NDTV Khabar

Jammu and kashmir governor satya pal malik


'Jammu and kashmir governor satya pal malik' - 10 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राजनीतिक दलों से कहा, शांति बनाए रखें और अफवाहों पर ध्यान न दें

    जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राजनीतिक दलों से कहा, शांति बनाए रखें और अफवाहों पर ध्यान न दें

    जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि अमरनाथ यात्रा को बीच में रोकने को अन्य मुद्दों के साथ जोड़कर 'बेवजह का डर' पैदा किया जा रहा है. जम्मू कश्मीर के राज्यपाल ने राजनीतिक नेताओं से अपने समर्थकों से शांति बनाए रखने और 'अफवाहों' पर भरोसा ना करने की बात कही है. 

  • Jammu And Kashmir Live Update:राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा-अफवाहों पर न दें ध्यान

    Jammu And Kashmir Live Update:राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा-अफवाहों पर न दें ध्यान

    जम्मू कश्मीर में आंतकी हमले की आशंका को देखते हुए प्रशासन की ओर से अमरनाथ यात्रियों को घोटी छोड़ने की एडवाइजरी जारी की गई है. बदले हालातों पर चर्चा के लिए सभी दलों ने कश्मीर में आपात बैठक भी बुलाई. वहीं एकाएक  कश्मीर में बढ़ी हलचल को देखते हुए स्थानीय लोगों में उहापोह की स्थिति पैदा हो गई है.

  • 'मुल्क को लूटने वालों को आतंकी मारें' वाले बयान पर सत्यपाल मलिक की सफाई- गवर्नर के तौर पर बयान सही नहीं, पर मेरी निजी सोच वही है

    'मुल्क को लूटने वालों को आतंकी मारें' वाले बयान पर सत्यपाल मलिक की सफाई- गवर्नर के तौर पर बयान सही नहीं, पर मेरी निजी सोच वही है

    राज्यपाल के इस बयान पर राजनीतिक विवाद पैदा हो गया. राज्यपाल के इस बयान की मुख्यधारा के नेताओं ने आलोचना की है. राज्यपाल की इस टिप्पणी पर पूर्व मुख्यमंत्री एवं जम्मू कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि मलिक को दिल्ली में अपनी प्रतिष्ठा की पड़ताल करनी चाहिए. अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘यह शख्स जो जाहिर तौर पर एक जिम्मेदार संवैधानिक पद पर काबिज है और वह आतंकवादियों को भ्रष्ट समझे जाने वाले नेताओं की हत्या के लिये कह रहा है.’ बाद में, नेकां नेता ने कहा, ‘‘इस ट्वीट को सहेज लें - आज के बाद जम्मू-कश्मीर में मारे गये किसी भी मुख्यधारा के नेता या सेवारत/सेवानिवृत्त नौकरशाह की अगर हत्या होती है तो समझा जायेगा कि यह जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के आदेशों पर की गयी है.’

  • जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले, वोट के लिए नेता किसी भी हद तक जा सकते हैं

    जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले, वोट के लिए नेता किसी भी हद तक जा सकते हैं

    जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने नेताओं पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के खिलाफ सुरक्षाबलों द्वारा चलाए जा रहे अभियान के खिलाफ बोलना नेताओं की राजनैतिक मजबूरी है. जम्मू में आतंकवादियों की हत्या की जांच की मांग से जुड़े एक सवाल के जवाब में सत्यपाल मलिक ने कहा कि, 'जब एक आतंकवादी गोलीबारी शुरू करता है या कोई विस्फोट फेंकता है तो हम उसे फूल या गुलदस्ता नहीं देंगे.

  • भारत के उच्च वर्ग का एक तबका ‘सड़े आलू’ जैसा, समाज के प्रति नहीं है संवेदनशील : सत्यपाल मलिक

    भारत के उच्च वर्ग का एक तबका ‘सड़े आलू’ जैसा, समाज के प्रति नहीं है संवेदनशील : सत्यपाल मलिक

    जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने देश के धनाढ्य वर्ग के एक तबके को सड़े आलू जैसा बताया और कहा कि उनमें समाज के प्रति कोई संवेदनशीलता नहीं है और वे कोई धर्मार्थ कार्य नहीं करते. राज्यपाल मलिक अनेक बार कश्मीर के अमीर नेताओं और नौकरशाहों के खिलाफ मुखर हो चुके हैं. वह राज्य के सैनिक वेल्फेयर सोसाइटी के एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.    

  • जम्मू-कश्मीर: गवर्नर सत्यपाल मलिक को सता रहा है 'तबादले का डर', बोले- पता नहीं कितने दिन यहां हूं

    जम्मू-कश्मीर: गवर्नर सत्यपाल मलिक को सता रहा है 'तबादले का डर', बोले- पता नहीं कितने दिन यहां हूं

    राज्यपाल मलिक ने कहा, 'मैं कितने दिन यहां हूं, यह मेरे हाथ में नहीं हैं. मुझे नहीं पता कि मेरा कब तबादला कर दिया जाएगा. मुझे पद से नहीं हटाया जाएगा, लेकिन मेरे तबादले की आशंका है. जब तक मैं यहां हूं, मैं आप लोगों को भरोसा दिलाता हूं कि जब भी आप मुझे बुलाएंगे, मैं उन्हें (गिरधारी लाल डोगरा) श्रद्धांजलि देने के लिए आता रहूंगा.' सत्यपाल मलिक पिछले तीन महीने से जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल पद पर हैं.

  • राज्यपाल बनाम रवीश कुमार नहीं था वह, तब फिर दोनों हाथ क्यों मिलाते, साथ खाना क्यों खाते...

    राज्यपाल बनाम रवीश कुमार नहीं था वह, तब फिर दोनों हाथ क्यों मिलाते, साथ खाना क्यों खाते...

    राज्यपाल जी ने आते ही मुझसे हाथ मिलाया और प्राइम टाइम के यूनिवर्सिटी सीरीज़ का ज़िक्र किया और कहा कि शुक्रिया आपका, आपकी वजह से मैंने बिहार में बहुत कोशिश की मगर तबादला हो गया. हम दोनों इस संक्षिप्त टिप्पणी के साथ अपनी अपनी कुर्सी पर बैठ गए.

  • जम्मू-कश्मीर विधानसभा क्यों हुई भंग ? राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गिनाए ये 4 कारण

    जम्मू-कश्मीर विधानसभा क्यों हुई भंग ? राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गिनाए ये 4 कारण

    जम्मू-कश्मीर विधानसभा (Jammu-Kashmir Assembly) भंग होने के पीछे ये रहे चार कारण. राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Governor Satya Pal Malik) ने खुद दी जानकारी. बोले विधायकों की खरीद-फरोख्त होने की आशंका थी. पीडीपी ने कांग्रेस और नेशनल कांफ्रेंस के साथ मिलकर सरकार बनाने का किया था दावा.

  • NC, PDP को जम्मू-कश्मीर निकाय चुनाव का बहिष्कार नहीं करना चाहिए था : सत्यपाल मलिक

    NC, PDP को जम्मू-कश्मीर निकाय चुनाव का बहिष्कार नहीं करना चाहिए था : सत्यपाल मलिक

    जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने मंगलवार को कहा कि नेशनल कान्फ्रेंस और पीडीपी को निकाय चुनाव का बहिष्कार नहीं करना चाहिए था. उन्होंने साथ ही कहा कि संविधान के अनुच्छेद 35ए और 370 इस चुनाव में गैर..मुद्दे थे. नेशनल कान्फ्रेंस और पीडीपी ने इन दोनों अनुच्छेदों को विधिक चुनौती को लेकर चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा की थी. मलिक ने चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न होने पर संतोष व्यक्त किया. उन्होंने शहरी निकाय चुनाव का अंतिम चरण सम्पन्न होने के तत्काल बाद कहा कि , ‘यह (प्रतिक्रिया) काफी अच्छी रही.’ उन्होंने कहा, ‘‘आज (मंगलवार को) श्रीनगर में 9578 वोट पड़े. गंदेरबाल में 1000 वोट पड़े. मतदान प्रतिशत हाल के कुछ चुनावों से बेहतर है.’    

  • बोफोर्स घोटाले के चलते कांग्रेस छोड़ने वाले सत्‍यपाल मलिक को मोदी सरकार ने बनाया जम्‍मू-कश्‍मीर का गवर्नर

    बोफोर्स घोटाले के चलते कांग्रेस छोड़ने वाले सत्‍यपाल मलिक को मोदी सरकार ने बनाया जम्‍मू-कश्‍मीर का गवर्नर

    तपाल मलिक की जगह बिहार का राज्‍यपाल लालजी टंडन को बनाया गया है. जम्‍मू कश्‍मीर का राज्‍यपाल नियुक्‍त होने पर NDTV इंडिया से बोले सतपाल मलिक ने कहा कि कश्‍मीरी नेताओं से मेरे निजी संबंध हैं. पीएम की सोच पर अमल करना है और लोगों का भरोसा जीतना है. कश्‍मीर की जनता पर मुझे पूरा भरोसा है.