NDTV Khabar

Justice ranjan gogoi


'Justice ranjan gogoi' - 54 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • CJI रंजन गोगोई ने केंद्र सरकार को लिखी चिट्ठी, नए चीफ जस्टिस के लिए एसए बोबडे का नाम किया प्रस्तावित

    CJI रंजन गोगोई ने केंद्र सरकार को लिखी चिट्ठी, नए चीफ जस्टिस के लिए एसए बोबडे का नाम किया प्रस्तावित

    CJI ने चिट्ठी लिख कर यह जानकारी केंद्र को दी. वर्तमान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं. साल 1956 में जन्मे एसए बोबडे ने बीए एलएबी की डिग्री नागपुर से हासिल की है. 1978 में वह बार काउंसिल के सदस्य बने और बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर बेंच में प्रैक्टिस करने लगे. साल 2010 में उन्हें बॉम्बे हाईकोर्ट का अतिरिक्त जज बनाया गया. साल 2012 मे वह मध्य प्रदेश के हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने. साल 2013 में उनको सुप्रीम कोर्ट में जज बने. वह 23 अप्रैल 2021 को रिटायर हो जाएंगे.

  • Ayodhya Case: जौनपुर के रहने वाले हैं जस्टिस अशोक भूषण, जानिए संविधान पीठ में शामिल जजों के बारे में

    Ayodhya Case: जौनपुर के रहने वाले हैं  जस्टिस अशोक भूषण, जानिए संविधान पीठ में शामिल जजों के बारे में

    अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद के ज़मीन विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई बुधवार को पूरी हो चुकी है. इस पर 17 नंवबर से पहले फ़ैसला सुनाया जा सकता है क्योंकि इसी तारीख को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई रिटायर हो रहे हैं. प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई में 5 जजों की संविधान पीठ इस मामले ने लगातार 40 दिन तक सुनवाई की है. इस बेंच में CJI रंजन गोगाई  के अलावा जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस डीवाय चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस  एसए नज़ीर शामिल हैं. यह संविधान पीठ इलाहाबाद हाइकोर्ट के 2010 में दिए गए उस फ़ैसले को  चुनौती देने वाली याचिकाओं की सुनवाई कर रही थी.

  • Ayodhya Case: अयोध्या केस में कब क्या-क्या हुआ? जानें अब तक की पूरी टाइमलाइन

    Ayodhya Case: अयोध्या केस में कब क्या-क्या हुआ? जानें अब तक की पूरी टाइमलाइन

    सुनवाई के 40वें दिन प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कुछ अन्य अर्जियों पर सुनवाई से इनकार कर दिया और कहा कि अब बहुत हो गया, इस मामले में सुनवाई आज ही पूरी होगी. हम पांच बजे उठ जाएंगे.

  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कुछ लोगों और समूहों के आक्रामक व्यवहार को बताया अपवाद

    चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कुछ लोगों और समूहों के आक्रामक व्यवहार को बताया अपवाद

    मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कुछ लोगों और समूहों के आक्रामक तथा लापरवाही भरे बर्ताव को लेकर चिंता जताई है.  गोगोई ने रविवार को गुवाहाटी उच्च न्यायालय के ऑडिटोरियम की आधारशिला रखने के बाद कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि मौजूदा वक्त में कुछ लोगों और समूहों का आक्रामक तथा लापरवाही भरा बर्ताव देखने को मिल रहा है.’

  • उन्नाव रेप पीड़िता एक्सीडेंट केस: CJI ने सॉलिसिटर जनरल से कहा- तफ्तीश सात दिन में पूरी कीजिए

    उन्नाव रेप पीड़िता एक्सीडेंट केस: CJI ने सॉलिसिटर जनरल से कहा- तफ्तीश सात दिन में पूरी कीजिए

    इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि सीबीआई का एक जिम्मेदार अधिकारी कोर्ट में चाहते हैं. जो अफसर हमें बता सके कि जांच में क्या हुआ है. पीड़िता की मां ने केस ट्रांसफर करने की मांग की थी. प्रधान न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई ने सॉलिसिटर जनरल से भी कहा है कि वह रेप तथा सड़क हादसे से जुड़े केस के बारे में CBI निदेशक से बात करें. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर ज़रूरत पड़ी, तो चैम्बर में सुनवाई की जा सकती है. इस पर सॉलिसिटर जनरल टी मेहता ने सीजेआई को जानकारी दी कि उन्होंने सीबीआई डायरेक्टर से बात की थी. मामले की जांच कर रहे अधिकारी लखनऊ में हैं और दिल्ली 12 बजे तक उनका पहुंचना संभव नहीं है. उन्होंने इस मामले पर शुक्रवार को सुनवाई करने की भी मांग की थी, लेकिन सीजेआई ने सुनवाई को स्थगित करने से मना कर दिया.

  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने की 'हैप्पीनेस प्रोग्राम' की तारीफ, बोले- लोग खुश रहें तो कम हो जाएंगे मुकदमे

    चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने की 'हैप्पीनेस प्रोग्राम' की तारीफ, बोले- लोग खुश रहें तो कम हो जाएंगे मुकदमे

    रंजन गोगोई ने एक कार्यक्रम में इसका जिक्र करते हुए य कहा कि हम सभी को हैप्पीनेस चाहिए .अगर लोग खुश रहें तो मुकदमे भी कम हो जाएंगे.

  • CJI के खिलाफ शिकायत के लिए बनाई गई कमेटी पर पूर्व न्यायाधीश ने उठाए सवाल

    CJI के खिलाफ शिकायत के लिए बनाई गई कमेटी पर पूर्व न्यायाधीश ने उठाए सवाल

    न्यायमूर्ति एस ए बोवडे के नेतृत्व में सुप्रीम कोर्ट की तीन सदस्यीय आंतरिक जांच समिति ने सीजेआई को क्लीनचिट देते हुए कहा था कि उनके खिलाफ लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों में कोई भी सच्चाई नहीं थी. शाह ने कहा कि पूरी प्रक्रिया न्यायिक स्वतंत्रता की सुरक्षा के नाम पर गोपनीयता के दायरे में रखी गयी. उन्होंने कहा ‘आरोपों की सच्चाई या झूठे होने पर निर्णय किए बिना मैं स्वीकार करता हूं कि कुछ स्पष्ट तथ्य हैं जो विचार किये जाने की मांग करते हैं.’

  • यौन उत्पीड़न के आरोपों में CJI रंजन गोगोई को क्लीनचिट मिलने के बाद शिकायतकर्ता महिला ने मांगी जांच रिपोर्ट की कॉपी

    यौन उत्पीड़न के आरोपों में CJI रंजन गोगोई को क्लीनचिट मिलने के बाद शिकायतकर्ता महिला ने मांगी जांच रिपोर्ट की कॉपी

    CJI रंजन गोगोई (Ranjan Gogoi) को यौन उत्पीड़न के आरोपों में क्लीनचिट मिल गई है. मामले में शिकायतकर्ता महिला ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के जांच पैनल से CJI रंजन गोगोई को दी गई क्लीनचिट को लेकर रिपोर्ट की एक कॉपी की मांग की है.

  • यौन उत्पीड़न मामले में CJI रंजन गोगोई को क्लीनचिट मिलने के बाद सुप्रीम कोर्ट के बाहर प्रदर्शन, पीड़िता बोली- मेरे साथ 'घोर अन्याय' हुआ

    यौन उत्पीड़न मामले में CJI रंजन गोगोई को क्लीनचिट मिलने के बाद सुप्रीम कोर्ट के बाहर प्रदर्शन, पीड़िता बोली- मेरे साथ 'घोर अन्याय' हुआ

    सुप्रीम कोर्ट के सेक्रेटरी जनरल के कार्यालय के एक नोटिस में कहा गया है कि न्यायमूर्ति एस ए बोबडे की अध्यक्षता वाली समिति की रिपोर्ट ‘सार्वजनिक नहीं की जायेगी.’ समिति में दो महिला न्यायाधीश न्यायमूर्ति इन्दु मल्होत्रा और न्यायमूर्ति इन्दिरा बनर्जी भी शामिल थीं. समिति ने एकपक्षीय रिपोर्ट दी क्योंकि इस महिला ने तीन दिन जांच कार्यवाही में शामिल होने के बाद 30 अप्रैल को इससे अलग होने का फैसला कर लिया था.

  • CJI रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप- सुप्रीम कोर्ट के इन हाउस पैनल ने खारिज की शिकायत

    CJI रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप- सुप्रीम कोर्ट के इन हाउस पैनल ने खारिज की शिकायत

    CJI Ranjan Gogoi News: चीफ जस्टिस रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप (Sex Harassment Case) खारिज हो गया है. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के इन हाउस पैनल ने महिलाकर्मी की शिकायत को खारिज कर दिया. जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस इंदु मल्होत्रा और जस्टिस इंदिरा बनर्जी के पैनल ने यह फैसला सुनाया. पैनल ने कहा कि आरोपों को साबित करने के लिए कोई सबूत नहीं मिले. सुप्रीम कोर्ट ने प्रेस रिलीज जारी कर कहा कि इन हाउस पैनल की जांच के तथ्यों को सुप्रीम कोर्ट के 2003 के नियमों के तहत सार्वजनिक नहीं किया जाएगा. 

  • यौन उत्पीड़न का आरोप : सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस जांच समिति के सामने पेश हुए

    यौन उत्पीड़न का आरोप : सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस जांच समिति के सामने पेश हुए

    चीफ जस्टिस रंजन गोगोई सुप्रीम कोर्ट की एक पूर्व महिला कर्मी द्वारा उन पर लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच कर रही तीन सदस्यीय आतंरिक जांच समिति के सामने पेश हुए. एक आधिकारिक सूत्र ने यह जानकारी दी.

  • CJI के खिलाफ यौन उत्पीड़न का मामला: शिकायतकर्ता महिला ने जांच में शामिल होने से किया इनकार

    CJI के खिलाफ यौन उत्पीड़न का मामला: शिकायतकर्ता महिला ने जांच में शामिल होने से किया इनकार

    चीज जस्टिस ऑफ इंडिया  (CJI) रंजन गोगोई (Ranjan Gogoi) के खिलाफ मामला दर्ज कराने वाली महिला ने जांच में शामिल होने से इनकार कर दिया है. महिला ने कहा कि वह तीन जजों के इन हाउस पैनल की जांच में शामिल नहीं होगी. बता दें कि इस मामले की तीसरी सुनवाई मंगलवार को हो रही थी.

  • CJI रंजन गोगाई पर आरोप लगाने वाली महिला जांच समिति के सामने हुई पेश, दर्ज कराया अपना बयान

    CJI रंजन गोगाई पर आरोप लगाने वाली महिला जांच समिति के सामने हुई पेश, दर्ज कराया अपना बयान

    देश के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली शीर्ष अदालत की पूर्व महिला कर्मचारी शुक्रवार को न्यायालय की आंतरिक जांच समिति के समक्ष पेश हुई. शिकायतकर्ता द्वारा आरोप के संदर्भ में शीर्ष अदालत के 22 न्यायाधीशों को पत्र लिखने के बाद, न्यायमूर्ति एस.ए. बोबडे की अगुवाई में न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी और न्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा की तीन सदस्यीय समिति गठित की गई थी.

  • CJI रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए बनी कमेटी में अब दो महिला जज

    CJI रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए बनी कमेटी में अब दो महिला जज

    चीफ जस्टिस रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए बनी कमेटी से जस्टिस रमना ने खुद को अलग कर लिया. इसके बाद जस्टिस इंदु मल्होत्रा (Justice Indu Malhotra) को पैनल में तीसरी सदस्य के रूप में शामिल किया गया है.

  • CJI के खिलाफ साजिश: सुप्रीम कोर्ट ने दिए जांच के आदेश, रिटायर जस्टिस एके पटनायक करेंगे जांच

    CJI के खिलाफ साजिश: सुप्रीम कोर्ट ने दिए जांच के आदेश, रिटायर जस्टिस एके पटनायक करेंगे जांच

    सुप्रीम कोर्ट ने जांच में सीबीआई, आईबी और दिल्ली पुलिस को मदद करने के निर्देश दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट के वकील उत्सव बैंस के दावा किया था कि सीजेआई के खिलाफ साजिश रची जा रही है. रिटायर जस्टिस एके पटनायक बैंस के दावों की जांच करेंगे. बैंस ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल करके दावा किया था कि सीजेआई को यौन शोषण के मामले में फंसाकर उनके खिलाफ साजिश रची जा रही है.

  • सुप्रीम कोर्ट ने कहा- संस्थान मर रहा है, बदनाम करने के लिए सोचा समझा खेल खेला जा रहा है

    सुप्रीम कोर्ट ने कहा- संस्थान मर रहा है, बदनाम करने के लिए सोचा समझा खेल खेला जा रहा है

    कोर्ट ने प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ षड्यंत्र संबंधी वकील के दावों पर कहा कि इस संस्था को बदनाम करने के लिए एक सोचा समझा हमला किया जा रहा है और सोचा समझा खेल खेला जा रहा है. कोर्ट ने कहा कि चार से पांच प्रतिशत वकील ऐसे हैं जो इस महान संस्था को बदनाम कर रहे हैं. साथ ही कहा ‘अब समय आ गया है कि हम खड़े हों और देश के अमीर एवं ताकतवर लोगों को बताएं कि वे ऐसा नहीं कर सकते.’

  • CJI पर यौन शोषण का आरोप: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सच्चाई पता लगाएंगे, हमने आंखें बंद कर ली तो देश का भरोसा उठ जाएगा

    CJI पर यौन शोषण का आरोप: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सच्चाई पता लगाएंगे, हमने आंखें बंद कर ली तो देश का भरोसा उठ जाएगा

    न्यायमूर्ति अरूण मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की विशेष पीठ ने कहा कि शीर्ष न्यायालय की पीठ में ‘फिक्सिंग’ के बारे में अधिवक्ता उत्सव सिंह बैंस द्वारा दाखिल हलफनामे में लगाए गए आरोप और कुछ नामों का खुलासा बहुत ही गंभीर पहलू वाला है. पीठ ने कहा, ‘यह हमारी जिम्मेदारी बनती है कि संस्था (अदालत) को पाक - साफ रखा जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि इस तरह के आरोपों से इस संस्था की छवि धूमिल ना हो...’ पीठ में न्यायमूर्ति आर एफ नरीमन और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता भी शामिल हैं.

  • CJI पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिला की SC पैनल को चिट्ठी- जांच से पहले मेरा किया चरित्र हनन

    CJI पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिला की SC पैनल को चिट्ठी- जांच से पहले मेरा किया चरित्र हनन

    पैनल को लिखे खत में महिला ने कहा कि बिना उसकी बात सुने उसका चरित्र हरण कर दिया गया. इसके साथ ही लिखा गया है कि कानून के मुताबिक इन हाउस जांच पैनल में महिला सदस्य का बहुमत व बाहरी व्यक्ति नहीं हैं. वहीं शनिवार की सुनवाई के दौरान जजों व कानूनी अधिकारियों ने इसके पीछे साजिश की टिप्पणी की, जिससे वह भयभीत हैं. साथ ही महिला ने शुक्रवार को इन हाउस जांच पैनल की सुनवाई में कानूनी जानकार की मदद की इजाजत देने और वीडियो रिकॉर्डिंग कराने की मांग की. महिला ने पैनल में जस्टिस रमना को शामिल करने पर भी ऐतराज जताया है. महिला का कहना है कि वह जस्टिस गोगोई के काफी करीब हैं.