NDTV Khabar

Gst rates


'Gst rates' - 57 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • घर खरीदने का सपना होगा साकार, जीएसटी की दरों में गिरावट

    घर खरीदने का सपना होगा साकार, जीएसटी की दरों में गिरावट

    आवासीय परियोजनाओं के लिए जीएसटी की ये दरें एक अप्रैल, 2019 से लागू होंगी. इस समय निर्माणाधीन या ऐसे तैयार मकान जिनके लिए काम पूरा होने का प्रमाणपत्र (कंप्लीशन सर्टिफिकेट) नहीं मिला हो, उन पर खरीदारों को 12 प्रतिशत की दर से जीएसटी देना पड़ता है. लेकिन वर्तमान व्यवस्था में मकान निर्माताओं को इनपुट (निर्माण सामग्री) पर चुकाये गए कर पर छूट का लाभ भी मिलता है.

  • नए साल का तोहफा: आज से सस्ती हो जाएंगी सिनेमा टिकट, टेलीविजन और डिब्बा बंद खाने जैसी 23 चीजें

    नए साल का तोहफा: आज से सस्ती हो जाएंगी सिनेमा टिकट, टेलीविजन और डिब्बा बंद खाने जैसी 23 चीजें

    माल एवं सेवाकर (जीएसटी) परिषद ने 22 दिसंबर को हुई बैठक में 23 वस्तुओं और सेवाओं पर कर दर कम करने का फैसला किया था. इनमें सिनेमा टिकट, टेलीविजन और मानिटर स्क्रीन, पावर बैंक आदि शामिल हैं. इसके अलावा शीतित एवं डिब्बा बंद खास तरह की प्रसंस्कृत सब्जियों को शुल्कमुक्त कर दिया गया. उपभोक्ताओं को मंगलवार से इन वस्तुओं के लिये कम दाम देने होंगे. एक जनवरी से इन वस्तुओं पर जीएसटी दर कम हो जायेगी. जिसके परिणामस्वरूप इनके दाम घट सकते हैं.

  • वित्त मंत्री अरुण जेटली का एलान: GST का 12-18% स्लैब खत्म कर लाई जाएगी नई मानक दर

    वित्त मंत्री अरुण जेटली का एलान: GST का 12-18% स्लैब खत्म कर लाई जाएगी नई मानक दर

    अभी सिर्फ लग्जरी एवं अहितकारी उत्पादों के अलावा वाहनों के कलपुर्जे, एसी और सीमेंट समेत केवल 28 वस्तुएं ही बची हैं. वित्त मंत्री ने कहा, 'अप्रत्यक्ष कर प्रणाली में जीएसटी के रूप में परिवर्तन पूरा होने के साथ अब हम इसकी दरों को तर्कसंगत बनाने के पहले चरण को पूरा करने के करीब हैं. उदाहरण के लिए विलासिता और अहितकारी वस्तुओं को छोड़कर बाकी वस्तुएं को चरणबद्ध तरीके से 28 प्रतिशत के उच्चतम कर के दायरे से बाहर की जा रही है.'

  • TV, सिनेमा टिकट, कैमरे, मॉनिटर और पावर बैंक हुए सस्ते, कई सामनों पर घटी GST तो कई दायरे से बाहर, देखें पूरी लिस्ट

    TV, सिनेमा टिकट, कैमरे, मॉनिटर और पावर बैंक हुए सस्ते, कई सामनों पर घटी GST तो कई दायरे से बाहर, देखें पूरी लिस्ट

    परिषद ने जीएसटी की 28 फीसदी की सबसे ज्यादा दर के दायरे में आने वाली वस्तुओं में से सात को कम दर वाले स्लैब में डाल दिया है. इसके साथ ही 28 फीसदी के स्लैब में अब केवल 28 वस्तुएं बची हैं. वित्त मंत्री ने कहा कि सीमेंट पर जीएसटी को कम किए जाने से राजकोष पर सालाना 13,000 करोड़ रुपए का प्रभाव पड़ता.

  • GST काउंसिल की 31वीं बैठक पूूरी हुई, कई सामान हुए सस्ते, 28 आयटम्स पर ही लागू होगा 28 प्रतिशत स्लैब

    GST काउंसिल की 31वीं बैठक पूूरी हुई, कई सामान हुए सस्ते, 28 आयटम्स  पर ही लागू होगा 28 प्रतिशत स्लैब

    जीएसटी परिषद ने शनिवार को आम लोगों को राहत देते हुए टीवी स्क्रीन, सिनेमा के टिकट और पावर बैंक सहित विभिन्न प्रकार की 23 वस्तुओं पर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की दरों में कमी की घोषणा की.

  • छोटी कारें, एसी और डिश वॉशर जैसी कई चीजें हो जाएंगी सस्ती; जीएसटी में कटौती का ऐलान

    छोटी कारें, एसी और डिश वॉशर जैसी कई चीजें हो जाएंगी सस्ती; जीएसटी में कटौती का ऐलान

    प्रधानमंत्री ने ज्यादातर सामान पर जीएसटी घटाकर 18 फीसदी से नीचे रखने की घोषणा की है. इस घोषणा से छोटे कारोबारियों में एक नई उम्मीद पैदा हुई है. हालांकि विपक्ष इस राजनीति पर सवाल उठा रहा है.

  • वित्त मंत्रालय ने बताया, किन सामानों पर कम हुई GST की दरें

    वित्त मंत्रालय ने बताया, किन सामानों पर कम हुई GST की दरें

    जीएसटी की दरों को और तार्किक बनाने के बारे में हफ्ते के आखिर में जीएसटी काउंसिल की होने वाली बैठक में विचार किये जाने का अनुमान है। ऐसा माना जा रहा है कि कुछ अन्य सामानों को भी 28 फीसदी के दायरे में लाया जाएगा। 

  • रघुराम राजन बोले- नोटबंदी और GST से भारत की आर्थिक वृद्धि को लगे झटके, मौजूदा ग्रोथ रेट पर्याप्त नहीं

    रघुराम राजन बोले- नोटबंदी और GST से भारत की आर्थिक वृद्धि को लगे झटके, मौजूदा ग्रोथ रेट पर्याप्त नहीं

    उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सात प्रतिशत की मौजूदा वृद्धि दर देश की जरूरतों के हिसाब से पर्याप्त नहीं है.

  • अब सबसे ऊंचे जीएसटी स्लैब में सिर्फ 35 उत्पाद

    अब सबसे ऊंचे जीएसटी स्लैब में सिर्फ 35 उत्पाद

    माल एवं सेवा कर (जीएसटीGST) परिषद ने सबसे ऊंचे 28 प्रतिशत के कर स्लैब में उत्पादों की सूची को घटाकर 35 कर दिया है. अब इस सूची में एसी, डिजिटल कैमरा, वीडियो रिकॉर्डर, डिशवॉशिंग मशीन और वाहन जैसे 35 उत्पाद रह गए हैं. पिछले एक साल के दौरान जीएसटी परिषद ने सबसे ऊंचे कर स्लैब वाले 191 उत्पादों पर कर घटाया है. 

  • कई और सामानों पर जीएसटी (GST) में की गई है कटौती, जानें कौन-कौन सा सामान हुआ सस्ता

    कई और सामानों पर जीएसटी (GST) में की गई है कटौती, जानें कौन-कौन सा सामान हुआ सस्ता

    जीएसटी परिषद ने सैनिटरी नैपकिन को माल एवं सेवा कर (जीएसटी) से छूट देने की एक साल से चल रही मांग को शनिवार को पूरा किया. जीएसटी के बारे में निर्णय करने वाले इस सर्वोच्च निकाय ने इसके अलावा टीवी , फ्रिज वॉशिंग मशीन तथा बिजली से चलने वाले कुछ घरेलू उपकरणों और अन्य उत्पादों पर भी कर की दरें कम की हैं. 

  • GST की नई दरें 27 जुलाई से लागू, पढ़ें- टीवी-फ्रिज सहित सस्ते होने वाले सामानों की पूरी लिस्ट

    GST की नई दरें 27 जुलाई से लागू, पढ़ें- टीवी-फ्रिज सहित सस्ते होने वाले सामानों की पूरी लिस्ट

    जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) परिषद ने शनिवार को आम आदमी को राहत देते हुए कई जरूरी चीजों पर से टैक्स कम कर दिया है. रेफ्रिजरेटर, वाशिंग मशीन और छोटे टेलीविजन सहित कई सामानों पर जीएसटी दर 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी कर दिया है.

  • राहुल गांधी का जीएसटी की एक दर रखने का विचार त्रुटिपूर्ण : अरुण जेटली

    राहुल गांधी का जीएसटी की एक दर रखने का विचार त्रुटिपूर्ण : अरुण जेटली

    माल एवं सेवाकर (जीएसटी) की एक दर की पैरवी करने के कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विचार को दरकिनार करते हुए केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को कहा कि यह व्यवस्था उन देशों में लागू हो सकती है जहां पूरी आबादी की व्यय क्षमता एक जैसी और बेहतर हो.

  • जीएसटी दरें घटाने की दिशा में काम कर रही है सरकार

    जीएसटी दरें घटाने की दिशा में काम कर रही है सरकार

    वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने कहा कि जीएसटी परिषद जीएसटी दरों को युक्तिसंगत बनाने के लिए काम कर रही है. यहां एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि सरकार जीएसटी के बारे में एक बड़ी घोषणा जल्द करेगी. इस समय माल व सेवा कर (जीएसटी) में चार दरें - पांच प्रतिशत , 12 प्रतिशत , 18 प्रतिशत व 28 प्रतिशत - की है. उन्होंने कहा कि सरकार एसएमई क्षेत्र को प्रोत्साहित करने की दिशा में काम कर रही है.

  • मोदी सरकार को झटका! वर्ल्ड बैंक ने कहा- भारतीय GST प्रणाली विश्व में सबसे जटिल

    मोदी सरकार को झटका! वर्ल्ड बैंक ने कहा- भारतीय GST प्रणाली विश्व में सबसे जटिल

    विश्व बैंक का कहना है कि भारत की वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली दुनिया की सबसे जटिल कर प्रणालियों में से एक है. इसमें न केवल सबसे उच्च कर दर शामिल है बल्कि इस प्रणाली में सबसे अधिक कर के स्लैब भी हैं. वर्ल्ड बैंक ने कहा है कि भारत उच्च मानक जीएसटी दर मामले में एशिया में पहले और चिली के बाद विश्व में दूसरे स्थान पर है. 

  • 29 वस्तुओं और 53 सेवाओं पर कम हुआ जीएसटी, पेट्रोल-डीजल पर विचार नहीं : जीएसटी परिषद की बैठक में फैसला

    29 वस्तुओं और 53 सेवाओं पर कम हुआ जीएसटी, पेट्रोल-डीजल पर विचार नहीं : जीएसटी परिषद की बैठक में फैसला

    जीएसटी काउंसिल के बैठक में सरकार ने अहम फैसला लेते हुए 29 वस्तुओं और 53 सेवाओं के जीएसटी रेट में बदलाव किया है. जीएसटी परिषद की बैठक में 29 वस्तुओं को शून्य जीएसटी के स्लैब में रख दिया. यानी इन 29 सामानों पर जीएसटी नहीं लगेगा. इस बैठक में पेट्रोल और डीजल को जीएसटी में लाने पर अभी विचार नहीं हुआ है. बता दें कि जीएसटी काउंसिल की यह 25 वीं मीटिंग थी. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि आज के बैठक में ज्यादातर चीजों पर सिर्फ चर्चा हुई. अभी फाइनली अप्रूव नहीं किया गया है.

  • अक्टूबर में जीएसटी कलेक्शन में करीब 10 फीसदी की तेज गिरावट - 10 खास बातें

    अक्टूबर में जीएसटी कलेक्शन में करीब 10 फीसदी की तेज गिरावट - 10 खास बातें

    माल एवं सेवाकर (जीएसटी) की वसूली अक्टूबर माह में करीब 10 प्रतिशत घटकर 83,346 करोड़ रुपये रह गई. कई वस्तुओं पर जीएसटी दर कम किए जाने और नई व्यवस्था को अपनाने में आ रही शुरुआती दिक्कतों के चलते यह गिरावट आई है. इसके चलते कई अहम प्रावधानों का क्रियान्वयन आगे के लिए टाल दिया गया. वित्त मंत्रालय के बयान के मुताबिक अक्टूबर में 50.1 लाख व्यावसायियों ने जीएसटी रिटर्न भरा, जिससे 83,346 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ. इससे पिछले महीने 92,000 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ था.

  • रामविलास पासवान के सख्त निर्देश, GST दरों में बदलाव के बाद नई MRP लगाएं कारोबारी

    रामविलास पासवान के सख्त निर्देश, GST दरों में बदलाव के बाद नई MRP लगाएं कारोबारी

    केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने बुधवार को कहा कि जीएसटी परिषद द्वारा 10 नवंबर को 200 सामानों पर कर की दरों में किए गए बदलाव के बाद अब उसी हिसाब ने नया अधिकतम बिक्री मूल्य (एमआरपी) छपवाना होगा.

  • कांग्रेस ने कहा, GST की दरों में कटौती का श्रेय राहुल गांधी को जाता है

    कांग्रेस ने कहा, GST की दरों में कटौती का श्रेय राहुल गांधी को जाता है

    कांग्रेस ने रोजमर्रा के इस्तेमाल की 178 वस्तुओं पर टैक्स में कटौती के जीएसटी कौंसिल के फैसले का श्रेय लेने की कोशिश की. उसने कहा कि पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा डाले गए दबाव और चुनाव का सामना कर रहे गुजरात में उसके प्रचार को मिल रही अच्छी प्रतिक्रिया की वजह से सरकार यह कदम उठाने पर मजबूर हुई.