NDTV Khabar

Journalism


'Journalism' - 90 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • कोरोना ने श्वसन तंत्र की जगह मरीजों के मस्तिष्क को ज्यादा नुकसान पहुंचाया : अध्ययन

    कोरोना ने श्वसन तंत्र की जगह मरीजों के मस्तिष्क को ज्यादा नुकसान पहुंचाया : अध्ययन

    ‘द लैंसेट’ पत्रिका में छपे शोध पत्र के मुताबिक, 28 अप्रैल से पहले कोविड-19 के 2000 मरीजों में मतिभ्रम और कोमा में जाने की घटनाओं पर नजर रखी गई. यह अध्ययन 14 देशों के 69 आईसीयू के मरीजों पर किया गया.

  • अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या के आरोपी का खुलासा, असली साजिशकर्ता पहुंच से दूर

    अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या के आरोपी का खुलासा, असली साजिशकर्ता पहुंच से दूर

    ‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ के पत्रकार पर्ल (38) का 2002 में पाकिस्तान (Pakistan) में अपहरण के बाद सिर कलम कर दिया गया था. पर्ल खुफिया एजेंसी आईएसआई और अलकायदा के रिश्तों पर एक स्टोरी कर रहे थे. 

  • NDTV के रवीश रंजन शुक्ला 'रामेश्वरम हिन्दी पत्रकारिता पुरस्कार' से सम्मानित

    NDTV के रवीश रंजन शुक्ला 'रामेश्वरम हिन्दी पत्रकारिता पुरस्कार' से सम्मानित

    रामेश्वरम संस्थान झांसी की तरफ से हर साल की तरह इस साल प्रतिष्ठित पत्रकार एवं समाजसेवी स्व. रामेश्वर दयाल त्रिपाठी जी की पुण्य स्मृति में हिन्दी पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय काम करने के लिए NDTV इंडिया के वरिष्ठ विशेष संवाददाता रवीश रंजन शुक्ला को रामेश्वरम हिन्दी पत्रकारिता पुरस्कार देने की घोषणा की गई है.

  • अपने बिजनेस और स्टाफ की सुरक्षा के लिए बजरंग दल के प्रति फेसबुक का नरम रुख : रिपोर्ट

    अपने बिजनेस और स्टाफ की सुरक्षा के लिए बजरंग दल के प्रति फेसबुक का नरम रुख : रिपोर्ट

    फेसबुक (Facebook) की सुरक्षा टीम द्वारा संभावित खतरनाक संगठन के रूप में टैग किए जाने के बावजूद पूरे भारत में अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा का समर्थन करने वाले संगठन बजरंग दल (Bajrang Dal) को राजनीतिक और सुरक्षा कारणों से इस सोशल नेटवर्क पर बने रहने की इजाजत दी गई है. 'द वॉल स्ट्रीट जर्नल' (The Wall Street Journal) ने रविवार को यह रिपोर्ट प्रकाशित की है. अखबार ने लिखा है कि सत्तारूढ़ बीजेपी के साथ संबंधों के कारण फेसबुक दक्षिणपंथी समूह के खिलाफ कार्रवाई करने में डरता है. क्योंकि "बजरंग दल पर नकेल कसने से भारत में कंपनी की व्यावसायिक संभावनाओं और उसके कर्मचारियों दोनों को खतरा हो सकता है." अखबार ने इस बारे में इसी साल पहले प्रकाशित उसकी एक रिपोर्ट का हवाला दिया है.

  • 'बड़ी कामयाबी' : Peer-Reviewed जर्नल में प्रकाशित हुए Pfizer वैक्सीन के नतीजे

    'बड़ी कामयाबी' : Peer-Reviewed जर्नल में प्रकाशित हुए Pfizer वैक्सीन के नतीजे

    अन्य सवालों में यह भी शामिल है कि क्या अप्रत्याशित सुरक्षा के मुद्दे तब उत्पन्न हो सकते हैं जब टीकाकरण करने वालों की संख्या लाखों और संभवतः अरबों लोगों तक बढ़ जाती है? यह भी पता नहीं है कि क्या अधिक साइड इफेक्ट लंबे समय तक फॉलोअप के साथ उभरेंगे? टीका कब तक प्रभावी रहता है? क्या यह ट्रांसमिशन को सीमित करेगा? और यह बच्चों, गर्भवती महिलाओं और प्रतिरक्षण रोगियों में कैसे काम करेगा?

  • NTA IIMC entrance result 2020: रिजल्ट हुआ जारी, जानें- कैसे करना है चेक

    NTA IIMC entrance result 2020: रिजल्ट हुआ जारी, जानें- कैसे करना है चेक

    जो छात्र 18 अक्टूबर को ऑनलाइन प्रवेश में उपस्थित हुए हैं, वे आधिकारिक वेबसाइट- iimc.nic.in पर जाकर अपना परिणाम देख सकते है और यहां से स्कोर कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं.

  • कैसे तय होती है टीवी रेटिंग और कैसे हेराफेरी कर सकते हैं चैनल, जानिए अहम बातें

    कैसे तय होती है टीवी रेटिंग और कैसे हेराफेरी कर सकते हैं चैनल, जानिए अहम बातें

    टीवी रेटिंग यानी टीआरपी में हेराफेरी को लेकर शिकायतें नई नहीं हैं, टीआरपी रेटिंग बार्क द्वारा जारी होती है और इसको लेकर वैज्ञानिक तरीका अपनाया जाता है. लेकिन किसी चुनिंदा जगह पर किसी प्रोग्राम की लोकप्रियता का आकलन करने वाले गोपनीय मीटर की जानकारी हासिल कर इसमें हेराफेरी की शिकायतें सामने आई हैं.

  • TRP पत्रकारिता के चक्कर में बड़े-बड़े संस्थान आ गए, सरकार मीडिया की आजादी की पक्षधर : जावड़ेकर

    TRP पत्रकारिता के चक्कर में बड़े-बड़े संस्थान आ गए, सरकार मीडिया की आजादी की पक्षधर : जावड़ेकर

    बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने कहा है कि पहले पीत पत्रकारिता, फिर पेड न्यूज़, उसके बाद फेक न्यूज़ और अब TRP पत्रकारिता हो गई है. इसके चक्कर में बड़े-बड़े भले संस्थान आ गए हैं. पहले टैम प्राइवेट संस्था थी जो TRP निकालती थी. फिर बार्क सेल्फ़ रेगुलेशन के लिए आई. लेकिन अब उसके संस्थापक ही उसका विरोध कर रहे हैं. पिछले दो महीने का हाल देखिए कि ये कहां से कहां तक आ गई है. 

  • टीवी मीडिया के गटर से निकला जमूरा पत्रकारिता का जिन्न

    टीवी मीडिया के गटर से निकला जमूरा पत्रकारिता का जिन्न

    पुलिस बेरीकेटिंग के नजदीक हम लोग लाइव की तैयारी कर रहे थे..सुबह के आठ बजने वाले थे...नर्म धूप धीरे-धीरे तीखी हो रही थी लेकिन हवा में अब भी  हल्की ठंड मौजूद थी. गांव जाने वाले रास्ते को पुलिस बेरीकेट से बंद कर दिया गया था और एक इंस्पेक्टर जीप के बोनट पर ड्यूटी बदलने का चार्ट बना रहा था. रात भर की ड्यूटी से हलकान पुलिस और PAC वालों के चेहरे तो मास्क में छिपे थे लेकिन कोई बेरीकेट तो कोई दीवार के सहारे टिका शरीर को थोड़ा आराम देने की कोशिश कर रहा था. असहाय सी दिखने वाली सबकी आंखें बस बिना उम्मीद मीडिया के कैमरे और रिपोर्टर पर टिकी थी. गोरिल्ला युद्ध की तरह अचानक लस्त पस्त पड़ी पुलिस फोर्स को देखकर एक महिला एंकर बेरीकेट खींचकर अंदर दाखिल हुई और लाइव में चीखते हुए.. ये देखिए किस तरह हमें रोकने की कोशिश हो रही है लेकिन हम इंसाफ दिलाकर रहेंगे...

  • ऑल इंडिया रेडियो पर विभिन्न नौकरियों के लिए दैनिक कार्यक्रम होगा शुरू, जानिए डिटेल

    ऑल इंडिया रेडियो पर विभिन्न नौकरियों के लिए दैनिक कार्यक्रम होगा शुरू, जानिए डिटेल

    सरकार के प्रकाशन विभाग के सहयोग से ऑल इंडिया रेडियो समाचार (All India Radio News) रोज़ शाम 4.20 बजे Employment News में प्रकाशित रिक्तियों पर एक कार्यक्रम प्रसारित करेगा. यह कार्यक्रम AIR के YouTube चैनल पर भी उपलब्ध होगा. Employment News सूचना और प्रसारण मंत्रालय की प्रमुख साप्ताहिक नौकरी पत्रिका है. यह विभिन्न सरकारी संगठनों, बैंकों, रेलवे, विश्वविद्यालयों आदि में नौकरी की रिक्तियों, नौकरी उन्मुख प्रशिक्षण कार्यक्रमों, नौकरी उन्मुख परीक्षाओं से संबंधित प्रवेश नोटिस और भर्ती परीक्षा के परिणाम से संबंधित जानकारी प्रदान करता है.  

  • मैं चाय-बिस्किट पत्रकार हूं

    मैं चाय-बिस्किट पत्रकार हूं

    देखते ही देखते हर आपदा अवसर में बदल गई. हर गाली आभूषण की तरह गले में लपेट ली गई. हर चुनौती पर सफलतापूर्वक अप्रासंगिकता की वरक़ चढ़ा दी गई. हर बड़ी समस्या का निवारण एक और बड़ी समस्या बता कर कुछ और प्रस्तुत कर देना हो गया.

  • कोविड-19 संक्रमण का पता लगाने के लिए ज्यादा कारगर रैपिड जांच विकसित

    कोविड-19 संक्रमण का पता लगाने के लिए ज्यादा कारगर रैपिड जांच विकसित

    शोधकर्ताओं ने कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) का पता लगाने के लिए एक नयी रैपिड जांच पद्धति विकसित की है. इस तरीके से एक घंटे से भी कम समय में संक्रमण का पता लगाया जा सकता है और इसके लिए बहुत कम उपकरण की जरूरत होगी.

  • फेसबुक को हेट स्‍पीच से लाभ नहीं, कंपनी के भारत में प्रमुख ने दी सफाई

    फेसबुक को हेट स्‍पीच से लाभ नहीं, कंपनी के भारत में प्रमुख ने दी सफाई

    फेसबुक हाल ही भारत में उस समय बड़े विवाद में उलझ गई थी जब अमेरिकी अखबार 'द वॉल स्ट्रीट जर्नल' (Wall Street Journal )ने फेसबुक पर अपनी रिपोर्ट में कहा था कि कंपनी, सत्‍तारूढ़ बीजेपी (BJP) के एक राजनेता के एक समुदाय विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक कमेंट्स को हटाने में नाकाम रही.

  • मैं पोस्टमैन हूं...

    मैं पोस्टमैन हूं...

    रोज़ कितनी मेहनत से एडिटरान स्तर गिरा रहे हैं. किसके लिए...? ताकि वेबसाइट चल सके, ताकि बेरोज़गार बैठा युवा TV पर 'सीधे' और 'कड़े' सवाल होते देखे. ताकि हर बेख़बर JCB ड्राइवर और पोस्टमैन से वे तीखे सवाल पूछे जाएं, जो जनता सुनना चाहती है.

  • राहुल गांधी बोले- अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने खोली फेसबुक-WhatsApp की 'पोल', दोषियों पर हो एक्शन

    राहुल गांधी बोले- अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने खोली फेसबुक-WhatsApp की 'पोल', दोषियों पर हो एक्शन

    राहुल गांधी ने अमेरिकी अखबार 'द वॉल स्ट्रीट जर्नल' की रिपोर्ट को ट्वीट करते हुए लिखा, "अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने भारत के लोकतंत्र और सामाजिक सद्भाव पर फेसबुक और व्हॉट्सएप के हमले को पूरी तरह से उजागर किया है. हमारे देश के मामलों में किसी को भी, चाहे वो कोई विदेशी कंपनी ही क्यों न हो, हस्तक्षेप करने की अनुमति नहीं दी सकती है."

  • अमेरिकी अखबार का एक और खुलासा, फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी हेड अंखी दास को 'कठघरे' में खड़ा किया

    अमेरिकी अखबार का एक और खुलासा, फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी हेड अंखी दास को 'कठघरे' में खड़ा किया

    दास ने कांग्रेस की हार और प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ करते हुए अलग पोस्ट में कहा, "आखिरकार, 30 साल के जमीनी मेहनत से भारत को स्टेट सोशलिज्म से मुक्ति मिल गई." अखबार ने कहा कि ये सभी पोस्ट 2012 से 2014 के दौरान के हैं और ये पोस्ट फेसबुक कर्मचारियों के लिए बनाए गए ग्रुप में किए गए थे. इसमें कंपनी के सैकड़ों कर्मचारी शामिल थे.

  • फेसबुक विवाद: बीजेपी MLA बोले, 'मेरा फेसबुक अकाउंट 2018 में हैक-ब्‍लॉक हो गया था'

    फेसबुक विवाद: बीजेपी MLA बोले, 'मेरा फेसबुक अकाउंट 2018 में हैक-ब्‍लॉक हो गया था'

    सिंह ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए कहा- उन्‍हें 'इस तरह प्रोजेक्‍ट किया जा रहा है मानो मैं दुनिया का सबसे खतरनाक व्‍यक्ति हूं. उन्‍होंने ट्वीट किया, 'मुझे पता चला है कि मेरे नाम से कई फेसबुक पेज चल रहे हैं लेकिन मैं स्‍पष्‍ट करना चाहता कि मेरा कोई ऑफिशियल पेज नहीं है. मैं उनकी किसी भी पोस्‍ट के लिए जिम्‍मेदार नहीं हूं. '

  • सिर्फ उम्मीद से पत्रकारिता नहीं चलती है

    सिर्फ उम्मीद से पत्रकारिता नहीं चलती है

    पत्रकारिता बिनाका गीतमाला नहीं है. फरमाइश की चिट्ठी लिख दी और गीत बज गया. गीतमाला चलाने के लिए भी पैसे और लोगों की ज़रूरत तो होती होगी. मैं हर दिन ऐसे मैसेज देखता रहता हूं. आपसे उम्मीद है. लेकिन पत्रकारिता का सिस्टम सिर्फ उम्मीद से नहीं चलता. उसका सिस्टम बनता है पैसे से और पत्रकारिता की प्राथमिकता से. कई बार जिन संस्थानों के पास पैसे होते हैं वहां प्राथमिकता नहीं होती, लेकिन जहां प्राथमिकता होती है वहां पैसे नहीं होते. कोरोना के संकट में यह स्थिति और भयावह हो गई है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com