NDTV Khabar

Jammu kashmir assembly


'Jammu kashmir assembly' - 80 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • सरकार के 100 दिन के कामकाज पर बोले PM मोदी, 'ये तो ट्रेलर है, पूरी फिल्म अभी बाकी है'

    सरकार के 100 दिन के कामकाज पर बोले PM मोदी, 'ये तो ट्रेलर है, पूरी फिल्म अभी बाकी है'

    लोकसभा चुनाव के दौरान 'कामदार' और 'दामदार' सरकार मुहैया कराने के अपने वादे को याद करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि यह नई सरकार के केवल 100 दिनों में ही दिख गया. पीएम मोदी ने कहा कि यह केवल एक 'ट्रेलर' है और 'पूरी फिल्म' आनी अभी बाकी है.

  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- पाकिस्तान से केवल PoK पर होगी बातचीत

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- पाकिस्तान से केवल PoK पर होगी बातचीत

    संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्म करने के बारे में उन्होंने कहा कि इस कदम से पड़ोसी देश कमजोर हुआ है और यह उनके लिए चिंता का कारण बन गया है. उन्होंने कहा, ‘‘अब वह (पाकिस्तान) हर दरवाजे को खटखटा रहा है और खुद को बचाने के लिए विभिन्न देशों से सहयोग मांग रहा है. हमने क्या अपराध किया है? हमें क्यों धमकी दी जा रही है? बहरहाल, दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका ने पाकिस्तान को झिड़क दिया है और उसे भारत के साथ वार्ता शुरू करने के लिए कहा है.’

  • धारा 370 खत्म होने के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकियों और पाक की तरफ से खतरा, सेना सतर्क

    धारा 370 खत्म होने के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकियों और पाक की तरफ से खतरा, सेना सतर्क

    जम्मू-कश्मीर में धारा 35 ए और धारा 370 को खत्म किए जाने पर आतंकियों और पाकिस्तान की तरफ से बदले की कार्रवाई की आशंका बरकरार है. साथ ही राज्य में विरोध प्रदर्शनों के नाम पर हालात बिगड़ने की आशंका भी बनी हुई है. सूत्रों के मुताबिक इस बारे में ठोस इनपुट मिले हैं कि 15 अगस्त से पहले आतंकी IED ब्लास्ट, फिदायीन हमला और निशाना बनाकर आतंकी हमले जैसी कार्रवाई को अंजाम दे सकते हैं. सूत्रों के अनुसार जैश-ए-मोहम्मद के करीब पांच आतंकियों का एक गुट इस तरह की कार्रवाई को अंजाम देने के लिए 30-31 जुलाई को भारत में दाखिल हुआ है.

  • आर्टिकल 370 खत्म करने की जम्मू-कश्मीर संविधान सभा की शक्ति ऐसे मिली संसद को

    आर्टिकल 370 खत्म करने की जम्मू-कश्मीर संविधान सभा की शक्ति ऐसे मिली संसद को

    जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में अनुच्छेद 370 (Article 370) को समाप्त करने का आधिकार जम्मू-कश्मीर की संविधान सभा को है लेकिन मौजूदा हालात में अनुच्छेद 370 में ही निहित एक व्यवस्था के तहत यह अनुच्छेद समाप्त कर दिया गया. जम्मू-कश्मीर की संविधान सभा भंग करके उसके अधिकार राज्य विधानसभा (Jammu-Kashmir Assembly) को दिए गए. चूंकि जम्मू-कश्मीर की विधानसभा की शक्तियां मौजूदा समय में संसद (Parliament) के पास हैं इसलिए संसद में अनुच्छेद 370 की दो धाराओं को समाप्त करने का प्रस्ताव लाया गया.

  • बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव बोले- जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव के लिए हम तैयार

    बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव बोले- जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव के लिए हम तैयार

    बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने कहा इस संबंध में, "हमें आशा है, उम्मीद है और यह मांग करते हैं कि राज्य में इसी साल विधानसभा चुनाव कराए जाएं.

  • जम्मू कश्मीर विधानसभा चुनाव इसी साल होंगे, अमरनाथ यात्रा के बाद होगा तारीखों का ऐलान

    जम्मू कश्मीर विधानसभा चुनाव इसी साल होंगे, अमरनाथ यात्रा के बाद होगा तारीखों का ऐलान

    जम्‍मू कश्‍मीर में विधानसभा चुनाव इस वाल के आखिर में हो सकते हैं. चुनाव आयोग ने इसकी जानकारी देते हुए कहा है कि अमरनाथ यात्रा के खत्‍म होने के बाद चुनाव के तारीखों का ऐलान किया जाएगा.

  • बीजेपी नेता राम माधव ने बोले, 'जम्मू-कश्मीर में जल्द विधानसभा चुनाव चाहती है भाजपा'

    बीजेपी नेता राम माधव ने बोले, 'जम्मू-कश्मीर में जल्द विधानसभा चुनाव चाहती है भाजपा'

    उन्होंने मीडिया से कहा, "नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) व पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) लोकसभा चुनाव लड़कर खुश हैं, जबकि भाजपा राज्य में विधानसभा चुनाव चाहती है." उन्होंने कहा, "हमने चुनाव समिति से जल्द से जल्द राज्य में विधानसभा चुनाव आयोजित करने को कहा है." राम माधव ने कहा, "कुछ उम्मीदवार 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगा रहे हैं, जबकि अन्य अपनी पार्टी के लोगों को 'मुजाहिद्दीन' बुला रहे हैं. हम अकबर लोन के खिलाफ प्राथिमिकी दर्ज करने की मांग करते हैं और एनसी से जवाब चाहते हैं."

  • जम्मू-कश्मीर में लोकसभा के साथ ही विधानसभा चुनाव की संभावना : राम माधव

    जम्मू-कश्मीर में लोकसभा के साथ ही विधानसभा चुनाव की संभावना : राम माधव

    बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने मंगलवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ होने की संभावना है.

  • सज्जाद लोन का हमला, PDP और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने जम्मू कश्मीर को जागीर समझ रखा है

    सज्जाद लोन का हमला, PDP और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने जम्मू कश्मीर को जागीर समझ रखा है

    पीपुल्स कान्फ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन (Sajad Lone) ने शुक्रवार को पीडीपी, कांग्रेस और नेशनल कान्फ्रेंस पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके महागठबंधन बनाने का मकसद हमारी पार्टी के नेतृत्व वाले 'तीसरे मोर्चे' को सत्ता से बाहर रखना है.

  • जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग होने पर बोले शत्रुघ्न सिन्हा- लोकतंत्र के साथ मजाक हो रहा है

    जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग होने पर बोले शत्रुघ्न सिन्हा- लोकतंत्र के साथ मजाक हो रहा है

    राम मंदिर से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि वह अयोध्या में राम मंदिर से पहले 'मानवता के मंदिर' को प्राथमिकता देंगे. 'मानवता के मंदिर' को समझाते हुए उन्होंने कहा कि बेरोजगारों को रोजगार, किसानों की फसलों के लिए अच्छी कीमतें और देश के लिए शांति ही 'मानवता का मंदिर' है. अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न ने बुधवार को भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को 'वन मैन शो और टू मैन आर्मी' बताया था.

  • जम्मू-कश्मीर: राज्यपाल बोले- सरकार बनने का मौका देता तो पहले जैसे हो जाते हालात

    जम्मू-कश्मीर: राज्यपाल बोले- सरकार बनने का मौका देता तो पहले जैसे हो जाते हालात

    राज्यपाल ने कहा, 'मैंने यह फैसला राज्य के हित में लिया है. मेरे पास कोई आया नहीं, किसी ने विधायकों की परेड भी नहीं किया. मैंने किसी से बातचीत नहीं की. मैंने यह काम जम्मू-कश्मीर के संविधान के तहत किया है. जम्मू-कश्मीर के संविधान में प्रावधान है कि मुझे इस काम के लिए राष्ट्रपति या देश के संसद तक नहीं जाना है. ये मेरा अधिकार था तो मैंने ऐसा किया. महबूबा मुफ्ती बहाने बाजी कर रही हैं. अगर उन्हें कुछ गलत लगता है तो वो कोर्ट जाएं. सोशल मीडिया से सरकार नहीं बनती. पार्टियां एक दिन पहले भी आ सकती थीं. किसी ने अपना आदमी तक नहीं भेजा.'

  • राम माधव का PDP के सरकार बनाने के दावे पर बड़ा बयान - शायद, सीमा पार से मिले थे निर्देश, उमर बोले साबित करो

    राम माधव का PDP के सरकार बनाने के दावे पर बड़ा बयान - शायद, सीमा पार से मिले थे निर्देश, उमर बोले साबित करो

    विधानसभा भंग (Assembly dissolved in jammu kashmir) करने को लेकर राम माधव ने कहा कि इसका जवाब तो सिर्फ राज्यपाल ही दे पाएंगे कि आखिर उनके आवास का फैक्स मशीन कैसे काम नहीं कर रहा था, लेकिन जहां तक मुझे लगता है यह महबूबा मुफ्ती का अजीब सा बहाना है. माधव ने कहा कि महबूबा मुफ्ती ने अपनी चिट्ठी में कहीं नहीं कहा कि वह सरकार बनाना चाहती हैं. ऐसे में यह सिर्फ एक ड्रामे की तरह है.

  • महबूबा मुफ्ती के 'फैक्स' वाले आरोप पर बोले राज्यपाल- कल ईद थी, मुझे कोई खाना देने वाला भी नहीं था

    महबूबा मुफ्ती के 'फैक्स' वाले आरोप पर बोले राज्यपाल- कल ईद थी, मुझे कोई खाना देने वाला भी नहीं था

    सदन भंग करने का फैसला पहले क्यों नहीं लिया गया? इस सवाल पर राज्यपाल ने कहा, 'पहले सदन भंग करने की कोई वजह नहीं थी. पहले कोई भी ऐसे डरावने तरीके से सरकार बनाने के लिए नहीं आया था. लोकतंत्र काम कर रहा था. विधायकों को फंड मिल रहे थे. एक दो जिलों में ही विद्रोह बाकी रह गया था. हमने स्थानीय निकाय चुनाव शांति से संपन्न करवाए. कोई पत्थरबाजी नहीं हो रही थी. लेकिन जब मैंने देखा कि माहौल खराब हो रहा तो मैंने सदन भंग करने का फैसला किया.

  • जब उमर अब्दुल्ला ने 15 मिनट के भीतर महबूबा मुफ्ती के ट्वीट चार बार किए रीट्वीट

    जब उमर अब्दुल्ला ने 15 मिनट के भीतर महबूबा मुफ्ती के ट्वीट चार बार किए रीट्वीट

    उमर अब्दुल्ला ने मुफ्ती के एक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए अपनी प्रतिक्रियाएं भी दी हैं. मुफ्ती ने ट्वीट किया था, 'एक नेता के तौर पर मेरे 26 साल के करियर में मैं सोचती थी कि मैंने सब कुछ देख लिया है. लेकिन ऐसा कभी नहीं कहना चाहिए. असंभव को संभव बनाने के लिए मैं उमर अब्दुल्ला और अंबिका सोनी जी का तह दिल से शुक्र अदा करना चाहूंगी.' इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए अब्दुल्ला ने लिखा है, 'और मैंने कभी नहीं सोचा था कि किसी बात पर आपसे सहमत होते हुए आपके ट्वीट को रीट्वीट करूंगा. राजनीति सच में अनोखी है. आगे की जंग के लिए शुभकामनाएं. एक बार फिर लोगों की समझ की जीत होगी.'

  • जम्मू-कश्मीर: राजभवन की 'खराब' फैक्स मशीन ने टि्वटर को बनाया 'सियासी अखाड़ा', उमर अब्दुल्ला ने ली चुटकी

    जम्मू-कश्मीर: राजभवन की 'खराब' फैक्स मशीन ने टि्वटर को बनाया 'सियासी अखाड़ा', उमर अब्दुल्ला ने ली चुटकी

    मुफ्ती ने पहले राज्यपाल को फैक्स के जरिए दावा सौंपने की कोशिश की, लेकिन उनका फैक्स राजभवन तक नहीं पहुंच पाया. इसके बाद मुफ्ती ने वह लेटर ट्वीट करते हुए कहा, 'यह लेटर राजभवन फैक्स करने की कोशिश की गई. लेकिन हैरान करने वाली बात है कि राजभवन तक फैक्स नहीं पहुंचा. फिर राज्यपाल से फोन पर बात करने की कोशिश की. लेकिन फोन पर भी उनसे संपर्क नहीं हो पाया.' इस ट्वीट में राज्यपाल को टैग करते हुए उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि आप इस पर संज्ञान लेंगे. इसके कुछ मिनट बाद ही इस पर चुटकी लेते हुए नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, 'जम्मू-कश्मीर राजभवन में नई फैक्स मशीन की तुरंत जरूरत है.'

  • जम्मू-कश्मीर में क्यों और कैसे भंग हुई विधानसभा, जानें पूरे घटनाक्रम की 10 बड़ी बातें

    जम्मू-कश्मीर में क्यों और कैसे भंग हुई विधानसभा, जानें पूरे घटनाक्रम की 10 बड़ी बातें

    जम्मू-कश्मीर((Jammu and Kashmir ) में गठबंधन के जरिए सरकार बनाने के लिए दो पार्टियों की ओर से दावा ठोके जाने के बाद राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने बुधवार को विधानसभा ही भंग कर दिया. PDP नेता महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने विरोधी नेशनल कांफ्रेंस और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया तो उधर दो विधायकों वाली पीपुल्स कांफ्रेंस मुखिया सज्जाद लोन न (Sajad Lone) ने भी बीजेपी (BJP) और अन्य विधायकों के समर्थन की बात कहकर राज्यपाल के सामने दावेदारी कर दी. राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satya Pal Malik) ने सरकार बनाने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त की आशंका जताते हुए विधानसभा भंग कर दी. उन्होंने इस कार्रवाई के समर्थन में चार कारण भी गिनाए. ये कारण राजभवन की ओर से बकायदा लिखित रूप में जारी किए गए.

  • Exclusive:जम्मू-कश्मीर में न सरकार बनाएंगे और न ही बनने देंगे- बीजेपी की बैठक में लिखी गई घाटी की सियासी स्क्रिप्ट !

    Exclusive:जम्मू-कश्मीर में न सरकार बनाएंगे और न ही बनने देंगे- बीजेपी की बैठक में लिखी गई घाटी की सियासी स्क्रिप्ट !

    जम्मू-कश्मीर में पीडीपी की अगुवाई में कांग्रेस और नेशनल कांफ्रेंस के बीच गठबंध की खिचड़ी पकने की आहट पाते ही बीजेपी ने अपनी मीटिंग में विधानसभा भंग करने का प्लान तैयार कर लिया था.

  • जम्मू-कश्मीर में PDP वाले गठबंधन को बीजेपी ने बताया- 'आतंक-अनुकूल पार्टियों का गठबंधन’

    जम्मू-कश्मीर में PDP वाले गठबंधन को बीजेपी ने बताया- 'आतंक-अनुकूल पार्टियों का गठबंधन’

    भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बुधवार को कहा कि जम्मू कश्मीर में बेहतर विकल्प यह है कि वहां जल्द से जल्द नये विधानसभा चुनाव कराए जाएं.