NDTV Khabar

Guidelines for university exams 2020


'Guidelines for university exams 2020' - 13 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • परीक्षा पर सरकार ने जारी किए दिशा निर्देश, निरूद्ध क्षेत्रों में रहने वाले छात्रों, कर्मचारियों को परीक्षा केंद्रों में जाने की अनुमति नहीं

    परीक्षा पर सरकार ने जारी किए दिशा निर्देश, निरूद्ध क्षेत्रों में रहने वाले छात्रों, कर्मचारियों को परीक्षा केंद्रों में जाने की अनुमति नहीं

    केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान परीक्षा कराने के संबंध में दिशा निर्देशों जारी किए हैं जिनके अनुसार निरूद्ध क्षेत्रों में रहने वाले छात्रों और कर्मचारियों को परीक्षा केन्द्रों में जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी,मास्क लगाना और साथ ही स्व घोषणा पत्र देना अनिवार्य होगा. बुधवार को इस संबंध में जारी मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) के अनुसार कलम और कागज आधारित परीक्षाओं में इंविजिलेटर प्रश्नपत्रों अथवा उत्तर पुस्तिकाओं के वितरण से पहले अपने हाथों को सैनिटाइज करेगा और परीक्षार्थी भी इन्हें प्राप्त करने या जमा करने से पहले अपने हाथों को सैनिटाइज करेंगे.एसओपी के अनुसार, ‘‘शीट की गिनती और वितरण के लिए थूक अथवा लार के इस्तेमाल की अनुमति नहीं दी जाएगी.’’

  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइन्स, परीक्षा के दौरान छात्रों, कॉलेजों और केंद्रों को मानने होंगे ये नियम

    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइन्स, परीक्षा के दौरान छात्रों, कॉलेजों और केंद्रों को मानने होंगे ये नियम

    देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी का कहर लगातार जारी है. हर गुजरते दिन के साथ कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है. कोरोनावायरस के बीच आयोजित हो रही परीक्षाओं को लेकर छात्रों और अभिभावकों के मन में काफी डर देखने को मिल रहा है. इसके चलते छात्र लंबे समय से जेईई मेन (JEE Main), नीट (NEET) और य़ूनिवर्सिटी की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को रद्द करने की मांग कर रहे थे, हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने परीक्षाओं को आयोजित करने की अनुमित दे दी, क्योंकि अदालत का कहना है कोरोनावायरस 1 साल तक भी रह सकता है, परीक्षा रद्द करने से छात्रों का साल बर्बाद हो सकता है. जेईई मेन परीक्षा बीते दिन 1 सितंबर से शुरू हो गई हैं, जो 6 सितंबर तक चलेंगी. वहीं दूसरी ओर यूनिवर्सिटी की अंतिम ईयर की परीक्षाएं 30 सितंबर तक पूरी की जानी हैं. कोरोनावायरस के बीच हो रही परीक्षाओं के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गाइडलाइन्स जारी की हैं, ताकी छात्रों, फैकल्टी और सभी संबंधित लोग कोरोनावायर से सुरक्षित रह सकें. 

  • Final Year Exams 2020: सुप्रीम कोर्ट का फैसला- देना ही होगा एग्जाम, पढ़ें 10 बड़ी बातें

    Final Year Exams 2020: सुप्रीम कोर्ट का फैसला- देना ही होगा एग्जाम, पढ़ें 10 बड़ी बातें

    Final Year Exams 2020: यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं कराई जाएंगी या नहीं? इस सवाल का जवाब देशभर के लाखों स्टूडेंट्स और उनके अभिभावक जानना चाहते थे. हर किसी को परीक्षाओं पर सुप्रीम कोर्ट के अंतिम फैसले का इंतजार था. लेकिन अब छात्रों और अभिभावकों का इंतजार खत्म हो गया है, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने अंतिम ईयर की परीक्षाओं को लेकर अपना अंतिम फैसला आज सुना दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के फाइनल ईयर के एग्जाम आयोजित कराए जाएंगे. 

  • फाइनल ईयर की परीक्षाओं के मामले में सुनवाई SC में 18 अगस्त तक टली

    फाइनल ईयर की परीक्षाओं के मामले में सुनवाई SC में 18 अगस्त तक टली

    Final Year Exams 2020:  सितंबर के अंत तक देश भर के विश्वविद्यालयों में फाइनल ईयर की परीक्षाएं (Final Year Exams) आयोजित कराने वाले यूजीसी (UGC) के निर्णय को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज एक बार फिर से सुनवाई हुई. परीक्षा देने वाले छात्र उम्मीद कर रहे थे कि सुप्रीम कोर्ट की तरफ से परीक्षाओं को लेकर आज कोई अहम घोषणा की जा सकती है. लेकिन यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की फाइनल ईयर की परीक्षाओं (Final Year Exams) को लेकर अभी तक कोई अंतिम फैसला नहीं लिया गया है. अंतिम वर्ष की परीक्षा रद्द करने की मांग वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई 18 अगस्त  तक के लिए टल गई है. सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई पूरी नहीं हो पाई.

  • UGC ने कोर्ट से कहा, छात्रों के अकेडमिक करियर में अंतिम परीक्षा अहम

    UGC ने कोर्ट से कहा, छात्रों के अकेडमिक करियर में अंतिम परीक्षा अहम

    Final Year Exams 2020: विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने उच्चतम न्यायालय से कहा कि विद्यार्थी के अकादमिक करियर में अंतिम परीक्षा ‘ महत्वपूर्ण' होती है और राज्य सरकार यह नहीं कह सकती कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर 30 सितंबर तक विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों से परीक्षा कराने को कहने वाले उसके छह जुलाई के निर्देश ‘ बाध्यकारी नहीं' है. यूजीसी ने कहा कि छह जुलाई को उसके द्वारा जारी दिशा-निर्देश विशेषज्ञों की सिफारिश पर अधारित हैं और उचित विचार-विमर्श कर यह निर्णय लिया गया. आयोग ने कहा कि यह दावा गलत है कि दिशा-निर्देशों के अनुसार अंतिम परीक्षा कराना संभव नहीं है. 

  • Final Year Exams 2020: फाइनल ईयर एग्जाम पर SC ने UGC से मांगा जवाब, 31 जुलाई को अगली सुनवाई

    Final Year Exams 2020: फाइनल ईयर एग्जाम पर SC ने UGC से मांगा जवाब,  31 जुलाई को अगली सुनवाई

    Final Year Exams 2020: फाइनल ईयर एग्जाम को लेकर अंतिम फैसला नहीं हो पा रहा है. फाइनल ईयर एग्जाम के खिलाफ दायर याचिका पर आज सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई है. सुप्रीम कोर्ट ने यूनिवर्सिटी ग्रांट कमिशन (UGC) से परीक्षा रद्द करने या स्थगित करने पर दो दिनों में जवाब मांगा है. वहीं, सुनवाई के दौरान UGC ने कोर्ट में कहा कि अधिकांश जगह परीक्षाएं हो चुकी हैं या होने वाली हैं. इस मसले पर अब सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार यानी 31 जुलाई को सुनवाई करेगा. 

  • UGC के परीक्षा आयोजित कराने के फैसले पर भड़के स्टूडेंट्स, सोशल मीडिया पर ट्रेंड करा रहे #StudentsLivesMatter

    UGC के परीक्षा आयोजित कराने के फैसले पर भड़के स्टूडेंट्स, सोशल मीडिया पर ट्रेंड करा रहे #StudentsLivesMatter

    विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने संशोधित दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं. यूजीसी की गाइडलाइन्स में सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों को अंतिम वर्ष के स्टूडेंट्स के लिए सितंबर तक परीक्षाएं आयोजित कराने के बारे में कहा गया है. सोमवार रात को यूजीसी की गाइडलाइन्स जारी होने के बाद से ही स्टूडेंट्स इस फैसले के खिलाफ नजर आ रहे हैं और सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा निकाल रहे हैं.  यूजीसी की तरफ से जारी गाइडलाइन्स के अनुसार, फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स के एग्जाम ऑनलाइन, ऑफलाइन या दोनों तरीकों से आयोजित किए जा सकते हैं. यूजीसी की संशोधित गाइडलाइन्स में ये भी बताया गया है कि बैक-लॉग वाले छात्रों को परीक्षाएं अनिवार्य रूप से देनी होंगी.

  • विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में परीक्षाएं कराने के विरोध में DUTA, कहा- सिर्फ बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए फैसला

    विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में परीक्षाएं कराने के विरोध में DUTA, कहा- सिर्फ बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए फैसला

    विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में सितंबर तक एग्जाम कराने के यूजीसी के आदेश पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है.  NSUI के बाद दिल्ली विश्वविद्यालयों शिक्षक संगठन  DUTA ने भी किया है. डीयू शिक्षक संघ का कहना है कि इस फैसले के पीछे सिर्फ बिजनेस को बढ़ावा देना है. शिक्षक संघ पहले से ही ओपन बुक एग्जाम का विरोध कर रहा था.

  • UGC Revised Guidelines: कर लो एग्जाम की तैयारी, यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की परीक्षाओं की पूरी जानकारी पढ़ें

    UGC Revised Guidelines: कर लो एग्जाम की तैयारी, यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की परीक्षाओं की पूरी जानकारी पढ़ें

    विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने संशोधित दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं. यूजीसी की गाइडलाइन्स में सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों को अंतिम वर्ष के स्टूडेंट्स के लिए सितंबर तक परीक्षाएं आयोजित कराने के बारे में कहा गया है. सोमवार को हुई मीटिंग में यूजीसी के अधिकारियों ने ये फैसला लिया कि फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स के एग्जाम ऑनलाइन, ऑफलाइन या दोनों तरीकों से आयोजित किए जा सकते हैं.

  • UGC Guidelines का एनएसयूआई ने किया विरोध, कहा- IIT बॉम्बे कर सकता है तो विश्वविद्यालय क्यों नहीं?

    UGC Guidelines का एनएसयूआई ने किया विरोध, कहा- IIT बॉम्बे कर सकता है तो विश्वविद्यालय क्यों नहीं?

    कांग्रेस से जुड़े छात्र संगठन एनएसयूआई (NSUI) ने यूजीसी की ओर से जारी नए दिशा-निर्देशों का विरोध किया है जिसमें सितंबर के आखिरी तक विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में परीक्षाएं कराने की बात कही गई है. NSUI का कहना है कि परीक्षाएं कराना केंद्र सरकार का एक 'संकीर्ण नजरिया' है और इस फैसले से छात्रों के स्वास्थ्य पर भी बड़ा खतरा है.  एनएसयूआई से जुड़ीं रुचि गुप्ता का कहना है कि अगर आईआईटी बॉम्बे फाइनल इयर की एग्जाम कैंसिल कर सकता है तो बाकी विश्वविद्यालय ऐसा क्यों नहीं कर सकते हैं.

  • UGC Guidelines: विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं और शैक्षणिक कैलेंडर के बारे में यूजीसी के संशोधित दिशानिर्देश

    UGC Guidelines: विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं और शैक्षणिक कैलेंडर के बारे में यूजीसी के संशोधित दिशानिर्देश

    विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी  UGC ने कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते परीक्षाओं और नए सत्र के लिए संशोधित दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं. बीते अप्रैल महीने में आयोग ने इसको लेकर  विशेषज्ञों की एक समिति गठित की गई थी ताकि विश्वविद्यालयों में परीक्षाओं और नए सत्र को लेकर कोई फैसला लिया जा सके. जून के आखिरी हफ्ते में जब कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही थी तो  यूजीसी की ओर से समिति से परीक्षाओं के विकल्प, विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में एडमीशन, नए शैक्षणिक कलेंडर पर राय देने के लिए कहा गया था. सोमवार को आयोग की बैठक में समिति की ओर दिए गए सुझावों को मान लिया गया और यूजीसी ने एक नए दिशा-दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं.

  • फाइनल ईयर एग्जाम और नए अकेडमिक कैलेंडर के लिए UGC जल्द जारी कर सकता है गाइडलाइन्स, जानिए डिटेल

    फाइनल ईयर एग्जाम और नए अकेडमिक कैलेंडर के लिए UGC जल्द जारी कर सकता है गाइडलाइन्स, जानिए डिटेल

    विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) अंतिम वर्ष की परीक्षा और शैक्षणिक कैलेंडर के बारे में जल्द ही संशोधित दिशानिर्देशों को जारी कर सकता है. दरअसल, समाचार एजेंसी पीटीआई ने 24 जून को बताया था कि उच्च शिक्षा नियामक द्वारा एक सप्ताह के अंदर ही संशोधित दिशानिर्देशों की घोषणा की जा सकती है. रिपोर्ट्स में अधिकारियों के हवाले से कहा गया था कि विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा संस्थानों में अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए परीक्षा जो जुलाई में आयोजित की जानी थी, उन्हें COVID-19 मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए रद्द करने और नए सत्र को अक्टूबर तक टालने की संभावना है. 

  • Delhi University Exams 2020: फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स को देने होंगे ओपन बुक एग्जाम, DU ने जारी की गाइडलान्स

    Delhi University Exams 2020: फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स को देने होंगे ओपन बुक एग्जाम, DU ने जारी की गाइडलान्स

    Delhi University Exams 2020: दिल्ली यूनिवर्सिटी (DU) ने फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स के लिए ओपन बुक एग्जामिनेशन (Open Book Exams) आयोजित कारने का फैसला लिया है. ओपन बुक एग्जामिनेशन (OBE) के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी ने ऑफिशियल वेबसाइट पर गाइडलाइन्स जारी कर दी हैं. नोटिफिकेशन को देखने के लिए इच्छुक उम्मीदवार ऑफिशियल वेबसाइट du.ac.in पर लॉग इन कर सकते हैं. 

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com