड़ी आज की 15 बड़ी बातें

    सुप्रीम कोर्ट से जम्मू-कश्मीर जाने की इजाजत मिलने के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि उनकी याचिका में यह कहीं लिखा है कि वह परिवार या किसी नेता से मिलने जा रहा हूं. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि घाटी में बीजेपी के नेता को छोड़कर सभी को हिरासत में रखा गया है. जाहिर सी बात है वो आवाज नहीं उठाएंगे. उन्‍होंने कहा कि मैं घाटी के लोगों से मिलूंगा और कोर्ट को बताउंगा कि वो कैसे रह रहे हैं ताकि कोर्ट सरकार को बताए कि उनके खाने पीने का सही इंतजाम हो सके. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मैंने अपने परिवार वालों से मिलने की बात कही है क्‍योंकि मेरे भाई, बहन, भतीजे सभी वहां रहते हैं. मैं उनको लेकर चिंतित हूं. मैं वहां के दूसरे लोगों को लेकर भी चिंतित हूं. जो लोग वहां शिकारे पर काम करते हैं उनकी रोजी रोटी रोज की आमदनी पर निर्भर करती है. जब 100 रुपये उनके घर में आते हैं तब जाकर उनके घर में चूल्‍हा जलता है. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मैं यह देखना चाहता हूं कि वो कैसे रह रहे हैं. उनकी रोजी रोटी कैसे चल रही है. गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के मुद्दे को लेकर आज कई खबरें आई हैं. श्रीनगर से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक आज जम्मू-कश्मीर को लेकर गहमागहमी का दिन रहा है.

  • कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को मिली जम्‍मू-कश्‍मीर जाने की इजाजत, 4 जिलों का कर सकेंगे दौरा

    कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को मिली जम्‍मू-कश्‍मीर जाने की इजाजत, 4 जिलों का कर सकेंगे दौरा

    साथ ही उन्होंने कहा कि मैं कोर्ट को भरोसा देना चाहता हूं कि मैं कोई रैली नही करूंगा. वहां फलों आदि से जुडे लोगों से मिलना चाहता हूं. इस पर CJI रंजन गोगोई ने कहा कि आजाद ने कहा कि वो राजनीतिक रैली नहीं करना चाहते, चार जगहों पर जाने की मांग की है. सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि इनकी याचिका को देखना होगा. CJI ने केंद्र सरकार और जम्मू कश्मीर सरकार को नोटिस जारी किया है. वहीं गुलाम नबी आजाद को जम्मू-कश्मीर जाने की इजाजत दे दी गई.

  • LIVE: जम्मू कश्मीर का दौरा करने गए राहुल गांधी समेत विपक्ष के नेताओं को वापस भेजा गया

    LIVE: जम्मू कश्मीर का दौरा करने गए राहुल गांधी समेत विपक्ष के नेताओं को वापस भेजा गया

    कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत विपक्षी दलों के कई नेता आज जम्मू कश्मीर का दौरा करने पहुंचे लेकिन उन्हें वापस लौटा दिया गया. सभी नेता अनुच्छेद 370 के प्रमुख प्रावधानों को हटाए जाने के बाद वहां की स्थिति का जायजा लेने गए थे. इस दौरे पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, केसी वेणुगोपाल, आनंद शर्मा, सीपीएम के सीताराम येचुरी, डीएमके के तिरुचि सिवा, टीएमसी के दिनेश त्रिवेदी, सीपीआई के डी राजा, एनसीपी के मजीद मेनन, आरजेडी के मनोज झा, जेडीएस के कुपेंद्र रेड्डी और शरद यादव गए थे.

  • जम्मू हवाईअड्डे पर गुलाम नबी आजाद को रोका गया, दिल्ली वापस भेजा

    जम्मू हवाईअड्डे पर गुलाम नबी आजाद को रोका गया, दिल्ली वापस भेजा

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को मंगलवार को जम्मू हवाईअड्डे पर रोक दिया गया और उन्हें वापस दिल्ली भेज दिया गया. पार्टी के एक नेता ने यह जानकारी दी. जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा वापस लिए जाने के बाद इस महीने में यह दूसरी बार है जब राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री को यहां आने की इजाजत नहीं दी गई.

  • जम्मू में दो कांग्रेस नेताओं की हुई गिरफ्तारी तो भड़के राहुल गांधी, किया यह Tweet...

    जम्मू में दो कांग्रेस नेताओं की हुई गिरफ्तारी तो भड़के राहुल गांधी, किया यह Tweet...

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने जम्मू-कश्मीर (Jamu Kashmir) के अपने 'दो नेताओं की गिरफ्तारी' की निंदा की. उन्होंने शुक्रवार को सरकार पर निशाना साधा और सवाल किया कि आखिर यह पागलपन कब खत्म होगा?

  • धारा 370 हटाए जाने पर बोले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कर्ण सिंह- मैं पूरी तरह फैसले के विरोध में नहीं, इसके कई फायदे हैं

    धारा 370 हटाए जाने पर बोले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कर्ण सिंह- मैं पूरी तरह फैसले के विरोध में नहीं, इसके कई फायदे हैं

    जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 की अधिकतर धाराएं हटाए जाने से जुड़े सरकार के कदम को लेकर कांग्रेस नेताओं के बीच मतभेद खुलकर सामने आने की पृष्ठभूमि में कांग्रेस ने नौ अगस्त को अपने महासचिवों-प्रभारियों, प्रदेश अध्यक्षों, राज्यों में विधायक दल के नेताओं, पार्टी के विभाग प्रमुखों और सांसदों की बैठक बुलाई है. बैठक में इस विषय पर चर्चा की जाएगी. सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों को पत्र लिखकर बैठक की जानकारी दी है. यह बैठक नौ अगस्त की शाम 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड स्थित पार्टी के वाररूम में प्रस्तावित है.

  • जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद बौखलाए पाकिस्तान को भारत का जवाब- यह हमारा आतंरिक मामला है

    जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद बौखलाए पाकिस्तान को भारत का जवाब- यह हमारा आतंरिक मामला है

    विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमने उन खबरों को देखा है जिनमें कहा गया है कि पाकिस्तान ने भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को लेकर कुछ एकतरफा फैसला किया है. इसमें हमारे राजनयिक संबंधों के स्तर में कटौती करना शामिल है. मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से उठाये गए इन कदमों का मकसद स्पष्ट रूप से दुनिया के सामने हमारे द्विपक्षीय संबंधों के लेकर चिंताजनक तस्वीर पेश करना है. पाकिस्तान ने जो कारण बताये हैं, वे जमीनी हकीकत के साथ मेल नहीं खाते.

  • कश्मीर दौरे पर गए कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को श्रीनगर एयरपोर्ट रोका गया

    कश्मीर दौरे पर गए कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को श्रीनगर एयरपोर्ट रोका गया

    जम्मू-कश्मीर दौरे पर गए कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद को श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोक लिया गया है. जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से वहां पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था है. कई इलाकों में धारा 144 लगाई गई है. केंद्र सरकार ने धारा 370 हटाने के साथ ही जम्मू-कश्मीर को दो हिस्सों में बांटते हुए जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया गया.

  • कश्मीर में लोगों के साथ बात करते NSA डोभाल की तस्वीर पर बोले आजाद, 'पैसे देकर आप किसी को साथ ले सकते हो'

    कश्मीर में लोगों के साथ बात करते NSA डोभाल की तस्वीर पर बोले आजाद, 'पैसे देकर आप किसी को साथ ले सकते हो'

    संसद ने मंगलवार को जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने संबंधी अनुच्छेद 370 के कई प्रावधानों को समाप्त करने के प्रस्ताव वाले संकल्प और जम्मू कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख में विभाजित करने वाले विधेयक को मंजूरी दे दी. उधर, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने वाले प्रस्ताव को बुधवार को स्वीकृति प्रदान की.

  • जनार्दन द्विवेदी ने 'ऐतिहासिक भूल सुधार' कहा तो गुलाम नबी आजाद ने दी नसीहत- इतिहास पढ़ लें फिर कांग्रेस में रहें

    जनार्दन द्विवेदी ने 'ऐतिहासिक भूल सुधार' कहा तो गुलाम नबी आजाद ने दी नसीहत- इतिहास पढ़ लें फिर कांग्रेस में रहें

    वे पहले जम्‍मू-कश्‍मीर और कांग्रेस का इतिहास पढ़ लें फिर कांग्रेस में रहें. गुलाम नबी आजाद का यह बयान उस समय आया है जब कांग्रेस के ही कई नेताओं ने सरकार द्वारा पेश किए गए बिल के पक्ष में बयान दिया है. राज्‍य सभा में बिल पास होने से पहले कांग्रेस एक राज्‍य सभा सांसद ने इस्‍तीफा दे दिया था. अपने इस्‍तीफे में सांसद ने बिल के समर्थन में अपनी बात कही थी. कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता जनार्दन द्व‍िवेदी ने भी मोदी सरकार द्वारा पेश किए गए बिल के समर्थन में बयान दिया.

  • बंगाल में 'जय श्रीराम' नहीं बोलने पर मदरसा शिक्षक को पीटने के बाद चलती ट्रेन से दिया धक्का 

    बंगाल में 'जय श्रीराम' नहीं बोलने पर मदरसा शिक्षक को पीटने के बाद चलती ट्रेन से दिया धक्का 

    पश्चिम बंगाल में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां मदरसे के एक शिक्षक ने शिकायत दर्ज कराई है कि 'जय श्रीराम' नहीं बोलने की वजह से कुछ लोगों के एक समूह ने उसे पीटा और चलती ट्रेन से धक्का दे दिया.

  • Election 2019: गुलाम नबी आजाद ने कहा- हम संख्या में हारे लेकिन यह विचारधारा की हार नहीं, ऐसे हालात में केवल राहुल गांधी कर सकते हैं नेतृत्व

    Election 2019: गुलाम नबी आजाद ने कहा- हम संख्या में हारे लेकिन यह विचारधारा की हार नहीं, ऐसे हालात में केवल राहुल गांधी कर सकते हैं नेतृत्व

    लोकसभा चुनावों में मिली हार के बाद कांग्रेस के दिग्गज नेता गुलाम नबी आजाद का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा, 'लोकतंत्र में जीत और हार होती रहती है लेकिन नेतृत्व देना एक अलग मामला है. उन्होंने (राहुल गांधी) नेतृत्व दिया जो टीवी पर भले ही कम दिखता हो लेकिन जनता में दिखाई देता है. हमने अपनी हार को स्वीकार किया है लेकिन यह संख्या की हार है, विचारधारा की हार नहीं है.

  • घाटी के बिगड़े हालात के लिए पीएम मोदी जिम्मेदार, जम्मू-कश्मीर पुलिस भी कम दुश्मन नहीं: गुलाम नबी आजाद

    घाटी के बिगड़े हालात के लिए पीएम मोदी जिम्मेदार, जम्मू-कश्मीर पुलिस भी कम दुश्मन नहीं: गुलाम नबी आजाद

    लोकसभा चुनाव से ठीक पहले जम्मू-कश्मीर एक बार फिर से चर्चा में है. उमर अब्दुल्ला द्वारा जम्मू-कश्मीर के लिए अलग पीएम की मांग के बयान के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने पीएम मोदी पर हमला बोला है .

  • Triple Talaq Bill: आसान नहीं राज्यसभा की राह, यह है विपक्षी एकता का गणित...

    Triple Talaq Bill: आसान नहीं राज्यसभा की राह, यह है विपक्षी एकता का गणित...

    राज्यसभा में सोमवार को तीन तलाक संबंधी विधेयक (Triple Talaq Bill) पर चर्चा नहीं हो सकी. कांग्रेस के नेतृत्व में लगभग समूचे विपक्ष ने इसे प्रवर समिति में भेजने की मांग की, वहीं सरकार ने आरोप लगाया कि विपक्ष मुस्लिम महिलाओं के अधिकार से जुड़े इस विधेयक को जानबूझकर लटकाना चाहता है. दोनों पक्षों के अपने-अपने रुख पर कायम रहने के कारण इस पर चर्चा नहीं हो सकी और हंगामे के कारण कार्यवाही दो बार के स्थगन के बाद पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई. अब इस विधेयक पर 2 जनवरी को चर्चा होगी. हालांकि लोकसभा में जिस आसानी से यह बिल पास हो गया, राज्यसभा में इसकी राह इतनी आसान नहीं दिख रही. 

  • तीन तलाक बिल पर अब दबाव में मोदी सरकार, राज्यसभा में विपक्षी एकता का यह है गणित

    तीन तलाक बिल पर अब दबाव में मोदी सरकार, राज्यसभा में विपक्षी एकता का यह है गणित

    लोकसभा में तीन तलाक बिल को पास कराने के बाद मोदी सरकार के इरादे बुलंद हैं, मगर राज्यसभा की राह इतनी आसान नहीं दिख रही है. राज्यसभा में यह बिल पास नहीं हो सके, इसके लिए विपक्ष एकजुट हो रहा है और इसे सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग कर रहा है. तीन तलाक बिल पर कांग्रेस के साथ-साथ समाजवादी पार्टी के सुर भी एक हैं. दोनों पार्टियों का कहना है कि बिल को राज्यसभा में पारित कराने से पहले बिल को ज्वांइट सेलेक्ट कमेटी के पास भेजा जाना चाहिए. बता दें कि किसी मसले पर जब भी राजनीतिक सहमति बनानी होती है तो ऐसे में उसे ज्वांइट सेलेक्ट कमेटी को भेजा जाता है.

  • वादों पर खरा नहीं उतरे मोदी व उनकी सरकार: गुलाम नबी आजाद

    वादों पर खरा नहीं उतरे मोदी व उनकी सरकार: गुलाम नबी आजाद

    कालाधन वापस लाने का वादा बड़ा था. कालाधन तो आया नहीं बल्कि नीरव मोदी, (मेहुल) चौकसी व हवाई जहाज (विजय माल्या) वाले जैसे लोग सफेद धन भी यहां से लेकर चले गए. उन्होंने कहा कि मौजूदा प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं व विदेशों में उनके ‘प्रभाव’ की बड़ी चर्चा होती है लेकिन वह अपने इस कथित प्रभाव का इस्तेमाल कर एक भी भगोड़े अपराधी को वापस लाने में नहीं कर पाए हैं.