NDTV Khabar

Karnataka assembly


'Karnataka assembly' - 421 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Karnataka Bypoll Results 2019: BJP को 12 सीटों पर जीत मिली, विधानसभा में मिला स्पष्ट बहुमत

    Karnataka Bypoll Results 2019: BJP को 12 सीटों पर जीत मिली, विधानसभा में मिला स्पष्ट बहुमत

    Karnataka Bypoll Results: कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव (Karnataka Bypolls) में बीजेपी ने जबरदस्‍त जीत हासिल की है और कांग्रेस को बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा. अब तक घोषित नतीजों में बीजेपी ने 12 सीटों पर जीत दर्ज की है जबकि एक अन्‍य पर उसके उम्‍मीदवार ने बढ़त बनाई हुई है. वहीं कांग्रेस के खाते में केवल 2 सीटें गई हैं.

  • कर्नाटक उपचुनाव पर टिका येदियुरप्पा सरकार का भविष्य, BJP ने झोंकी ताकत

    कर्नाटक उपचुनाव पर टिका येदियुरप्पा सरकार का भविष्य, BJP ने झोंकी ताकत

    कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव पर भाजपा की बीएस येदियुरप्पा सरकार का भविष्य टिका है. सरकार बचाने के लिए फिलहाल भाजपा को वैसे तो सात सीटें चाहिए, मगर पार्टी ने कम से कम आठ सीटें जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है.

  • कर्नाटक उपचुनाव पर टिका मुख्यमंत्री येदियुरप्पा सरकार का भविष्य, BJP ने झोंकी ताकत

    कर्नाटक उपचुनाव पर टिका मुख्यमंत्री येदियुरप्पा सरकार का भविष्य, BJP ने झोंकी ताकत

    कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव पर भाजपा की बीएस येदियुरप्पा सरकार का भविष्य टिका है. सरकार बचाने के लिए फिलहाल भाजपा को वैसे तो सात सीटें चाहिए, मगर पार्टी ने कम से कम आठ सीटें जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है.

  • प्रकाश राज की कर्नाटक के वोटरों से अपील, बोले- जनादेश बेचने वालों को सबक सिखाने का मौका...

    प्रकाश राज की कर्नाटक के वोटरों से अपील, बोले- जनादेश बेचने वालों को सबक सिखाने का मौका...

    प्रकाश राज (Prakash Raj) बॉलीवुड और साउथ दोनों ही जगह एक बड़ा नाम हैं, और फिल्मों में उनके विलेन के रोल को खूब पसंद किया जाता है. बॉलीवुड में प्रकाश राज सलमान खान की 'वॉन्टेड' के साथ जमकर लोकप्रियता हासिल की थी, और उसके बाद वे अजय देवगन की 'सिंघन' और सलमान खान की 'दबंग' में भी अपने किरदारों की वजह से जबरदस्त लोकप्रियता हासिल कर चुके हैं.

  • NEWS FLASH: सुभाष चोपड़ा बने दिल्‍ली कांग्रेस के नए अध्‍यक्ष, कीर्ति आजाद बने प्रचार समिति के प्रभारी

    NEWS FLASH: सुभाष चोपड़ा बने दिल्‍ली कांग्रेस के नए अध्‍यक्ष, कीर्ति आजाद बने प्रचार समिति के प्रभारी

    देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें...

  • कर्नाटक विधानभा उपचुनाव से पहले पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने की पार्टी नेताओं से अपील, कहा - हमें अब सामूहिक नेतृत्व में...

    कर्नाटक विधानभा उपचुनाव से पहले पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने की पार्टी नेताओं से अपील, कहा - हमें अब सामूहिक नेतृत्व में...

    पाटिल ने मीडियाकर्मियों से कहा था कि पार्टी प्रमुख ने हमसे सामूहिक नेतृत्व में काम करने और सभी प्रमुख जातियों और समुदायों को विश्वास में लेने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि वह प्रमुख समुदायों, खासकर, वोक्कालिगा, लिंगायत और ब्राह्मण का जिक्र कर रही थी.

  • कर्नाटक के स्पीकर ने कहा, विधायकों का इस्तीफे का अधिकार उनका लोकतांत्रिक हक

    कर्नाटक के स्पीकर ने कहा, विधायकों का इस्तीफे का अधिकार उनका लोकतांत्रिक हक

    कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष के कार्यालय ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा कि किसी विधायक का इस्तीफे का हक ‘लोकतांत्रिक अधिकार’ है और यह उचित समय है कि न्यायपालिका स्पीकरों के लिहाज से दिशानिर्देश निर्धारित करे. स्पीकर की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने विधायकों को अयोग्य ठहराने के पहले के स्पीकर के फैसले का विरोध किया. उन्होंने कहा कि विधायक को इस्तीफा देने का लोकतांत्रिक अधिकार है. विधायकों की निष्ठा निर्वाचक के लिए है. तत्कालीन स्पीकर ने अयोग्यता से पहले विधायकों को सात दिन का नोटिस नहीं दिया.

  • कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद बोले रमेश कुमार- 'अगर मुझसे कोई गलती हुई हो तो...'

    कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद बोले रमेश कुमार- 'अगर मुझसे कोई गलती हुई हो तो...'

    कर्नाटक विधानसभा में मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के विश्वासमत हासिल करने के ठीक बाद स्पीकर केआर रमेश कुमार ने इस्तीफा दे दिया.

  • बागी विधायकों के निष्कासन के बाद येदियुरप्पा के लिए आसान हो गया विश्वास मत हासिल करना, समझें पूरा गणित

    बागी विधायकों के निष्कासन के बाद येदियुरप्पा के लिए आसान हो गया विश्वास मत हासिल करना, समझें पूरा गणित

    कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर केआर रमेश कुमार ने कांग्रेस-जेडीएस के 14 और बागी विधायकों को निष्कासित कर दिया. इसके बाद मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के लिए विश्वास मत हासिल करना आसान हो गया.

  • बहुमत साबित करने से पहले कर्नाटक के CM बीएस येदियुरप्पा का बड़ा बयान, कही यह बात

    बहुमत साबित करने से पहले कर्नाटक के CM बीएस येदियुरप्पा का बड़ा बयान, कही यह बात

    बीएस येदियुरप्पा ने विधानसभा में बहुमत साबित करने से पहले बड़ा बयान दिया है. उन्होंने दावा किया है कि मैं विधानसभा में 100 फीसदी बहुमत साबित करूंगा.

  • येदियुरप्‍पा के सरकार गठन का दावा पेश करने को मंजूरी खुद अमित शाह ने दी, एक वीडियो कॉल बनी वजह : सूत्र

    येदियुरप्‍पा के सरकार गठन का दावा पेश करने को मंजूरी खुद अमित शाह ने दी, एक वीडियो कॉल बनी वजह : सूत्र

    कर्नाटक में एच.डी. कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार के विश्वासमत हारकर गिर जाने के तीन दिन बाद BJP ने आश्चर्यजनक तेज़ी दिखाते हुए बी.एस. येदियुरप्पा को सरकार गठन का दावा पेश करने की शुक्रवार सुबह मंज़ूरी दे दी.

  • कर्नाटक: विधानसभा में नहीं पहुचे सत्ता पक्ष के MLAs तो स्पीकर बोले- बहुमत तो छोड़िए, आप अपनी विश्वसनीयता भी खो देंगे

    कर्नाटक: विधानसभा में नहीं पहुचे सत्ता पक्ष के MLAs तो स्पीकर बोले- बहुमत तो छोड़िए, आप अपनी विश्वसनीयता भी खो देंगे

    कुमार ने मंत्री प्रियांक खड़गे से पूछा कि यह अध्यक्ष के भविष्य की बात है विधानसभा के. उन्होंने खड़गे को कहा कि बहुमत तो छोड़िए आप अपनी विश्वसनीयता भी खो देंगे. गठबंधन के विधायकों के अनुपस्थित होने से भाजपा को सरकार पर निशाना साधने का मौका मिल गया. भाजपा नेता बी. एस. येदियुरप्पा ने कहा कि सरकार का खुद ही पर्दाफाश हो गया और साथ ही पूछा कि सत्तारूढ़ गठबंधन के विधायक कहा हैं? उन्होंने सत्ता पक्ष से कहा कि बहुमत ना होने के बावजूद आप बेशर्मी से सत्ता में बने हुए हैं. आपको शर्म आनी चाहिए.

  • अमित शाह फिर कामयाब, कांग्रेस खस्ताहाल

    अमित शाह फिर कामयाब, कांग्रेस खस्ताहाल

    कांग्रेस के सामने इस समय बहुत बड़ा संकट मौजूद है - राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर राहुल गांधी का स्थान कौन लेगा - सो, उसके पास अपनी गिनी-चुनी सरकारों में से एक के गिर जाने के बारे में गंभीरता से सोचने का वक्त तक नहीं है. कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व का कर्नाटक इकाई को भेजा गया संदेश है - हमें परवाह नहीं, अगर आपकी सरकार गिर जाती है, क्योंकि जब तक हम शीर्षहीन हैं, हम राहुल गांधी की टाल-मटोल की नीति का ही पालन करते रहेंगे.

  • कर्नाटक : विधानसभा अध्यक्ष ने बागियों को समन भेजा, उत्तर मिला- इस्तीफा दे चुके तो क्यों आएं

    कर्नाटक : विधानसभा अध्यक्ष ने बागियों को समन भेजा, उत्तर मिला- इस्तीफा दे चुके तो क्यों आएं

    कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा सौंप चुके कांग्रेस के बागी 12 विधायकों को सुनवाई के लिए समन भेजा है. कांग्रेस पार्टी ने व्हिप का उल्लंघन करने वाले इन विधायकों को अयोग्य करार दिए जाने के लिए विधानसभा अध्यक्ष को नोटिस दिया है.

  • कर्नाटक का सियासी ड्रामा जारी, अब तक नहीं हो पाया विश्वास मत, विधानसभा सोमवार तक के लिए स्‍थगित - 10 बातें

    कर्नाटक का सियासी ड्रामा जारी, अब तक नहीं हो पाया विश्वास मत, विधानसभा सोमवार तक के लिए स्‍थगित - 10 बातें

    राज्यपाल के दो-दो बार समय और तारीख़ तय कर देने के बावजूद कर्नाटक विधानसभा में अब तक विश्वास मत नहीं हो पाया है. दोनों पक्ष एक-दूसरे पर विधायकों की ख़रीद-फ़रोख़्त का आरोप लगा रहे हैं. अब जेडीएस कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट पहुंची हैं. मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के बड़े भाई किसी ज्योतिषी के कहने पर इन दिनों ख़ाली पांव विधानसभा आते हैं- इस उम्मीद में कि इससे उनके भाई की सरकार बच जाएगी. उधर सरकार बचाने में जुटे कुमारस्वामी ने राज्यपाल वजूभाई वाला की दी हुई दूसरी तारीख भी नाकाम कर दी. राजयपाल वजू भाई वाला ने पहले कहा था कि गुरुवार डेढ़ बजे तक विश्वास मत हो जाए, फिर शुक्रवार का समय दिया. ये भी बताया कि उनके पास विधायकों की ख़रीद-फ़रोख़्त की शिकायत पहुंच रही है. उधर जेडीएस ने सदन में बीजेपी पर 2 गंभीर आरोप लगाए. जेडीएस विधायक श्रीनिवास गौड़ा ने आरोप लगाया कि बीजेपी के 2 विधायकों ने उन्हें पाला बदलने के लिए 5 करोड़ रुपये उनके घर पहुंचाए. पर्यटन मंत्री सारा महेश ने कहा कि जेडीएस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विश्वनाथ ने उन्हें 30 करोड़ के ऑफर की बात कही. इस बीच प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष देश गुण्डु राव और मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की है. गुण्डु राव की अपील व्हिप पर लगी शर्तिया रोक पर है और कुमारस्वामी ने राज्यपाल के हस्तक्षेप पर सवाल उठाए हैं. कर्नाटक के राज्यपाल वाजु भाईवाला पर बीजेपी नेता फ्लोर टेस्ट के लिए दबाव बनाते रहे और राज्यपाल नई नई समय सीमा तय करते रहे. सवाल एक बार फिर नए सिरे से उठ खड़ा हुआ है कि राज्यपाल का ऐसे मामलों में हस्तछेप का अधिकार है या नहीं. कर्नाटक सरकार की तरफ से दलील दी गई कि 1999 में वाजपेयी जी सरकार को लेकर बहस और वोटिंग 10 दिन चली जबकि कर्नाटक समेत दूसरे कई राज्यों में 4 दिनों से ज्‍यादा. ऐसे में इस बार जल्दबाजी किस बात की. फिलहाल विधानसभा सोमवार 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है.

  • कर्नाटक में चल रहे 'नाटक' के सूत्रधार दिल्ली में, वही तय कर रहे अगला सीन

    कर्नाटक में चल रहे 'नाटक' के सूत्रधार दिल्ली में, वही तय कर रहे अगला सीन

    कर्नाटक का नाटक रचा जा रहा है दिल्ली में. वहां की विधानसभा में जो कुछ भी हो रहा है, या कहें कर्नाटक के नेता जो कुछ भी कर रहे हैं, वह उनसे करवाया जा रहा है जिसमें महामहिम राज्यपाल भी शामिल हैं. ये सभी उस नाटक के पात्र हैं जिसकी पटकथा दिल्ली में लिखी जा रही है. इसमें जेडीएस-कांग्रेस सरकार की तरफ से विधानसभा अध्यक्ष, या कहें वहां के स्पीकर अहम पात्र हैं, तो केन्द्र सरकार की तरफ से हैं राज्यपाल बजू भाई वाला. यह वही शख्स हैं जिन्होंने एक वक्त में विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए अपनी सीट छोड़ दी थी. अब यहां सब अपने-अपने आकाओं के हितों की रक्षा करते नजर आ रहे हैं. किसी को संविधान की रक्षा करने की फिक्र नहीं है.

  • कर्नाटक का सियासी 'नाटक': JDS-कांग्रेस क्या मानेंगी राज्यपाल की बात? 12 प्वाइंट्स में पढ़ें अब तक क्या-क्या हुआ

    कर्नाटक का सियासी 'नाटक': JDS-कांग्रेस क्या मानेंगी राज्यपाल की बात? 12 प्वाइंट्स में पढ़ें अब तक क्या-क्या हुआ

    कर्नाटक विधानसभा में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली 14 महीने पुरानी गठबंधन सरकार का भविष्य तय करने वाले विश्वास प्रस्ताव पर गुरुवार को विधानसभा में मतदान नहीं हो सका क्योंकि सत्ताधारी गठबंधन और विपक्षी भाजपा सदस्यों के बीच आरोप-प्रत्यारोप व हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही को शुक्रवार तक के लिये स्थगित कर दिया गया. वहीं भाजपा के सदस्यों ने सदन के अंदर ही पूरी रात गुजारी. प्रदेश के राज्यपाल वजुभाई वाला ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को शुक्रवार दोपहर डेढ़ बजे से पहले विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिये कहा है. सदन के अंदर और बाहर दिन भर चले तमाम उतार-चढ़ाव भरे घटनाक्रम के बीच मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने सदन में विश्वास प्रस्ताव पेश किया. 16 बागी विधायकों के इस्तीफे के कारण प्रदेश सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने एक वाक्य का प्रस्ताव पेश करते हुए कहा कि सदन उनके नेतृत्व वाली 14 महीने पुरानी सरकार में विश्वास व्यक्त करता है. सरगर्मी भरे माहौल में गुरुवार को शुरू हुई सदन की कार्यवाही में 20 विधायक नहीं पहुंचे. इनमें 17 सत्तारूढ़ गठबंधन के हैं. बागी विधायकों में से 12 फिलहाल मुंबई के एक होटल में ठहरे हुए हैं.

  • कर्नाटक में गुरुवार को हो जाएगा फैसला, एचडी कुमारस्‍वामी CM रहेंगे या जाएंगे?

    कर्नाटक में गुरुवार को हो जाएगा फैसला, एचडी कुमारस्‍वामी CM रहेंगे या जाएंगे?

    वहीं कर्नाटक के पांच और बागी विधायकों की अर्जी पर मंगलवार को सुनवाई के लिए उच्चतम न्यायालय सहमत हो गई है. इनकी सुनवाई भी इस्तीफों को स्वीकार करने की मांग कर रहे 10 अन्य विधायकों की अर्जी के साथ ही होगी.