NDTV Khabar

Jammu kashmir local body elections


'Jammu kashmir local body elections' - 4 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • NC, PDP को जम्मू-कश्मीर निकाय चुनाव का बहिष्कार नहीं करना चाहिए था : सत्यपाल मलिक

    NC, PDP को जम्मू-कश्मीर निकाय चुनाव का बहिष्कार नहीं करना चाहिए था : सत्यपाल मलिक

    जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने मंगलवार को कहा कि नेशनल कान्फ्रेंस और पीडीपी को निकाय चुनाव का बहिष्कार नहीं करना चाहिए था. उन्होंने साथ ही कहा कि संविधान के अनुच्छेद 35ए और 370 इस चुनाव में गैर..मुद्दे थे. नेशनल कान्फ्रेंस और पीडीपी ने इन दोनों अनुच्छेदों को विधिक चुनौती को लेकर चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा की थी. मलिक ने चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न होने पर संतोष व्यक्त किया. उन्होंने शहरी निकाय चुनाव का अंतिम चरण सम्पन्न होने के तत्काल बाद कहा कि , ‘यह (प्रतिक्रिया) काफी अच्छी रही.’ उन्होंने कहा, ‘‘आज (मंगलवार को) श्रीनगर में 9578 वोट पड़े. गंदेरबाल में 1000 वोट पड़े. मतदान प्रतिशत हाल के कुछ चुनावों से बेहतर है.’    

  • जम्मू-कश्मीर : नगर निकाय चुनाव के तीसरे चरण का मतदान खत्म, सोपोर नगर में एक भी वोट नहीं पड़ा

    जम्मू-कश्मीर : नगर निकाय चुनाव के तीसरे चरण का मतदान खत्म, सोपोर नगर में एक भी वोट नहीं पड़ा

    जम्मू एवं कश्मीर में शनिवार को नगर निकाय चुनाव के तीसरे चरण का मतदान पूरा हो गया. जम्मू के सांबा जिले में मतदान के शुरुआती छह घंटों में रिकॉर्ड 66 फीसदी मतदान हुआ है, जबकि कश्मीर घाटी में मतदान प्रतिशत बहुत कम है. निवाचन अधिकारियों ने कहा, "जम्मू के सांबा जिले में 49.90 फीसदी मतदान सांबा नगर, रामगढ़ में 73.33 फीसदी, विजयपुर में 64.15 फीसदी और बड़ी संख्या में ब्राह्मण नगर में 69.12 फीसदी मतदान हुआ.

  • Jammu-Kashmir Civic Body Polls: 11 जिलों में पहले चरण का मतदान संपन्‍न

    Jammu-Kashmir Civic Body Polls: 11 जिलों में पहले चरण का मतदान संपन्‍न

    जम्मू कश्मीर में स्थानीय निकाय चुनाव के पहले चरण में आतंकवाद प्रभावित कश्मीर घाटी में महज 8.3 फीसदी मतदान हुआ. एक अधिकारी ने सोमवार को कहा कि करगिल में सबसे ज्यादा 78 फीसदी मतदान हुआ.

  • जम्मू कश्मीर : शहरी निकाय चुनाव के पहले चरण का मतदान आज, आतंकियों ने दी है हमले की धमकी, अलगाववादियों का बहिष्कार

    जम्मू कश्मीर : शहरी निकाय चुनाव के पहले चरण का मतदान आज, आतंकियों ने दी है हमले की धमकी, अलगाववादियों का बहिष्कार

    पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कश्मीर की वर्तमान स्थिति उम्मीदवारों को खुलेआम प्रचार करने की इजाजत नहीं देती है, क्योंकि उनकी जान को खतरा है. अलगाववादियों ने चुनाव के बहिष्कार का आह्वान किया है, आतंकवादियों ने इन चुनावों में हिस्सा लेने वालों को निशाना बनाने की धमकी दी है.