NDTV Khabar

India china relations News in Hindi


'India china relations' - 80 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Kashmir मसले पर भारत की दो टूक- 'चीन ने अनाधिकृत तरीके से भारतीय क्षेत्र पर कब्ज़ा जमा रखा है'

    Kashmir मसले पर भारत की दो टूक- 'चीन ने अनाधिकृत तरीके से भारतीय क्षेत्र पर कब्ज़ा जमा रखा है'

    कश्मीर (Kashmir) पर चीन (China के बयान को लेकर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई है. भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन ने अनाधिकृत तरीके से कश्मीर में भारतीय क्षेत्र पर कब्ज़ा कर रखा है.

  • भारतीयों को अब ब्राजील जाने के लिए नहीं होगी वीजा की जरूरत

    भारतीयों को अब ब्राजील जाने के लिए नहीं होगी वीजा की जरूरत

    ब्राजली सरकार अमेरिका, आस्ट्रेलिया, जापान और कनाडा के नागरिकों को लघु अवधि की पर्यटन और व्यापार यात्राओं के लिए वीजा की छूट दे रही है. उन्होंने कहा कि अब इस सूची में अगला देश भारत होगा.

  • चीन ने जताई उम्मीद: सही से मतभेदों को संभालकर संबंध सुधार सकते हैं भारत-पाकिस्तान

    चीन ने जताई उम्मीद: सही से मतभेदों को संभालकर संबंध सुधार सकते हैं भारत-पाकिस्तान

    वांग ने मंगलवार को कश्मीर मुद्दे का जिक्र किये बिना ब्रीफिंग में कहा, ‘चिनफिंग ने भारत यात्रा से पहले पाक प्रधानमंत्री खान के साथ अपनी मुलाकात में पाकिस्तानी पक्ष के विचारों और प्रस्तावों को सुना.’ चिनफिंग और खान की नौ अक्टूबर को हुई मुलाकात के बारे में पहली बार चीन के किसी शीर्ष अधिकारी ने अपना पक्ष रखा है. इस मुलाकात के बाद भारत में चिंताएं पैदा हो गयी थीं.

  • पीएम मोदी और शी चिनफिंग ने भारत-चीन संबंधों को दी नई रफ्तार, कारोबार बढ़ाने के लिये नया सिस्टम बनाने का फैसला

    पीएम मोदी और शी चिनफिंग ने भारत-चीन संबंधों को दी नई रफ्तार, कारोबार बढ़ाने के लिये नया सिस्टम बनाने का फैसला

    पीएम मोदी और राष्ट्रपति शी ने कारोबार, इंवेस्टमेंट को बढ़ाने और विश्वास बढ़ाने के उपायों समेत कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की. मोदी-शी अनौपचारिक शिखर वार्ता की महत्वपूर्ण उपलब्धि करोबार और इंवेस्टमेंट को बढ़ाने के लिये एक सिस्टम बनाने पर सहमति और प्रस्तावित क्षेत्रीय समग्र आर्थिक भागीदारी (RCEP) को लेकर भारत की चिंताओं को दूर करने के लिये विचार विमर्श करने एवं सीमा पर शांति बनाये रखने के लिये विश्वास बहाली और सुरक्षा सहयोग बढ़ाने का विषय रहा.

  • अर्थव्यवस्था का ढलान जारी है फिर भी आयोजनों की भव्यता तूफानी है

    अर्थव्यवस्था का ढलान जारी है फिर भी आयोजनों की भव्यता तूफानी है

    आपको पता होगा कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत के दौरे पर हैं. चीन का भारत आना हमेशा ही महत्वपूर्ण घटना है. इस दौरे के लिए कहा गया है कि अनौपचारिक है.कोई एजेंडा नहीं है. दोनों नेता बयान नहीं देंगे. लेकिन इसका मतलब नहीं कि दौरा महत्वपूर्ण नहीं है.अनौपचारिक बातचीत में कई उलझे हुए मसलों पर खुलकर बातचीत होती है. दोनों नेता एक दूसरे का मन टोहते हैं.

  • TOP 5 NEWS: दो दिनों के भारत दौरे पर चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, इथोपिया के प्रधानमंत्री को मिला नोबल शांति पुरस्कार

    TOP 5 NEWS: दो दिनों के भारत दौरे पर चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, इथोपिया के प्रधानमंत्री को मिला नोबल शांति पुरस्कार

    TOP 5 NEWS: नोबेल शांति पुरस्कार (Nobel Peace Prize) की घोषणा कर दी गई है. इथियोपिया के प्रधानमंत्री अबी अहमद अली (Abiy Ahmed ) को नोबेल शांति पुरस्कार मिला है. यह पुरस्कार उनके देश के चिर शत्रु इरिट्रिया के साथ संघर्ष को सुलझाने के लिए दिया गया है.

  • PM मोदी और शी चिनफिंग की मुलाकात महाबलिपुरम में ही क्यों? जानिए पूरा कार्यक्रम

    PM मोदी और शी चिनफिंग की मुलाकात महाबलिपुरम में ही क्यों? जानिए पूरा कार्यक्रम

    11 और 12 अक्टूबर को तमिलनाडु के महाबलिपुरम (ममल्लापुरम) में बातचीत करेंगे. ये बातचीत ऐसे समय में हो रही है कि जब अमेरिका चीन पर दबाव बढ़ा रहा है और पाकिस्तान चीन को भारत के खिलाफ उकसा रहा है. लेकिन ये जानना दिलचस्प है कि महाबलिपुरम में ये दोनों नेता किन जगहों की सैर करेंगे. इस मुलाकात का कूटनीतिक और ऐतिहासिक महत्व है। महाबलिपुरम की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और सभी ऐतिहासिक स्थलों को 12 तारीख तक बंद कर दिया गया है। महाबलिपुरम के ऐतिहासिक स्थल भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के लिए सजाए-संवारे जा रहे हैं.

  • PM मोदी और शी चिनफिंग की दूसरी अनौपचारिक शिखर वार्ता 11-12 अक्टूबर को चेन्नई में होगी

    PM मोदी और शी चिनफिंग की दूसरी अनौपचारिक शिखर वार्ता 11-12 अक्टूबर को चेन्नई में होगी

    विदेश मंत्रालय ने बुधवार को यह घोषणा की. मंत्रालय ने कहा कि ये शिखर वार्ता दोनों नेताओं को द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक महत्व के व्यापक मुद्दों पर बातचीत जारी रखने का अवसर प्रदान करेगी. मंत्रालय ने कहा, ‘प्रधानमंत्री के आमंत्रण पर ‘पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना’ के प्रमुख शी चिनफिंग अनौपचारिक शिखर वार्ता के लिए 11 -12 अक्टूबर 2019 को चेन्नई में होंगे.’

  • चीनी राजदूत ने कहा- भारत और चीन को संवाद के जरिए हल करने चाहिए विवाद

    चीनी राजदूत ने कहा- भारत और चीन को संवाद के जरिए हल करने चाहिए विवाद

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के दूसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन से पहले चीनी राजदूत सुन वीदोंग ने कहा कि भारत और चीन को क्षेत्रीय स्तर पर संवाद के माध्यम से शांतिपूर्वक विवादों का हल करना चाहिए और संयुक्त रूप से शांति तथा स्थिरता को बुलंद करना चाहिए.

  • लद्दाख से BJP सांसद नामग्याल बोले, चीन के खिलाफ पूर्व पीएम नेहरू की 'फॉरवर्ड पॉलिसी' बाद में 'बैकवर्ड पॉलिसी' बन गई

    लद्दाख से BJP सांसद नामग्याल बोले, चीन के खिलाफ पूर्व पीएम नेहरू की 'फॉरवर्ड पॉलिसी' बाद में 'बैकवर्ड पॉलिसी' बन गई

    नामग्याल ने कहा, 'पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू ने ‘फॉरवर्ड पॉलिसी’ अपनाई जिसमें कहा गया कि हमें एक-एक इंच चीन की ओर बढ़ना चाहिए. इसके कार्यान्वयन के दौरान यह ‘बैकवर्ड पॉलिसी’ बन गई. चीनी सेना लगातार हमारे क्षेत्र में घुसपैठ करती चली गई और हम लगातार पीछे हटते चले गए.'    

  • चीन-भारत अपने संबंधों में किसी निजी मामले के दखल की अनुमति नहीं दें: राजदूत 

    चीन-भारत अपने संबंधों में किसी निजी मामले के दखल की अनुमति नहीं दें: राजदूत 

    अपने नये कार्यभार के लिए नयी दिल्ली रवाना होने से पहले सुन ने शुक्रवार को यहां भारतीय मीडिया से कहा कि पिछले साल वुहान में अपने पहले अनौपचारिक शिखर सम्मेलन में शी और मोदी के दिखाए रणनीतिक दिशा-निर्देशों से चीन-भारत संबंधों के विकास की बहुत अच्छी और मजबूत गति मिली है. 

  • चीन ने पीएम मोदी के अरुणाचल दौरे का ‘कड़ा विरोध' किया, भारत ने कहा - यह हमारा अभिन्‍न हिस्‍सा

    चीन ने पीएम मोदी के अरुणाचल दौरे का ‘कड़ा विरोध' किया, भारत ने कहा - यह हमारा अभिन्‍न हिस्‍सा

    चीन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अरुणाचल प्रदेश के दौरे का शनिवार को ‘कड़ाई से विरोध’ किया और कहा कि वह कभी इस संवेदनशील सीमांत प्रदेश को मान्यता नहीं देगा और भारतीय नेतृत्व को ऐसी किसी कार्रवाई से परहेज करना चाहिए जो ‘सीमा प्रश्न को जटिल’ बनाती हो.

  • भारत के पड़ोसी देशों से नजदीकी क्यों बढ़ा रहा चीन? संसद की समिति ने रिपोर्ट में किया खुलासा

    भारत के पड़ोसी देशों से नजदीकी क्यों बढ़ा रहा चीन? संसद की समिति ने रिपोर्ट में किया खुलासा

    शशि थरूर की अध्यक्षता वाली विदेश मंत्रालय से जुड़ी संसद की स्थायी समिति ने अपनी रिपोर्ट में भारत के पड़ोसी मुल्कों ( श्रीलंका, मालदीव, नेपाल, आदि) में चीन की बढ़ती पैठ पर चिंता जताई है. समिति ने माना कि इससे भारत के इन देशों में प्रभाव पर प्रतिकूल असर पड़ा है. समिति का मानना है कि यह चीन की भारत को घेरने की नीति है.

  • Birthday Special: चीन से हार के बाद जवाहरलाल नेहरू ने क्या कहा था?

    Birthday Special: चीन से हार के बाद जवाहरलाल नेहरू ने क्या कहा था?

    जब जवाहरलाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) ने बोलना शुरू किया तो करीब डेढ़ घंटे बोलते रहे. प्रेस कांफ्रेंस में चीनी प्रधानमंत्री के प्रति उन्होंने अपनी भड़ास जमकर निकाली'. हार पर नेहरू ने कहा, 'चीन एक सैनिक मानसिकता का राष्ट्र है जो हमेशा सैन्य साजो-सामान को मजबूत करने पर जोर देता है....यह उनके अतीत के गृहयुद्ध की ही एक निरंतरता है. इसलिये आमतौर पर वे मजबूत स्थिति में हैं'. नेहरू ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में विपक्षी नेताओ पर भी निशाना साधा और यहां तक कह डाला कि 'हमारे विपक्षी नेताओं की आदत है कि वे बिना किसी सिद्धांत के हर किसी से गठजोड़ कर लेते हैं. ऐसा भी हो सकता है कि वे चीनियों से गठजोड़ कर लें'.

  • एक और चाल: भारत से नेपाल को दूर करने और व्यापारिक निर्भरता कम करने के लिए चीन ने चला बड़ा दांव

    एक और चाल: भारत से नेपाल को दूर करने और व्यापारिक निर्भरता कम करने के लिए चीन ने चला बड़ा दांव

    चीन ने भारत और नेपाल के बीच में दूरी पैदा करने के लिए एक और बड़ा चाल चला है, जो भारत के लिए किसी झटके से कम नहीं है. नेपाल का भारत पर से निर्भरता कम करने के प्रयासों में चीन ने शुक्रवार को नेपाल को अपने चार बंदरगाहों और तीन लैंड पोर्टों का इस्तेमाल करने की इजाजत दे दी है. माना जा रहा है कि यह चीन का यह दांव अंतरराष्ट्रीय वाणिज्य के लिए जमीन से घिरे नेपाल की भारत पर व्यापारिक निर्भरता कम करने की कोशिशों के मद्देनजर है. चीन के इस दांव से स्पष्ट है कि नेपाल का झुकाव चीन की ओर और बढ़ जाएगा. 

  • कांग्रेस ने चीन पर साधा निशाना, कहा- भारत-पाक मुद्दे पर तीसरा पक्ष स्वीकार नहीं

    कांग्रेस ने चीन पर साधा निशाना, कहा- भारत-पाक मुद्दे पर तीसरा पक्ष स्वीकार नहीं

    मनीष तिवारी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम चीन के राजदूत के बयान की निंदा करते हैं, हम उम्मीद करते हैं कि भारत सरकार भी इस बयान का खंडन करेगी.

  • सैन्य अभ्यास में पहली बार एक साथ हिस्सा लेंगे भारत-पाकिस्तान-चीन

    सैन्य अभ्यास में पहली बार एक साथ हिस्सा लेंगे भारत-पाकिस्तान-चीन

    रूस में सितंबर में होने वाले बहु - राष्ट्रीय सैन्य अभ्यास में पहली बार धुर विरोधी भारत और पाकिस्तान हिस्सा लेंगे. आतंकवादी गतिविधियों पर लगाम लगाने के मकसद से आयोजित इस सैन्य अभ्यास में चीन और कई अन्य देश भी शामिल होंगे.

  • भारत और चीन के बीच मतभेद विवादों में नहीं बदलना चाहिए : निर्मला सीतारमण

    भारत और चीन के बीच मतभेद विवादों में नहीं बदलना चाहिए : निर्मला सीतारमण

    रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज कहा कि मतभेद भारत और चीन संबंधों में विवाद में नहीं बदलने चाहिए. उन्होंने अपने चीनी समकक्ष जनरल वेई फानघे से डोकलाम गतिरोध के चलते दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण संबंधों की पृष्ठभूमि में यह बात कही.

12345»

Advertisement