NDTV Khabar

Kamal nath


'Kamal nath' - 277 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • ज्योतिरादित्य ने लिखा सीएम कमलनाथ को लिखी चिट्ठी, सैनिक स्कूल और मेडिकल कॉलेज की मांग की

    ज्योतिरादित्य ने लिखा सीएम कमलनाथ को लिखी चिट्ठी, सैनिक स्कूल और मेडिकल कॉलेज की मांग की

    कांग्रेस महासचिव और पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से मांग की है कि वह प्रदेश के भिंड जिले में सैनिक स्कूल एवं मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए केन्द्र सरकार से सिफारिश करें. इस संबंध में सिंधिया ने कमलनाथ को शुक्रवार को दो अलग-अलग पत्र लिखे हैं.

  • विदेश में हुई भारतीय लड़की की मौत, इस वजह से देश नहीं ला पा रहे शव, सरकार से लगाई गुहार

    विदेश में हुई भारतीय लड़की की मौत, इस वजह से देश नहीं ला पा रहे शव, सरकार से लगाई गुहार

    विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर एवं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर इस मामले में प्रज्ञा के परिवार को हर तरह की मदद करने का आश्वासन दिया है. प्रज्ञा के शिक्षक भाई एस पी पालीवाल ने गुरुवार को छतरपुर में संवाददाताओं को बताया, ‘‘मेरी बहन प्रज्ञा पालीवाल बेंगलुरु की एक कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर थीं. उसकी रूममेट ने बेंगलुरू से बताया कि नौ अक्टूबर को मेरी बहन प्रज्ञा की कार हादसे में थाईलैंड के फुकेत शहर में मौत हो गई है.’’

  • मध्य प्रदेश : ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के सवाल पर सीएम कमलनाथ ने कहा, क्यों नहीं?

    मध्य प्रदेश : ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के सवाल पर सीएम कमलनाथ ने कहा, क्यों नहीं?

    मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ मतभेदों की खबरों को टालते हुए कहा कि ऐसा सभी पार्टियों में होता है. मध्य प्रदेश में जहां ज्योतिरादित्य सिंधिया जहां एक समय खुद को सीएम पद के दावेदार के रूप में देख रहे थे अब वह प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनना चाहते हैं, इस पर सीएम कमलनाथ ने कहा कि यह कोई मुद्दा ही नहीं है. आपको बता दें कि कमलनाथ इस समय मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दोनों की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं. एनडीटीवी से बात करते हुए उन्होंने कहा कि वह इन दोनों जिम्मेदारियों की वजह से काफी भार महसूस करते हैं कि और वह इस विचार के साथ हैं कि ज्योतिरादित्य सिंधिया पार्टी की कमान संभालें. 

  • कमलनाथ के 'गढ़' में ऑपरेशन के बाद गई 4 मरीजों की आंखों की रोशनी, जांच के आदेश

    कमलनाथ के 'गढ़' में ऑपरेशन के बाद गई 4 मरीजों की आंखों की रोशनी, जांच के आदेश

    नेत्र विभाग के प्रभारी डॉ. सी. एम. गेदाम ने मीडिया को बताया, 'इन सभी मरीजों की जांच की गई है. रेटीना में सफेदी की वजह से आंखों में दिखाई नहीं दे रहा है. सफेदी छंटने के बाद सभी को सामान्य दिखाई देने लगेगा. मरीज को सीनियर डॉक्टर से जांच के लिए रेफर किया गया है.' 

  • Honey Trap Case: एसआईटी प्रमुख को हटाने से पहले कमलनाथ ने किसे किया था तलब और किसने कहा सरकार झेल नहीं पाएगी खुलासे

    Honey Trap Case: एसआईटी प्रमुख को हटाने से पहले कमलनाथ ने किसे किया था तलब और किसने कहा सरकार झेल नहीं पाएगी खुलासे

    मध्य प्रदेश में पकड़े गए हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप (Honey Trap Case) मामले में 'दाल में कुछ ज्यादा ही काला नजर' आ रहा है. इस मामले की जांच कर रही विशेष जांच टीम (एसआईटी) के चीफ को कमलनाथ सरकार ने तीसरी बार बदला है. सबसे पहले मामले की जांच श्रीनिवास वर्मा को सौंपी गई थी लेकिन 24 घंटे के अंदर ही उनसे यह जिम्मेदारी ले ली गई और संजीव शामी को एसआईटी हेड बना दिया गया. लेकिन अब राजेंद्र कुमार को यह जिम्मेदारी दे दी गई. अब इस नए घटनाक्रम के बाद सवाल उठ रहा है कि क्या सरकार अंदर ही इस मामले में पर्दा डालने की कोशिश कर रही है. क्योंकि अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक इस हनी ट्रैप मामले में कांग्रेस-बीजेपी के कई बड़े नेता, अधिकारी भी फंसे हुए हैं और महाराष्ट्र के एक बड़े नेता का भी नाम सामने आ रहा है.

  • Honey Trap Case: कमलनाथ सरकार ने जांच प्रमुख को तीसरी बार क्यों बदला, क्या पर्दा डालने की तैयारी है?

    Honey Trap Case: कमलनाथ सरकार ने जांच प्रमुख को तीसरी बार क्यों बदला, क्या पर्दा डालने की तैयारी है?

    मध्य प्रदेश में पकड़े गए हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप मामले में 'दाल में कुछ ज्यादा ही काला नजर' आ रहा है. इस मामले की जांच कर रही विशेष जांच टीम (एसआईटी)  के चीफ को कमलनाथ सरकार ने तीसरी बार बदला है. सबसे पहले मामले की जांच श्रीनिवास वर्मा को सौंपी गई थी लेकिन 24 घंटे के अंदर ही उनसे यह जिम्मेदारी ले ली गई और संजीव शामी को एसआईटी हेड बना दिया गया. लेकिन अब राजेंद्र कुमार को यह जिम्मेदारी दे दी गई.

  • CM कमलनाथ ने बाढ़ पीड़ितों से किया वादा, कहा- पहले की सरकारों की तरह प्रभावितों को भटकना नहीं पड़ेगा, सरकार खुद...

    CM कमलनाथ ने बाढ़ पीड़ितों से किया वादा, कहा- पहले की सरकारों की तरह प्रभावितों को भटकना नहीं पड़ेगा, सरकार खुद...

    कमलनाथ ने कहा कि हम इसका आकलन कर रहे हैं लेकिन केन्द्र सरकार की मदद का इंतजार किए बिना राज्य सरकार ने प्रभावितों को राहत देने का काम 22 सितम्बर से शुरु कर दिया है और अगले 15 अक्टूबर तक हर प्रभावित को मदद दे दी जाएगी. उन्होंने कहा, ‘सरकार आपके साथ है आपके दु:ख-दर्द, पीड़ा और समस्या के साथ साझी है.’

  • Honey Trap Racket कमलनाथ सरकार को अस्थिर करने की बीजेपी की साजिश है, मध्‍यप्रदेश के मंत्री ने लगाया आरोप

    Honey Trap Racket कमलनाथ सरकार को अस्थिर करने की बीजेपी की साजिश है, मध्‍यप्रदेश के मंत्री ने लगाया आरोप

    Madhya Pradesh Honey Trap Case: मध्यप्रदेश में हाल ही में जिस हाई-प्रोफाइल हनी ट्रैपिंग रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है, उसमें पुलिस 200 से ज्यादा नंबरों को खंगाल रही है. यह मामला इसलिये भी गंभीर है क्योंकि सरकार को लगता है कि विपक्ष ने कमलनाथ सरकार को अस्थिर करने के लिए पूरा जाल बिछाया था.

  • कमलनाथ सरकार को समर्थन देने वाले बीजेपी एमएलए के फिर पाला बदलने के आसार

    कमलनाथ सरकार को समर्थन देने वाले बीजेपी एमएलए के फिर पाला बदलने के आसार

    मध्यप्रदेश विधानसभा में एक विधेयक पर मत विभाजन के दौरान कमलनाथ सरकार को समर्थन करने वाले शहडोल जिले के ब्यौहारी विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक फिर पाला बदलते नज़र आ रहे हैं. उन्होंने कहा मॉब लिंचिंग प्रस्ताव के समर्थन में उन्होंने सरकार के पक्ष में वोट किया था जिसका समर्थन उनकी पार्टी भी कर रही थी. शरद कोल ने कहा कि वे बीजेपी के विधायक हैं और रहेंगे.

  • बीजेपी ने किया था ऐलान, कमलनाथ सरकार बनाने जा रही राम वन पथ गमन

    बीजेपी ने किया था ऐलान, कमलनाथ सरकार बनाने जा रही राम वन पथ गमन

    कांग्रेस ने चुनावों के वक्त राम वन पथ गमन का वायदा किया अब उसे मूर्त रूप देने बजट भी जारी कर दिया गया है. वनवास के दौरान भगवान राम के चरण जिन रास्तों पर पड़े थे, वहां राम वन गमन पथ बनाने का ऐलान 2008 में बीजेपी ने किया था लेकिन उस वक्त ये भाषणों और कागजों में लकीरें खींचने तक सीमित रह गया. अब कमलनाथ सरकार राम वन पथ गमन के लिए बोर्ड गठित करने की भी तैयारी कर रही है.

  • मध्यप्रदेश: कमलनाथ सरकार दूध पार्लर पर बेचेगी कड़कनाथ मुर्गे का मांस, बीजेपी ने जताया ऐतराज

    मध्यप्रदेश: कमलनाथ सरकार दूध पार्लर पर बेचेगी कड़कनाथ मुर्गे का मांस, बीजेपी ने जताया ऐतराज

    भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने सरकार के इस कदम पर यह कहते हुए ऐतराज जताया है कि इससे हिन्दुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचेगी क्योंकि हिंदू धर्म में गाय और उसका दूध ‘पवित्र’ माना जाता है. मध्यप्रदेश के पशुपालन मंत्री लाखन सिंह यादव ने बताया कि मध्यप्रदेश राज्य पशुधन और कुक्कुट विकास निगम ने कड़कनाथ की बढ़ती मांग को देखते हुए भोपाल के वैशाली नगर क्षेत्र में दूध के पार्लर पर कड़कनाथ मुर्गे का मांस बेचने की योजना शुरू की है. 

  • अपनी ही पार्टी के फैसले को यूपी-उत्तराखंड की BJP सरकार ने किया 'दरकिनार', नए ट्रैफिक जुर्माने में ढील की तैयारी

    अपनी ही पार्टी के फैसले को यूपी-उत्तराखंड की BJP सरकार ने किया 'दरकिनार', नए ट्रैफिक जुर्माने में ढील की तैयारी

    कई ऐसे राज्यों ने इस नए मोटर व्हीकल एक्ट को लागू करने से इनकार कर दिया है तो वहीं कुछ राज्य ऐसे भी है, जिन्होंने सिर्फ कुछ प्रावधानों को लागू किया है. खास बात ये है कि इन राज्यों में बीजेपी शासित प्रदेश भी शामिल हैं. सबसे पहले गुजरात ने नए ट्रैफिक नियमों को लेकर अपने यहां जुर्माने की राशि को लगभग आधा कर दिया. इसके बाद अब अब बीजेपी शासित राज्य कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड भी नए नियम को वास्तविक रूप में लागू करने से पीछे हटते दिख रहे हैं.

  • गुजरात की जिद और मध्यप्रदेश में नर्मदा में डूबता जीवन, ग्रामीण जाएं तो जाएं कहां? देखें - VIDEO

    गुजरात की जिद और मध्यप्रदेश में नर्मदा में डूबता जीवन, ग्रामीण जाएं तो जाएं कहां? देखें - VIDEO

    जैसे-जैसे नर्मदा का जलस्तर बढ़ रहा है, सरदार सरोवर भरता जा रहा है. इसके साथ ही मध्यप्रदेश के कई गांव इतिहास का हिस्सा बनते जा रहे हैं. गुजरात इतनी हड़बड़ी में है कि उसने सरदार सरोवर बांध को भरने के समय की शर्तों का भी उल्लंघन कर दिया. इसको लेकर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केंद्र सरकार को खत लिखा है. मांग की गई है कि इस संबंध में जल्द से जल्द बैठक बुलाई जाए. NDTV के पास नर्मदा में डूबते गांवों के कुछ ऐसे वीडियो हैं जिनमें गांव और उनमें रहने वाले लोगों की पीड़ा खुद बयां हो रही है. नर्मदा की धाराएं गांवों में घुसकर उन्हें लीलने पर आमादा हैं. नदी की धाराओं और ग्रामीणों की आंखों से बहती अश्रु धाराओं में प्रतिस्पर्धा चल रही है. अपनी जमीन, अपने गांव, अपने घर और अपनी स्मृतियों के डूबने की पीड़ा, अपनी जड़ों से जुदा होने की पीड़ा, सरकार के बेसहारा छोड़ देने की पीड़ा इन ग्रामीणों के लिए असहनीय है.

  • कुंभकर्ण, घंटे और ढोल-मंजीरों के साथ बीजेपी ने पूरे मध्यप्रदेश में किया विरोध प्रदर्शन, कांग्रेस ने दिया जवाब

    कुंभकर्ण, घंटे और ढोल-मंजीरों के साथ बीजेपी ने पूरे मध्यप्रदेश में किया विरोध प्रदर्शन, कांग्रेस ने दिया जवाब

    मध्यप्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के खिलाफ बीजेपी ने बुधवार को प्रदेश भर में घंटानाद आंदोलन किया. बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं के नेतृत्व में नेता और कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालयों पर कलेक्ट्रेट के बाहर घंटे और ढोल-मंजीरों के साथ पहुंचकर प्रदर्शन किया. भोपाल में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, विदिशा में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान,जबलपुर में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, सागर में प्रभात झा तो इंदौर में सांसद नंदकुमार सिंह चौहान समेत तमाम दिग्गज नेता सड़क पर उतरे. सड़क पर ढोल, मंजीरे और तुरही बजाई. वहीं कांग्रेस ने इसका जवाब ढोल बजाओ आंदोलन से दिया, हर जिला मुख्यालाय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि बीजेपी के 15 साल के राज में क्या हालात थे.

  • बीजेपी ने पार्टी के 'नेता पुत्रों' को सड़क के रास्ते सत्ता में पहुंचाने का प्लान बनाया

    बीजेपी ने पार्टी के 'नेता पुत्रों' को सड़क के रास्ते सत्ता में पहुंचाने का प्लान बनाया

    वंशवाद को लेकर अक्सर दूसरे दलों पर हमलावर रहने वाली बीजेपी के नेता अपने पुत्रों को राजनीतिक प्लेटफॉर्म देने में जुट गए हैं. मध्यप्रदेश बीजेपी में नेताओं ने अपने बच्चों को सड़क के रास्ते सत्ता पर बिठाने का प्लान ढूंढा है. प्लान कमलनाथ सरकार के खिलाफ आंदोलन का है. इसकी कमान शिवराज सिंह चौहान से लेकर कई नेता पुत्रों के हाथ में रहेगी... नाम रहेगा भारतीय जनता युवा मोर्चा का. भारतीय जनता युवा मोर्चा के बैनर तले आंदोलन को संभालेंगे कुल 31 युवा नेता जिसमें 10 बड़े नेता पुत्र भी हैं.

  • कमलनाथ की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, 1984 के सिख विरोधी दंगे की फाइल खोलने की गृह मंत्रालय की हरी झंडी

    कमलनाथ की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, 1984 के सिख विरोधी दंगे की फाइल खोलने की गृह मंत्रालय की हरी झंडी

    मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं, क्योंकि गृह मंत्रालय ने दिल्ली में 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों (1984 Anti Sikh Riots) की फाइलें दोबारा खोलने के लिए हरी झंडी दे दी है.

  • सोनिया गांधी के 'दरबार' में 'मध्य प्रदेश कांग्रेस अंतर्कलह' मामला, कमलनाथ और सिंधिया को दिल्ली बुलाया

    सोनिया गांधी के 'दरबार' में 'मध्य प्रदेश कांग्रेस अंतर्कलह' मामला, कमलनाथ और सिंधिया को दिल्ली बुलाया

    मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों के बीच प्रदेश में पार्टी के नए अध्यक्ष को लेकर चल रहे विवाद के सार्वजनिक होने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दोनों नेताओं को मंगलवार और बुधवार को बैठक के लिए दिल्ली बुलाया है. हालांकि, किसी अनचाही स्थिति को रोकने के लिए सोनिया ने दोनों नेताओं को अलग-अलग बुलाया है.

  • MP कांग्रेस में चल रही कलह के बीच कमलनाथ ने की सोनिया गांधी से मुलाकात, मामला अनुशासन समिति को भेजा गया

    MP कांग्रेस में चल रही कलह के बीच कमलनाथ ने की सोनिया गांधी से मुलाकात, मामला अनुशासन समिति को भेजा गया

    यह बयान ऐसे समय दिया गया है, जब ज्योतिरादित्य सिंधिया के गुट और अन्य में लड़ाई अपने चरम पर है. सिंधिया के कई समर्थकों ने कमलनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर खुलेआम नाराजगी जाहिर की है. बीते 10 दिनों में यह सोनिया गांधी की कमलनाथ से दूसरी मुलाकात थी. 30 अगस्त को, यूपीए अध्यक्ष से मुलाकात के दौरान कमलनाथ ने कहा था कि पार्टी को लोकसभा चुनाव के बाद राज्य इकाई के एक नए अध्यक्ष की जरूरत है. सिंधिया से किसी भी तरह के मतभेदों से इनकार करते हुए उन्होंने कहा था, 'यह कहना गलत है कि सिंधिया नाराज हैं.'