NDTV Khabar

Govardhan puja vidhi


'Govardhan puja vidhi' - 3 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • गोवर्द्धन पूजा 2018: गोवर्द्धन पर्वत को पूजने का शुभ मुहूर्त, साथ ही जानिए पूरी पूजा विधि

    गोवर्द्धन पूजा 2018: गोवर्द्धन पर्वत को पूजने का शुभ मुहूर्त, साथ ही जानिए पूरी पूजा विधि

    Govardhan Puja 2018: गोवर्द्धन पूजा का सुबह का समय खत्म हो चुका है, लेकिन आप अभी भी इस शुभ मुहूर्त पर गोवर्द्धन पर्वत को पूज सकते हैं.

  • Govardhan Puja 2018: गोवर्द्धन पूजा की आज देशभर में धूम, जानें गोवर्धन पूजा की कथा

    Govardhan Puja 2018: गोवर्द्धन पूजा की आज देशभर में धूम, जानें गोवर्धन पूजा की कथा

    आज पूरे देशभर में गोवर्धन पूजा की की धूम है. दरअसल, दीपावली यानी दिवाली (Deepawali or Diwali) के अगले दिन गोवर्द्धन पूजा (Govardhan Puja) की जाती है. गोवर्दन पूजा के दिन भगवान कृष्‍ण (Sri Krishna), गोवर्द्धन पर्वत और गायों की पूजा का विधान है. इतना ही नहीं, इस दिन 56 या 108 तरह के पकवान बनाकर श्रीकृष्‍ण को उनका भोग लगाया जाता है.  इन पकवानों को 'अन्‍नकूट' (Annakoot or Annakut) कहा जाता है. ऐसी मान्यता है कि ब्रजवासियों की रक्षा के लिए भगवान श्रीकृष्ण ने अपनी दिव्य शक्ति से विशाल गोवर्धन पर्वत को छोटी अंगुली में उठाकर हजारों जीव-जतुंओं और इंसानी जिंदगियों को भगवान इंद्र के कोप से बचाया था. यानी भगवान कृष्‍ण ने देव राज इन्‍द्र के घमंड को चूर-चूर कर गोवर्द्धन पर्वत की पूजा की थी. गोवर्धन पूजा कार्तिक माह की प्रतिपदा को मनाया जाता है. इस खास दिन लोग अपने घरों में गाय के गोबर से गोवर्धन बनाते हैं. 

  • Govardhan Puja 2018: कृष्ण जिनका नाम गोकुल जिनका धाम, ऐसे कृष्ण भगवान को हम सबका प्रणाम, गोवर्द्धन पूजा की शुभकामनाएं

    Govardhan Puja 2018: कृष्ण जिनका नाम गोकुल जिनका धाम, ऐसे कृष्ण भगवान को हम सबका प्रणाम, गोवर्द्धन पूजा की शुभकामनाएं

    Govardhan Puja 2018: गोवर्द्धन पूजा को महाराष्ट्र में बलि प्रतिपदा या बलि पड़वा के रूप में मनाया जाता है. इसी के साथ गोवर्धन पूजा को गुजराती नववर्ष का पहला दिन माना जाता है. सबसे खास, इस दिन भगवान विश्वकर्मा की पूजा भी की जाती है.