NDTV Khabar

Governor satyapal malik


'Governor satyapal malik' - 15 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने आतंकियों को बताया ‘पाक के खरीदे हुए लड़के’, कहा- वे जल्द मारे जाएंगे

    राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने आतंकियों को बताया ‘पाक के खरीदे हुए लड़के’, कहा- वे जल्द मारे जाएंगे

    मलिक ने आतंकवादियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा, ‘मैं उनसे कह रहा हूं कि वे अपने तरीके सुधार लें क्योंकि मुझे नहीं पता कि फल विक्रेताओं की मौत होगी या नहीं, लेकिन इस बात की गारंटी है कि तुम सब (आतंकवादी) जरूर और जल्दी मारे जाओगे.’ दो दिन पहले ही मलिक ने बाजार हस्तक्षेप योजना की शुरुआत की थी. अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्म कर जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा वापस लिये जाने के केंद्र के फैसले को रद्द करने के बारे में पूछे जने पर मलिक ने कहा, ‘इतिहास का पहिया पीछे नहीं होता.’ इस घटनाक्रम को राज्य के लिये एक ‘अवसर’ बताते हुए उन्होंने कहा, ‘केंद्र ने जम्मू कश्मीर के विकास के लिये अपना खजाना खोल दिया है.’

  • जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले- 'जितना ज्यादा वक्त जेल में बिताएंगे, चुनाव प्रचार के समय...'

    जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले- 'जितना ज्यादा वक्त जेल में बिताएंगे, चुनाव प्रचार के समय...'

    इस महीने पांच तारीख को केंद्र द्वारा जम्मू-कश्मीर के विशेष राज्य के दर्जे को खत्म किए जाने के बाद पहली बार पत्रकार वार्ता कर रहे मलिक से तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों और अन्य सियातसतदानों को हिरासत में लेने तथा उन्हें रिहा करने के बारे में पूछा गया था.

  • कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, सत्यपाल मलिक को जम्मू-कश्मीर बीजेपी का अध्यक्ष बनाना चाहिए

    कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, सत्यपाल मलिक को जम्मू-कश्मीर बीजेपी का अध्यक्ष बनाना चाहिए

    लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को राज्य बीजेपी का अध्यक्ष होना चाहिए क्योंकि उनका व्यवहार और बयान बीजेपी नेता की तरह है.

  • राज्यपाल ने श्रीनगर में तिरंगा फहराया, बोले- जम्मू-कश्मीर के लोगों की पहचान न तो दांव पर है और न ही इसमें छेड़छाड़ हुई

    राज्यपाल ने श्रीनगर में तिरंगा फहराया, बोले- जम्मू-कश्मीर के लोगों की पहचान न तो दांव पर है और न ही इसमें छेड़छाड़ हुई

    उन्होंने यह बात 73वें स्वतंत्रता दिवस पर श्रीनगर में आयोजित समारोह में ध्वजारोहण के बाद कही. केंद्र के ओर से किए गए बदलाव को ऐतिहासिक करार देते हुए मलिक ने कहा कि इससे विकास के नए रास्ते खुलेंगे और जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख के विभिन्न समुदायों को अपनी भाषा और संस्कृति को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी.

  • सत्यपाल मलिक के बयान पर उमर अब्दुल्ला ने साधा निशाना तो गवर्नर बोले- वह राजनीतिक नौसिखिया हैं...

    सत्यपाल मलिक के बयान पर उमर अब्दुल्ला ने साधा निशाना तो गवर्नर बोले- वह राजनीतिक नौसिखिया हैं...

    राज्यपाल के इस बयान पर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट करके लिखा, ‘‘इस ट्वीट को सहेज लें- आज के बाद जम्मू-कश्मीर में मारे गये किसी भी मुख्यधारा के नेता या सेवारत/सेवानिवृत्त नौकरशाह की अगर हत्या होती है तो समझा जायेगा कि यह जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के आदेशों पर की गयी है.’’ इसके बाद सत्यपाल मलिक ने अपने बयान पर सफाई दी और उमर अब्दुल्ला पर निशाना साधा.

  • J&K के राज्यपाल ने आतंकियों से कहा, 'मुल्क लूटने वालों को मारो..' तो उमर अब्दुल्ला बोले- किसी नेता का मर्डर होने पर गवर्नर जिम्मेदार

    J&K के राज्यपाल ने आतंकियों से कहा, 'मुल्क लूटने वालों को मारो..' तो उमर अब्दुल्ला बोले- किसी नेता का मर्डर होने पर गवर्नर जिम्मेदार

    राज्यपाल के इस बयान पर राजनीतिक विवाद उत्पन्न हो सकता है. राज्यपाल के इस बयान की मुख्यधारा के नेताओं ने आलोचना की है. लद्दाख संभाग के करगिल में एक पर्यटन कार्यक्रम में मलिक ने कहा, ‘‘ये लड़के जिन्होंने हथियार उठाये है वे अपने ही लोगों की हत्या कर रहे हैं, वे पीएसओ (निजी सुरक्षा अधिकारियों) और एसपीओ (विशेष पुलिस अधिकारियों) की हत्या कर रहे हैं. इनकी हत्या क्यों कर रहे हो? उनकी हत्या करो जिन्होंने कश्मीर की सम्पदा लूटी है. क्या तुमने इनमें से किसी मारा है?’’

  • 'पुलिसवालों की जगह उनको मारो जिन्‍होंने कश्‍मीर को लूटा', जम्मू कश्मीर के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने आतंकियों से कहा

    'पुलिसवालों की जगह उनको मारो जिन्‍होंने कश्‍मीर को लूटा', जम्मू कश्मीर के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने आतंकियों से कहा

    रविवार को सत्यपाल मलिक ने करगिल में एक भाषण के दौरान कहा कि आतंकी पुलिस वालों की बजाय भ्रष्ट नेताओं और नौकरशाहों को मारें. सत्यपाल मलिक ने कहा कि ये लड़के जो बंदूक लिए फिजूल में अपने लड़कों को मार रहे हैं. पीएसओज, एसजीओज को मारते हैं, क्यों मार रहे हो इनको. उनको मारो जिन्होंने तुम्हारा मुल्क लूटा है. जिन्होंने कश्मीर की सारी दौलत लूटी है.

  • जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले, वोट के लिए नेता किसी भी हद तक जा सकते हैं

    जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले, वोट के लिए नेता किसी भी हद तक जा सकते हैं

    जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने नेताओं पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के खिलाफ सुरक्षाबलों द्वारा चलाए जा रहे अभियान के खिलाफ बोलना नेताओं की राजनैतिक मजबूरी है. जम्मू में आतंकवादियों की हत्या की जांच की मांग से जुड़े एक सवाल के जवाब में सत्यपाल मलिक ने कहा कि, 'जब एक आतंकवादी गोलीबारी शुरू करता है या कोई विस्फोट फेंकता है तो हम उसे फूल या गुलदस्ता नहीं देंगे.

  • रवीश कुमार ने फैक्स मशीन को लेकर कसा तंज, तो राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दिया यह जवाब

    रवीश कुमार ने फैक्स मशीन को लेकर कसा तंज, तो राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दिया यह जवाब

    जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक पर विधानसभा भंग करने को कई लेकर सवाल उठे. उनके फ़ैसले से सियासी सरगर्मियों ने ज़ोर पकड़ लिया. अब ग्वालियर की ITM यूनिवर्सिटी में सत्यपाल मलिक ने खुद तफ़सील से बताया कि आखिर उन्होंने विधानसभा भंग करने का फ़ैसला क्यों लिया. सत्यपाल मलिक ने कहा कि ईद के दिन जब रसोईयां भी छुट्टी पर हो तब 7-8 बजे के बीच फैक्स मशीन खोलकर महबूबा मुफ्ती की चिट्ठी का इंतजार करता रहे. 

  • जम्मू-कश्मीर: राज्यपाल बोले- सरकार बनने का मौका देता तो पहले जैसे हो जाते हालात

    जम्मू-कश्मीर: राज्यपाल बोले- सरकार बनने का मौका देता तो पहले जैसे हो जाते हालात

    राज्यपाल ने कहा, 'मैंने यह फैसला राज्य के हित में लिया है. मेरे पास कोई आया नहीं, किसी ने विधायकों की परेड भी नहीं किया. मैंने किसी से बातचीत नहीं की. मैंने यह काम जम्मू-कश्मीर के संविधान के तहत किया है. जम्मू-कश्मीर के संविधान में प्रावधान है कि मुझे इस काम के लिए राष्ट्रपति या देश के संसद तक नहीं जाना है. ये मेरा अधिकार था तो मैंने ऐसा किया. महबूबा मुफ्ती बहाने बाजी कर रही हैं. अगर उन्हें कुछ गलत लगता है तो वो कोर्ट जाएं. सोशल मीडिया से सरकार नहीं बनती. पार्टियां एक दिन पहले भी आ सकती थीं. किसी ने अपना आदमी तक नहीं भेजा.'

  • जब उमर अब्दुल्ला ने 15 मिनट के भीतर महबूबा मुफ्ती के ट्वीट चार बार किए रीट्वीट

    जब उमर अब्दुल्ला ने 15 मिनट के भीतर महबूबा मुफ्ती के ट्वीट चार बार किए रीट्वीट

    उमर अब्दुल्ला ने मुफ्ती के एक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए अपनी प्रतिक्रियाएं भी दी हैं. मुफ्ती ने ट्वीट किया था, 'एक नेता के तौर पर मेरे 26 साल के करियर में मैं सोचती थी कि मैंने सब कुछ देख लिया है. लेकिन ऐसा कभी नहीं कहना चाहिए. असंभव को संभव बनाने के लिए मैं उमर अब्दुल्ला और अंबिका सोनी जी का तह दिल से शुक्र अदा करना चाहूंगी.' इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए अब्दुल्ला ने लिखा है, 'और मैंने कभी नहीं सोचा था कि किसी बात पर आपसे सहमत होते हुए आपके ट्वीट को रीट्वीट करूंगा. राजनीति सच में अनोखी है. आगे की जंग के लिए शुभकामनाएं. एक बार फिर लोगों की समझ की जीत होगी.'

  • NC, PDP को जम्मू-कश्मीर निकाय चुनाव का बहिष्कार नहीं करना चाहिए था : सत्यपाल मलिक

    NC, PDP को जम्मू-कश्मीर निकाय चुनाव का बहिष्कार नहीं करना चाहिए था : सत्यपाल मलिक

    जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने मंगलवार को कहा कि नेशनल कान्फ्रेंस और पीडीपी को निकाय चुनाव का बहिष्कार नहीं करना चाहिए था. उन्होंने साथ ही कहा कि संविधान के अनुच्छेद 35ए और 370 इस चुनाव में गैर..मुद्दे थे. नेशनल कान्फ्रेंस और पीडीपी ने इन दोनों अनुच्छेदों को विधिक चुनौती को लेकर चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा की थी. मलिक ने चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न होने पर संतोष व्यक्त किया. उन्होंने शहरी निकाय चुनाव का अंतिम चरण सम्पन्न होने के तत्काल बाद कहा कि , ‘यह (प्रतिक्रिया) काफी अच्छी रही.’ उन्होंने कहा, ‘‘आज (मंगलवार को) श्रीनगर में 9578 वोट पड़े. गंदेरबाल में 1000 वोट पड़े. मतदान प्रतिशत हाल के कुछ चुनावों से बेहतर है.’    

  • मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड: क्या राज्यपाल की चिट्ठी BJP को भारी पड़ रही है?

    मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड: क्या राज्यपाल की चिट्ठी BJP को भारी पड़ रही है?

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को साफ कर दिया की राज्यपाल ने जो चिट्ठी लिखी थी उस पर उनको कोई आपत्ति नहीं. हालांकि उन्होंने केंद्रीय विधि मंत्री और पटना हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को मुजफ्फरपुर के मुद्दे पर पत्र क्यों लिखा था उसका जवाब राज्यपाल ही दे सकते हैं. नीतीश कुमार के जवाब से साफ़ झलक रहा था की वो राज्यपाल द्वारा लिखे गए खतों के सिलसिले से न केवल नाखुश हैं बल्कि वह चाहते हैं कि राजपाल अब इस मुद्दे पर कुछ सफाई दें.

  • मुजफ्फरपुर कांड पर राज्यपाल की चिट्ठी को जेडीयू मान रही दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय का 'खेल'

    मुजफ्फरपुर कांड पर राज्यपाल की चिट्ठी को जेडीयू मान रही दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय का 'खेल'

    पिछले साल सत्यपाल मलिक ने बतौर बिहार गवर्नर नीतीश कुमार को गले लगाकर अपनी पारी की शुरुआत की तो किसी को आश्चर्य नहीं हुआ. हालांकि अब जब राज्यपाल ने पत्र लिखा तो यह चौंकाने वाला कदम जरूर था. एक अन्य जदयू नेता कहते हैं कि, 'राजभवन को कलम उठाने पर मजबूर करने की पटकथा कहीं और लिखी गई है. इसके पीछे बिहार बीजेपी नहीं है.

  • नीतीश कुमार ने सत्यपाल मलिक को राज्यपाल नियुक्त होने पर दी बधाई 

    नीतीश कुमार ने सत्यपाल मलिक को राज्यपाल नियुक्त होने पर दी बधाई 

    मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी बयान के अनुसार नीतीश ने सत्यपाल मलिक के बिहार का राज्यपाल नियुक्त करने के केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत किया एवं मलिक को बिहार का राज्यपाल नियुक्त होने पर बधाई दी है.