NDTV Khabar

Interesting facts


'Interesting facts' - 42 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • किस बचत योजना में निवेश करने पर मिलेगा कितना ब्याज, किसमें बचेगा इनकम टैक्स...?

    किस बचत योजना में निवेश करने पर मिलेगा कितना ब्याज, किसमें बचेगा इनकम टैक्स...?

    भविष्य में आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बने रहने के लिए हमारे देश में भी ढेरों बचत योजनाएं मौजूद हैं, जिनमें निवेश कर न सिर्फ आप अपना आने वाला कल सुरक्षित कर सकते हैं, बल्कि आज भी आयकर में बचत हासिल कर लाभ कमा सकते हैं. जीवन बीमा पॉलिसी खरीदने के अलावा भारतीय डाक विभाग भी कई अलग-अलग बचत योजनाएं संचालित कर रहा है, जो निवेशकों के बीच काफी लोकप्रिय हैं. इन बचत योजनाओं का सबसे आकर्षक पहलू यही है कि ये सब सरकारी योजनाएं हैं, इसलिए इनमें निवेश करना कतई सुरक्षित माना जाता है. ऐसी अधिकतर योजनाओं के लिए भारतीय डाक विभाग, यानी इंडिया पोस्ट का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन बहुत-से लोग ऐसे हैं, जिन्हें आज भी नहीं मालूम कि किस योजना में निवेश से हासिल होने वाली वापसी करमुक्त होगी, और किस-किस योजना में निवेश करने पर कितना-कितना ब्याज हासिल होगा. आइए, आज हम आपको बता रहे हैं कि भारतीय डाक विभाग की किस बचत योजना में निवेश करने पर आपको कितना ब्याज हासिल हो सकता है.

  • Republic Day Parade 2020: गणतंत्र दिवस पर क्यों होती है परेड, जानिए रोचक बातें..

    Republic Day Parade 2020: गणतंत्र दिवस पर क्यों होती है परेड, जानिए रोचक बातें..

    गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर हर साल राजपथ पर परेड होती है. 26 जनवरी (26 January) को होने वाली परेड (Republic Day Parade) की तैयारी तेजी से चल रही है. 17, 18, 20 और 21 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड की रिहर्सल होगी. गणतंत्र दिवस की भव्य परेड में भारतीय सेना के विभिन्न रेजिमेंट, वायुसेना, नौसेना आदि सभी भाग लेते हैं. इसके साथ ही परेड में झांकियां निकाली जाती हैं. इस बार जिन 15 विभागों की गणतंत्र दिवस परेड में झांकी निकलेंगी, उनमें कृषि विभाग की दो झांकियां शामिल हैं. इसके साथ ही जेल, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, समाज कल्याण, नगरीय प्रशासन, ऊर्जा विभाग, आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति, महिला एवं बाल विकास, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, लोक निर्माण, वन, जल संसाधन, ग्रामोद्योग, संस्कृति एवं पर्यटन तथा कौशल विकास, तकनीकी शिक्षा एवं रोजगार, विज्ञान और प्रौद्योगिक विभाग की एक-एक झांकी परेड में शामिल होंगी.

  • C V Raman: सीवी रमन को 'रमन प्रभाव' के लिए मिला था नोबेल पुरस्कार, जानिए 5 बातें

    C V Raman: सीवी रमन को 'रमन प्रभाव' के लिए मिला था नोबेल पुरस्कार, जानिए 5 बातें

    वैज्ञानिक सीवी रमन की आज पुण्यतिथि (C.V. Raman Death Anniversary) है. भौतिक-शास्त्री सीवी रमन (C.V. Raman) को प्रकाश के क्षेत्र में अपने उत्कृष्ट कार्य के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया था. वह एक मात्र भारतीय हैं जिन्हें विज्ञान का नोबेल पुरस्कार प्राप्त है. विज्ञान के क्षेत्र में भारत को ऊंचाइयों तक ले जाने में उनका काफी बड़ा योगदान रहा है. अपनी खोज 'रमन प्रभाव' के लिए सीवी रमन (CV Raman) को दुनिया भर में जाना जाता है. इस खोज के लिए उन्हें विश्व प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. आज रमन प्रभाव के सहारे वैज्ञानिक कई तरह के प्रयोग कर रहे हैं. सीवी रमन को कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था. उन्हें वर्ष 1929 में नाइटहुड, वर्ष 1954 में भारत रत्न और वर्ष 1957 में लेनिन शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. आइये जानते हैं सीवी रमन से जुड़ी 5 बातें...

  • जब महात्मा गांधी को 5-5 रुपये में बेचना पड़ा था अपना ऑटोग्राफ, जानिए क्या थी वजह

    जब महात्मा गांधी को 5-5 रुपये में बेचना पड़ा था अपना ऑटोग्राफ, जानिए क्या थी वजह

    गांधी बिहार के भागलपुर गए थे, 1934 में भूकंप पीड़ितों की ना केवल मदद की थी, बल्कि पीड़ितों के लिए राशि भी इकट्ठी की थी. इस राशि के लिए उन्होंने अपने ऑटोग्राफ लेने वालों से पांच-पांच रुपये की राशि ली थी और फिर पीड़ितों की मदद के लिए उसे सौंप दिया था.

  • 30 कंपनियों से रिजेक्ट होने वाले जैक मा ऐसे बने चीन के सबसे अमीर आदमी

    30 कंपनियों से रिजेक्ट होने वाले जैक मा ऐसे बने चीन के सबसे अमीर आदमी

    अलीबाबा ग्रुप के फाउंडर जैक मा (Jack Ma) चेयरमैन पद से रिटायर हो जाएंगे. वह 10 सितंबर को अपने जन्मदिन के मौके पर चेयरमैन पद को छोड़ेंगे. जैक मा कंपनी की बागडोर डैनियल झांग को सौंप देंगे. उम्मीद है कि जैक मा (Jack Ma) सलाहकार की भूमिका में बने रह सकते हैं. चेयरमैन पद से हटने के बाद जैक मा शिक्षा के क्षेत्र में काम करेंगे. जैक मा (Jack Ma) की संपत्ति 34.6 अरब डॉलर है. अलीबाबा को इस ऊंचाई तक पहुंचाने वाले जैक मा ने अपनी करियर की शुरुआत एक अंग्रेजी टीचर के तौर पर की थी. इससे पहले उन्हें केएफसी समेत 30 नौकरियों के लिए रिजेक्ट किया जा चुका था. हैरानी की बात तो ये है कि कंप्यूटिंग की कोई खास जानकारी न होते हुए भी उन्होंने ऑनलाइन बिजनेस की शुरुआत की. उन्होंने दो दशक पहले अपने अपार्टमेंट में ही अलीबाबा की नींव रखी. साल 2014 में अलीबाबा ने दुनिया की सबसे बड़ी सार्वजनिक हिस्सेदारी के जरिए 25 अरब डॉलर जुटाए थे.

  • कौन हैं रोमिला थापर जिनके सीवी को लेकर छिड़ गया है विवाद?

    कौन हैं रोमिला थापर जिनके सीवी को लेकर छिड़ गया है विवाद?

    इतिहासकार रोमिला थापर (RomilaThapar) का सीवी मांगने पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है. #RomilaThapar ट्वीटर पर ट्रेंड कर रहा है और लोग लगातार इस मामले पर अपने विचार रख रहे हैं. इस मामले ने तूल पकड़ लिया है और रोमिला से सीवी मांगने पर कई छात्रों, शिक्षकों और इतिहासकारों ने इसका विरोध किया है. वहीं, थापर (RomilaThapar) से सीवी मांगने के मामले पर जेएनयू प्रशासन का कहना है कि उसने यह पत्र उनकी सेवा को खत्म करने के लिए नहीं बल्कि विश्वविद्यालय की सर्वोच्च वैधानिक निकाय कार्यकारिणी परिषद द्वारा समीक्षा करने की जानकारी देने के लिए लिखा है और ऐसा अन्य प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयें जैसे एमआईटी और प्रिसंटन विश्वविद्यालय में भी होता है. वहीं रोमिला थापर का कहना है कि  'यह जीवन भर का सम्मान है.' रोमिला थापर जानी मानी इतिहासकार और प्रोफेसर इमेरिटस हैं. प्राचीन भारतीय इतिहास की विशेषज्ञ रोमिला थापर 1970 से 1991 तक जेएनयू में प्रोफेसर रहीं. रिटायर होने के बाद उन्हें 1993 में प्रोफेसर इमेरिटस का दर्जा दिया गया. 

  • राजनीतिक परिवार में शादी के बाद कैसे बदल गई शीला दीक्षित की जिंदगी, पढ़ें यहां

    राजनीतिक परिवार में शादी के बाद कैसे बदल गई शीला दीक्षित की जिंदगी, पढ़ें यहां

    केंद्र में कांग्रेस सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार के घोटालों का सिलसिला चला और वह 2010 में कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए सवालों के घेरे में आ गई, जो उसके पतन की शुरुआत थी. उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले दिल्ली कांग्रेस के प्रमुख के तौर पर दोबारा वापसी की. वह उत्तर पूर्वी दिल्ली से चुनाव लड़ीं लेकिन राज्य में भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी से हार गईं. शीला दीक्षित अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारी कर रही थी मगर दिल की बीमारी से वह उबर नहीं सकी और अनगिनत यादों के साथ दुनिया से विदा हो गई. 

  • बिजनेस मैन, फिटनेस फ्रीक और लग्जरी कारों के शौकीन रॉबर्ट वाड्रा के जीवन से जुड़ी 10 बातें

    बिजनेस मैन, फिटनेस फ्रीक और लग्जरी कारों के शौकीन रॉबर्ट वाड्रा के जीवन से जुड़ी 10 बातें

    यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) ने सक्रिय राजनीति में आने के संकेत दिए हैं. एक बार फिर रॉबर्ट वाड्रा सुर्खियों में हैं. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में  रॉबर्ट वाड्रा के पोस्टर लगाए गए हैं. प्रियंका गांधी के बाद अब रॉबर्ट वाड्रा भी राजनीति में शामिल हो सकते हैं. रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) पेशे से कारोबारी हैं.

  • कुछ ऐसा है तेल से मालामाल सऊदी अरब, जानिए इस देश से जुड़ी खास बातें

    कुछ ऐसा है तेल से मालामाल सऊदी अरब, जानिए इस देश से जुड़ी खास बातें

    सऊदी अरब (Saudi Arabia) के युवराज मोहम्मद बिन सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सऊद भारत दौरे पर हैं. सऊदी युवराज और प्रधानमंत्री मोदी के बीच शीर्ष स्तरीय द्विपक्षीय वार्ता हुई. इस वार्ता के बाद सऊदी अरब और भारत के बीच 5 समझौते हुए हैं. भारत और सऊदी अरब के बीच ऊर्जा, टूरिज्म सेक्टर और व्यापार को बढ़ावा देने के लिए करार हुआ है. प्रसार भारती और सऊदी अरब के बीच प्रसारण साझा करने और इंटरनेशनल सोलर अलायंस के क्षेत्र में भी समझौता हुआ है.

  • आलोक वर्मा अगर IPS न बनते तो इस कारोबार में उतर सकते थे, करीबी लोगों ने दी दिलचस्प जानकारियां

    आलोक वर्मा अगर IPS न बनते तो इस कारोबार में उतर सकते थे, करीबी लोगों ने दी दिलचस्प जानकारियां

    Interesting Facts About Alok Verma : देश की शीर्ष जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से बाहर किए गए और फिर भारतीय पुलिस सेवा से रिटायरमेंट लेने वाले आलोक कुमार वर्मा के बारे में जानिए दिलचस्प जानकारियां.

  • PM Modi Birthday: चायवाले से कैसे प्रधानमंत्री की कुर्सी तक पहुंचे PM नरेंद्र मोदी - जानें 10 बड़ी बातें

    PM Modi Birthday: चायवाले से कैसे प्रधानमंत्री की कुर्सी तक पहुंचे PM नरेंद्र मोदी - जानें 10 बड़ी बातें

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सोमवार को 68 वर्ष के हो गए. गुजरात के वडनगर स्टेशन पर चाय बेचने वाले बालक के हाथ में कभी देश की बागडोर होगी, इसका किसी को सपने में भी अंदाजा नहीं रहा होगा.  मगर नरेंद्र मोदी ने करिश्मा कर दिखाया. चायवाले से देश के प्रधानमंत्री बनकर मोदी यह संदेश देने में सफल रहे कि लक्ष्य के प्रति समर्पण और जुनून के आगे कोई भी चीज असंभव नहीं है. उन्होंने आम जन के सपनों को उड़ान भी दी. खास बात है कि जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री बने, उस वक्त उन्होंने एक अदना सा चुनाव भी नहीं लड़ा था. दिल्ली में बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन स्तर का कामकाज देखने के दौरान ही उन्हें पार्टी और संघ की ओर से गुजरात का मुख्यमंत्री बनाने का फैसला हुआ था. प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेंद्र मोदी वर्ष 2001 से 2014( पीएम बनने से पहले) तक लगातार चार बार गुजरात के मुख्यमंत्री रहे. जानिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ी 10 बड़ी बातें.

  • हिंदी दिवस 2018 : 1949 में आज ही के दिन मिला था हिंदी को राजभाषा का दर्जा, जानें 10 रोचक तथ्य

    हिंदी दिवस 2018 : 1949 में आज ही के दिन मिला था हिंदी को राजभाषा का दर्जा, जानें 10 रोचक तथ्य

    बहुत सी बोलियों और भाषाओं वाले हमारे देश में आजादी के बाद भाषा को लेकर एक बड़ा सवाल आ खड़ा हुआ. आखिरकार 14 सितंबर 1949 को हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया गया. हालांकि शुरू में हिंदी और अंग्रेजी दोनो को को नए राष्ट्र की भाषा चुना गया और संविधान सभा ने देवनागरी लिपि वाली हिंदी के साथ ही अंग्रेजी को भी आधिकारिक भाषा के रूप में स्वीकार किया, लेकिन वह 14 सितंबर 1949 का दिन था, जब संविधान सभा ने हिंदी को ही भारत की राजभाषा घोषित किया.

  • Quiz: जाह्नवी कपूर और 'धड़क' फिल्म से जुड़े इंटरेस्टिंग सवाल, क्या जवाब दे पाएंगे आप?

    Quiz: जाह्नवी कपूर और 'धड़क' फिल्म से जुड़े इंटरेस्टिंग सवाल, क्या जवाब दे पाएंगे आप?

    फिल्म 'धड़क' 20 जुलाई को बड़े पर्दे पर रिलीज हुई थी. 'धड़क' को क्रिटिक्स और ऑडियंस से अच्छे रिव्यूज मिले हैं. इस रोमांटिक-ड्रामा में दर्शकों को ईशान खट्टर और जाह्नवी कपूर की जोड़ी काफी पसंद आई है.

  • World Cup 2018: गूगल ने बनाया स्‍पेशल डूडल, जानिए फीफा वर्ल्‍ड कप से जुड़ी 10 बातें

    World Cup 2018: गूगल ने बनाया स्‍पेशल डूडल, जानिए फीफा वर्ल्‍ड कप से जुड़ी 10 बातें

    Fifa World Cup 2018 को सेलिब्रेट करने के लिए गूगल ने डूडल बनाया है. दुनियाभर में फुटबॉल के दीवानों को फीफा के शुरू होने का बेसब्री से इंतजार था. हर किसी की नज़र इस खेल पर टिकी हुई है. इस खेल में 32 टीमें हिस्सा ले रही हैं. ये देखना बेहद दिलचस्प होगा कि Fifa World Cup 2018 का कप किस देश के हाथ लगेगा.

  • Ramzan 2018: रमज़ान से जुड़ी 10 खास बातें, जिन्हें बहुत कम लोग जानते हैं

    Ramzan 2018: रमज़ान से जुड़ी 10 खास बातें, जिन्हें बहुत कम लोग जानते हैं

    रमज़ान (Ramzan) का महीना चल रहा है. इस दौरान लगभग सभी मुसलमान रोज़े रख रहे हैं. जानें इस महीने से जुड़ी खास बातों के बारे में...

  • Satyajit Ray Quiz: सिनेमा के जादूगर सत्यजीत रे के बारे में ये 5 बातें जानते हैं आप

    Satyajit Ray Quiz: सिनेमा के जादूगर सत्यजीत रे के बारे में ये 5 बातें जानते हैं आप

    सत्यजीत रे का आज जन्मदिन है. सत्यजीत रे का जन्म 2 मई, 1921 को हुआ था. सत्यजीत रे ने बंगाली फिल्में बनाईं. उन्हें विश्व सिनेमा के महान डायरेक्टरों में गिना जाता है.

  • IPL 2018: इस आईपीएल की ये 5 रोचक बातें, जो आप नहीं भुला पाएंगे

    IPL 2018: इस आईपीएल की ये 5 रोचक बातें, जो आप नहीं भुला पाएंगे

    इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-11 में अभी तक बहुत ही रोमांचक क्रिकेट हुई है, बहुत ही रोमांचक कारनामे हुए हैं. किसी कारनामे ने क्रिकेटप्रेमियों के होश एकदम से उड़ा दिए, तो किसी ने क्रिकेटप्रेमियों को दांत तले उंगली दबाने पर मजबूर कर दिया. और अभी तो यह शुरुआत भर है. जैसी क्रिकेट अभी तक हुई है, उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि आने वाले दिनों में रोचक फैक्टस की और भी तेजी से बरसात होने जा रही है. बहरहाल, हम आपके लिए लेकर आए हैं टूर्नामेंट में अभी तक हुए मैचों के वो पांच रोचक फैक्ट्स, जो क्रिकेटप्रेमियों की जुबां पर बने हुए हैं. और जिनके लेकर क्रिकेटप्रेमी चर्चा कर रहे हैं. 

  • KL Saigal Birth Anniversary: गूगल ने बनाया डूडल, 'जब दिल ही टूट गया' से पूरे देश को के.एल. सहगल ने किया था इमोशनल

    KL Saigal Birth Anniversary: गूगल ने बनाया डूडल, 'जब दिल ही टूट गया' से पूरे देश को के.एल. सहगल ने किया था इमोशनल

    K L Saigal's 114th Birthday: के.एल. सहगल का जन्म 11 अप्रैल 1904 को जम्मू के नवांशहर में हुआ था. के.एल. सहगल का पूरा नाम कुंदन लाल सहगल था और आज उनकी 114वीं जयंती है

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com