NDTV Khabar

K sivan isro


'K sivan isro' - 11 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • चंद्रयान-2 अंतरिक्षयान को सफलतापूर्वक दूसरी कक्षा में प्रवेश कराया गया: ISRO

    चंद्रयान-2 अंतरिक्षयान को सफलतापूर्वक दूसरी कक्षा में प्रवेश कराया गया: ISRO

    इसरो ने एक बयान में कहा कि यान ने बृहस्पतिवार देर रात करीब एक बजकर आठ मिनट पर दूसरी कक्षा में प्रवेश किया. इसके लिये उसने यान में मौजूद प्रणोदन प्रणाली का इस्तेमाल किया, जिसमें 883 सेकंड समय लगा. बयान के मुताबिक इस प्रयास के साथ अंतरिक्ष यान 251 X 54,829 किमी की कक्षा में प्रवेश कर गया.

  • कांग्रेस ने चंद्रयान-2 का 'श्रेय लेने की कोशिश' की, BJP ने पलटवार कर कही यह बात...

    कांग्रेस ने चंद्रयान-2 का 'श्रेय लेने की कोशिश' की, BJP ने पलटवार कर कही यह बात...

    कांग्रेस ने देश के दूसरे चंद्र मिशन चंद्रयान-2 (Chandrayaan 2) के सफल प्रक्षेपण पर संबंधित वैज्ञानिकों एवं परियोजना से जुड़े लोगों को बधाई दी और साथ ही उसने अंतरिक्ष अनुसंधान की बुनियाद रखने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू तथा चंद्रयान-2 मिशन को स्वीकृति प्रदान करने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को याद किया. भाजपा ने इस पर पलटवार करते हुए कहा कि सभी भारतीय नागरिकों को गौरवान्वित करने वाली इस उपलब्धि पर राजनीति करना दुखद है.

  • चंद्रयान-2 के सफल प्रक्षेपण के बाद बोले ISRO प्रमुख- चंद्रमा की ओर भारत की ऐतिहासिक यात्रा की यह शुरुआत

    चंद्रयान-2 के सफल प्रक्षेपण के बाद बोले ISRO प्रमुख- चंद्रमा की ओर भारत की ऐतिहासिक यात्रा की यह शुरुआत

    चंद्रयान-2 (Chandrayaan 2) का सोमवार को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से सफलता पूर्वक प्रक्षेपण किया गया. चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण के बाद इसरो (ISRO) प्रमुख के. सिवन (K Sivan) ने मिशन के सफल होने की घोषणा की और 15 जुलाई को आई तकनीकी खामी को लेकर कहा कि हम फिर से अपने रास्ते पर आ गए. उन्होंने कहा कि यह चंद्रमा की ओर भारत की ऐतिहासिक यात्रा की शुरुआत है.

  • ISRO अब 22 जुलाई को लॉन्च करेगा चंद्रयान-2, पहले तकनीकी खामी की वजह से टाली गई थी लॉन्चिंग

    ISRO अब 22 जुलाई को लॉन्च करेगा चंद्रयान-2, पहले तकनीकी खामी की वजह से टाली गई थी लॉन्चिंग

    इसरो अब 22 जुलाई को चंद्रयान-2 लॉन्च करेगा. 15 जुलाई को तकनीकी खामी की वजह से इसकी लॉन्चिंग टाल दी गई थी. इसके रॉकेट सिस्टम में कुछ खामी बताई गई थी. अब इसे श्रीहरिकोटा से 22 जुलाई को दोपहर 2.43 बजे लॉन्च किया जाएगा.

  • Chandrayaan 2: बस कुछ समय बाद भारत लॉन्च करेगा 'चंद्रयान-2', पढ़ें- इस मिशन से जुड़ी 10 खास बातें

    Chandrayaan 2: बस कुछ समय बाद भारत लॉन्च करेगा 'चंद्रयान-2', पढ़ें- इस मिशन से जुड़ी 10 खास बातें

    Chandrayaan 2 Launch: दुनिया के सामने अपना लोहा मनवाने और अंतरिक्ष में लंबी छलांग लगाने के मकसद से भारत सोमवार को दूसरे चंद्र मिशन 'चंद्रयान-2' का प्रक्षेपण करने जा रहा है. इसे बाहुबली नाम के सबसे ताकतवर रॉकेट जीएसएलवी-एमके तृतीय यान से भेजा जाएगा. 'चंद्रयान-2' चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र में उतरेगा जहां अभी तक कोई देश नहीं पहुंच पाया है. इससे चांद के बारे में समझ सुधारने में मदद मिलेगी जिससे ऐसी नयी खोज होंगी जिनका भारत और पूरी मानवता को लाभ मिलेगा. तीन चरणों का 3,850 किलोग्राम वजनी यह अंतरिक्ष यान ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर के साथ यहां सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एसडीएससी) से सुबह दो बजकर 51 मिनट पर आकाश की ओर उड़ान भरेगा. 

  • ISRO प्रमुख के सिवन का बड़ा ऐलान- अब भारत खुद अपना स्पेस स्टेशन बनाएगा

    ISRO प्रमुख के सिवन का बड़ा ऐलान- अब भारत खुद अपना स्पेस स्टेशन बनाएगा

    ISRO News: भारत अब खुद अपना स्पेस स्टेशन (Space Station) बनाएगा. इसरो (ISRO) प्रमुख के सिवन (K Sivan) ने यह बात कही है. इसरो चीफ डॉ. के सिवन (K Sivan) ने बताया कि भारत अपना स्पेस स्टेशन लॉन्च करने की योजना बना रहा है.

  • इसरो प्रमुख ने कहा- भारत दिसंबर 2021 तक अंतरिक्ष में भेजेगा अंतरिक्ष यात्री, 10 बड़ी बातें

    इसरो प्रमुख ने कहा- भारत दिसंबर 2021 तक अंतरिक्ष में भेजेगा अंतरिक्ष यात्री, 10 बड़ी बातें

    इसरो प्रमुख ने शुक्रवार को कहा कि भारत का दिसंबर 2021 तक अंतरिक्ष में मनुष्य को भेजने का लक्ष्य है. उन्होंने कहा कि हम अपने गगनयान प्रोजेक्ट की मदद से ऐसा कर पाने में सफल होंगे. अगर हम निर्धारित समय के अंदर ऐसा कर पाते हैं तो हमारा देश विश्व का चौथा ऐसा देश होगा जो अपने बल पर अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में भेज सकेगा. इसरो प्रमुख के सिवन ने बताया कि भारत इस साल अप्रैल तक चंद्रयान-2 के भी लांचिंग की तैयारी में है. बता दें कि गगनयान प्रोजेक्ट की घोषणा पिछले साल पीएम मोदी ने की थी. 

  • ISRO का अब तक का सबसे वजनी GSAT-11 सैटेलाइट लॉन्च, फ्रेंच गुआना से सफल प्रक्षेपण

    ISRO का अब तक का सबसे वजनी GSAT-11 सैटेलाइट लॉन्च, फ्रेंच गुआना से सफल प्रक्षेपण

    भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो द्वारा बनाए ‘सबसे अधिक वजनी’ उपग्रह जीसैट-11 का पांच दिसंबर यानी बुधवार को को फ्रेंच गुआना के एरियानेस्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से सफल प्रक्षेपण किया गया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बताया कि करीब 5,854 किलोग्राम वजन का जीसैट-11 देशभर में ब्रॉडबैंड सेवाएं उपलब्ध कराने में अहम भूमिका निभाएगा. बताया जा रहा है कि यह सैटेलाइट GSAT-11 इसरो का बनाया अब तक का ‘सबसे अधिक वजन’ वाला उपग्रह है.

  • विज्ञान के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए ISRO जल्द लॉन्च करेगा टीवी चैनल

    विज्ञान के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए ISRO जल्द लॉन्च करेगा टीवी चैनल

    भारत जल्द ही एक अंतरिक्ष और विज्ञान समर्पित टीवी चैनल (TV Channel) लॉन्च करेगा, ताकि इसके फायदों को देशभर के लोगों तक पहुंचाया जा सके.

  • अब अप्रैल नहीं अक्टूबर में होगा चन्द्रयान-2 का प्रक्षेपण: इसरो प्रमुख

    अब अप्रैल नहीं अक्टूबर में होगा चन्द्रयान-2 का प्रक्षेपण: इसरो प्रमुख

    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष के. सिवन का कहना है कि हाल में जुटे विशेषज्ञों ने कुछ परीक्षण सुझाए हैं, इस कारण प्रक्षेपण अब अक्टूबर में होगा.

  • अंतरिक्ष में 104 सैटेलाइट भेजने वाले 'रॉकेट मैन' के. सिवन बने इसरो के नये प्रमुख, 7 खास बातें

    अंतरिक्ष में 104 सैटेलाइट भेजने वाले 'रॉकेट मैन' के. सिवन बने इसरो के नये प्रमुख, 7 खास बातें

    नये साल में इसरो को एक नया प्रमुख मिल गया है. जाने माने वैज्ञानिक और रॉकेट के स्पेशलिस्ट के सिवन को सरकार ने भारतीय अनुसंधान संगठन (इसरो) का चीफ नियुक्त किया है. उन्होंने ए एस किरण कुमार का स्थान लिया है. कार्मिक मंत्रालय की ओर से जारी एक आदेश के मुताबिक, मंत्रिमंडल की नियुक्ति संबंधी समिति ने अंतरिक्ष विभाग में सचिव पद और अंतरिक्ष आयोग के अध्यक्ष पद पर उनकी नियुक्ति को मंजूरी दी. उनका कार्यकाल तीन वर्ष का होगा.