NDTV Khabar

Indian Space Research Organisation News in Hindi


'Indian space research organisation' - 57 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • ISRO ने कहा- चंद्रयान-2 ने चंद्रमा की कक्षा में एक साल पूरा किया, अगले सात वर्षों के लिए उपलब्ध है पर्याप्त ईंधन

    ISRO ने कहा- चंद्रयान-2 ने चंद्रमा की कक्षा में एक साल पूरा किया, अगले सात वर्षों के लिए उपलब्ध है पर्याप्त ईंधन

    अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने कहा कि भारत के दूसरे चंद्र अभियान चंद्रयान-2 ने बृहस्पतिवार को चंद्रमा की कक्षा में चारों ओर परिक्रमा करते हुए एक वर्ष पूरा कर लिया है और इसके सभी उपकरण वर्तमान में अच्छी तरह काम कर रहे हैं. साथ ही कहा कि सात और वर्षों के संचालन के लिए चंद्रयान-2 में पर्याप्त ईंधन मौजूद है.

  • नई शिक्षा नीति में बोर्ड एग्जाम के नियम भी बदले, अलग तरीके से तैयार होगा रिपोर्ट कार्ड

    नई शिक्षा नीति में बोर्ड एग्जाम के नियम भी बदले, अलग तरीके से तैयार होगा रिपोर्ट कार्ड

    नई शिक्षा नीति को मंजूरी दे दी गई है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिक्षा से जुड़े कई बड़े बदलावों के बारे में जानकारी दी गई. इस दौरान बोर्ड एग्जाम पर भी अहम घोषणा की गई है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि बोर्ड एग्जाम के लिए हर सब्जेक्ट को दो लेवल पर ऑफर किया जा सकता है. शिक्षा नीति में यह भी कहा गया है कि बोर्ड एग्जाम को दो भाग ऑब्जेक्टिव और डिस्क्रिप्टिव में बांटा जा सकता है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी गई कि इस तरह से बोर्ड एग्जाम के लिए कई सारी नई चीजें लाई गई हैं. ये भी कहा गया कि बोर्ड एग्जाम में स्टूडेंट्स की सब्जेक्ट को लेकर सिर्फ नॉलेज को टेस्ट किया जाए.  रटकर जो लिखा जाता है उसको टेस्ट करने के लिए बोर्ड एग्जाम न कराए जाएं, बल्कि रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़ी नॉलेज का टेस्ट कराया जाए.

  • नई शिक्षा नीति की घोषणा, सरकार ने स्कूल और उच्च शिक्षा में किए बड़े बदलाव

    नई शिक्षा नीति की घोषणा, सरकार ने स्कूल और उच्च शिक्षा में किए बड़े बदलाव

    नई शिक्षा नीति को मंजूरी मिल गई है. केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि कैबिनेट बैठक में आज नई शिक्षा नीति को मंजूरी दी गई है. उन्होंने बताया कि 34 साल से शिक्षा नीति में परिवर्तन नहीं हुआ था, इसलिए ये बेहद महत्वपूर्ण है. इसके बाद बाकायदा प्रीजेंटेशन देकर नई शिक्षा नीति के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है. इस दौरान केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी मौजूद रहे.

  • केंद्रीय मंत्रिमंडल ने नई शिक्षा नीति को मंजूरी दी, HRD मंत्रालय का नाम शिक्षा मंत्रालय होगा

    केंद्रीय मंत्रिमंडल ने नई शिक्षा नीति को मंजूरी दी, HRD मंत्रालय का नाम शिक्षा मंत्रालय होगा

    केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को नई शिक्षा नीति को मंजूरी दे दी. साथ ही मानव संसाधन विकास मंत्रालय का पुन: नामकरण शिक्षा मंत्रालय किया गया है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के पूर्व अध्यक्ष के कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता वाली समिति ने पिछले वर्ष मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को नई शिक्षा नीति का मसौदा सौंपा था. इस दौरान ही निशंक ने मंत्रालय का कार्यभार संभाला था. नई शिक्षा नीति के मसौदे को विभिन्न पक्षकारों की राय के लिये सार्वजनिक किया गया था और मंत्रालय को इस पर दो लाख से अधिक सुझाव प्राप्त हुए. मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘ नीति के मसौदे को मंजूरी मिल गई है. मंत्रालय का पुन: नामकरण शिक्षा मंत्रालय किया गया है. ’’ 

  • नई शिक्षा नीति को सरकार की मंजूरी, स्कूल शिक्षा की भाषा में किया गया बड़ा बदलाव

    नई शिक्षा नीति को सरकार की मंजूरी, स्कूल शिक्षा की भाषा में किया गया बड़ा बदलाव

    केंद्र सरकार ने शिक्षा से जुड़ा एक बड़ा फैसला लिया है. नरेंद्र मोदी कैबिनेट ने बुधवार को नई शिक्षा नीति को मंजूरी दे दी है. इसके साथ ही मानव संसाधन विकास मंत्रालय (HRD Ministry) का नाम बदलने का फैसला भी किया गया है. नया नाम शिक्षा मंत्रालय (MoE) ही किया जा सकता है. वहीं, नई शिक्षा नीति (New Education Policy) में भाषा को लेकर अहम बदलाव किए गए हैं. इस नीति में बहुभाषावाद (Multilingualism) और भाषा की शक्ति पर खास जोर दिया गया है. 

  • ISRO Admit Card 2020: इसरो ने जारी किए परीक्षा के एडमिट कार्ड, इस दिन होगा एग्जाम

    ISRO Admit Card 2020: इसरो ने जारी किए परीक्षा के एडमिट कार्ड, इस दिन होगा एग्जाम

    ISRO Admit Card 2020 Released: इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन ने टेक्नीशियन बी, ड्रॉट्समैन बी और टेक्नीकल असिस्टेंट के पद पर भर्ती के लिए लिखित परीक्षा के एडमिट कार्ड जारी कर दिए हैं.

  • ISRO का सैटेलाइट GSAT-30 फ्रेंच गुआना से लॉन्च, जानिए इसकी खासियतें

    ISRO का सैटेलाइट GSAT-30 फ्रेंच गुआना से लॉन्च, जानिए इसकी खासियतें

    ISRO ने जानकारी देते हुए बताया कि जीसैट-30 इनसैट-4 A की जगह लेगा. इसकी कवरेज क्षमता काफी ज्यादा होगी. यह सैटेलाइट देश की संचार प्रौद्योगिकी में कई बड़े बदलाव लाएगा. यह सैटेलाइट अंतरिक्ष में 15 साल तक काम करेगा. ISRO ने बताया कि जीसैट-30 देश की संचार व्यवस्था को और मजबूत करेगा.

  • Chandrayaan 2: विक्रम लैंडर के मलबे की तस्वीर NASA के ट्वीट करने पर बोले ISRO चीफ- हम पहले ही ढूंढ़ चुके थे

    Chandrayaan 2: विक्रम लैंडर के मलबे की तस्वीर NASA के ट्वीट करने पर बोले ISRO चीफ- हम पहले ही ढूंढ़ चुके थे

    Chandrayaan 2: नासा ने विक्रम लैंडर (Vikram Lander) के चंद्रमा की सतह से टकराने वाली जगह के चित्र जारी करते हुए माना कि इस जगह का पता लगाने में सु्ब्रमण्यम की खास भूमिका रही है.

  • ISRO ने भारत के ‘कार्टोसैट-3’ और अमेरिका के 13 अन्य छोटे उपग्रहों को किया लॉन्च

    ISRO ने भारत के ‘कार्टोसैट-3’ और अमेरिका के 13 अन्य छोटे उपग्रहों को किया लॉन्च

    ISRO Launch Today: यह कार्टोसैट श्रृंखला का नौवां उपग्रह है जिसे यहां से 120 किलोमीटर दूर श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के द्वितीय लांच पैड से प्रक्षेपित किया गया.

  • ‘चंद्रयान-2’ के लैंडर ‘विक्रम’ से संपर्क को लेकर आया ISRO चीफ का बयान, कहा- चंद्रमा पर दिन होने के बाद...

    ‘चंद्रयान-2’ के लैंडर ‘विक्रम’ से संपर्क को लेकर आया ISRO चीफ का बयान, कहा- चंद्रमा पर दिन होने के बाद...

    ‘चंद्रयान-2’ काफी जटिल मिशन था जिसमें चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के अनछुए हिस्से की खोज करने के लिए ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर को एक साथ भेजा गया था. इसरो ने प्रक्षेपण से पहले कहा था कि लैंडर और रोवर का जीवनकाल एक चंद्र दिवस यानी कि धरती के 14 दिनों के बराबर होगा.

  • ISRO चीफ का बड़ा बयान, Chandrayaan-2 के लैंडर 'विक्रम' से 2.1 किमी पहले नहीं टूटा था संपर्क, बल्कि...

    ISRO चीफ का बड़ा बयान, Chandrayaan-2 के लैंडर 'विक्रम' से 2.1 किमी पहले नहीं टूटा था संपर्क, बल्कि...

    इसरो के चेयरमैन के. सिवन ने चंद्रयान-2 (Chandrayaan 2) के लैंडर 'विक्रम' को लेकर नई जानकारी दी है. उन्होंने कहा, 'हमारा लैंडर 'विक्रम' चंद्रमा की सतह से करीब 300 मीटर नजदीक तक पहुंच गया था.

  • Chandrayaan 2: विक्रम लैंडर से संपर्क की खत्‍म हो रही उम्‍मीदों के बीच चंद्रयान-2 को लेकर आया इसरो प्रमुख का बड़ा बयान

    Chandrayaan 2: विक्रम लैंडर से संपर्क की खत्‍म हो रही उम्‍मीदों के बीच चंद्रयान-2 को लेकर आया इसरो प्रमुख का बड़ा बयान

    Chandrayaan 2: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) (ISRO) के अध्यक्ष के. सिवन ने शनिवार को कहा कि चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) मिशन ने अपना 98 फीसदी लक्ष्य हासिल किया है जबकि वैज्ञानिक लैंडर ‘विक्रम’ (Vikram Lander) के साथ संपर्क स्थापित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं.

  • चंद्रयान-2 मिशन पर नासा ने ISRO से कहा- आपने हमें प्रेरित किया है, मिलकर सौर प्रणाली पर करेंगे खोज

    चंद्रयान-2 मिशन पर नासा ने ISRO  से कहा- आपने हमें प्रेरित किया है, मिलकर सौर प्रणाली पर करेंगे खोज

    पूर्व नासा अंतरिक्ष यात्री जेरी लेनिंगर ने शनिवार को कहा कि चंद्रयान-2 मिशन के तहत विक्रम लैंडर की चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग कराने की भारत की ‘‘साहसिक कोशिश’’ से मिला अनुभव भविष्य के मिशन में सहायक होगा. लिनेंगर ने कहा, ‘हमें इससे हताश नहीं होना चाहिए. भारत कुछ ऐसा करने की कोशिश कर रहा है जो बहुत ही कठिन है. लैंडर से संपर्क टूटने से पहले सब कुछ योजना के तहत था.’

  • Chandrayaan 2: चांद पर कहां है विक्रम लैंडर, ISRO के वैज्ञानिकों ने लगा लिया पता, पर अभी नहीं हुआ कोई संपर्क

    Chandrayaan 2: चांद पर कहां है विक्रम लैंडर, ISRO के वैज्ञानिकों ने लगा लिया पता, पर अभी नहीं हुआ कोई संपर्क

    Chandrayaan 2: न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए इसरो प्रमुख ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा, 'ऑर्बिटर ने विक्रम लैंडर का पता लगा लिया है. उसने लैंडर की थर्मल इमेज भी खींची है, लेकिन ऑर्बिटर का उससे कोई संपर्क नहीं हो पाया. हम लोग संपर्क स्थापित करने की कोशिश कर रहे हैं. जल्द ही उससे संपर्क स्थापित हो जाएगा.'

  • 'चंद्रयान 2' को लेकर अनुष्का शर्मा ने किया था ट्वीट, अब पीएम मोदी ने यूं दिया जवाब

    'चंद्रयान 2' को लेकर अनुष्का शर्मा ने किया था ट्वीट, अब पीएम मोदी ने यूं दिया जवाब

    भारत के 'चंद्रयान 2 (Chandrayaan 2)' को उस समय गहरा झटका लगा, जब लैंडर विक्रम (Lander Vikram) से चंद्रमा के सतह से महज दो किलोमीटर पहले इसरो का संपर्क टूट गया. इस घटना से देशवासियों को गहरा दुख हुआ. हाल ही में अनुष्का शर्मा ने भी 'चंद्रयान 2 (Chandrayaan 2)' को लेकर एक ट्वीट किया था, जिस पर अब पीएम मोदी ने जवाब दिया है.

  • चंद्रयान 2 से क्या मिलेगा भारत को, क्या होंगे तीन सबसे बड़े फायदे...

    चंद्रयान 2 से क्या मिलेगा भारत को, क्या होंगे तीन सबसे बड़े फायदे...

    पृथ्वी के एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह चंद्रमा, यानी चांद पर भारत अपना दूसरा महत्वाकांक्षी मिशन 'चंद्रयान-2' आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में अपने सबसे शक्तिशाली रॉकेट लॉन्चर - GSLV Mk III - के ज़रिये प्रक्षेपित कर दिया गया है. 'चंद्रयान-2' चांद पर पानी की मौजूदगी तलाशने के अलावा भविष्य में यहां मनुष्य के रहने की संभावना भी तलाशेगा.

  • ISRO आज दोपहर लॉन्च करेगा चंद्रयान-2, मिशन पर खर्च हुआ है 978 करोड़ रुपये, जानें- 8 बड़ी बातें

    ISRO आज दोपहर लॉन्च करेगा चंद्रयान-2, मिशन पर खर्च हुआ है 978 करोड़ रुपये, जानें- 8 बड़ी बातें

    चांद पर भारत के दूसरे महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान-2 को सोमवार को श्रीहरिकोटा से सबसे शक्तिशाली रॉकेट जीएसएलवी-मार्क III-एम1 के जरिए प्रक्षेपित किया जायेगा. चेन्नई से लगभग 100 किलोमीटर दूर सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र में दूसरे लांच पैड से चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण अपराह्न दो बजकर 43 मिनट पर किया जायेगा. इस मिशन की लागत 978 करोड़ रुपये है. एक सप्ताह पहले तकनीकी गड़बड़ी आने के बाद चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण रोक दिया गया था. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों ने 15 जुलाई को मिशन के प्रक्षेपण से 56 मिनट 24 सेकंड पहले मिशन नियंत्रण कक्ष से घोषणा के बाद रात 1.55 बजे इसे रोक दिया था. कई दिग्गज वैज्ञानिकों ने इस कदम के लिए इसरो की प्रशंसा भी की थी. उनका कहना था कि जल्दबाजी में कदम उठाने से बड़ा हादसा हो सकता था.

  • अक्षय कुमार ने 'चंद्रयान-2' को लेकर कही ये बात, वायरल हो गया Tweet

    अक्षय कुमार ने 'चंद्रयान-2' को लेकर कही ये बात, वायरल हो गया Tweet

    भारत अब एक बार और इतिहास रखने को तैयार है. एक बार फिर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अभियान चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) को चांद की सतह पर उतारने वाला है, इसके लिए सभी तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं. अब इसको लेकर अक्षय कुमार ने ट्वीट किया है.

1234»

Advertisement

Indian space research organisation वीडियो

Indian space research organisation से जुड़े अन्य वीडियो »

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com