NDTV Khabar

Hearing


'Hearing' - 245 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • रेप के मामलों की जांच और सुनवाई में लाई जाए तेजी, रविशंकर प्रसाद ने लिखी चिट्ठी

    रेप के मामलों की जांच और सुनवाई में लाई जाए तेजी, रविशंकर प्रसाद ने लिखी चिट्ठी

    कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बलात्कार के मामलों की जांच और फैसलों में तेजी लाने के लिए सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों और सभी हाईकोर्टों के मुख्य न्यायाधीशों को पत्र लिखा है. कानून मंत्री ने मामलों की जांच और कोर्ट में ट्रायल के लिए समय सीमा निर्धारित की है. उन्होंने कहा है कि नए फास्टट्रैक कोर्ट शुरू किए जा रहे हैं.

  • अयोध्या पर फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर सभी पुनर्विचार याचिकाएं खारिज

    अयोध्या पर फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर सभी पुनर्विचार याचिकाएं खारिज

    Ayodhya Case: अयोध्या (Ayodhya) के राम जन्मभूमि - बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के खिलाफ दाखिल की गईं सभी पुनर्विचार याचिकाएं गुरुवार को सुनवाई के बाद खारिज कर दी गईं. सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या जमीन विवाद मामले में नौ नवंबर को अपना फैसला सुनाया था. अदालत ने विवादित जमीन रामलला को यानी राम मंदिर बनाने के लिए देने का फैसला किया था. अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की विशेष पीठ के 9 नवम्बर के फैसले पर पुनर्विचार के लिए कुल 18 याचिकाएं दाखिल की गई थीं. इनमें 9 याचिकाएं पक्षकारों की ओर से और बाकी नौ अन्य याचिकाकर्ताओं की थीं.

  • हैदराबाद मुठभेड़ की एसआईटी से जांच कराने की मांग, याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई कल

    हैदराबाद मुठभेड़ की एसआईटी से जांच कराने की मांग, याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई कल

    हैदराबाद मुठभेड़ की एसआईटी से जांच कराने की याचिका को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज को नियुक्त करने का संकेत दिया है. चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने कहा कि जज हैदराबाद में नहीं बल्कि दिल्ली में रहकर जांच करेंगे. सुप्रीम कोर्ट ने वकीलों से जज का नाम सुझाने को कहा है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उन्होंने जस्टिस पीवी रेड्डी से बात की लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया.

  • Ayodhya Case : शिया वक्फ बोर्ड और हिंदू महासभा ने मस्जिद के लिए जमीन देने का विरोध किया, 18 याचिकाएं; कल सुनवाई

    Ayodhya Case : शिया वक्फ बोर्ड और हिंदू महासभा ने मस्जिद के लिए जमीन देने का विरोध किया, 18 याचिकाएं; कल सुनवाई

    अयोध्या मामले (Ayodhya Case) में दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं (Review Petition) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में गुरुवार को सुनवाई होगी. यह सुनवाई चेंबर में होगी. सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या जमीन विवाद मामले में नौ नवंबर को अपना फैसला सुनाया था. अदालत ने विवादित जमीन रामलला को यानी राम मंदिर बनाने के लिए देने का फैसला किया था. अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की विशेष पीठ के 9 नवम्बर के फैसले पर पुनर्विचार के लिए कुल 18 याचिकाएं दाखिल की गई हैं. इनमें 9 याचिकाएं पक्षकारों की ओर से हैं और बाकी नौ अन्य याचिकाकर्ता हैं.

  • सुन नहीं सकती थी बच्ची, मशीन लगाकर जैसे ही सुनी पहली बार मां की आवाज तो किया ऐसा... देखें Video

    सुन नहीं सकती थी बच्ची, मशीन लगाकर जैसे ही सुनी पहली बार मां की आवाज तो किया ऐसा... देखें Video

    इंग्लैंड (England) के यॉर्कशायर (Yorkshire) में एक बच्ची का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. बच्ची के जन्म से ही कान में परेशानी थी और सुन नहीं सकती थी, जैसे ही उसको सुनने की मशीन लगाई गई और पहली बार मां की आवाज सुनी तो वो खुशी से खिलखिलाने लगी.

  • सबरीमला में प्रवेश से रोकी गई महिला की याचिका पर अगले हफ्ते होगी सुनवाई

    सबरीमला में प्रवेश से रोकी गई महिला की याचिका पर अगले हफ्ते होगी सुनवाई

    महिला ने याचिका में आरोप लगाया है कि मंदिर में सभी आयु वर्ग की महिलाओं को प्रवेश देने के शीर्ष अदालत के फैसले के बावजूद उसे मंदिर में प्रवेश करने से रोका गया.

  • कोर्ट ने छह दिन सुनवाई की और छेड़खानी और पास्को मामले में पांच साल की सजा सुनाई

    कोर्ट ने छह दिन सुनवाई की और छेड़खानी और पास्को मामले में पांच साल की सजा सुनाई

    महोबा के नंकरा में एक छह साल की बच्ची से छेड़खानी करने के आरोपी को महज छह दिन सुनवाई करके पांच साल की सजा सुना दी गई. मामला महोबा का है जहां अपर सत्र प्रथम न्यायाधीश राम किशोर शुक्ला ने छेड़खानी के मामले की जल्द सुनवाई करके दोषी को सजा सुना दी.

  • Blood Circulation: ब्लड सर्कुलेशन बेहतर करेंगे ये 4 सुपरफूड्स, दिल की बीमारियां रहेंगी दूर!

    Blood Circulation: ब्लड सर्कुलेशन बेहतर करेंगे ये 4 सुपरफूड्स, दिल की बीमारियां रहेंगी दूर!

    Blood Circulation: अगर सर्कुलेशन खराब हो जाए तो आपके शरीर में कई सारी बीमारियां पनपने लगेंगी. खराब सर्कुलेशन से आपका दिमाग (Brain), हार्ट (Heart), लीवर (Liver), किडनी (Kidney) और अंगों को गंभीर नुकसान हो सकता है. यह किसी भी उम्र के इंसान को हो सकता है क्योंकि यह बहुत धीमी प्रक्रिया होती है.

  • व्हाट्सऐप जासूसी मामले में सुप्रीम कोर्ट में दो दिसंबर को सुनवाई

    व्हाट्सऐप जासूसी मामले में  सुप्रीम कोर्ट में दो दिसंबर को सुनवाई

    व्हाट्सऐप जासूसी मामले में सुप्रीम कोर्ट दो दिसंबर को सुनवाई करेगा. सीजेआई एसए बोबडे की पीठ मामले की सुनवाई करेगी. पूर्व RSS विचारक केएन गोविंदाचार्य ने इस मामले में याचिका दाखिल की है. याचिका में व्हाट्सऐप, फेसबुक और NSO पर FIR दर्ज करने और NIA को जांच के आदेश देने की मांग की गई है. याचिका में कहा गया है कि व्हाट्सऐप पर सुप्रीम कोर्ट में यह झूठी जानकारी देने पर पर जूरी का केस चलाया जाए कि व्हाट्सऐप डेटा इनक्रिप्ट है और व्हाट्सऐप के पास भी नहीं है.

  • अयोध्‍या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले की समीक्षा आप कैसे करेंगे?

    अयोध्‍या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले की समीक्षा आप कैसे करेंगे?

    सुप्रीम कोर्ट का फैसला कैसा है, इससे पहले कि आप जवाब दें, लोग ख़ुद ही बोल देते हैं कि चलो बवाल ख़त्म हुआ. लेकिन तब भी पहला सवाल तो रह ही जाता है कि फैसला कैसा था. यह वाकई तारीफ की बात है कि जनता ने संयम और परिपक्वता के साथ सामना किया. वो जनता यह भी जानना चाहेगी कि फैसला कैसा है. फैसले की नुक्ताचीनी से वह नहीं घबराने वाली. आम सहमति से आए इस फैसले को जब कानून की क्लास में पढ़ाया जाएगा तब शायद ही छात्रों के बीच आम सहमति बन पाएगी. ऐतिहासिक फैसला है इसलिए इसकी समीक्षा आज ही नहीं, लंबे समय तक होती रहेगी.

  • अयोध्या पर फैसले से पहले अलर्ट पर योगी सरकार, हर जिले में कंट्रोल रूम खोलने के निर्देश, हेलीकॉप्टर भी...

    अयोध्या पर फैसले से पहले अलर्ट पर योगी सरकार, हर जिले में कंट्रोल रूम खोलने के निर्देश, हेलीकॉप्टर भी...

    अयोध्या जमीन विवाद पर फैसले के मद्देनजर उत्त्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलों के आला अफसरों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बात की और हर जिले में 24 घंटे एक विशेष कंट्रोल रूम खोलने का आदेश दिया है.

  • Ayodhya Case: जौनपुर के रहने वाले हैं जस्टिस अशोक भूषण, जानिए संविधान पीठ में शामिल जजों के बारे में

    Ayodhya Case: जौनपुर के रहने वाले हैं  जस्टिस अशोक भूषण, जानिए संविधान पीठ में शामिल जजों के बारे में

    अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद के ज़मीन विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई बुधवार को पूरी हो चुकी है. इस पर 17 नंवबर से पहले फ़ैसला सुनाया जा सकता है क्योंकि इसी तारीख को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई रिटायर हो रहे हैं. प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई में 5 जजों की संविधान पीठ इस मामले ने लगातार 40 दिन तक सुनवाई की है. इस बेंच में CJI रंजन गोगाई  के अलावा जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस डीवाय चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस  एसए नज़ीर शामिल हैं. यह संविधान पीठ इलाहाबाद हाइकोर्ट के 2010 में दिए गए उस फ़ैसले को  चुनौती देने वाली याचिकाओं की सुनवाई कर रही थी.

  • Ayodhya Case: सुप्रीम कोर्ट में पूरी हुई अयोध्या मामले की सुनवाई, अब फैसले का इंतजार

    Ayodhya Case: सुप्रीम कोर्ट में पूरी हुई अयोध्या मामले की सुनवाई, अब फैसले का इंतजार

    Ayodhya verdict today:  सुप्रीम कोर्ट ने राजनीतिक रूप से संवेदनशील अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले की सुनवाई पूरी कर ली, फैसला नवंबर महीने में सुनाया जाएगा. CJI रंजन गोगोई की अगुवाई वाली पांच जंजों की बेंच ने इस मामले में 40 दिन तक सुनवाई करने के बाद दलीलें पूरी कर लीं

  • TOP 5 NEWS: सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई पूरी, पीएम मोदी की रैली में हंगामा

    TOP 5 NEWS: सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई पूरी, पीएम मोदी की रैली में हंगामा

    TOP 5 NEWS: अयोध्या मामले (Ayodhya Case) में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ में आखिरी सुनवाई पूरी हुई, कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया. सुप्रीम कोर्ट ने अन्य कुछ याचिकाओं पर सुनवाई से इनकार कर दिया और सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि अब बहुत हो चुका, हम शाम को पांच बजे उठ जाएंगे. लेकिन वह तय समय से एक घंटे पहले ही उठ गए और 40वें दिन कोर्ट में सुनवाई पूरी हुई.

  • Ayodhya Case: कैसा है अयोध्या का माहौल, 10 प्वाइंट्स में जानिए

    Ayodhya Case: कैसा है अयोध्या का माहौल, 10 प्वाइंट्स में जानिए

    सुप्रीम कोर्ट, अयोध्या मामले (Ayodhya Case Hearing) में बुधवार को आखिरी सुनवाई करेगा. मंगलवार को हुई सुनवाई के दौरान एक हिन्दू पक्ष ने दलील दी कि भारत विजय के बाद मुगल शासक बाबर द्वारा करीब 433 साल पहले अयोध्या में भगवान राम के जन्म स्थान पर मस्जिद का निर्माण कर ‘ऐतिहासिक भूल' की गयी थी और अब उसे सुधारने की आवश्यकता है. अयोध्या मामले अभी तक 39 दिन सुनवाई चली है. बता दें, सीजेआई रंजन गोगोई ने उम्मीद जताई थी कि 17 अक्टूबर तक इस मामले में सुनवाई पूरी कर ली जाएगी और 17 नवंबर को अयोध्या मसले पर फैसला सुना दिया जाएगा. 17 नवंबर को ही सीजेआई रंजन गोगोई रिटायर हो रहे हैं.

  • Ayodhya Case Updates: राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद में नवंबर में आएगा फैसला

    Ayodhya Case Updates: राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद में नवंबर में आएगा फैसला

    अयोध्या मामले (Ayodhya Case) में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ आखिरी सुनवाई बुधवार को शाम चार बजे पूरी कर ली. सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले की सुनवाई पूरी करने के पश्चात अपना फैसला सुरक्षित रख लिया.

  • Ayodhya Case: मुस्लिम पक्ष के वकील बोले- हमारी मांग है कि 5 दिसंबर 1992 में जैसा ढांचा था, वैसी ही हालत में मस्जिद सौंपी जाए

    Ayodhya Case: मुस्लिम पक्ष के वकील बोले- हमारी मांग है कि 5 दिसंबर 1992 में जैसा ढांचा था, वैसी ही हालत में मस्जिद सौंपी जाए

    धवन ने माना कि पुरातात्विक साक्ष्य को प्रमाणित किया जा सकता है. हालांकि, इससे पहले पुरातत्व को मुस्लिम पक्षकारों ने एक सामाजिक विज्ञान के रूप में माना था और उसे खारिज कर दिया था. धवन ने कहा कि ASI रिपोर्ट में कभी ये नहीं कहा गया कि मंदिर को तोडकर मस्जिद बनाई गई. इस जगह पर हमेशा मुस्लिमों का कब्जा रहा. हिंदुओं ने बहुत बाद में जमीन के टाइटल का दावा किया लेकिन उसे खारिज कर दिया गया. उन्होंने 1934 से प्रतिकूल कब्जे का दावा किया जिसके लिए कोई सबूत नहीं है.

  • Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- मस्जिद तो मीर बाकी ने बनवाई...

    Ayodhya Case : मुस्लिम पक्ष के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- मस्जिद तो मीर बाकी ने बनवाई...

    अयोध्या मामले की सुनवाई कर रहे प्रधान न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा है कि पीठ शनिवार को सुनवाई नहीं करेगी. आज इस केस की लगातार 37वें दिन सुनवाई हुई. मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने दलील दी कि सुप्रीम कोर्ट अनुच्छेद 142 के तहत मिली अपरिहार्य शक्तियों के तहत दोनों ही पक्षों कि गतिविधियों को ध्यान में रखकर इस मामले का निपटारा करे. उन्होंने कहा कि इस मामले में मस्जिद पर जबरन कब्जा किया गया. लोगों को धर्म के नाम पर उकसाया गया, रथयात्रा निकाली गई, लंबित मामले में दबाव बनाया गया.  धवन ने कहा कि मस्जिद ध्वस्त की गई और उस समय मुख्यमंत्री रहे कल्याण सिंह ने एक दिन कि जेल अवमानना के चलते काटी थी. अदालत से गुजारिश है कि तमाम घटनाओं को ध्यान में रखे.

Advertisement