NDTV Khabar

Inspector subodh singh News in Hindi


'Inspector subodh singh' - 33 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Bulandshahr Violence: मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध की पत्नी की बात सुनकर अपने आंसू नहीं रोक सके पूर्व DGP, देखें VIDEO

    Bulandshahr Violence: मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध की पत्नी की बात सुनकर अपने आंसू नहीं रोक सके पूर्व DGP, देखें VIDEO

    बुलंदशहर हिंसा के आरोपियों को जमानत मिलने पर हुए भव्य स्वागत को लेकर इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की पत्नी ने जो बाते कहीं उन्हें सुनकर पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह की आखें छलक आईं.

  • बुलंदशहर हिंसा मामला: जीतू फौजी समेत 7 आरोपियों को मिली जमानत, इंस्पेक्टर सुबोध सिंह ने गंवाई थी जान

    बुलंदशहर हिंसा मामला: जीतू फौजी समेत 7 आरोपियों को मिली जमानत, इंस्पेक्टर सुबोध सिंह ने गंवाई थी जान

    जीतू फौजी सहित सात आरोपियों को इस मामले में जमानत मिली है.

  • बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या के आरोपियों पर से हटी देशद्रोह की धारा

    बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या के आरोपियों पर से हटी देशद्रोह की धारा

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr Mob Violence) और पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (Subodh Kumar Singh) की हत्या के मामले में इंस्पेक्टर के हत्या के आरोपियों पर से देशद्रोह की धारा हटा दी गई है.

  • बुलंदशहर हिंसा: SIT ने दाखिल की चार्जशीट, 38 लोगों को बनाया आरोपी, पांच पर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या का आरोप

    बुलंदशहर हिंसा: SIT ने दाखिल की चार्जशीट, 38 लोगों को बनाया आरोपी, पांच पर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या का आरोप

    यूपी पुलिस ने कहा कि चार्जशीट में 38 लोगों का नाम लिखा गया है, जिसमें से पांच को इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या का आरोपी बनाया गया है. इनमें हिंसा के कई दिनों बाद गिरफ्तार किए गए प्रशांत नट्ट का नाम भी शामिल है. पुलिस ने दावा किया है कि इन पांच लोगों ने इंस्पेक्टर सिंह को घेरा था और उनमें से एक ने उन्हें गोली मारी थी. यूपी पुलिस ने बताया कि बजरंग दल के नेता और मामले में प्रमुख आरोपियों में से एक योगेश राज पर दंगे और आगजनी का आरोप लगाया गया है.

  • बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह का मोबाइल मिला, पुलिस ने आरोपी प्रशांत नट के घर से बरामद किया

    बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह का मोबाइल मिला, पुलिस ने आरोपी प्रशांत नट के घर से बरामद किया

    बुलंदशहर हिंसा मामले (Bulandshahr violence Case) में यूपी पुलिस को एक बड़ा सुराग हाथ लगा है. यूपी के बुलंदशहर में गोकशी के शक में भड़की हिंसा में जान गंवाने वाले इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (Subodh Kumar Singh) के मोबाइल फोन को पुलिस ने बरामद कर लिया है.

  • बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध के परिवार की मदद को आगे आई UP पुलिस, दिये 70 लाख रुपये

    बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध के परिवार की मदद को आगे आई UP पुलिस, दिये 70 लाख रुपये

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr Mob Violence) में पिछले साल 3 दिसंबर को गोकशी के शक में भड़की भीड़ की हिंसा में जान गंवाने वाले इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह  (Subodh Kumar Singh) के परिवार को यूपी पुलिस ने 70 लाख रुपये की मदद की है.

  • बुलंदशहर हिंसा: पुलिस ने एक और आरोपी को दबोचा, अब तक 35 गिरफ्त में

    बुलंदशहर हिंसा: पुलिस ने एक और आरोपी को दबोचा, अब तक 35 गिरफ्त में

    अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (नगर) अतुल कुमार श्रीवास्तव ने बताया, ‘प्राथमिकी में पवन कुमार का नाम दर्ज था, जो फरार चल रहा था. उसे गिरफ्तार कर लिया गया है.' पुलिस ने बताया कि स्याना तहसील में बुगारसी रोड के निकट से सोमवार दोपहर 32 वर्षीय कुमार को गिरफ्तार किया गया. श्रीवास्तव ने बताया, ‘हम कुमार से पूछताछ कर रहे हैं और मामले में आगे बढ़ने के लिए अधिक जानकारियां और सबूत जुटा रहे हैं.' गौरतलब है कि पिछले साल दिसंबर के शुरूआत में पुलिस निरीक्षक सुबोध कुमार और सुमित कुमार नाम के एक युवक की भीड़ द्वारा की गई हिंसा में मौत हो गई थी. गांव के बाहर गोवंश के अवशेष मिलने के बाद जिले के सियाना तहसील में हिंसा भड़की थी.

  • बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर कुल्हाड़ी से हमला करने वाले कलुआ को 28 दिन बाद पुलिस ने दबोचा

    बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर कुल्हाड़ी से हमला करने वाले कलुआ को 28 दिन बाद पुलिस ने दबोचा

    मुख्य आरोपी कलुआ ने पहले इंस्पेक्टर की अंगुलियां काटी फिर कुल्हाड़ी से ही सिर पर कई वार कर दिए. इस हमले में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह बुरी तरह घायल हो गए. जख्मी हालत में इंस्पेक्टर जान बचाने खेतों की तरफ भागे तो प्रशांत नट ने उन्हें पकड़कर घुटनों के बल गिरा लिया. इसके बाद नट ने इंस्पेक्टर की ही लाइसेंसी रिवॉल्वर छीनकर उन्हें गोली मार दी. बाद में प्रशांत नट ने अपने साथियों के साथ मिलकर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के शव को उनकी ही सरकारी गाड़ी में डाल कर जलाने की कोशिश की. प्रशांत नट को पिछले सप्ताह गिरफ्तार किया गया था. प्रशांत ने पुलिस के सामने अपना गुनाह भी क़ुबूल कर लिया. पुलिस ने कलुआ के पास वह कुल्हाड़ी भी बरामद कर ली है.

  • बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के सिर पर कुल्हाड़ी से वार करने वाला अरेस्ट, गोली मारने वाला पहले से गिरफ्त में

    बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के सिर पर कुल्हाड़ी से वार करने वाला अरेस्ट, गोली मारने वाला पहले से गिरफ्त में

    वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने बताया कि मामले के प्रमुख आरोपी कलुआ की बुलंदशहर के एक दूर-दराज के गांव में मौजूद होने की सूचना मिलने के बाद उसे वहां से गिरफ्तार कर लिया गया. कलुआ पर इंस्पेक्टर सिंह के सिर पर कुल्हाड़ी से वार करने का आरोप है. उससे पूछताछ की जा रही है. पुलिस इंस्पेक्टर को इसके बाद प्रशांत नट ने गोली मार दी थी, जो पहले से ही पुलिस हिरासत में है.

  • Exclusive: बुलंदशहर मामले में बड़ा खुलासा: पहले इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की उंगली काटी, फिर कुल्हाड़ी से सिर पर किया वार और तब मारी गोली

    Exclusive: बुलंदशहर मामले में बड़ा खुलासा: पहले इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की उंगली काटी, फिर कुल्हाड़ी से सिर पर किया वार और तब मारी गोली

    बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr Violence) के 25 दिन बाद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (Subodh Kumar Singh) की हत्या के मुख्य आरोपी प्रशांत नट को पुलिस ने गिरप्तार कर लिया है. पुलिस की पूछताछ में प्रशांत ने ऐसे-ऐसे चौंकाने वाले खुलासे किए हैं, जो हैरान करने वाले हैं. प्रशांत नट ने सुबोध कुमार सिंह पर गोली चलाई थी, इस बात को उसने स्वीकार कर तो लिया है, मगर अब ये भी बात सामने आई है कि सुबोध कुमार सिंह पर पहले कुल्हाड़ी से हमला किया गया और उन्हें जलाने की भी कोशिश की गई. बताया जा रहा है कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को उन्हीं की लाइसेंसी रिवॉल्वर छीन कर गोली मारी गई थी. इतना ही नहीं, गोली मारने से पहले कलुआ नाम के एक और आरोपी ने कुल्हाड़ी से सुबोध सिंह के सिर पर वार किया था. साथ ही उसने सुबोध सिंह का अंगुठा भी काटा था. 

  • बुलंदशहर कांड : इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की पत्नी ने कहा, मिटाए जा रहे हैं हत्या के सबूत

    बुलंदशहर कांड : इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की पत्नी ने कहा, मिटाए जा रहे हैं हत्या के सबूत

    बुलंदशहर में तीन दिसंबर को हुई हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई. इस मामले में पुलिस और प्रशासन की अब तक की कार्रवाई से सुबोध कुमार सिंह का परिवार संतुष्ट नहीं है. उनकी पत्नी रजनी ने कहा है कि उनके पति की हत्या हुई लेकिन सरकार अब कह रही है कि यह दुर्घटना थी. अगर ऐसा होता रहा तो कोई मां अपने बेटे को पुलिस में नहीं भेजेगी.

  • बुलंदशहर हिंसा: गोकशी के आरोप में गिरफ्तारी पर उठे सवाल, जिनके नाम FIR में नहीं उन्हें किया अरेस्ट

    बुलंदशहर हिंसा: गोकशी के आरोप में गिरफ्तारी पर उठे सवाल, जिनके नाम FIR में नहीं उन्हें किया अरेस्ट

    गोकशी के मामले में बुधवार सुबह पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया. सरफुद्दीन का नाम एफआईआर में था, जो गारमेंट का काम करते हैं. सरफुद्दीन के परिवार का दावा है कि जिस दिन गांव में गोवंश के अवशेष मिले थे, उस दिन वह वहां से 40 किलोमीटर दूर इज्तिमा में थे. उनके भाई मोहम्मद हुसैन का कहना है, 'वह उस दिन इज्तिमा में थे और उनकी पार्किंग में ड्यूटी लगी हुई थी. मेरे पास सबूत हैं कि वह उस दिन वहां नहीं था. उसकी जीपीएस लोकेशन ट्रैक की जा सकती है और यह जांचा जा सकता है कि वह महाव में उस दिन थे या नहीं.'

  • क्या सुलझेगी इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या की गुत्थी? 10 प्वाइंट में जानें बुलंदशहर मामले में अब तक क्या हुआ

    क्या सुलझेगी इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या की गुत्थी? 10 प्वाइंट में जानें बुलंदशहर मामले में अब तक क्या हुआ

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr mob violence) में बीते सोमवार को गोकशी के शक में भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का मामला अभी भी नहीं सुलझ पाया है. हालांकि, इंस्पेक्टर की हत्या का मुख्य संदिग्ध आर्मी जवान जीतू फौजी (Jitu Fauji) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा. मगर जीतू ने हत्या करने की बात से साफ तौर पर इनकार कर दिया है. बताया जा रहा है कि सेना ने जीतू को रात करीब साढ़े बारह बजे पुलिस के हवाले कर दिया. एनडीटीवी से सूत्रों ने कहा कि वह पिछले 36 घंटे से पुलिस की रडार पर था. पुलिस की हिरासत में जीतू से पुछताछ हुई. पुलिस के सामने जीतू ने स्वीकार किया है कि वह भीड़ का हिस्सा था. दरअसल, बुलंदशहर में गोकशी के शक में भड़की हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई थी, जिनमें एक पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह थे और एक सुमित नाम का युवक था. चलिए अब तक इस मामले में क्या-क्या हुआ जानते हैं.

  • Top 5 News: सेना का जवान जीतू गिरफ्तार, रामदास अठावले को थप्पड़, टीवी डिबेट में मारपीट

    Top 5 News: सेना का जवान जीतू गिरफ्तार, रामदास अठावले को थप्पड़, टीवी डिबेट में मारपीट

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr mob violence) में बीते सोमवार को गोकशी के शक में भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का मुख्य संदिग्ध आर्मी जवान जीतू फौजी (Jitu Fauji) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वहीं, : लाइव टीवी डिबेट शो के दौरान समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के प्रवक्ता और बीजेपी (BJP) प्रवक्ता आपस में भिड़ गए. उधर, केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले को युवक ने धक्का देकर थप्पड़ जड़ दिया. राजस्थान में हुए विधानसभा चुनाव में भी ईवीएम अनियमितता देखने को मिली है, जहां बारां जिले में हाईवे पर बैलेट यूनिट पड़ी मिली है. वहीं, हीरा कारोबारी राजेश्वर उदानी की रहस्यमय हत्या के बाद मुंबई पुलिस ने एक राजनेता को गिरफ्तार किया है और एक प्रमुख मॉडल और टीवी अभिनेत्री  देबोलिना भट्टाचार्य को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की है.

  • बुलंदशहर हिंसा: जीतू को STF के हवाले करने के लिए ऐसे राजी हुए सैन्‍य अधिकारी, दिखाए गए 100 से ज्यादा वीडियो और कॉल डिटेल

    बुलंदशहर हिंसा: जीतू को STF के हवाले करने के लिए ऐसे राजी हुए सैन्‍य अधिकारी, दिखाए गए 100 से ज्यादा वीडियो और कॉल डिटेल

    एसटीएफ के सामने जितेंद्र फौजी ने स्वीकार किया है कि वो हिंसा वाले दिन गांव में ही था. पहले जब गांव में गौवंश के शव मिले तब भी वो वही था, उसके बाद वो भीड़ के साथ चिंगरावठी चौकी पहुंचा और हंगामा किया. एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें जितेंद्र ट्रैक्टर पर साफ नजर आ रहा है, उससे पूछताछ लगातार जारी है. सूत्रों की माने तो अभी तक की जांच में ये साफ नहीं हो पाया है कि जितेंद्र ने इंस्पेक्टर को गोली मारी या नहीं, पुलिस का कहना है जांच जारी है.

  • बुलंदशहर हिंसा: जीतू की गिरफ्तारी पर बोले यूपी पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी- आखिर क्यों भीड़ को उकसा रहा था सेना का जवान

    बुलंदशहर हिंसा: जीतू की गिरफ्तारी पर बोले यूपी पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी- आखिर क्यों भीड़ को उकसा रहा था सेना का जवान

    यूपी के बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का मुख्य संदिग्ध आर्मी जवान जितेंद्र मलिक उर्फ जीतू को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. जितेंद्र मलिक को रविवार की रात सेना ने पुलिस के हवाले कर दिया. एनडीटीवी से सूत्रों ने कहा कि वह बीते 36 घंटों से पुलिस की रडार पर था. पुछताछ में पुलिस के सामने जीतू ने स्वीकार किया है कि वह भीड़ का हिस्सा था. दरअसल, यूपी के बुलंदशहर में बीते सोमवार को गोकशी के शक में भड़की हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई थी, जिनमें एक पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह थे और एक सुमित नाम का युवक था. 

  • बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का मुख्य संदिग्ध जीतू फौजी 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

    बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का मुख्य संदिग्ध जीतू फौजी 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr mob violence) में बीते सोमवार को गोकशी के शक में भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का मुख्य संदिग्ध आर्मी जवान जीतू फौजी (Jitu Fauji) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तारी के बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया था, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

  • Bulandshar Violance: आरोपी जीतू फौजी के बचाव में उतरा भाई, कहा- साजिश के तहत फंसाया जा रहा  

    Bulandshar Violance: आरोपी जीतू फौजी के बचाव में उतरा भाई, कहा- साजिश के तहत फंसाया जा रहा  

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr Violence) में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का आरोपी जितेंद्र मलिक (Jitendra malik) उर्फ जीतू फौजी (Jitu Fauji) को हिरासत में ले लिया गया है. बताया जा रहा है कि जीतू फौजी राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात है और हिंसा के दिन मौके पर भी मौजूद था. हालांकि, जीतू के हिरासत की खबर सूत्रों ने दी है. उधर, धर्मेंद्र मलिक (जीतू के भाई) ने ANI से कहा कि उसके भाई को साजिश के तहत फंसाया जा रहा है.

12»

Advertisement

 

Inspector subodh singh वीडियो

Inspector subodh singh से जुड़े अन्य वीडियो »